Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




सुसमाचार प्रचारक का काम

THE WORK OF AN EVANGELIST
(Hindi)

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की षाम, 25 नवंबर, 2012 को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Evening, November 25, 2012

‘‘सुसमाचार प्रचार का काम कर’’ (2 तीमुथियुस 4:5)।


अनुवाद किया हुआ षब्द ‘‘सुसमाचार प्रचार’’ नयी नियमावली में सिर्फ तीन बार दिखाई देता है। यह हमारे पाठ में दिया गया है, और प्रेरितो 21:8, और इफिसियों 4:11 में। ग्रीक षब्द ‘‘सुसमाचार के प्रचारक को सूचित करता है’’ है (वाइन)। इफिसियों 4:11 में ‘‘सुसमाचार प्रचारक’’ सूचित किये गये है भेंट किए हुए आदमीयों की तरह, ‘‘प्रेरितो’’ और ‘‘भविश्यवक्ता’’ का अनुकरण करते हुए। ‘‘सुसमाचार प्रचारक’’ वो आदमी थे जिन्हें परमेष्वर द्वारा कलीसिया में भेजा गया था, अपरिवर्तितो को मसीह में मुक्ति का षुभ समाचार प्रचार करने। तीमुथियुस याजक थे, जिनको प्रेरितो पौलुस ने कहा ‘‘सुसमाचार प्रचार का काम कर’’। इसका अर्थ है कि याजको को यह काम करना चाहिए जो अपरिवर्तित उनके कलीसिया में आते है, और उन्हें भी जो अपरिवर्तित लोग दुनिया से आते है कलीसिया में, सुसमाचार प्रचार के द्वारा। प्रेरितो ने तीमुथियुस को जो कहा, फिर, वो हर प्रचारक को लागू होता है, ‘‘सुसमाचार प्रचार का काम कर’’। डो. जोन गील (1697-1771) ने कहा, ‘‘ऐसा काम करने के लिये किसी को सद्व्यवहार का साहित्य पढना नहीं है ... परंतु प्रचार करना है षान्ति, माफी, धार्मिकता, जीवन और मुक्ति सिर्फ यीषु मसीह द्वारा, और प्रभु के मुक्त अनुग्रह द्वारा’’ (जोन गील, डी.डी., एन एक्सपोसीषन ओफ ध न्यु टेस्टामेन्ट, नयी नियमावली का स्पश्टीकरण, ध बेपटीस्ट स्टान्डर्ड बेरर, 1989 में फिर से छपा हुआ, भाग ॥।, पृश्ठ 340; 2 तीमुथियुस 4:5 पर टीप्पणी)।

अब वो पर्याप्त सरल लगना चाहिए। याजको को कहा गया है प्रचार करने मुक्ति सिर्फ मसीह के द्वारा। और प्रचारको ने सदीयों से वही किया। फिर भी, इन अन्त के दिनों में, बहुत सारे प्रचार में सब कुछ मिश्रित हो गया है। जैसे सुलेमान (सोलोमोन) ने कहा, ‘‘परमेष्वर ने मनुश्य को सीधा बनाया, परन्तु उन्होंने बहुत सी युक्तियाँ निकाली है’’ (सभोपदेषक 7:29)।

सुसमाचार प्रचार का धार्मिक प्रवचन प्रचार करने के बदले, बहुत से प्रचारक देते है कहे जानेवाला ‘‘अर्थ प्रकाषक’’ धार्मिक प्रवचन, अंत में निमंत्रण साथ में ‘‘बांधने’’ के साथ। आज बहुतों को मालूम भी नहीं कि सुसमाचार प्रचार धार्मिक प्रवचन कैसे तैयार करना है! और ‘‘निमंत्रण’’ वे लगाते है उनके ‘‘स्पश्टीकरण’’ के अंत में कई बार दिया जाता है सुसमाचार का निर्देष किए बिना ही - मसीह के मृत्यु और पुनरूत्थान के निर्देष बिना! मेरे लिये, यह विलापयुक्त है। हमें वो करना ही चाहिए जो प्रेरितो ने हमें कहा है करने को सरल भाशा में - ‘‘सुसमाचार प्रचार का काम कर’’!

हमें कभी भी नहीं सोच लेना चाहिए कि लोगों को जानकारी है की मसीह उनके पापों के लिये मरे! हमें कभी भी नहीं मान लेना चाहिए कि उन्हें मालूम है वे मृत्यु से जिलाए गए उनके न्याय के लिये! मुझे स्मरण है बड़ी उम्र की चीनी स्त्री से बात करना जिसने कलीसिया में वर्शों से हाजरी दी थी जहाँ उसे उलझानेवाला बाइबल ‘‘स्पश्टीकरण’’ दिया गया था। परन्तु जब मैंने उनसे पूछा आदमी कैसे बचाया जाता है, उसके पास खोए हुए रोमन केथलिक से अधिक कोई जानकारी नहीं थी। हमें कभी भी नहीं, कभी भी सोच लेना चाहिए कि हमारे सुननेवाले (श्रोता) बचाए हुए है, या सुसमाचार के मूलआधार को भी जानते हो!

नयी नियमावली में एक आदमी विषेशरूप से कहा गया था ‘‘सुसमाचार प्रचारक’’। वो कहा गया था प्रेरितो 21:8 में ‘‘फिलिप्पुस सुसमाचार प्रचारक’’। अध्याय में डो. चान ने मेरे यह धार्मिक प्रवचन प्रचार करने से पहले पढ़ा, हमने पढ़ा फिलिप्पुस सुसमाचार प्रचारक द्वारा रखी गई सुसमाचार प्रचार सभा के बारे में। सुसमाचार प्रचार सभा के बहुत से लक्षण उस अध्याय में दिये गये है। विवरण में जाए बिना जो विषिश्ट थे उस विलक्षण सुसमाचार प्रचार सभा में, मैं उन में से कुछ लक्षण का निर्देष करूँगा जो प्रभु के आषीर्वादसह सुसमाचार प्रचार सभा को साथ देता है।

1. पहला, जब फिलिप्पुस ने प्रचार दिया वो तीव्ररूप से उत्तेजक था।

मैं अध्याय (पुस्तक का अंष) फिर से पढूँगा जो डो. चान ने धार्मिक प्रवचन से पहले पढ़ा था।

‘‘और फिलिप्पुस समारिया नगर में जाकर लोगों में मसीह का प्रचार करने लगा। जो बातें फिलिप्पुस ने कहीं उन्हें लोगों ने सुनकर और जो चिन्ह वह दिखाता था उन्हें देख देखकर, एक चित्त होकर मन लगाया। क्योंकि बहुतों में से अषुद्ध आत्माएँ बड़े षब्द से चिल्लाती हुई निकल गई, और बहुत से लकवे के रोगी और लंगड़े भी अच्छे किए गए; और उस नगर में बड़ा आनन्द छा गया’’ (प्रेरितो 8:5-8)।

मैं सोचता हूँ आप सिर्फ उस अध्याय को पढ़के भी उत्तेजना महसूस कर सकते हो। ये सुसमाचार प्रचार सभा थी जो पुनःउद्धार में फिर गयी। मेंने ऐसा होते हुए कई बार देखा है। वहाँ कुछ ज्यादा उत्तेजक नहीं था और, बेहतर षब्दों की जरूरत, उत्तेजना ऐसी सभा में हो उससे अधिक नहीं थी। कोई ऐसी सभा में अपनी घड़ी की ओर देखने को सोचेगा भी नहीं! सधर्न राज्य में प्रधान बेपटीस्ट कलीसिया में मैं ऐसी सभा में हाजिर था कुछ वर्श पहले। सभा मध्यरात्रि तक चली। सूचि अनुसार ये षाम 7:30 बजे खत्म होनेवाली थी, परन्तु वो चलती ही रही। अनुमान करो क्या? एक भी आदमी ने सभागृह छोड़ा नहीं! एक भी नहीं! वहाँ पर माताएँ थी उनके बच्चों को बच्चे संभालनेवाले के घर छोड़कर, परन्तु वे सारी उनके बारे में भूल गयी! हर एक यीषु मसीह पर छेदित हो गये थे, सरल सुसमाचार धार्मिक प्रवचन सुनकर। अंदाजित पच्चतर लोग परिवर्तित हुए थे उस षाम की सभा में। यह बहुत उत्तेजक था - ऐसी एक तीव्र सभा थी मैंने कभी भी हाजरी दी हो।

परन्तु मैंने कई बार उत्तेजना अनुभव की है कम दषा (degree) में बहुत से सुसमाचार प्रचारक सभा में। इस में गाने का विषेश सामर्थ्य होता है। प्रचार लुभानेवाला है और प्रार्थना हरएक का ध्यान पकड़े रखती है। कोई भी ऐसी सभा में ज्ञान कर सकता है कि परमेष्वर कुछ करनेवाले है जीवन के बदलाव में! ऐसा था समारिया में और ऐसा ही है अच्छे सुसमाचार प्रचार सभा में!

2. दूसरा, फिलिप्पुस ने मसीह का प्रचार किया।

‘‘और फिलिप्पुस सामरिया नगर में जाकर लोगों में मसीह का प्रचार करने लगा’’ (प्रेरितों 8:5)।

इसी तरह से उन्होंने ‘‘सुसमाचार प्रचार का काम’’ किया प्रेरितों की पूरी किताब में! उन्होंने मसीह का प्रचार किया! उन्होंने मसीह का प्रचार किया! उन्होंने मसीह का प्रचार किया! उसी तरह यह था सामरिया में। फिलिप्पुस सुसमाचार प्रचारक ने ‘‘लोगो में मसीह का प्रचार किया’’। उसी तरह यह था जब पतरस ने कुरनेलियुस के घर के अन्य जातियों को प्रचार किया। पतरस ने कहा,

‘‘(हम) पर जिन्होंने उसके मरें हुओं में से जी उठने के बाद उसके साथ खाया - पीया। और उसने हमें आज्ञा दी कि लोगों में प्रचार करो और गवाही दो कि यह वही है जिसे परमेष्वर ने जीवतों और मरे हुओं का न्यायी ठहराया है। उसकी सब भविश्यवक्ता गवाही देते है कि जो कोई उस पर विष्वास करेगा, उसको उसके नाम के द्वारा पापों की क्षमा मिलेगी’’
(प्रेरितो 10:41-43)।

पतरस ने उनको मसीह का प्रचार किया! वह भी हुआ जब साइप्रसवासी और कुरेनी के मसीही अन्ताकिया आये और ‘‘यूनानियों को भी प्रभु यीषु के सुसमाचार की बातें सुनाने लगे! प्रभु का हाथ उन पर था और बहुत लोग विष्वास करके प्रभु की ओर फिरे’’ (प्रेरितो 11:20,21)। और उसी तरह था पूरी प्रेरितो की किताब में! मसीह का प्रचार किया गया था। मसीह का प्रचार के संदेष द्वारा इतना मुग्ध हुए कि उसने चकित कुरिन्थियनों को कहा,

‘‘मैंने यह ठान लिया था कि तुम्हारे बीच यीषु मसीह वरन् क्रूस पर चढ़ाए हुए मसीह को छोड़ और किसी बात को न जानूँ’’
(1 कुरिन्थियों 2:2)।

उनका सुसमाचार प्रचार इतना मसीह केन्द्रित था कि राजा नीरोने घोशणा की थी, ‘‘ये मसीही मरे हुए यहूदी की पूजा करते है!’’ आह! परन्तु वे सिर्फ आधे सही थे! हाँ, मसीह मरे हुए थे, परंतु पतरस ने हिमंत से बात की यहुदी की महा सभा (एंग्री सान्हेड्रीन कोर्ट) से,

‘‘उसी को परमेष्वर ने प्रभु और उद्धारकर्ता ठहराकर, अपने दाहिने हाथ पर उच्च कर दिया, कि वह इस्त्राएलियों को मन फिराव की षक्ति और पापों की क्षमा प्रदान करे। हम इन बातों के गवाह हैं और वैसे ही पवित्र आत्मा भी, जिसे परमेष्वर ने उन्हें दिया है जो उसकी आज्ञा मानते है’’ (प्रेरितो 5:31-32)।

वो सुसमाचार का प्रचार है! वही सच्चा सुसमाचार प्रचार है! वही सुसमाचार प्रचारक को करने का काम है! प्रभु से विनंती करें कि अमरिका और विष्व में हर प्रचारक मसीह का उस जैसा प्रचार आज करे! आपके गीत के पर्चे का गीत क्रमांक 6 गाओ!

मुझे कहानी कहना पसंद है, स्वर्ग के बारे में अनेदखी
   यीषु और उनकी महिमा की यीषु और उनके प्रेम की
मुझे कहानी कहना पसंद है, क्योंकि मैं जानता हूँ यह सच है
   ये मेरी अभिलाशाएँ संतुश्ठ करती है जितनी और कोई न कर सके
मुझे कहानी कहना पसंद है, वह महिमा में मेरा विशय होगा
   पुरानी, पुरानी कहानी कहने यीषु और उनके प्रेम की

मुझे कहानी कहना पसंद है, यह ज्यादा अद्भूत लगता है
   सारे सुनहरे विचार से अधिक हमारे सारे सुनहरे स्वप्नों के
मुझे कहानी कहना पसंद है, इसने मेरे लिए बहुत कुछ किया है;
   और वो सिर्फ कारण है, मैं अभी आपको कहूँगा
मुझे कहानी कहना पसंद है, क्योंकि मैं जानता हूँ यह सच है
   ये मेरी अभिलाशाएँ संतुश्ठ करती है जितनी और कोई न कर सके
मुझे कहानी कहना पसंद है, वह महिमा में मेरा विशय होगा
   पुरानी, पुरानी कहानी कहने यीषु और उनके प्रेम की

मुझे कहानी कहना पसंद है ः यह दोहराना आनन्ददायक है,
   जो लगती है, हरबार मैं इसे कहूँ ज्यादा अलौकिकता से मधूर,
मुझे कहानी कहना पसंद है, किसी के लिये जिन्होंने कभी नहीं सुनी
   मुक्ति का संदेषा स्वयं परमेष्वर के पवित्र वचन से
मुझे कहानी कहना पसंद है, क्योंकि मैं जानता हूँ यह सच है
   ये मेरी अभिलाशाएँ संतुश्ठ करती है जितनी और कोई न कर सके
मुझे कहानी कहना पसंद है, वह महिमा में मेरा विशय होगा
   पुरानी, पुरानी कहानी कहने यीषु और उनके प्रेम की

मुझे कहानी कहना, पसंद है, उनके लिये जो इसे सबसे अच्छी तरह जानते है
   भूखे और प्यासे लगते है दूसरो की तरह इसे सुनने
और जब, महिमा के प्रदर्षन में, मैं गाता हूँ नया, नया गीत
   वो पुरानी, पूरानी कहानी होगी जिसे मैंने इतने समय से प्रेम किया
मुझे कहानी कहना पसंद है, क्योंकि मैं जानता हूँ यह सच है
   ये मेरी अभिलाशाएँ संतुश्ठ करती है जितनी और कोई न कर सके
मुझे कहानी कहना पसंद है, वह महिमा में मेरा विशय होगा
   पुरानी, पुरानी कहानी कहने यीषु और उनके प्रेम की
(‘‘मुझे कहानी कहना पसंद है’’ ए. केथरीन हेन्की द्वारा, 1834-1911)।

यीषु को क्रूस पर चढ़ाए जाने की एक रात पहले यीषु अपने चेलो को लेकर अंधेरे में गये गतसमनी की वाटिका केे। चेले सोने गये जब यीषुने प्रार्थना की। विष्व के पाप उस वाटिका में उन पर लादे गये। हमारे पापो के वजन ने उन्हें कुचला, और वे ‘‘...पसीना मानो लहू की बड़ी बड़ी बूँदो के समान भूमि पर गिर रहा था’’ (लूका 22:44)। जैसे उन्होंने प्रार्थना की, प्रधान याजक अधिकारीयों का समूदाय आया से और उन्हें पकड़ा। वे उन्हें महायाजक के पास ले गये। उन्होंने ‘‘ उनको मँह पर मारा’’ (लूका 22:64)। उन्होंने उनकी दाढ़ी खींची और उनके मुँह पर थूँके (यषायाह 50:6)। फिर वो उन्हें रोमी प्रधान, पोन्टीयस पिलातुस के पास ले गये। पिलातुस ने उनकी पीठ पर तब तक कोड़े मारे जब तक लहू उनकी पीठ से पैरो पर बहने लगा। उन्होंने काँटो का ताज बनाया और उनके सिर पर दबाकर लगाया। लहू उनके चेहरे और आँख से नीचे बहने लगा। और उन्हे क्रूस पर चढ़ाने की जगह ले गये। उन्होंने उनके हाथ और पैरो में कील ठोका। उन्होंने क्रूस का खड़ा किया। वो वहाँ लटक गये जैसे ही भीड़ उनकी ओर चिल्लायी और मज़ाक उडाया। उन्होंने प्रार्थना की, ‘‘हे पिता, इन्हें क्षमा कर, क्योंकि ये जानते नहीं कि क्या कर रहे है’’ (लूका 22:34)। आखिरकार वे ऊँची आवाज़ में चिल्लाये, ‘‘हे पिता, मैं अपनी आत्मा तेरे हाथों में सोपता हूँ’’ (लूका 23:46)। उन्होंने कहा, ‘‘पूरा हुआ, और सिर झुकाकर प्राण त्याग दिए’’ (यूहन्ना 19:30)।

उन्होंने उनका मृत षरीर क्रूस से नीचे उतारा और उसे नयी कब्र में रखा। उन्होंने कब्र को मुहर करके बंद कर दिया और वहाँ रोमी पहेरेदार तैनात किए इसे षव चुरानेवालो से बचाने।

रविवार सुबह में मरियम मगदलीनी और दूसरी मरियम कब्र के पास आयी और देखा कि प्रभु का स्वर्गदूत पत्थर पर बैठा है जो वहाँ द्वार से नीचे लूढका दिया था। स्वर्गदूतने कहा, ‘‘मत डरो, मै जानता हूँ कि तुम यीषु को जो क्रूस पर चढ़ाया गया था ढूँढती हो। वह यहाँ नहीं है, परन्तु अपने वचन के अनुसार जी उठा है’’ (मती 28:5,6)। उस रात जिलाए हुए मसीह चेलो को दिखे। उन्होंने उनके साथ खाया, और वे उनको अगले चालीस दिनों के दौरान बहुत बार दिखे। उन्होंने उनको पकड़ा और देखा कि वे आत्मा नहीं थे, परंतु ‘‘माँस और हड्डीयाँ’’ का पुनरूत्थान हुआ देह था (लूका 24:39)। उन्होंने उनको उन चालीस दिनों में बहुत सी बातें सिखाई। आखिरकार, उन्होंने उनको कहा,

‘‘स्वर्ग और पृथ्वी का सारा अधिकार मुझे दिया गया है। इसलिये तुम जाओ, सब जातियों के लोगों को चेला बनाओ। और उन्हें पिता, और पुत्र और पवित्र आत्मा के नाम से बपतिस्मा दो, और उन्हें सब बाते जो मैंने तुम्हें आज्ञा दी है, मानना सिखाओ, और देखो, मैं जगत के अन्त तक सदा तुम्हारे संग हूँ। आमीन’’ (मती 28:18-20)।

‘‘और उन्हें आषीश देते हुए वह उन से अलग हो गया और स्वर्ग पर उठा लिया गया’’ (लूका 24:51)।

यह मेरा समर्पण है आपको वह कहानी कहना! वह सुसमाचार है! वह मेरा समर्पण है! वह हर प्रचारक का समर्पण है! ‘‘सुसमाचार प्रचार का काम करो’’!!! आह! परंतु वहाँ और ज्यादा है!

3. तीसरा, फिलिप्पुस ने उनके ध्यान को अधिकार में लिया।

‘‘जो बातें फिलिप्पुस ने कहीं उन्हें लोगों ने सुनकर और जो चिन्ह वह दिखाता था उन्हें देख देखकर, एक चित होकर मन लगाया’’ (प्रेरितों 8:6)।

फिलिप्पुस ने मूर्तिपूजकों की भीड़ पर अभ्यास का अधिकार किया! आप नहीं कर सकते विचारो के किसी भी फैलाव द्वारा, उनके विचारो का निश्ठापूर्वक अनुरोध करते हुए उनका मृदता से बोला हुआ ‘‘बाइबल स्पश्टीकरण’’! दुर्बल प्रलाप करना, फेनदार बड़बड़ाहट पेष करना तीस मिनट तक रविवार सुबह में हमारे बहुत से कलीसिया में तिरस्कृत और मजाक उडाया गया होता घृणा के साथ अनादर किया हुआ उस सामारीटन उग्र भीड़ के द्वारा! परंतु फिलिप्पुस ने इस प्रकार प्रचार नहीं किया! लोगो ने ‘‘चित लगाया’’ फिलिप्पुस के धार्मिक प्रवचन में क्योंकि उनके ‘‘प्रचार में ज्ञान की लुभानेवाली बातें नहीं, परंतु आत्मा और सामर्थ्य का प्रमाण था’’ (1 कुरिन्थियों 2:4)।

उस प्रकार से फिलिप्पुस ने प्रचार किया। उसी तरह पौलुस ने प्रचार किया। और उसी प्रकार पतरस ने प्रचार किया पिन्तेकुस्त में। प्रभु के वचन कहते है पतरसने ‘‘ऊँचे षब्द से कहने लगा’’ पिन्तेकुस्त में (प्रेरितो 2:14)! इसी प्रकार वाइटफिल्ड ने प्रचार किया! उसी तरह वेस्ली ने प्रचार किया! उसी तरह होवेल हेरीस ने प्रचार किया! उसी प्रकार डेनियल रोलेन्ड ने प्रचार किया! उसी तरह क्रीसमस एवान्स ने प्रचार किया! उसी प्रकार रीर्चड भाकस्तर ने प्रचार किया! और इसी प्रकार हमें आज आवष्यकता है प्रचार करने की - हाँ! इसी प्रकार हमें प्रचार अभी करना ही चाहिए - ओबामा के युग में संसार के अन्त के दिनों में! परमेष्वर हमें सहाय करें! ‘‘सुसमाचार प्रचार का काम करो’’!

4. चौथा, फिलिप्पुसने उनकी भावनाओं को उत्तेजित किया।

सच्चा सुसमाचार प्रचार, प्रचार करनेवाले सदा ऐसा करते है! ‘‘क्योंकि बहुतों में से अषुद्ध आत्माएँ बड़े षब्द से चिल्लाती हुई निकल गई’’ (प्रेरितों 8:7)। सच्चे सुसमाचार प्रचार को सदा ही भावनाओं का प्रतिभाव मिला है - और कई बार षैतानी प्रतिभाव भी! आप लोगों की भावनाओं को उतेजित किए बिना सिर्फ सरलता से सुसमाचार प्रचार का काम नहीं कर सकते। यह नहीं हो सकता! डो. लोयड जोन्स ने कहा, ‘‘प्रचार करने में उत्कंश्ठा कहाँ है जिसने भूतकाल में सदा महान् प्रचार का गुण-दोश बताया था? क्या आधुनिक प्रचारक सदा भूतकाल के महान् प्रचारक की तरह कई बार चले और ले जाए नहीं गये थे? ... मैं फिर से कहता हूँ कि आदमी जो इस बारे में बोल सकता है (बिना उतेजना) उसे तख्त पर रहने का कोई अधिकार नहीं है और उनमें से किसी को भी प्रवेष नहीं करने देना चाहिए’’ (डी. मार्टीन लोयड - जोन्स, एम.डी. प्रीचींग एन्ड प्रीचर, (प्रचार करना और प्रचारकों), झोन्डरवान पब्लीषींग हाऊस, 1971, पृपृश्ठ 90, 97)।

मैं डो. मर्फी लूम के निवृती समारोह में था कुछ हफतें पहले। वहाँ पर बहुत से लोग थे जिन्हें मैं चीनी कलीसिया में जानता था। जब डो. लूम का अपना पुत्र बोला, उसने दिखाया कि उसने मुझे मसीह के दूसरी बार आने पर धार्मिक प्रवचन देते हुए सुना था और उसने उसे डराया था, और वो बचाया गया था। एक आदमी जो वहाँ मेरे साथ मेरी ही मेज पर बैठा था उसने कहा कि उसने मुझे अधोलोक पर प्रचार करते सुना था, और उसने उनको मुझे से बहुत बहुत क्रोधित किया। ‘‘परंतु’’ उसने कहा, ‘‘अचानक मैंने महसूस किया कि, मैं बचाया जाना चाहिए’’, और उसने मसीह पर भरोसा किया। इसी तरह यह होना चाहिए। ‘‘सुसमाचार प्रचार का काम कर’’।

ऐसा करने के लिये जरूरत है आपको सिर्फ सुसमाचार के बारे में कहने से अधिक कुछ कहने की! आप सुसमाचार को गंभीरता से नहीं लेगें जब तक आप भावनात्मक, क्रोधित या ड़रा हुआ नहीं चलते! आपका मन फिरना ही चाहिए, ‘‘क्योंकि आदमी मन से विष्वास करता है’’ (रोमियों 10:10)।

मैं आप से कहता हूँ मसीह इस संसार का न्याय करने आ रहे है। न्याय पहिले से ही गिर रहा है। भयंकर चक्रवात को देखिये। देखिए भयकंर जल-प्रलय, भयानक हिमवर्शा, सूखा हुआ मध्यपष्चिम, आतंकवादी जो षहरो को नश्ट कर दे गंदे बम से। क्या आप यह नहीं देखते? आपका क्या होगा जब ‘‘बड़ी चीजे’’ लोस एंजलिस पर आक्रमक होती है - जब धरती खुलती है और आप नीचे अधोलोक में गिरते हो? आपकी आत्मा को क्या होगा जब आपका देह षवधर में ठंडा और कड़क पड़ा रहता है? आपको क्या होगा अगर आप जैसे हो वैसे ही चलते हो - कलीसिया में खेल खेलते हुए! आपकी आत्मा के साथ खेल खेलते हुए! परमेष्वर के साथ खेल खेलते - और परमेष्वर आपको बिना सजा दिये जाने नहीं देंगे, क्योंकि हमारे प्रभु खा जाने वाली आग है!

आपके लिये खेल सिर्फ इतना ही है? क्या आपने पवित्र आत्मा की घृणा की है? क्या आपने गुप्त पाप किए है जो आप सोचते हो कभी भी पता नहीं लगेगा? क्या आपका मन पूरी तरह से बुरे विचारों और ईष्वर निन्दा से भरा हुआ है? ओह, मैं आज रात आपसे कहता हूँ, आप में से किसी के लिये पहिले ही बहुत देर हो चुकी है! और यहाँ किसी के लिये बहुत देरी है - अगर आप दूसरे दिन पर जाते हो मसीह के माफी देनेवाले लहू के बिना! उनसे फिरो मत! यह फिर से न करो! यह फिर से न करो! मैं आपको चेतावनी देता हूँ - उनसे फिरो मत। यह षायद आपका आखरी मोका हो सकता है न्याय के आने से पहले। यह मेरा कर्तव्य है आपको सचेत करना। यह मेरा कर्तव्य है सुसमाचार प्रचार का काम करना। मेहरबानी करके खड़े रहो और आपके गीत के पर्चे का भक्तिगीत क्रमांक 8 गाओ।

बहुत लंबे तक मैंने उद्धारक की उपेक्षा की,
   बहुत देर जैसे मैंने अपने पाप को पकड़ा,
बहुत लंबे तक मैंने अपनी अस्वीकार को माफ किया,
   और अब मैं उनके बिना खो गया हूँ!
यह देरी है, ओह कितनी देरी!
   फिर भी वे द्वार पर खटखटाते है।
और यीषु, मधुर उद्धारक, एक बार और बुलाते है।

जब मेरा अंतःकरण जला बहुत देर हुई थी,
   बहुत देर हुई थी जब मेरा मन पत्थर समान है।
बहुत देरी है अगर आत्मा मुझे छोडती है।
   बहुत देर है जब मेरा प्राण गया है।
यह देरी है, ओह कितनी देरी!
   फिर भी वे द्वार पर खटखटाते है।
और यीषु, मधुर उद्धारक, एक बार और बुलाते है।

बहुत लंबा एक घंटा भी मसीह अस्वीकार का
   बहुत देर षायद होगी एक दिन में।
आज मुक्ति का दिन है,
   ओ यीषु, मैं फिरूँगा नहीं।
यह देरी है, ओह कितनी देरी!
   फिर भी वे द्वार पर खटखटाते है।
और यीषु, मधुर उद्धारक,
   एक बार और बुलाते है।
(‘‘बहुत लंबी मैंने उपेक्षा की’’ डो. जोन आर. राइस द्वारा, 1895-1980)।

अगर आपको बचाये जाने के बारे में हमसे बात करनी है, मेहरबानी करके अभी पिछले कक्ष में आइये। डो. केगन आपको षान्त जगह ले जायेंगे जहाँ हम आपके साथ यीषु पर भरोसा करने के बारे में बात कर सकते है। श्रीमान ली, मेहरबानी करके प्रार्थना में हमारा नेतृत्व करे।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन से पहले डो. क्रेगटन् एल. चान द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रषास्त्र: प्रेरितो 8:5-8।
धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
‘‘बहुत लंबी मैंने उपेक्षा की’’ (डो. जोन आर. राइस द्वारा, 1895-1980)।


रूपरेखा

सुसमाचार प्रचारक का काम

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

‘‘सुसमाचार प्रचार का काम कर’’ (2 तीमुथियुस 4:5)।

(सभोपदेषक 7:29)

1. पहला,   जब फिलिप्पुस ने प्रचार दिया वो तीव्ररूप से उत्तेजक था,
प्रेरितो 8:5-8

2. दूसरा,   फिलिप्पुस ने मसीह का प्रचार किया, प्रेरितो 8:5; 10:41-43; 11:20,21; 1 कुरिन्थियों 2:2; प्रेरितो 5:31-32; लूका 22:44, 64; यषायाह 50:6; लूका 23:34, 46; यूहन्ना 19:30; मती 28:5,6;
लूका 24:39; मती 28:18-20; लूका 24:51।

3. तीसरा,  फिलिप्पुस ने उनके ध्यान को अधिकार में लिया, प्रेरितो 8:6;
1 कुरिन्थियों 2:4; प्रेरितो 2:14।

4. चौथा,   फिलिप्पुसने उनकी भावनाओं को उत्तेजित किया, प्रेरितो 8:7;
रोमियो 10:10।