Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




आपका मृत्यु के साथ नियुक्त समय

YOUR APPOINTMENT WITH DEATH
(Hindi)

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की सुबह, 11नवंबर,2012 को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, November 11, 2012

‘‘जैसे मनुश्यों के लिये एक बार मरना और उसके बाद न्याय का होना नियुक्त है’’
(इब्रानियों 9:27)।


इस घंटे की एक सबसे बड़ी आवष्यकता है धर्म पुस्तक संबंधी सुसमाचार प्रचार। जब मैं बालक था आप ये हर जगह सुन सकते थे। ये संसार में सबसे सामान्य चीज थी आदमी का प्रचार किया हुआ सुसमाचार सुनना। परन्तु अब ये सच नहीं है। आज बाइबल पढ़ाई की महान् परिमान है। आज बड़ा परिमाण है कहे जानेवाले संगीत और कहे जानेवाली ‘‘पूजा’’ की। आजकल बहुत से कलीसियाओं में मनोरंजन का बड़ा परिमाण है। परन्तु सुसमाचार प्रचार बहुत ही कम सुनाई पड़ता है आज हमारे तख्तो से। इसके लिये बहुत कारण है, परंतु मैं आज सुबह उसमें नहीं जा सकता। यह पर्याप्त है कहना कि मैं आपको क्या धर्म पुस्तक संबंधी धार्मिक प्रवचन देने जा रहा हूँ। मैं मानता हूँ कि फिर से जन्मे हर मसीही को आवष्यकता है धार्मिक पुस्तक संबंधी सुसमाचार प्रचार सुनने की और उस प्रकार के प्रचार बार - बार सुनने की। मैं ऐसा क्यों कहूँ? क्योंकि धर्म पुस्तक संबंधी प्रचार हमारा सामना कराती है जीवन और मृत्यु के बड़े विशय से। ये वो प्रचार भी है जो हमें स्मरण कराता है सुसमाचार के निश्कर्श को। और हम सब को स्मरण करना चाहिए सुसमाचार के जीवन और मृत्यु के विशय पर। ये हमें मसीह के करीब रखता है सुसमाचार प्रचार सुनने।

खोए लोगों को भी धर्म-पुस्तक संबंधी प्रचार सुनना आवष्यक है। ‘‘अर्थ - प्रकाषक प्रचार’’ कहेजानेवाला प्रचार खोए लोगों का सामना नहीं कराता उनके पाप और उनकी मसीह के लिये आवष्यकता के साथ। एक न्याय जो प्रभु ने भेजा इस पाप भरे युग को वो है सुसमाचार प्रचार का दुश्काल। भविश्यवक्ता आमोस ने प्रभु को कथन किया। उन्होंने कहा, ‘‘उस में न तो अन्न की भूख और न पानी की प्यास होगी, परन्तु यहोवा के वचनों के सुनने ही की भूख प्यास होगी’’ (आमोस 8:11)। उन्होंने नहीं कहा कि वहाँ वचनो का दुश्काल होगा, परन्तु ‘‘यहोवा के वचनों के सुनने ही की’’ भूख प्यास होगी। मेथ्यु हेन्रीने कहा, ‘‘उन्होंने षब्द (वचन) लिखे होते, बाइबल पढ़ने, परन्तु कोई सेवक नहीं ... इसे लागू करने उनपर।’’ ये धर्म - पुस्तक संबंधी सुसमाचार है जो सुसमाचार के वचन लागू करता है आदमीयों के मन और दिमाग पर। सिर्फ बाइबल की पढ़ाई वो नहीं कर सकती। सिर्फ धर्म पुस्तक संबंधी सुसमाचार प्रचार वो कर सकती है। धर्म पुस्तक संबंधी सुसमाचार प्रचार खोए हुए का ध्यान पकड़ती है, और उन्हें प्रभु के वचन सुनने लगाती है। और वहाँ पर आज महान् प्यास है उस प्रकार के प्रचार की! ये हमारे राश्ट्र और हमारे संसार पर परमेष्वर की ओर से न्याय है।

ये धार्मिक प्रवचन बहुत सरल है, जैसे सारे सच्चे धर्म पुस्तक संबंधी सुसमाचार प्रचार सरल है। हकीकत में, ये धार्मिक प्रवचन लिया गया था डो. डब्ल्यु हरषेल फोर्ड द्वारा सीम्पल सरमन्स ओन ध ओल्ड टाइम रीलीझन, (पुराने समय के धर्म पर सरल धार्मिक प्रवचन) से (झोन्डरवान, 1972 की प्रत, पृपृश्ठ 105-112)। ये सरल धार्मिक प्रवचन है मृत्यु पर - मृत्यु जिसका हर आदमी सामना करता है जो आज सुबह मुझे सुन रहे है। पाठ कहता है,

‘‘जैसे मनुश्यों के लिये एक बार मरना और उसके बाद न्याय का होना नियुक्त है’’
      (इब्रानियों 9:27)।

पिछले षुक्रवार मैं सान फ्रान्सिसको में था। मैं वहाँ एक प्यारे मित्र की अन्त्येश्ठि मे ंहाजरी देने गया था। वो कुछ दिनों पहले केन्सर (कर्क रोग) के कारण मरी थी। जैसे मैंने उसकी षवपेटी का सामना किया, मैंने देखा कि अन्त्येश्ठि निर्देषक ने उसके चेहरे को रंग लगाया था, जीवन जैसी षोभा देते हुए। उन्होंने उसका देह साटीन (सिल्क) के कपड़े में लपेटकर षवपेटी में रखा था। उन्होंने सुन्दर फूल आसपास बिछाए थे। उन्होंने अपनी ओर से सर्वोत्तम काम किया था, परन्तु मृत्यु कभी सुन्दर नही होती है। ये सदा भयानक होती है। किसी को आप से ये न कहने दो ये नहीं है! मृत्यु आदमी का षत्रु है। बाइबल मृत्यु को कहता है ‘‘अन्तिम बैरी’’ (1 कुरिन्थियों 15:26)। और फिर भी ये षत्रु है जिसका आपको सामना करना ही है क्योंकि ‘‘जैसे मनुश्यों के लिये एक बार मरना और उसके बाद न्याय का होना नियुक्त है’’ (इब्रानियों 9:27)। जैसे आप मरनेवाले ही हो, आप को आवष्यकता है जानने की कि बाइबल क्या कहता है मृत्यु के बारे में।

1. पहला, बाइबल हमें मृत्यु का मूल कहता है।

अदन की वाटिका सुन्दर थी, आदमी को रहेने के लिये परिपूर्ण जगह। पाप और मृत्यृ ने वहाँ कभी प्रवेष नहीं किया था। फिर प्रभु ने आदम से कहा,

‘‘तू वाटिका के सब वृक्षों का फल बिना खटके खा सकता है ः पर भले या बुरे के ज्ञान का जो वृक्ष है, उसका फल तू कभी न खाना; क्योंकि जिस दिन तू उसका फल खाएगा उसी दिन अवष्य मर जाएगा’’ (उत्पति 2:16-17)।

परन्तु आदम और हव्वा ने परमेष्वर की आज्ञा नहीं मानी, वो निशेध किया हुआ फल खाया, और वोही क्षण में आध्यात्मिकरूप से मर गए। फिर षारीरिक मृत्यु ने उनके षरीर में काम करना षुरू किया।

बाद में प्रभु ने नौ आदमीयों की सूचि बनायी आदम से नूह तक। हनोक स्वर्ग में भेजा गया। परन्तु बाकीयों के बारे में बाइबल क्या कहता है? ‘‘वो मर गया।’’ ‘‘वो मर गया।’’ ‘‘वो मर गया।’’ ‘‘वो मर गया।’’ ‘‘वो मर गया।’’ ‘‘वो मर गया।’’ ‘‘वो मर गया।’’ ‘‘वो मर गया।’’ परमेष्वर हमसे कहते थे उनका क्या अर्थ था जब उन्होंने कहा, ‘‘तू अवष्य मर जाएगा’’। फिर इस्त्राएल के राजा और यहूदा का इतिहास पढ़ा। ‘‘वे जिये ... उन्होंने षासन किया ... वे मर गए’’। प्रभु ने मूसा से कहा, ‘‘देख, तेरे मरने का दिन निकट है’’ (व्यवस्थाविवरण 31:14)। प्रभु ने राजा हिजकिय्याह से कहा, ‘‘तू न बचेगा मर ही जाएगा’’ (यषायाह 38:1)।

यीषु कई बार मृत्यु के बारे में बोले। उन्होंने धनवान आदमी के बारे में कहा जो मरा और अधालेोक में गया (लूका 16:19-31)। उन्होंने उस धनवान व्यक्ति की बात की जो उसकी नींद में मर गया (लूका 12:13-21)। उन्होंने फरासियों को कहा कि वे उनके पाप में मरने चाहिए (यूहन्ना 8:24)।

बाइबल हमें कहता है कि मृत्यु पाप के कारण आती है। जब पहले आदमीने पाप किया मृत्यु उसके सारे वंषज (जातियों) पर आया। आपके और मेरे षरीर में पहिले से ही मृत्यु के बीज है। दांत सड़ते है। बाल झड़ना षुरू होते है। फिर वे सफेद होते है। हमारी आँखे कमजोर होती है। कुछ लोगों में केन्सर के (कर्क रोग) जंतु बनना षुरू होते है, दूसरों मेें हृदय के स्नायु कमजोर होते है, रक्त दबाव (Blood Pressure) ऊँचा होता है। मैंने देखा है छोट़े बच्चे मरते है केन्सर, ल्युकेमिया, खून का केंसर और दूसरे रोगो के कारण। आप जो कोई भी हो, मृत्यु आपके रास्ते पर है। ‘‘जैसे मनुश्यों के लिये एक बार मरना और उसके बाद न्याय का होना नियुक्त है’’ (इब्रानियों 9:27)।

ज्यादातर फूल बेचनेवालों का व्यवसाय आता है मरे हुओं के लिये फूल सजाने से। जीवन विमा के विक्रेता उसके प्रमाणपत्र (Policies) बेचते है वो साबित करने के द्वारा की हम मरते है। राश्ट्रीय मार्गो से पसार होते हुए मार्ग लोगों की भीड़ की मृत्यु के बारे में बोलते है। हर उम्र के हज़ारो लोग हर साल विभिन्न प्रकार के अकस्मात मे मारे जाते है। और हज़ारो लोग आत्महत्या करते है। पुराने जमाने का षिल्पकार (Architects) ये नियम का अनुकरण करते थे की, ‘‘सारे द्वार इतने बड़े बनाओ की षवपेटी अन्दर जा सके।’’

परन्तु आप षायद कहो, ‘‘ये सारी हकीकतें मुझे नहीं ड़राती।’’ वे मुझे भी नहीं ड़राती, क्योंकि मैंने मेरी आषा मसीह पर रखी है, जिसने मृत्यु को जीता है। परन्तु अगर आप अभी तक फिर से जन्मे मसीही नहीं बने हो आप को ड़रने का पर्याप्त ज्ञान होना उचित है! मृत्यु आपकी बचाये जाने की सारी तको का अंत कर देगी। यह स्मरण रख - आप पर मृत्यु षायद जल्दी ही आ जाये। आपकी सिल्क बिछायी हुई षवपेटी षायद आपकी अंत्येश्ठि की राह देख रही होगी अब! मैं एक युवा आदमी को जानता था जो मेरे धार्मिक प्रवचनों पर हँसा था। वो कलीसिया के पीछे बैठा था हास्य पुस्तिका पढ़ते हुए, बड़े बाइबल में छिपी हुई, जब मैं प्रचार कर रहा था। एक या दो दिन बाद, मैंने उसकी ठंडी, कड़क देह षवपेटी में रखा देखा। ‘‘जैसे मनुश्यों के लिये एक बार मरना और उसके बाद न्याय का होना नियुक्त है’’ (इब्रानियों 9:27)। एक पुराना गीत ये अच्छी तरह कहता है,

समय अभी क्षण भंगुर है, क्षण गुजर रही है,
   गुजर रही है आपसे और मुझसे;
परछाईयाँ जमा हो रही है, मृत्यु षैयाएँ आ रही है,
   आ रही है आपके और मेरे लिये।
घर आओ घर आओ,
   आप जो थके हुए हो, घर आओ;
उत्साहपूर्वक, कोमलता से यीषु बुलाते है,
   ुलाते है, ओ पापी, घर आओ!
(‘‘मृदुता से और कोमलता से’’ वील एल. थोम्पसन द्वारा, 1847-1909)।

2. दूसरा, बाइबल हमें कहता है मृत्यु के बाद क्या होता है।

क्या होता है फिर से जन्मे मसीही को मृत्यु के समय? प्रेरितो पौलुस ने कहा कि ‘‘देह से अलग होकर’’ ‘‘प्रभु के साथ रहना’’ था (2 कुरिन्थियों 5:8)। जब एक मसीही मरता है, उसका देह कब्र में जाता है, परन्तु उसकी आत्मा (उसकी आत्मा) जाती है प्रभु के साथ रहने। यीषु ने मरते हुए चोर से कहा, जो बचाया गया था, ‘‘आज ही तू मेरे साथ स्वर्गलोक में होगा’’ (लूका 23:43)। इसलिये मृत्यु फिर से जन्मे मसीही को नहीं ड़राती। औरत जिसकी अंत्येश्ठि में मैंने हाजरी दी थी पछिले षुक्रवार जानती थी कि वो केंसर की बीमारी के कारण मर रही है जब मेरी पत्नी और मैंने कुछ हफते पहले मुलाकात ली थी। परन्तु वो हमारे साथ हँसी और खूब मुस्कुराई। हमने देखा षान्ति उसके चेहरे पर थी क्योंकि वो सच्ची मसीही थी। ये मेरा सद्भाग्य था उसकी जीवन कहानी उसकी यादसभा में पढ़ना, सेकड़ो लोगो की उपस्थिति में, पिछले षुक्रवार षाम को।

परन्तु क्या होता है अपरिवर्तित लोगो को मृत्यु पर? लूका के सोलहवे पाठ में, हम पढ़ते है, ‘‘वह धनवान भी मरा और गाड़ा गया, और अधोलोक में उसने पीड़ा में पड़े हुए अपनी आँखे उठाई’’ (लूका 16:22,23)। अधोलोक में सचेत यातना आती है मृत्यु के बाद, उनको जो मसीह का अस्वीकार करते है, और कभी फिर से नहीं जन्में। उनका देह कब्र में जाता है। परन्तु उनकी आत्माएँ जाती है अनंत तड़प् की जगह में। यीषु ने कहा, ‘‘ये अनन्त दण्ड भोगेंगे’’ (मती 25:46)। वे ‘‘सब झूठों का भाग उस झील में मिलेगा जो आग और गन्धक से जलती रहती है’’ (प्रकाषितवाक्य 21:8)। ‘‘और उनकी पीड़ा का धुआँ युगानुयुग उठता रहेगा ... उनको रात दिन चैन न मिलेगा’’ (प्रकाषितवाक्य 14:11)।

क्या वहाँ मृत्यु के बाद और मौका है? बाइबल स्पश्टता से देता है दृढ ‘‘ना’’। अब्राहम ने आदमी को अधोलोक में कहा,

‘‘इन सब बातों को छोड़ हमारे और तुम्हारे बीच एक भारी गड़हा ठहराया गया है कि जो यहाँ से उस पार तुम्हारे पास जाना चाहे, वे न जा सके; और न कोई वहाँ से इस पार हमारे पास आ सके’’ (लूका 16:26)।

अनंतता में खोए आदमी गड़हा की गलत बाजू होगे स्वर्ग और अधोलोक के बीच। मसीह आपको अभी उनके पास बुलाते है। बाइबल के अनुसार मृत्यु के बाद वहाँ दूसरा मौका नहीं होगा।

3. तीसरा, बाइबल अचानक मृत्यु की चेतावनी देता है।

सारी मृत्युओं में से देढ़ गुना से अधिक अचानक मृम्यु है। यांत्रिक अकस्मात, हत्याएँ, आत्महत्या, युद्ध और हार्ट अटेक सारे अचानक है। ज्यादा बहुमती की मृत्यु उनकी जो इस तरह मरते है उनके पास पष्चाताप और मसीह पर भरोसा करने का समय नहीं होता। वे अचानक उनके जीवन से बाहर जाते है प्रभु से मिलने के लिये तैयार न होते हुए। बाइबल कहता है,

‘‘वह, जो बार बार डाँटे जाने पर भी हठ करता है, वह अचानक नश्ट हो जाएगा और उसका कोई भी उपाय काम न आएगा’’ (नीतिवचन 29:1)।

मैं करीबन 55 वर्शों से प्रचार कर रहा हूँ। बार बार, वर्शों से, मैंने देखा है लोगो को अचानक मरते हुए जो परमेष्वर से मिलने तैयार नहीं थे। बार बार मुझे बुलाया जाता है अंत्येश्ठि सभा का आयोजन करने लोगों के लिये जो बचाये बिना मर गए। ये सदा मुष्किल होता है ऐसी सभा का आयोजन करना। ये नामुमकिन है कोई भी आषा देना दुःखी संबंधियों को इस प्रकार की दुःखी अवस्था में। सब कुछ मैं कर सकता हूँ वो है जो अब तक जीवित है उन्हें सुसमाचार प्रचार करना।

अगर आपको आनेवाले दिनों में अचानक मरना पड़े, आपको क्या होगा? क्या आप प्रेरितो पौलुस के साथ कह सकेंगे, ‘‘क्योंकि मेरे लिये जीवित रहना मसीह है, और मर जाना लाभ है?’’ (फिलिप्पियों 1:21)। या आप बाहर अनंतता में जाओगे मसीह के साथ रहने की आषा बिना के साथ? ये आपके लिये स्वर्गलोक या अधोलोक होगा? वो गंभीर प्रष्न है, सबसे गंभीर प्रष्न जिसका आप कभी भी सामना करो, क्योंकि ‘‘जैसे मनुश्यों के लिये एक बार मरना और उसके बाद न्याय का होना नियुक्त है’’ (इब्रानियों 9:27)।

यीषु क्रूस पर मरे आपके पापो का पूरा दण्ड चुकाने। उन्होंने उनका लहू बहाया आपको सारे पापो से षुद्ध करने। वे मृत्यु से षारीरिकरूप से उठे आपको अनंत जीवन देने। परंतु आपको महसूस कराना आवष्यक है आपके पाप और मसीह की आवष्यकता आपके लिये। आपको अपने स्वार्थ और पाप भरे जीवन के रास्ते से फिरना ही चाहिए। आपको जीवन बदलनेवाले परिवर्तन में मसीह का सामना करना ही चाहिए। अगर वो आपको होता है, वहाँ पर आषा है। अगर नहीं, आपके पास आषा नहीं - कुछ भी नहीं। इसलिये मैं आपको सावधान करता हूँ हर रविवार सुबह और हर रविवार रात यहाँ कलीसिया में आने सुसमाचार सुनने, मसीही लोग आपके लिये प्रार्थना करे, कलीसिया की संगति में प्रवेष पाने, मसीह के साथ सच्चे रिष्ते में प्रवेष पाने, और कलीसिया के साथ भी। बाइबल कहता है,

‘‘मसीह यीषु पापियों का उद्धार करने के लिये जगत में आया’’ (1 तीमुथियुस 1:15)।

हम कैसे प्रार्थना करे कि आप उनमें से एक हो जिसे यीषु बचाते है आषाहीन जीवन और आषाहीन मृत्यु से। आमीन।

मैं आपको यहाँ आने और खडे रहने को कहनेवाला हूँ यहाँ तख्त से सामने अगर आप निष्चित नहीं हो कि आप बचाए गए हो। जब आप आए हो, डो. केगन आपको दूसरे कक्ष में ले जाएगें जहाँ हम आपके साथ बात कर सकते है, आपके साथ प्रार्थना करते है, और आपको कुछ साहित्य देंगे पढ़ने को। मेहरबानी करके आपके गीत के पर्चे पर भक्तिगीत क्रमांक सात पर फिरो। जब हम गाते है आप अपनी बैठक से बाहर आओ और यहाँ आगे खड़े रहो और जल्दी आओ।

मृदुता और कोमलता से यीषु बुलाते है
   ुलाते है आपको और मुझे;
देखो, द्वार पर वे राह देखते है और नजर करते है
   देखते है आपके ओर मेरे लिये।
घर आओ घर आओ,
   आप जो थके हुए हो, घर आओ;
उत्साहपूर्वक, कोमलता से यीषु बुलाते है,
   बुलाते है, ओ पापी, घर आओ!
हम क्यों रूके जब यीषु विनती करते है
   विनती करते है आपके और मेरे लिये;

हम क्यों देर करें और उनकी दया से न छिपे
   दया आपके लिये और मेरे लिये?
घर आओ घर आओ,
   आप जो थके हुए हो, घर आओ;
उत्साहपूर्वक, कोमलता से यीषु बुलाते है,
   बुलाते है, ओ पापी, घर आओ!

समय अभी क्षण भंगुर है, क्षण गुजर रही है,
   गुजर रही है आपसे और मुझसे;
परछाईयाँ जमा हो रही है, मृत्यु षैयाएँ आ रही है,
   आ रही है आपके और मेरे लिये।
घर आओ घर आओ,
   आप जो थके हुए हो, घर आओ;
उत्साहपूर्वक, कोमलता से यीषु बुलाते है,
   बुलाते है, ओ पापी, घर आओ!

ओह, अद्भूत प्रेम के लिये जो उन्होंने वचन दिया था
   वचन आपके लिये और मेरे लिये!
चाहे हमने पाप किये हो, उनके पास दया और माफी है
   माफी आपके और मेरे लिये।
घर आओ घर आओ,
   आप जो थके हुए हो, घर आओ;
उत्साहपूर्वक, कोमलता से यीषु बुलाते है,
   बुलाते है, ओ पापी, घर आओ!
(‘‘मृदुता और कोमलता से’’ वील एल. थोम्पसन द्वारा, 1847-1909)।

डो. चान, मेहरबानी करके आओ और उनके लिये प्रार्थना करो जिसने आज सुबह प्रतिसाद दिया है (प्रार्थना)।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान. क्यु डोन्ग ली द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रषास्त्र ः इब्रानियों 9:24-28।
धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत ः
‘‘मृदुता और कोमलता से’’ (वील एल. थोम्पसन द्वारा, 1847-1909)।


रूपरेखा

आपका मृत्यु के साथ नियुक्त समय

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

‘‘जैसे मनुश्यों के लिये एक बार मरना और उसके बाद न्याय का होना नियुक्त है’’ (इब्रानियों 9:27)।

(आमोस 8:11; 1 कुरिन्थियों 15:26)

1.   पहला,बाइबल हमें मृत्यु का मूल कहता है, उत्पति 2:16-17; व्यवस्थाविवरण 31:14; यषायाह 38:1; लूका 16:19-31; 12:13-21; यूहन्ना 8:24।

2.   दूसरा,बाइबल हमें कहता है मृत्यु के बाद क्या होता है, 2 कुरिन्थियों 5:8; लूका 23:43; 16:22,23; मती 25:46; प्रकाषितवाक्य 21:8; 14:11;
लूका 16:26।

3.   तीसरा,बाइबल अचानक मृत्यु की चेतावनी देता है, नीतिवचन 29:1; फिलिप्पियों 1:21; 1 तीमुथियुस 1:15।