Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




विस्फोटित हुआ कलीसिया !

AN EXPLODING CHURCH!
(Hindi)

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की सुबह, 9 सीतंबर, 2012 को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, September 9, 2012

‘‘तब उसने अपने चेलोें से कहा, पके खेत तो बहुत हैं पर मजदूर थोड़े है; इसलिये खेत के स्वामी से विनती करो कि वह अपने खेत काटने के लिये मजदूर भेज दे'' (मती 9:37,38)।


प्रचारक सामान्य तोर पे सोचते है कि मसीह हम से कहते है, इस पद में, विनती करने की प्रभु कलीसिया के सदस्यों को भेजे आत्मा जीतनेवाला बनने। वो पूरी तरह गलत नहीं है, परन्तु व्याख्या की अपेक्षा से यह ज्यादा प्रार्थनापत्र है। हाँ, हम कह सकते है कि यह प्रार्थना करने को लागू होता है मसीहीयों के लिये, जागृत हो और आत्माओं को जीते। परन्तु यह एकदम वो नहीं है जो मसीह अपने चेलों से कहते थे।

यीषु अपने चेलो से कहते थे विनती करने की प्रभु नये लोगो को पके खेत काटने भेजे, अभी, तुरंत, वे बहुत ज्यादा प्रषिक्षण प्राप्त कर ले उससे पहले, उन मे से बहुत से बचाये गये हो उससे भी पहले! सब होते हुए भी, मुष्किल से ही कोई अभी तक मसीही था जब यीषु ने वो कहा! चेले स्वयं अभी तक प्रषिक्षित नहीं थे और उनमें से कुछ, कम से कम, परिवर्तित नहीं थे। डो. मेकगी ने कहा उन में से कोई भी फिर नहीं जन्मे थे जब तक यीषु मृत्यू से नहीं उठे। यह स्पश्ट है कि यहूदा बचाया नहीं गया था। थोमा ने अभी तक सुसमाचार में विष्वास नहीं किया था, कयोंकि हम जानते है कि उसे अभी तक विष्वास नहीं था कि यीषु मृत्यु से उठेंगे। पतरसने यीषु को क्रूस पर चढ़ाए जाने का अस्वीकार किया, और वो यीषु द्वारा डाँटां गया था उसके हठी अविष्वास के लिये। फिर भी ये आदमी आत्माओं को जीतने भेजे गये थे अगले ही पाठ, मती 10 में। और मसीह ने उनको विनती करने को कहा कि दूसरे नये लोग भेजे जाने चाहिए आत्माओ की कटनी अन्दर लाने!

इसका आज हमारे लिये क्या अर्थ है? क्यों, इसका अर्थ है कि हमें लोगो को बाहर भेजना चाहिए जो कलीसिया के लिये नये है उन्हे आत्माएँ जीतने तुरंत! इसका और क्या अर्थ हो सकता है? चलिये इसे ‘‘नयी'' दृश्टि से देखते है और देखे यीषु आज हमें क्या चाहिए जो करे, हमारे कलीसिया में। अगर आप इस सुबह यहाँ पहली बार हो, हम आप के लिये प्रार्थना करते है हमारे साथ अभी आने, खेत काटने में मजदूर बनने, खोए लोगो को अपने कलीसिया में सुसमाचार सुनने लाये। पाठ को फिर से सुनो, इस प्रकाष में,

‘‘तब उसने अपने चेलोें से कहा, पके खेत तो बहुत हैं पर मजदूर थोड़े है; इसलिये खेत के स्वामी से विनती करो कि वह अपने खेत काटने के लिये मजदूर भेज दे'' (मती 9:37,38)।

हम आपसे कुछ कहते है। हम आपको अन्दर आने के लिये विनती करते है और हमे सहाय करो दूसरो को अन्दर इस कलीसिया में सुसमाचार सुनने और बचाये जाने के लिये लाने। हम सीखते है कि यह सच है कम से कम दो अलग प्रकार से।

1. पहला, यीषु ने मूल चेलो को बुलाया आत्माएँ जीतने तुरंत।

मेहरबानी करके मती 4:18-20 पर फिरो। मेहरबानी करके खड़े रहो और वो पद जोर से पढ़ो।

‘‘और यीषु ने, गलील की झील के किनारे फिरते हुए दो भाइयों अर्थात् षमौन को जो पतरस कहलाता है, और उसके भाई आन्द्रियास को झील में जाल डालते देखा : क्योंकि वे मछवे थे। यीषु ने उन से कहा, मेरे पीछे चले आओ, तो मैं तुम को मनुश्यों के पकड़नेवाले बनाऊँगा। वे तुरन्त जालों को छोड़कार उसके पीछे हो लिये'' (मती 4:18-20)।

वो सबसे पहली बात थी जो यीषु ने इन आदमीयों से कही, ‘‘मेरे पीछे चले आओ, और मैं तुम को मनुश्यों के पकड़नेवाला बनाऊँगा'' (मती 4:19)। वहाँ पर एक समूहगान है जो इसे स्पश्ट करता है,

मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   मनुश्यों को पकड़नेवाला, मनुश्यों को पकड़नेवाला,
मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   अगर आप मेरे पीछे आआगे;
अगर आप मेरे पीछे आआगे, अगर आप मेरे पीछे आआगे;
   मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
अगर आप मेरे पीछे आआगे।
   (‘‘मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा'' हेरी डी.
      र्क्लाक द्वारा, 1888-1957)।

आप बैठ सकते हो।

यीषु उनको अन्दर नहीं लाये और थोडे़ वर्शो तक बाइबल नहीं पढ़ाया, उनको बाहर जाकर दूसरे को अन्दर लाने, मनुश्यों के पकड़नेवाले की तरह बनने को कहने से पहले। उन्होंने उनके सारे प्रष्नों के जवाब नहीं दिये और ना उन्हे अध्यात्मविद्दत, क्षमा योग्य, और मसीही विध्दया सीखाया। वे रविवार षाला की कक्षा में नहीं लाये महिनो तक, उन्हे दूसरो के पीछे जाकर उनको अन्दर लाने को कहने से पहले। उन्होंने उनको सुसमाचार कैसे समझाते है वो भी नहीं सीखाया। नहीं! उन्होने उनको सिर्फ बाहर भेजा दूसरों को अन्दर लाने, दूसरों के लिये ‘‘पकड़ने''! सबसे पहली चीज़ उन्होंने उनको कही वो थी, ‘‘मेरे पीछे आओ, मैं तुमको मनुश्यों का पकड़नेवाला बनाऊँगा।''

मैं नहीं सोचता ये पूरी तरह से प्रमाणिक होगा आपको कुछ और कहना। मैं सोचता हूँ हमें मसीह के द्रश्टांत का अनुकरण करना चाहिए। मैं सोचता हूँ हमे आपको कहना चाहिए, अभी, सबसे पहली बार आप कलीसिया में आओ, जो मसीह चाहते है की आप करो! मसीह चाहते है आप जाओ और दूसरो को लो और उन्हे अन्दर ले आओ। मसीह चाहते है आप बाहर जाओ और किसीको आपके साथ अन्दर ले आओ! खडे रहो और इसे फिर सक गाओ!

मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   मनुश्यों को पकड़नेवाला, मनुश्यों को पकड़नेवाला,
मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   अगर आप मेरे पीछे आआगे;
अगर आप मेरे पीछे आआगे, अगर आप मेरे पीछे आआगे;
   मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
अगर आप मेरे पीछे आआगे।

हाँ, मसीह ने पहले चेलो को बुलाया, तुरंत, एकदम षुरूआत में, मनुश्यों का पकड़नेवाला बनने - खेत काटने में मजदूर बनने - दूसरों को अभी अन्दर लाने - तुरंत! आमीन! और आमीन!

2. दूसरा, यीषु दूसरे नये लोगो को तुरंत भेजते है आत्माएँ जीतने।

हम वो यूहन्ना के सुसमाचार के पहले पाठ में देखते है। यूहन्ना, बपतिस्मा देने वाले (John the Baptist) के दो चेले यीषु के पीछे गए उनके रहने की जगह पर। दो में से एक पतरस का भाई अन्द्रियास था। अन्द्रियास तुरंत बाहर गया और पतरस से कहा, ‘‘हम को (मसीह) मिल गया...और वह उसे यीषु के पास लाया'' (यूहन्ना 1:41,42)। दूसरे दिन यीषु ने फिलिप्पुस से कहा, ‘‘मेरे पीछे हो ले'' (यूहन्ना 1:43)। फिलिप्पुस तुरन्त नतनएल के पास गया और उसे कहा उसे मसीह मिल गया है। नतनएल को संदेह हुआ की वो सच था। ‘‘फिलिप्पुस ने उस से कहा, चलकर देख ले'' (यूहन्ना 1:46)। फिर फिलिप्पुस नतनएल को यीषु के पास ले गया और नतनएल भी तुरंत ही चेला बन गया।

अन्द्रियास पतरस को तुरंत यीषु के पास ले आया। फिलिप्पुस नतनएल को तुरंत यीषु के पास लाया। ये एकदम नये चेले तभी तुरंत आत्मा जीतने वाले बन गये! उन्होने आत्माएँ जीतने के प्रषिक्षण के लिए विलंब नहीं किया। वे तुरंत बाहर गए और दूसरे को यीषु के पास ले आये, बिना विलंब किये! उन्होेंने सिर्फ कहा, ‘‘आओ और देखो''।

दूसरा द्रश्टांत दिया गया है यूहन्ना के चौथे अध्याय में। डो. जोन. आर. राइसने कहा,

     (यूहन्ना) अध्याय 4 में, हम सीखते है कि जब सामरी स्त्री ने जाना कि यीषु मसीह थे, उसने अपने पानी का घड़ा छोड़ा और षहर में दौड़कर गई आदमीयों से कहने, ‘‘आओ, एक मनुश्य को देखो, जिसने सब कुछ जो मैंने किया मुझे बता दिया : कहीं यही तो मसीह नहीं है?'' (यूहन्ना 4:29)। कुछ लोग वहाँ बचाये गये उसकी गवाहीं पर, जब की दूसरे उन्हें देखने आये और बचाये गये थे। हाँ, नये परिवर्तितो को आत्माएँ जीतनी चाहिए (जोन आर. राइस, डी.डी., ध सन ओफ गोड : ए वर्स-बाय-बर्स कोमेन्ट्री ओन ध गोसपल एकोरडींग टु जोन, (परमेष्वर का पुत्र : यूहन्ना के अनुसार सुसमाचार पर पद के बाद पद पर संभाशण), स्वोर्ड ओफ ध लोर्ड प्रकाषक, 1976, पृश्ठ.40)।

इस द्रश्टांतो पर संभाशण देते हुए डो. राइसने कहा, ‘‘आह, आत्मा जीतने के लिये मुख्य चीज है उनके पीछे जाना। और व्यक्ति गत प्रभाव इतना महत्वपूर्ण है कि ये षायद गहन संदेष या लम्बी व्याख्या नहीं लेते, अगर आप लोगों को समज़ने दे की यहाँ पर पापीयों के लिये उध्दारक है और वे षायद उनको प्राप्त करे। इसलिये अन्द्रियास पतरस को यीषु के पास लाया'' (ibid.)। इसलिये कुएँ के पास खड़ी स्त्री बहुत सामरीयों को यीषु के पास लायी-तुरंत। वो उसी दिन आत्मा जीतनेवाली बन गयी जब उसने स्वयं ने यीषु का भरोसा किया!

‘‘उस नगर के बहुत से सामरियों ने उस स्त्री के कहने से यीषु पर विष्वास किया; क्योंकि उसने यह गवाही दी थी, उसने सब कुछ जो मैंने किया है, मुझे बता दिया। इसलिये जब ये सामरी उसके पास आए तो उससे विनती करने लगे कि हमारे यह रहा। अतः वह वहाँ दो दिन रहा। उसके वचन के कारण और भी बहुत से लोगों ने विष्वास किया'' (यूहन्ना 4:39-41)।

यीषु गलील के समूद्र किनारे से यरदन (Gadara) गये। वहाँ वे एक आदमी से मिले जो दुश्टात्मा के वष में था। यीषु ने उसमें से ष्‍ौतान को बाहर फेंका, और आदमी चंगा हो गया था। इस आदमी को यीषु के साथ वापस जाना था, परंतु उध्दारक ने उसको कहा,

‘‘अपने घर को लौट जा और लोगों से बता कि परमेष्वर ने तेरे लिये कैसे बड़े काम किए है। वह जाकर सारे नगर में प्रचार करने लगा कि यीषु ने मेरे लिये कैसे बड़े-बड़े काम किए'' (लूका 8:39)।

ये आदमी तुरंत ही आत्मा जीतनेवाला बन गया, दूसरे को कहते हुए की कैसे यीषु ने उसे तभी बचाया था!

जैसे यीषु यरूषलेम जा रहे थे उन्हे वो दस आदमी मिले जो कोढ़ी थे। उन्होने पुकारा, ‘‘हे यीषु, हे स्वामी, हम पर दया कर'' (लूका 17:13)। यीषुने उनको मंदिर जाकर याजकों को बताने कहा, ‘‘और जाते ही जाते वे षुध्द हो गए'' (लूका 17:14)। उनमें से एक यीषु का धन्यवाद करने वापस आया। परन्तु उन सबको तुरंत वापस भेजा गया मंदिर के याजकों को गवाही देने। बाद में, उसी वर्श, हमें कहा गया कि ‘‘...याजकों का एक बड़ा समाज इस मत को माननेवाला हो गया'' (प्रेरितों 6:7)। ये याजक निःसंदेह परिवर्तित थे, कम से कम आंषिक रूप से, उन कोढ़ीयों की गवाही से जिन्हे यीषु ने चंगा किया था। इस प्रकार वे कोढ़ी आत्मा जीतनेवाले बन गये जैसे ही वे यीषु द्वारा चंगे किए गये थे!

पिन्टेकुस्त के दिन तीन हज़ार लोग बचाए गये थे जब उन्होंने पतरस को सुसमाचार प्रचार करते हुए सुना। हमें कहा गया कि ये नये मसीही ‘‘परमेष्वर की स्तुति करते थे, और सब लोग उनसे प्रसन्न थे, और जो उध्दार पाते थे, उनको प्रभु प्रतिदिन उनमें मिला देता था'' (प्रेरितों 2:47)। डो. जोन. आर. राइस ने कहा, ‘‘यरूषलेम के कलीसिया में हजारो सदस्यों ने नये परिवर्तितो को प्रतिदिन कलीसिया में मिलते हुए देखा! आत्मा जीतना ही सिर्फ महत्वपूर्ण ही नहीं है : ये करीब एक मात्र लक्ष्य और अंत था यरूषलेम कलीसिया और नये नियमावली के मसीहीयों का!'' (जोन. आर. राइस. डी. डी., फिल्ड वीथ ध स्पीरीट : ए वर्स-बाय वर्स कोमेन्ट्री ओन ध एक्टस ओफ ध एपोस्टलस, (आत्मा से भरा हुआ : प्रेरितो के कामों पर पद के बाद पद द्वारा संभाशण), स्वोर्ड ओफ ध लोर्ड प्रकाषक, 1980 की प्रत, पृश्ठ 104)।

जब लोग यरूषलेम के कलीसिया में बचाये गये थे, वे तुरंत ही उनके मित्रो, और पड़ोषीयों के पीछे गये और उन्हे अन्दर लाये, ताकि ‘‘उनको प्रभु प्रतिदिन उनमें मिला देता था, जो उध्दार पाते थे'' (प्रेरितो 2:47)।

प्रेरितो पौलुस 53 ए.डी. में थिस्सलुनीके के षहर में आया। हमे कहा गया था कि वहाँ थोड़े यहिूदयो ने यीषु पर विष्वास किया था, और ग्रीक लोगों की बड़ी भीड़ बचायी गयी थी (प्रेरितो 17:4)। पौलुसने इन नये मसीहीयो को कलीसिया में संगठित किया। एक वर्श बीता अब 54 ए.डी. थी। अब पौलुस कुरिन्थुस (Corinth) नगर में था। उसने थिस्सलुनीके में कलीसिया को चीठ्ठी लिखी, जो नयी नियमावली में ‘‘पहला थिस्सलुनीकियों'' कहा जाता है। वहाँ कलीसिया में सारे लोग मसीही थे सिर्फ एक वर्श या कम समय के लिये। फिर भी पौलुसने कहा,

‘‘क्योेंकि तुम्हारे यहाँ से न केवल मकिदुनिया और अखया में प्रभु का वचन सुनाया गया, पर तुम्हारे विष्वास की जो परमेष्वर पर है, हर जगह ऐसी चर्चा फैल गई है कि हमें कहने की आवष्यकता ही नहीं'' (1 थिस्सलुनीकियों 1:8)।

उस नये कलीसिया में राश्ट्रीय धोखा मिला था मकिदुनिया और अखाया को। वे सेकड़ो में आत्माएँ जीतते थे, चाहे उनमें से कोई थी बारह महीनों से अधिक मसीही नहीं रहे थे!

यह सरल तरीका उन्होंने इस्तेमाल किया था। उन्होंने उनके मित्रो और पड़ोषीयों से सिर्फ कहा, ‘‘आओ और देखो''। और फिर वे उनको सभा में लाये। यह तरीका उन्होेंने अपनाया साम्यवादी चीन में जहाँ कलीसिया विस्फोट हो रहे है। यह तरीका है जो वे मुसलमान भूमियों पर इस्तेमाल करते है, जहाँ हज़ारो परिवर्तित होते है। ये वहाँ काम करता है और ये यहाँ काम करेगा। जाओ और किसी से कहो, ‘‘आओ और देखो।'' यह सरल है और यह काम करता है!

यह, फिर, स्पश्टरूप से नयी नियमावली मसीहीयों का नमूना (आदर्ष) है। हम बार बार पढ़ते है कि वे जो तुरंत मसीही बने थे, वे आत्मा जीतनेवाले बने, उनके मित्रो और पड़ोषीयों को बड़ी संख्या में कलीसिया में लाते हुए! हरएक कलीसिया विस्फोटित कलीसिया था! प्रभु आपकी आत्मा से बोले! आप षायद हमारे कलीसिया में आओ और फिर आपके मित्रो और परिवार को अन्दर लाओ, सुसमाचार सुनने और हमारे साथ रात का खाना खाने! आओ और हमें सहाय करे इसे विस्फोटित कलीसिया बनाने! ‘‘मनुश्यों का पकड़नेवाला'', खड़े रहो और इसे गाओ!

मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   मनुश्यों को पकड़नेवाला, मनुश्यों को पकड़नेवाला,
मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   अगर आप मेरे पीछे आआगे;
अगर आप मेरे पीछे आआगे, अगर आप मेरे पीछे आआगे;
   मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
अगर आप मेरे पीछे आआगे।

जाओ और किसीको आपके साथ यहाँ कलीसिया में आने ले आओ! हमारे पास सदा दिन या रात का खाना होता है उनके लिये! हमारे पास उनके लिये सदा जन्मदिन की मेजबानी होती है! हमारे पास सदा ज्यादा मनोरंजन होता है लोस एंजलिस में किसी दूसरी जगह हो उससे अधिक! यह कलीसिया लोस एंजलिस में सबसे आनंदित जगह है। अगली बार आप आओ तब आप के साथ किसी को अन्दर लाआ! इसके बारे में कुछ भी जटिल नहीं है। उनसे सिर्फ कहो, ‘‘मेरे साथ कलीसिया चलो। यह आनंदीत और अद्भूत जगह है। क्या आप इस रविवार मेरे साथ आओगे?'' बस इतना ही! यह आसान है! इसे करो! अगली बार जब आप आओ किसीको आपके साथ लाओ! आप बैठ सकते हो।

पहली बात जो यीषु ने पहले चेलों को सीखायी वो पहली बात हमें आपको सीखानी ही चाहिये। यीषु आपको इस सुबह कहते है,

‘‘मेरे पीछे चले आओ, और मैं तुम को मनुश्यों का पकड़नेवाला बनाऊँगा'' (मती 4:19)।

आज इस सुबह आप में से कोई यहाँ पहली बार आये होंगे। यीषु आपसे कहते है, ‘‘मेरे पीछे चले आओ, और मैं तुम को मनुश्यों का पकड़नेवाला बनाऊँगा'' (मती 4:19)। अगर किसीने आपको इस सुबह यहाँ लाया हो, पहली बात यीषु आप से करवाना चाहते वो है की ‘‘मनुश्यों को पकड़नेवाला'' बनो। आपके साथ अगले रविवार किसीको कलीसिया में ले आओ! यह सरल है! यह करो! वो समूहगान फिर से गाओ।

मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   मनुश्यों को पकड़नेवाला, मनुश्यों को पकड़नेवाला,
मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   अगर आप मेरे पीछे आआगे;
अगर आप मेरे पीछे आआगे, अगर आप मेरे पीछे आआगे;
   मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
अगर आप मेरे पीछे आआगे।

एक लड़की यहाँ कलीसिया में थोड़े ही हफतों पहले आयी। वो ‘‘मनुश्यों को पकड़नेवाली'' बन गयी। वह पहिले ही अपने साथ तीन लड़कियोें को कलीसिया में लायी! आप कुछ कर सकते हो! जाओ और किसीको ले आओ यहाँ कलीसिया में आपके साथ! यह करो! यह करो! आपके साथ किसीको लाओं। हम दिन या रात का खाना साथ मिलकर खायेंगे। हम पुराना सुखान्त (Comedy) चलचित्र देखेंगे। हम जन्मदिन की मेजबानी रखेंगे। हमें ज्यादा आनंद मिलेगा बड़े पेटवाले वानरो से अधिक! यही मेरी माता मुझसे कहती थी, ‘‘हमें ज्यादा आनंद मिलेगा बड़े पेटवाले वानरो से अधिक!'' जाओ और किसीको यहाँ कलीसिया में जन्मदिन की मेजबानी में लाओ! किसीको मेजबानी में ले आओ! समूहगान फिर से गाओ!

मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   मनुश्यों को पकड़नेवाला, मनुश्यों को पकड़नेवाला,
मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   अगर आप मेरे पीछे आआगे;
अगर आप मेरे पीछे आआगे, अगर आप मेरे पीछे आआगे;
   मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
अगर आप मेरे पीछे आआगे।

आप में से कितने कहेंगे, ‘‘मैं यह करूँगा! मैं किसीको कलीसिया में अपने साथ लाऊँगा सुसमाचार सुनने और हमारे साथ आनंद लेने!'' मेहरबानी करके आपके हाथ उठाओ। डो. चान प्रार्थना करने आयेंगे प्रभु से आपको यह करने सहाय करने को (प्रार्थना)।

अगर आप इस सुबह यहाँ हो और आप अभी तक फिर से मसीही नहीं जन्में हो, मेहरबानी करके ध्यान से सुनो। प्रभु यीषु मसीह स्वर्ग से नीचे आये और क्रूस पर किल से ठोके गये, जहाँ वे हमारे पापों को चुकाने के लिये मरे। उन लोगों ने उनका षरीर कब्र में रखा, और उसे मुहर किया (बन्द किया), और इसकी सलामती के लिये रोमी पहेरेदार तैनात किये। परन्तु प्रभु यीषु मसीह षारीरिकरूप मांर्स और हड्डी में उठे। तीसरे दिन वे मृत्यु से उठे और कब्र से जीवित बाहर आये! उठे हुए मसीह ने उनके अनुकरण करनेवालो के साथ चालीस दिनो तक संगति की। उन्होंने उनको रखा, और देखा कि वे आत्मा नहीं थे। आखिरकार यीषु फिर से स्वर्ग में गये, दूसरे परिमाण में, जहाँ वे प्रभु पितामह के दाहिने हाथ पर बैठे है।

जब आप अपनी पाप भरी जीवन ष्‍ौली से फिरते हो और यीषु में भरोसा करते हो, तब उनका बहुमूल्य लहू आपको सारे पापो से षुध्द करेगा, और वे आपको अनंत जीवन देंगे। हम प्रार्थना करते है कि आप यीषु के पास आओगे और उनका भरोसा करोगे, और बहुत जल्दी बचाए, जाओगे। और आप जो भी करो, अगले रविवार यहाँ कलीसिया वापस आने निष्चित रहो! और जाओ और किसीको ले आओ आपके साथ अगले रविवार कलीसिया आने! जओ और यह करो!

मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   मनुश्यों को पकड़नेवाला, मनुश्यों को पकड़नेवाला,
मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
   अगर आप मेरे पीछे आआगे;
अगर आप मेरे पीछे आआगे, अगर आप मेरे पीछे आआगे;
   मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा
अगर आप मेरे पीछे आआगे।

ओह, परमेष्वर, उन्हे यह करने सहायता किजीये! आमीन।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन से पहले डो. क्रेगटन् एल. चान द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रषास्त्र : मती 4:18-20।
धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान बेन्जामिन कीनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
   ‘‘कितना कम समय'' (डो. जोन आर. राइस द्वारा, 1895-1980)।
   ‘‘मैं तुम को मनुश्यों को पकड़नेवाला बनाऊँगा'' (हेरी डी. र्क्लाक द्वारा, 1888-1957)।


रूपरेखा

विस्फोटित हुआ कलीसिया !

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

‘‘तब उसने अपने चेलोें से कहा, पके खेत तो बहुत हैं पर मजदूर थोड़े है; इसलिये खेत के स्वामी से विनती करो कि वह अपने खेत काटने के लिये मजदूर भेज दे'' (मती 9:37,38)।

1. पहला, यीषु ने मूल चेलो को बुलाया आत्माएँ जीतने तुरंत, मती 4:18-20।

2. दूसरा, यीषु नये लोगो को तुरंत भेजते है आत्माएँ जीतने, यूहन्ना 1:41, 42, 43, 46; 4:29, 39-41; लूका 8:39; 17; 13, 14; प्रेरितों 6:7; 2:47; 17:4; 1 थिस्सलूनीकियों 1:8।