Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




टेटेलेस्टाइ!

TETELESTAI!
(Hindi)

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की सुबह, 5 अगस्त, 2012 को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, August 5, 2012

‘‘उसने कहा, पूरा हुआ : और सिर झुकाकर प्राण त्याग दिए'' (यूहन्ना 19:30)।


यीषु क्रूस पर किल से सुबह 9.00 बजे लटकाए गए थे। वे जिन्होंने उसे वहाँ मरता हुआ देखा, उनके लिये पुकारने लगे क्रूस से नीचे आकर वे प्रभु के पुत्र है वो साबित करे।

भीड़ जो बाजु से पसार हुई, वे यीषु पर चिल्लाए, ‘‘हे मन्दिर के धानेवाले और तीन दिन में बनानेवाले, अपने आप को तो बचा! यदि तू परमेष्वर का पुत्र है, तो क्रूस पर से उतर आ'' (मती 27:40)।

फिर महायाजक, षास्त्रियों और पुरनियों मंदिर से क्रूस के बाजु से गुजरे, और वही चीज कहीं,

‘‘प्रधान याजक भी षास्त्रियों और पुरनियों समेत ठट्ठा कर करके कहते थे, इसने औरों को बचाया, और अपने आप को नहीं बचा सकता। यह तो इस्त्राएल का राजा है, अब क्रूस पर से उतर आए तो हम उस पर विष्वास करें'' (मती 27:41-42)।

रोमी सैनिक, जिन्होंने उनको पहले मारा था, कांटो का ताज पहनाया था और उनकी दाढ़ी खींची, और उनको क्रूस से नीचे उतर कर स्वयं को बचाने को भी कहा।

‘‘सिपाही भी पास आकर और सिरका देकर उसका ठट्ठा करके कहते थे, यदि तू यहूदियों का राजा है, तो अपने आप को बचा'' (लूका 23:36-37)।

दो चोर जो यीषु के दोनो बाजु क्रूस पर चढ़ाए गए थे वे भी उनको पुकारने लगे कि वे क्रूस से नीचे आए और इस प्रकार साबित करे कि वे परमेष्वर के पुत्र थे।

‘‘उसने परमेष्वर पर भरोसा रखा है : यदि वह इस को चाहता है, तो अब इसे छुड़ा ले, क्योंकि इसने कहा था, मैं परमेष्वर का पुत्र हूँ। इसी प्रकार डाकू भी जो उसके साथ क्रूसों पर चढ़ाए गए थे, उसकी निन्दा करते थे'' (मती 27:43-44)।

बाद में उसी दिन दूसरा डाकू उन पर अभी भी चिल्ला रहा था, ‘‘अगर तू मसीह है, तो फिर अपने आप को और हमें बचा'' (लूका 23:39)।

क्यों ये सारे लोग पुकारते थे, ‘‘क्रूस से उतर कर नीचे आ'' वे सब सहमत क्यों थे? याजको, षास्त्रीयों, पुरनियों, पूरी भीड़, रोमी सैनिक, और डाकू भी जो क्रूस पर चढ़ाए गए थे, सब सहमत हुए, ‘‘यदि तू परमेष्वर का पुत्र है, तो क्रूस पर से उतर आ'' (मती 27:40)। मुझ को संदेह नहीं कि यह ष्ौतान था जिसने उन सबको प्रोत्साहन दिया था यीषु का ठट्ठा करने, और उसे स्वयं को क्रूस से बचाने को पुकारा। पहले, जब यीषु ने कहा था कि वो क्रूस पर चढ़ाया चाएगा, पतरसने डांटा ओर कहा, ‘‘ऐसा कभी न होगा'' (मती 16:22)। यीषु उसकी ओर फिरे और कहा, ‘‘ष्ौतान मेरे सामने से दूर हो'' (मती 16:23)। ष्ौतान ने पतरस को बाधित किया था यीषु को सलाह देने कि वे क्रूस के पास न जाए। इसीलिये हम जानते है कि ष्ौतान नहीं चाहता कि यीषु क्रूस पर चढ़ाए जाए। दुश्टात्मा मसीह का क्रूस पर चढ़ने से और मसीह के लहू से नफरत करता है। ष्ौतान जानता था कि आदमी पाप से बचाये नहीं जा सकते बिना मसीह की उनकी जगह पर मृत्यु के। इसलिये, मैं मानता हूँ कि यह ष्ौतान स्वयं था जिसने इन दुष्ट आदमीयों को यीषु का ठट्ठा करने का प्रोत्साहन दिया और कहा, ‘‘क्रूस पर से उतर कर अपने आप को बचा ले'' (मरकुस 15:30)।

परन्तु परमेष्वर की कृपा है यीषु ने उन सबको नहीं सुना। यीषु उन्होंने जो कहा वो आसानी से कर सकते थे। वे आसानी से क्रूस से नीचे आ सकते थे। परन्तु अगर वे आते, कोई भी बचाया नहीं जा सकता अपने पापो के दण्ड से और अधोलोक में अनन्त षिक्षा से!

ऊपर काल्वरी पहाड़, एक भयानक प्रातःकाल,
   मसीह मेरे उद्धारक चले, थके और नश्ट हुए;
पापीयों की मृत्यु का क्रूस पर सामना करते हुए,
    कि वो षायद उन्हें अंतहीन नुकसान से बचा सके।
भाग्यवान उद्धारक! बहुमूल्य उद्धारक!
    अब लगता है मैं उन्हें देखुंगा काल्वरी के वृक्ष पर;
जख्मी और लहू बहाते हुए, पापीयों की प्रार्थना के लिये,
   अंधे और असावधान - मेरे लिये मरते है!
(‘‘भाग्यवान उद्धारक'' एवीस बर्गेसन क्रीस्टीयान्सेन द्वारा 1895 - 1985)।

अब हम आते है मसीह की क्रूस पर की बलिदान के अंत पर। उन्होंने सैनिको से सिरका पाया। उन्होंने हमारे पापो के लिये पूरा प्रायष्चित किया। और अब वे पुकारते है,

‘‘पूरा हुआ'' (यूहन्ना 19:30)।

और उन्होंने उनका सिर झुकाया और मरते है।

मती, मरकुस और लूका हमें कहते है कि यीषुने मरने से पहले जोर से पुकारा था। परंतु वे हमें यह नहीं कहते कि जब उन्होंने पुकारा तब क्या कहा। सिर्फ यूहन्ना कहता है कि उन्होंने पुकारा, ‘‘पूरा हुआ''। - टेटेलेस्टाइ'' (Tetelestai) ग्रीक षब्द है नयी नियमावली में। ये अंग्रेजी में तीन षब्दों में अनुवाद किया गया है ‘‘It is finished'' ‘‘पूरा हुआ''।

बहुत सी चीजें पूरी हुई जब यीषु मरे। परन्तु मैं उसमें से सिर्फ तीन का जीक्र करनेवाला हूँ - 1. उनकी तड़प पूरी हुई। 2. हमारे पापों के विरूद्ध प्रभु का क्रोध पूरा हुआ। 3. हमारी मुक्ति पूरी हुई।

1. पहला, यीषु की तड़प पूरी हुई थी।

वे अपना पूरा जीवन तड़पे थे। जब वे बालक थे राजा हेरोदेस ने उन्हें मारने का प्रयत्न किया। युसुफ को मरीयम और बालक यीषु को लेकर मिस्त्र में बहिश्कार में जाना पड़ा, उनको हत्यारे राजा से हत्या होने से बचाने।

वे अपने पूरा जीवनभर गलत समझे गये थे। उनकी माता और भाईयों ने भी सोचा वो ‘‘उसके स्वयं के समीप'' था। जब उन्होंने अपना पहला धार्मिक प्रवचन दिया लोगों ने उनको पहाड़ के षिखर से फेंक कर मारने का प्रयत्न किया। कई बार हमें कहा गया है कि षास्त्रीयों और फरासियों ने उनकी हत्या करने का प्रयत्न किया। फरासियों ने उनको पत्थर मारकर मार डालने की कोषिश भी की। जब उनके ज्यादातर अनुकरण करनेवाले उसने फिर गये, उन्होंने उनके चेलों से कहा, ‘‘कया तुम भी चले जाना चाहते हो?'' (यूहन्ना 6:67)। उन्होंने धरती पर अपना जीवन गरीबी और तिरस्कार में जिया। उनकेे इतने सारे चमत्कार करने के बावजूद भी और इतने सारे बीमार लोगों को चंगा करने के बाद भी उन लोगों ने कहा कि वे दुश्टात्मा से अधिकृत पागल थे।

गतसमनी की वाटिका में, उनको क्रूस पर चढ़ाने से एक रात पहले, उनके चेले सो गए और उनको अकेला छोड़ दिया। वहाँ गतसमनी में, जैसे उन्होंने प्रार्थना की, ‘‘उसका पसीना मानो लहू की बड़ी बड़ी बूँदो के समान, भूमि पर गिर रहा था'' (लूका 22:44)। जब वे कुछ मिनट बाद पकडे़ गए, ‘‘तब सब चेले उसे छोड़कर भाग गए'' (मती 26:56)।

सैनिक उनको रोमी प्रधान, पोन्टीयस पिलातुस के सामने घसीटकर ले गये। पिलातुस ने उनको करीब करीब मरने तक बेंत से मारा। उन्होंने उनकी दाढ़ी खींची, और उनको चहरे पर मारा। उन्होंने उनके लहू बहते सिर पर क्रूर कांटो का मुकुट पहनाया। यीषुने कहा, भविश्यवक्ता यषायाह द्वारा,

‘‘मैंने मारनेवालों को अपनी पीठ और गलमोछ नोचनेवालों की ओर अपने गाल किए, अपमानित होने और उनके थूकने से मैंने मुँह न छिपाया'' (यषायाह 50:6)।

फिर उन्होंने उनको उनका क्रूस, क्रूस पर चढ़ाने की जगह पर ले जाने लगाया। उन्होंने उनके हाथ और पैर में किल ठोके, और उसे क्रूस पर नंगा टांग दिया। विलापगीत 1:12 वर्णन करता है भयानक षोक और तड़प यीषु जिससे गुजरे थे,

‘‘देखो, क्या मेरे दुःख से बढ़कर कोई और पीड़ा है, जो मुझ पर डाल दी है'' (विलापगीत 1:12)।

जब यीषु ने पुकारा, ‘‘पूरा हुआ'', इसका अर्थ था कि उसकी तड़प्प का जीवन धरती पर पूरा हुआ। इसका अर्थ है कि तड़प जो उन्होंने अनुभव की थी विमुख संसार में, पापी लोगों के बीच, वो आखिरकार पूरी हुई। कोई आष्चर्य नहीं उन्होंने आनंद महसूस किया क्रूस पर जाने के लिये!

‘‘जिस आनन्द के लिये जो उसके आगे धरा था, लज्जा की कुछ चिन्ता न करके क्रूस का दुःख सहा'' (इब्रानियों 12:2अ)।

वे आनंद से क्रूस पर गए क्योंकि वे जानते थे यह उनकी धरती पर की तड़प का अंत था, और वो कि वे जल्दी ही लौटकर स्वर्ग में, जाएंगे, ‘‘परमेष्वर के दाहिनी और ...'' (इब्रानियों 12:2ब)। कोई आष्चर्य नहीं उन्होंने पुकारा,

‘‘पूरा हुआ''।

‘‘षोक का आदमी।'' कैसा नाम
    प्रभु के पुत्र के लिये जो आए
नश्ट हुए पापीयों को पुनःप्राप्त करने!
    हल्लिलूय्याह! केसा उद्धारक!
(‘‘हल्लिलूय्याह! केसा उद्धारक!'' फिलिप पी. ब्लीस द्वारा, 1838-1876)।

2. दूसरा, हमारे पाप के विरूद्ध परमेष्वर का क्रोध पूरा हुआ था।

क्रूस पर चढ़ाने के बारे में सबसे ज्यादा भयानक चीज वो थी कि यीषु ने हमारे पाप उनकी अपनी देह पर लिये। वे ‘‘पाप से अज्ञात थे'' उन्होंने ‘‘हमारे लिये पाप'' (2 कुरिन्थिायों 5:21) ठहराया। यीषु ने हमारे पापो के लिये ना सिर्फ दण्ड सहा, परन्तु उन्होंने पाप स्वयं को उनकी अपनी पवित्र देह में क्रूस पर सहा। प्रेरितो पतरसने कहा,

‘‘वह आप ही हमारे पापों को अपनी देह पर लिये हुए क्रूस पर चढ़ गया'' (1 पतरस 2:24)।

क्रूस पर चढ़ाने के बारे में अधिक बुरी चीज षारीरिक यातना नहीं थी। दूसरे आदमी यातना दिये गये, खूँटे पर जलाएँ गए, और क्रूस पर चढाए गए। परन्तु यीषु ने जो सहा वो कोई दूसरे आदमी नहीं सह सकते।

उनकी किताब टोरर्चड फोर क्राइस्ट, (मसीह के लिए यातना), में रीचर्ड वुर्मब्रान्ड ने याजक के बारे में कहा जो उसके साथ साम्यवादी कारावास (Communist Prison) में यातना दिये गये थे और यातना के अधीन तूटे। याजक ने वुर्मब्रान्ड से कहा, ‘‘मुझे माफ करो, भाई, मैं मसीह से ज्यादा तड़पा हूँ''। मैं समझ सकता हूँ क्यों गरीब आदमी ने अपनी पीड़ा में वो कहा, ‘‘परन्तु वो गलत था। कोई भी कभी भी नहीं तड़पा जैसे यीषु तडपे थे - क्योंकि किसी ने कभी भी संसार के पाप उनकी अपनी देह पर नहीं लिये। उन्होंने हकीकत में हमारे पाप ढोये, और हमारे पापों का दण्ड भी।

और भी, यीषु ने क्रूस पर परमेष्वर का क्रोध भी सहा। मैं जानता हूँ कि यह बहुत कठीन है समझने में, परन्तु यह तथापि सच है। बाइबल कहता है,

‘‘यहोवा ने हम सभों के अधर्म का बोझ उसी पर लाद दिया'' (यषायाह 53:6)।

फिर से यह कहता है,

‘‘तौ भी यहोवा को यही भाया कि उसे कुचले; उसीने उसको रोगी कर दिया; जब वह, अपना प्राण दोशबलि करे ...''
(यषायाह 53:10)।

जब यीषु क्रूस पर मरे, वे मरे हमारे पाप उन पर लेकर और हमारे पापों के कारण प्रभु का क्रोध उनपर। कोई आष्चर्य नहीं यीषु ने पुकारा

‘‘हे मेरे परमेष्वर, हे मेरे परमेष्वर, तूने मुझे क्यों छोड़ दिया?''
(मती 27:46)।

प्रभु पितामह उनके उत्पन्न किए हुए पुत्र से फिर गए, जैसे यीषु क्रूस पर पाप का समर्पण दिया। प्रभु का क्रोध हमारे पापो के विरूद्ध षान्त हुआ जब यीषु ने पुकारा, ‘‘पूरा हुआ''।

जब आप यीषु पर भरोसा करते हो, कोई क्रोध या न्याय प्रभु से आप पर नहीं गिरेगा। क्यों? क्योंकि प्रभु का न्याय पाप के लिये पहले ही यीषु पर गिरा जब वे क्रूस पर मरे। परन्तु, अगर आप यीषु का अस्वीकार करते हो, आपको अपने स्वयं के पापो को अधोलोक में चुकाना ही चाहिये।

3. तीसरा, हमारी मुक्ति पूरी हुई थी।

ज्यादा पहले नहीं तीन युवा आदमी मुझे देखने आये, बचाये जाने के लिये। सब तीनों उनके पिता से नफरत करते थे, इस प्रकार पांचवाँ आदेष (Fifth Commandment) (निर्गमन 20:12) तोडते हुए। मैंने उन तीनों को यीषु पर भरोसा करने को कहा, और इस प्रकार उनके पाप यीषु के बहुमूल्य लहू से षुद्ध करने। उनमें से एक ने वह किया। उसने यीषु का भरोसा किया और बचाया गया। फिर वो उसके पिता के पास गया और उनसे माफी मांगी। परन्तु दूसरे दोनों ने यीषु पर भरोसा नहीं किया। बदलने में वे घर गये और उनके पिता को कहा उन्हें माफ करने। कैसी षर्म! उन्होंने यीषु का भरोसा नहीं किया, परन्तु उसके बदले उन्होंने उनके अपना अच्छा काम, पिता से माफी मांगने पर भरोसा किया। परन्तु बाइबल कहता है,

‘‘उसने हमारा उद्धार किया और यह धर्म के कामों के कारण नहीं, जो हम ने आप किए, पर अपनी दया के अनुसार...''
(तीतुस 3:5)।

हम कुछ काम करने के कारण बचाए नहीं जाते, अगर हम अच्छा करते है तो भी! हम बचाये जाते है सिर्फ अकेले मसीही की दया से, उनके क्रूस पर के पूरे हुए काम के कारण! फिलिप्पी के दारोगा (Jailer) ने कहा, ‘‘उद्धार पाने के लिये मैं क्या करूँ?'' (प्रेरितो 16:30)। प्रेरितों पौलुसने उसे कहा, ‘‘प्रभु यीषु मसीह पर विष्वास कर, तो तू और तेरा घराना उद्धार पाएगा'' (प्रेरितों 16:31)। आपको बचाये जाने के जो करना है वो है यीषु पर भरोसा करो!

यीषु ने क्रूस पर आपके लिये सब कुछ किया। जब उन्होंने कहा, ‘‘पुरा हुआ'', इसका अर्थ था कि आपको जो आवष्यकता थी वो पूरा हुआ। अब आपको कुछ और आवष्यकता नहीं है परंतु उन पर भरोसा करो। जिस क्षण आप यीषु पर भरोसा करेंगे आप उनके द्वारा तुरंत ही बचाए जाओगे - सारे समय और सारी अनंतता के लिये!

जेम्स हडसन टेयलर चायना इनलेन्ड मीषन (चीनी आंतरदेषीय दूतकर्म) के षोधक थे। उनके चीन जाने से पहले, जब वे सिर्फ पंद्रह वर्श के थे, हडसन टेयलर ने छोटी पुस्तिका पढ़ी जिसका षिर्शक था, ‘‘ध फिनीस्ट वर्क अॉफ क्राइस्ट'' (‘‘मसीह का पूर्ण काम'')। यह पुस्तिका पढ़ते समय उसने सिद्ध किया कि उसे बचाये जाने के लिये जो कुछ भी चाहिए था वो पहले से ही यीषु द्वारा क्रूस पर प्राप्त हो चुका है! हडसन टेयलर अपने घुटनों के बल नीचे बैठे और यीषु का भरोसा किया। वो तुरंत ही बचाया गया - और चीन में बड़ा सेवक (प्रचारक) बनने लगा। मैं आप से आज वही करने को कहता हूँ जो जेम्स हडसन टेयलर ने किया। पश्चाताप और यीषु पर सरल विष्वास में भरोसा। वे आपके पाप माफ करेंगे और आपकी आत्मा बचाएँगे, क्योंकि

‘‘पूरा हुआ'' (यूहन्ना 19:30)।

आपको बचाये जाने को जो कुछ भी चाहिए वो यीषु द्वारा क्रूस पर पूरा हुआ था। उनके पास आओ और उनका भरोसा करो और आप इस सुबह बचाए जाओगे!

मैं गान गाने जा रहा हूँ। अगर आपको मसीही बनने के बारे में और ज्यादा जानकारी चाहिए, मेहरबानी करके जब मैं गाता हूँ आप पीछे सभागृह में जाइये। डो. केगन आपको षांत जगह पर ले जाएँगे प्रार्थना और बातचीत करने। मेहरबानी करके जब मैं गाता हूँ तब जाइये।

मैं आपके स्वागत की आवाज सुन रहा हूँ,
    वो मुझे बुलाती है, प्रभु आपके पास
आपके बहुमूल्य लहू में षुद्ध होने जो काल्वरी पर बहा था
   मैं आ रहा हूँ, प्रभु! अभी आ रहा हूँ आपके पास!
मुझे षुद्ध कीजिए, मुझे षुद्ध करो लहू में
    जो काल्वरी पर बहा था।
(‘‘मैं आ रहा हूँ, प्रभु'' लेवीष हार्टसफ द्वारा 1828-1919)।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन से पहले डो. क्रेगटन् एल. चान द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रषास्त्र : मरकुस 15:29-37।
धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
‘‘भाग्यवान उद्धारक'' (एवीस बर्गेसन क्रीस्टीयान्सेन द्वारा, 1895-1985)।


रूपरेखा

टेटेलेस्टाइ!

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

‘‘उसने कहा, पूरा हुआ : और सिर झुकाकर प्राण त्याग दिए''
(यूहन्ना 19:30)।

(मती 27:40, 41-42; लूका 23:36-37; मती 27:43-44; लूका 23:39; मती 16:22,23; मरकुस 15:30)

1. पहला, यीषु की तड़प पूरी हुई थी, यूहन्ना 6:67; लूका 22:44;
मती 26:56; यषायाह 50:6; विलापगीत 1:12; इब्रानियों 12:2।

2. दूसरा, हमारे पाप के विरूद्ध परमेष्वर का क्रोध पूरा हुआ था,
2 कुरिन्थियों 15:21; 1 पतरस 2:24; यषायाह 53:6,10; मती 27:46।

3. तीसरा, हमारी मुक्ति पूरी हुई थी, निर्गमन 20:12; तीतुस 3:5;
प्रेरितो 16:30,31।