Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




सच्चा उद्धार!

REAL REVIVAL!

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की
सुबह, 24 जून, 2012 को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, June 24, 2012

‘‘और परमेष्वर कहता है, कि अन्त के दिनों में ऐसा होगा कि मैं अपना आत्मा सब मनुश्यों पर उँडेलूँगा...” (प्रेरितो 2:17)।


षब्द ‘‘अन्त के दिन” पाठ के अध्याय में, पूरे सुसमाचार की व्यवस्था पिन्तकुस्त से मसीह के दोबारा आने तक का संदर्भ करते है। प्रेरितो 2:17 में परमेष्वर वचन देते है ‘‘अपना अत्मा सब मनुश्यों पर उँडेलूँगा” इस सुसमाचार युग के दौरान। यह दुःखद है कि बाइबल के ज्यादातर आधुनिक अनुवाद छोटा महत्वपूर्ण षब्द ‘‘of” ‘‘पर” को बाहर छोड़ देते है। सिर्फ नया अमरीकन स्टान्डर्ड वर्सन ग्रीक षब्द ‘‘apo” को ‘‘of” ‘‘पर” की तरह अनुवाद करते है, राजा जेम्स बाइबल और मूल ग्रीक, पाठ का अनुकरण करते हुए। एक बार फिर अच्छा, पूराने राजा जेम्स बाइबल, आधुनिक अनुवादों पर बड़ी रोषनी डालते है! प्राध्यापक ज्योर्ज स्मीटन (1814-1889) ने कहा, ‘‘यी नियमावली के अनुसार, वहाँ पर अर्थ की परछाइयाँ है षब्द ‘‘अपना आत्मा पर” में ना खो जाए (apo) (एपो) भिन्नता में आदमीयों और फव्वारे की अनन्त पूर्णता में” (ज्योर्ज स्मीटन, ध डोकटरीन अॉफ ध होली स्पीरीट, पवित्र आत्मा की षिक्षा, बेनर अॉफ ट्रुथ, 1974 में फिर से छपा हुआ, पृश्ठ 28)।

यह सच है कि ‘‘of” ‘‘पर” षब्द योएल 2:28 की इब्रानियों में की हुई भविश्यवाणी से नहीं आता। परंतु ग्रीक षब्द, मैं मानता हूँ, दिया गया था प्रेरितो 2:17 में प्रगतिषील आकाषवाणी द्वारा हमें दिखाने कि वहाँ पर सदा पवित्रआत्मा की ज्यादा ताकत (षक्ति) होती है, कि वहाँ पर पवित्रआत्मा की अनन्त परिपूर्णता होती है। वहाँ पर सदा ज्यादा उँडेलना होता है स्वर्ग से। इस प्रकार चेले फिर से भर गए, जैसे हमें प्रेरितो 4:31 में कहा गया है, ‘‘और वे सब फिर से पवित्र आत्मा से परिपूर्ण हो गए, और परमेष्वर का वचन हियाव से सुनाते रहे।” फिर से, प्रध्यापक स्मीटनने कहा,

ना और ज्यादा दुश्ट और धोखा देने वाली कल्पना निवेदन की जा सकती थी, नाही और ज्यादा पवित्र आत्मा का अपमान, उस सिद्धांत से ज्यादा कि, क्योंकि पवित्रआत्मा पिन्तेकुस्त कलीसिया में उँडेली थी उसकी ना आवष्यकता थी और ना प्रमाण था, प्रार्थना करने के बहाव (उँडेलने) के लिये परमेष्वर की आत्मा का। इसके विपरीत, कलीसिया ज्यादा आत्मा के लिये पूछते है और उनके व्यवहार के लिये विलम्ब करते है, वो ज्यादा प्राप्त करती है (ibid., पृश्ठ 255)।

जब कि सारे मसीहीयों को पवित्रआत्मा दी गई है, वो सदा एक समान ताकत से ही काम नहीं करती। इयान एच. मुरेयने कहा, ‘‘इस लिये, पिन्तेकुस्त से आगे, पवित्रआत्मा का काम दो रूप में देख सकते है : ज्यादा सामान्य और विलक्षण” (इयान एच. मुरेय, आज पिन्तेकुस्त? Pentecost Today?, बेनर अॉफ ट्रुथ, 1998, पृश्ट 18)।

आत्मा का ‘‘सामान्य” काम चलता रहता है, जैसे हम देखते है, समय - समय पर होनेवाले परिवर्तनों के साथ। परन्तु ‘‘जब प्रभु के सम्मुख के विश्रान्ति के दिन आएँ” (प्रेरितो 3:19) हम पवित्रआत्मा के काम द्वारा लाए हुए बहुत सारे परिवर्तन देखेंगे। यह ‘‘विश्रान्ति के दिन” वो है जो आज हम कहते है ‘‘उद्धार”। जब हम उद्धार के लिये प्रार्थना करते है तब हम प्रार्थना करते है पवित्रआत्मा के महान् उँडेलने की खोए हुओ को परिवर्तन के अधीन लाने, और उन्हें मुक्ति के लिये यीषु तक ले जाने। यह प्रभु की आत्मा का ‘‘सामान्य” काम का विचार और उनके ‘‘विलक्षण” काम पुराने भक्तिगीत में दर्षाये गए है जो कहता है,

‘‘वहाँ पर आर्षीवाद की वर्शा होनी चाहिए”
   यह प्रेम का वचन है;
वहाँ पर विश्रान्ति की ऋतुएँ होनी चाहिए,
   ऊपर से उद्धारक द्वारा भेजी हुई।
आर्षीवाद की वर्शा, आर्षीवाद की वर्शा हमें आवष्यकता हैः
दया की बूंदे हमारे आसपास गिर रही है,
   परन्तु वर्शा के लिये हम विनती करते है

‘‘वहाँ पर आर्षीवाद की वर्शा होनी चाहिए”
   बहुमूल्य उद्धार फिर से;
पर्वतो और घाटी के ऊपर,
   वर्शा की प्रचुरता की ध्वनि।
आर्षीवाद की वर्शा, आर्षीवाद की वर्शा हमें आवष्यकता हैः
दया की बूंदे हमारे आसपास गिर रही है,
   परन्तु वर्शा के लिये हम विनती करते है
(‘‘वहाँ पर आर्षीवाद की वर्शा होनी चाहिए” डेनीयल डब्ल्यु व्हाइटेल द्वारा,
      1840-1901)।

कैसे भी, गलतफहमी के खतरे के साथ, मुझे कहना ही चाहिए कि अकेली प्रार्थना ही स्थिर नहीं करता कि हमें उद्धार में ‘‘आषीर्वाद की वर्शा” मिलेगी। डो. ए. डब्ल्यु टोझरने कहा,

     क्या आपने ध्यान दिया कितनी भी ज्यादा प्रार्थना करना उद्धार के लिये वो देर होती है और कितना कम उद्धार परिणाम में मिला?
     प्रार्थना का विस्तार समझते हुए जो इन दिनो बढ़ रहा है, उद्धार की नदियाँ बहनी चाहिए धरती से आषीर्वाद द्वारा। कि ऐसा कोई परिणाम में प्रमाण है वो हमें निरूत्साह नहीं करना चाहिये; बजाय वो हमें घूमाने चाहिये ढूँढने की क्यों हमारी प्रार्थनाओं का जवाब नहीं दिया गया है (ए. डब्ल्यु. टोझर, डी.डी., ‘‘प्रेयर नो सबस्टीटय्ाुट फोर ओबेडीयन्स” (प्रार्थना, आज्ञापालन के लिये प्रतिनिधि नहीं है) अॉफ गोड एन्ड मेन में, मसीही प्रकाषन, 1960, पृपृश्ठ 50, 51)।

मैं सलाह नहीं देता कि हमें उद्धार के लिये प्रार्थना करना बंद करना चाहिए। नहीं कदापि नहीं। परन्तु मैं कहता हूँ कि प्रार्थना उद्धार नहीं बना सकता। मैंने मेरी अपनी आँखों से दो अद्भूत उद्धार देखे है। दोनों अचानक आये, बिना बड़ी प्रार्थना के व्यवहार के। उद्धार जो मैंने देखा पहले चीनी बेपटीस्ट कलीसिया, लोस एंजीलस में अचानक एक रात षुरू हुआ जब गर्मीयों की छुट्टी के षिबिर में युवा लोगों का जुथ परिवर्तन के अधीन आया और प्रभु को पुकारने लगे उनके पास आने और उनके पापों को माफ करने। उद्धार जो मैंने देखा सिद्धांतवादी बेपटीस्ट कलीसिया, वर्जीनीया में, वहाँ षायद कुछ प्रार्थनाएँ होगी पहले कही हुई, परन्तु वो असामान्य प्रार्थना नहीं थी। हर एक व्यक्ति आष्चर्यचकित था जब प्रभुने अचानक उनकी पवित्रआत्मा उँडेल दी रविवार षाम की सभा में, जब 70 लोगों से ज्यादा, साथी याजक को मिलाकर, पाप के अपराधभाव के अधीन आये, और प्रभु को दया के लिये पुकारने लगे। एक वृद्ध आदमी नीचे कलीसिया में चिल्लाते हुए रेंगने लगा, ‘‘मैं खोया हुआ हूँ! मैं खोया हुआ हूँ!” कुछ तरूण बच्चे तख्त पर गाने के लिये आये। परन्तु वे गाने के लिये असमर्थ थे क्योंकि वे रोने लगे थे, पाप के बड़े अपराधभाव के अधीन। करीबन 500 लोग उस उद्धार में परिवर्तित हुए थे अगले तीन महीनों में।

फिर भी एक दूसरे कलीसिया में, जहाँ मैं हाजिर था, ऐसा लगता था कि उद्धार बस होनेवाला ही है। उन्होंने उद्धार के लिये इस सभा से पहले हफतो तक प्रार्थना की थी। परमेष्वर की प्रस्तुति अक्षरषः सभा में ‘‘महसूस” कर सकते थे। कलीसिया लोगो से भर गया, जब तक वहाँ सिर्फ खड़े रहने की जगह थी। परन्तु सभाएँ तत्परता से बंद की गई क्योंकि थोड़े प्रायोजक याजक डरते थे जब तीन तरूण और दूसरे पाप के गहरे अपराध भाव के अधीन आए। उन्हें डर था कि वो षायद, उनके कलीसिया में दरार का कारण बने। इसलिये, मैं मानता हूँ वहाँ पर इंसानी तत्व जुडे़ हुए है। बाइबल कहता है, ‘‘आत्मा को न बुझाओ” (1 थिस्सलुनीकियों 5:19)। आप उद्धार के लिये वर्शों तक प्रार्थना कर सकते हो, परन्तु वो नहीं आएगा अगर आप आत्मा को बुझाते हो।

उद्धार आने के लिये हमें इच्छा होनी चाहिए पुराने प्रकार के, पाप का अपराधी ठहरानेवाले, मसीह की प्रषंसा करनेवाले प्रचार की। उस प्रकार के प्रचार की कमी, मैं मानता हूँ, वो एक कारण है ‘‘क्यों हमारी प्रार्थनाएँ जवाब नहीं दी जाती है”। डब्ल्यु पी. नीकलसन उस प्रकार के प्रवक्ता थे। वे उत्तर आर्यलेन्ड से थे, और उसने कई बार देखा है प्रभु उद्धार भेजते है। नीकलसन ने कहा, ‘‘उद्धार जो हमारे कलीसिया में आने योग्य है वो उद्धार है जो ... लोगो को भयानक तरीके से पागल बना दे या षान से खुष कर दे। मेरे मन में इतना भयप्रद कुछ भी नहीं जैसे हमारे कलीसियाओं में भय की गैर मौजूदगी। कुछ भी इतना भयकारक भयानक नहीं है मेरे मन को, जैसे वो पापीयों को कोई त्रास नहीं है। ओह कुछ लोगों के लिये कितनी मरी हुई सारी चीजें सिवा प्रभु के, और उनसे इतने भरे हुए जैसे उन्हें बाकी की सारी मानवजाती के लिये जोड़ी बनाने से ज्यादा” (सर्मन्स बाय डब्ल्यु पी. नीकलसन : टोरनाडो अॉफ ध पुलपीट, इयान आर. के. पायस्ले द्वारा जीवन संबंधी चित्र, मार्टीयर मेमोरीयल प्रोडक्षनस, 1982, पृश्ठ 41)।

फिर से, डब्ल्यु पी. नीकलसनने कहा,

     लूत की पत्नी का स्मरण करो। वो मसीही घर से बाहर गयी मसीह बिना के अधोलोक में; वो धर्मी आदमी के हाथों से बाहर गयी दुश्ट और घृणित का स्वीकार किया। आप षायद मसीही घर से बाहर आओ और मसीह बिना के अधोलोक में जाओ...
     जब आप परिवर्तन के बिना कलीसिया में जुडते हो, आप अधोलोक के बच्चे से दो गुना ऊपर हो ...
     फिर से, मसीह बिना के मसीही वो आदमी और औरतें है जो सोचते है कि वे मसीही है क्योंकि उन्होंने विष्वास का स्वीकार एक या दूसरे समय किया था ... (मसीह ने कहा) ‘‘हर कोई नहीं जिसने मुझे कहा, यहोवा, यहोवा, स्वर्ग के साम्राज्य में प्रवेष करो।”
     मसीह बिना के मसीही वो आदमी है जो सोचता है कि वो ठीक है क्योंकि उसने स्वीकार किया था, परन्तु जिसे उसके जीवन का प्रमाण नहीं है। वहाँ पर बीच का रास्ता नहीं है, ये स्वर्ग या अधोलोक है।
     मुझे आपसे पूछने दो ... क्या आप मसीह बिना के मसीही हो? क्या आप साधारण मसीही (सिर्फ नाम मात्र के मसीही) हो? आपके पास धर्म की सारी सजावट है, परन्तु अनुभव नहीं। आपको मसीही के बारे में अपने दिमाग मे ंजानकारी है, परन्तु आप नहीं कह सकते, ‘‘धन्यवाद प्रभु में बचाया गया हूँ।” आप को अपने स्वयं विनीत होना चाहिये, प्रभु के साथ इमानदार बनो और अपने डूबानेवाले अभिमान के बारे में और आपके बीते हुए व्यवसाय और आपके कलीसिया संबंध के बारे में भूल जाओ। आपको मसीह के पास गरीब, खोए हुए पापी की तरह जाना चाहिए (ibid., पृपृश्ठ 41-44)।

पिन्तेकुस्त के दिन पर प्रेरितो पतरसने कहा, ‘‘परमेष्वर ने उसी यीषु को जिसे तुम ने क्रूस पर चढ़ाया, प्रभु भी ठहराया, और मसीह भी” (प्रेरितो 2:36)। हाँ, आपने उन्हें क्रूस पर चढाया। आपके पाप ने उनको क्रूस तक भेजा। आप अधोलोक के जितना दोशी हो! आपके पाप ने उनको क्रूस तक भेजा। परंतु आप लापरवाह हो सकते हो! आप अपने स्वयं के साथ खुष हो आप जैसे ही भी हो! आपको थोड़ा ‘‘धर्म” चाहिये, परंतु आपको ‘‘गरीब और खोए हुए पापी की तरह मसीह के पास” नहीं जाना है।

‘‘तब सुननेवालों के हृदय छिद गए, और वे ... पूछने लगे, है भाइयों, हम क्या करें? पतरसने उनसे कहा, मन फिराओ ...” (प्रेरितो 2:37-38)।

मन फिराओ! मन फिराओ! आपके मृत धर्म से फिरो। उसे बाहर फेंक दो! आप कहते हो आप मसीह हो, परंतु आप पाखण्डी के अलावा कुछ नहीं हो! नीकलसन ने कहा, ‘‘आप कहते हो आप मसीह हो! अगर आप होते, मैं षायद अधोलोक जाता और दुश्टात्मा के साथ रहता आप के साथ रहने के बदले।” प्रभु के साथ रहो, कोई बात नहीं चाहे इसकी जो भी किमत हो! लोग क्या सोचेंगे उस बारे में भूल जाओ। आपके रास्ते को साम्राज्य में धकेलो! यीषु ने कहा, ‘‘बलवान उसे छीन लेते है” (मती 11:12)। आपके रास्ते को बलपूर्वक अंदर लो! यीषु के पास जाओ चाहे जो भी किमत हो! आपकी कलीसियानीति को बाहर फेंक दो! मन फिराओ, और यीषु को ‘‘बलपूर्वक” लो! आप दूसरे दिन जो रास्ते पर हो उस रास्ते पर मत जाओ! मन फिराओ! मन फिराओ! यीषु को पुकारो, ‘‘हे दाऊद की सन्तान, यीषु मुझे पर दया कर” (मरकुस 10:47)। उनको पुकारो ‘‘यीषु, मुझ पर दया करो! यीषु मुझ पर दया करो! यीषु मुझ पर दया करो! यीषु मुझ पर दया करो!”

दयाने मेरा जीवन फिर से लिखा।    दयाने मेरा जीवन फिर से लिखा। मैं पाप में खोया था,    परन्तु यीषुने मेरा जीवन फिर से लिखा।

मन फिराओ और अपने आप को यीषु की दया पर फेंको! वहाँ आपके लिये कोई और आषा नहीं है। क्या आपने वो सुना? वहाँ आपके लिये कोई और आषा नहीं है!!! कोई भी नहीं!!!

डो. टोझरने कहा, ‘‘मसीहीता के प्रकार का दूर तक फैला हुआ उद्धार हम आज जानते है अमरीका में षायद नीतिमान दुर्घटना साबित हो सके, जिससे हम सौ वर्शो तक भी फिर से प्राप्त नहीं कर सकते” (‘‘सुधार के बिना उद्धार नहीं”, कीझ टु ध डीपर लाइफ, गहरी जिंदगी के लिये चाबी, में 1957, पृश्ठ 12)।

आपको आवष्यकता नहीं जो हमारे अमरीका के कलीसिया में ज्यादातर लोगों के पास है! नहीं! धरती के चेहरे से इसके साथ दूर रहो! आपको उनके मृत धर्म की आवष्यकता नहीं है! आपको जीवित उद्धारक की आवष्यकता है! आपको सच्चे उद्धारक से, सच्चे लहू की आवष्यकता है, आपके सच्चे पाप को षुद्ध करने, और आपको सच्चे प्रभु के सच्चे क्रोध से बचाने, जो हकीकत में आपसे गुस्सा है आपके पाप के लिये! आपको यीषु के सच्चे लहू की आवष्यकता सच्चे परमेष्वर के सच्चे क्रोध का षमन करने! पुकारो - ‘‘यीषु, मुझ पर दया कर! यीषु, मुझ पर दया कर! यीषु मुझ पर दया कर!” आपके पूरे मन से उनको पुकारो, जैसे वे चीन में करते है, जहाँ आधुनिक इतिहास में बड़ा उद्धार अभी हो रहा है! वे आँसूओं के साथ पुकारते है, ‘‘यीषु, मुझ पर दया कर! यीषु मुझ पर दया कर! यीषु मुझ पर दया कर!” पुकारो जैसे वे करते है - जबतक प्रभु के पुत्र आपके पास आते है उनके कील से छेदे हुए हाथों से आरोग्यकर के साथ!

जैसे हम वो छोटा समूहगान गाते है, मेहरबानी करके पीछे कमरे में जाइये और डो. केगन आपको प्रार्थना कक्ष में ले जायेंगे। बार्टीम्युस (Bartimaeus) की तरह पुकारो, ‘‘यीषु मुझ पर दया कर;” जब तक वे आते है और आपकी परेषान आत्मा को षान्ति लाते है!

दयाने मेरा जीवन फिर से लिखा।
   दयाने मेरा जीवन फिर से लिखा।
मैं पाप में खोया था,
   परन्तु यीषुने मेरा जीवन फिर से लिखा।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन से पहले डो. क्रेगटन् एल. चान द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रषास्त्र : मरकुस 10:46-52।
धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
"उद्धार आपका काम” (अलबर्ट मीडलेन द्वारा, 1825-1909)।