Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




मसीह बिना की मसीहीता को सुधारना!

CORRECTING CHRISTLESS CHRISTIANITY!

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की सुबह, 25 मार्च 2012
को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, March 25, 2012

‘‘क्योंकि मैंने यह ठान लिया था कि तुम्हारे बीच यीषु मसीह वरन् क्रूस पर चढ़ाए हुए मसीह को छोड़ और किसी बात को न जानूँ’’ (1 कुरिन्थियों 2:2)।


इस सुबह के मेरे धार्मिक प्रवचन का षीर्शक है ‘‘मसीह बिना की मसीहीता को सुधारना!’’ प्रभु यीषु मसीह हमारे कलीसिया से बाहर निकाले गये है। आज इन बुरे दिनों में आप मुष्किल से कभी सुन सकते हो धार्मिक प्रवचन यीषु और उनको क्रूस पर चढ़ाने पर। अब थोड़े धार्मिक प्रवचन मसीह पर प्रचार किये गये है, और थोड़े अभी भी उनको क्रूस पर चढ़ाने के बारे में। आज हम पूर्ण धार्मिक प्रवचन कहाँ सुनते है यीषु मसीह या उनको क्रूस पर चढ़ाने के बारे में? इस्टर के दिनों के दौरान भी सुसमाचार प्रचार करनेवाले प्रचारक मसीह की उत्तेजना पर रोषनी नहीं डालते! इस स्वधर्म त्यागी युग में यीषु हमारे कलीसिया से बाहर निकाले गये है। वे कलीसिया के द्वार के बाहर खड़े रहते है, निकाले हुए, जैसे वे लौदीकिया (Laodicea) के कलीसिया के द्वारा किये गये थे!

डो. मिषेल हार्टने किताब लिखी है, ‘‘मसीह बिना की मसीहीता’’ (बेकर बुक्स, 2008)। डो. हार्टन ने कहा कि आज बहुत से प्रचारक मसीह के क्रूस पर चढ़ाने को उनके धार्मिक प्रवचन से बाहर रखते है। उन्होंने कहा,

मसीह बिना की मसीहीता (हर जगह) है, स्थितिपालक (Conservative) - उदार सप्तरंगी विष्वलेखित पट्टी (Spectrum) और सारी विषिश्ट जाति (Denominational) की रेखा पार करना ... मसीह, पापीयों की एकमात्र आषा से व्यग्र (distracted) होना आसान है। जहाँ हर चीज हमारे आनंद से मूल्यांकन की जाती है प्रभु की पवित्रता के बजाय, हमारा पापी होने का दृष्य अप्रधान हो जाता है; अगर हानिकर नहीं होता ... मैं सोचता हूँ कि आज अमरिका में कलीसिया व्यवहार में लाने योग्य, अनुरूप, सहायक, सफल के साथ इतने स्थुल हो गये है और ... बहुत पसंद किए हुए कि ये करीबन स्वयं संसार को प्रतिबिंबित करते है ... वहाँ पर ऐसा कुछ भी नहीं है जो आज ज्यादातर कलीसिया में नहीं मिल सकता जो संतुश्ट न कर सके चाहे कितने भी धार्मिक सभा के कार्यक्रम और स्वयं - सहाय जूथ द्वारा (मसीह बिना की मसीहीता, पृपृश्ठ 26, 15-17)।

डो. हार्टन ने फिर धार्मिक प्रवचन विशय कथन किये जो स्थितिपालक बेप्टीस्ट कलीसिया द्वारा पर्चे में दिये है। यहाँ है उनके धार्मिक प्रवचन के षीर्शक,

‘‘आपके अपने लिये अच्छा कैसे महसूस करें’’
‘‘मानसिक तनाव से बाहर कैसे आये’’
‘‘पूरा और सफल जीवन कैसे मिले’’
‘‘आपके पैसों को संभालना सीखे
बजाय वो आपको संभाले’’
‘‘परिवार में सफलता से रहने का राज़’’
‘‘तनाव से कैसे जीते’’ (ibid., पृश्ठ 49)।

मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ाने का वर्णन नहीं किया गया था। जहाँ मसीह का स्वागत नहीं होता वहाँ किसी भी कलीसिया को दुःख दिये जाते थे!

बहुत से स्थितिपालक कलीसिया में भी, जहाँ बाइबल पद के बाद पद द्वारा सीखायी जाती है, धार्मिक प्रवचन स्थायीरूप से लोगों को सीखाने पर है कि कैसे खुष और सफलता भरा जीवन जियो, आज हम मुष्किल से पुराने प्रकार की व्यवस्था और सुसमाचार पर प्रचार सुनते है। हम कभी भी कठिनता से याजक को सुनते है जो कहते है,

‘‘क्योंकि मैंने यह ठान लिया था कि तुम्हारे बीच यीषु मसीह वरन् क्रूस पर चढ़ाए हुए मसीह को छोड़ और किसी बात को न जानूँ’’ (1 कुरिन्थियों 2:2)।

प्रभु हमें सहाय करो! मसीह ने जो लौदीकिया में कलीसिया को कहा वो आज बहुत से कलीसिया का वर्णन देता है,

‘‘इसलिये कि तू गुनगुना है, और न ठंड़ा है और न गर्म, मैं तुझे अपने मुँह में से उगलने पर हूँ। तू कहता है कि मैं धन हूँ और धनवान हो गया हूँ और मुझे किसी वस्तु की घटी नहीं; और यह नहीं जानता कि तू अभागा और तुच्छ और कंगाल और अंधा और नंगा है’’ (प्रकाषित वाक्य 3:16-17)।

जब मैं तरूणावस्था में था लोग दूर मीलो तक कार चलाकर जाते थे बड़े सुसमाचार प्रचारक, जैसे डो. आर. जी. ली और डो. डब्ल्यु. ए. क्रीसवेल को सुनने। वापिस फिर मसीह की क्रूस का संदेष केन्द्र में होता था। परन्तु आज बहुत से कलीसिया फिर जाते है पोप संगीत की ओर उनके देवालय (कलीसिया) भरने। रीक वोरेन बढ़ावा देते है परपझ ड्रीवन कलीसिया (कारण समाप्त करनेवाले कलीसिया) को। उनके तरीके समावेष करते है।

1-   रोक संगीत, और भारी धातु (Metal) का संगीत भी।
2-   पारंपारिक भक्तिगीत नहीं।
3-   पियानो को भारी धातु के वांजित्र के साथ बदलना।
4-   प्रार्थना सभा में नियम विरूद्ध के पहिनावे।
5-   प्रार्थना सभा दूर की गयी।
6-   बाइबल के नये अनुवाद।
7-   कलीसिया के नाम से ‘‘कलीसिया’’ और ‘‘बेपटीस्ट’’ षब्द निकाले गये।
8-   मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ाने के केन्द्रित सुसमाचार प्रचार को हटाना।
9-   ‘‘बचाया गया’’, ‘‘खोया गया’’, ‘‘अधोलोक’’, ‘‘लहू’’ और ‘‘फिर से जन्मा’’ षब्दों को धार्मिक प्रवचनों से निकाल दिया।
10-  ‘‘खोए हुए’’ और ‘‘बचाये हुए’’ को ‘‘कलीसियावाले’’ और ‘‘कलीसिया बिना के’’ (Churched and unchurched) से बदलना।

धार्मिक प्रवचन ने प्रेरणात्मक बातों पर पानी डाल दिया। वहाँ मुष्किल से कोई पूरा धार्मिक प्रवचन है यीषु मसीह और उनको क्रूस पर चढ़ाने पर।

23 मई 2005, को प्यु फोरम (Pew Forum) में धर्म और लोगों के जीवन (Religion and Public Life) पर, रीक वोरेनने कहा, ‘‘षब्द, ‘सिद्धांत पर चलनेवाला’ (fundamentalist) हकीकत में आता है 1920 के दस्तावेज ‘विष्वास के पाँच सिद्धांत’ से। और वह बहुत नियमानुसार मसीहीता का संकुचित मंतव्य है।’’ उन्हें उस पुस्तिकाओं में क्या विरोध था? उन्हें निम्नलिखित मुद्दों पर विरोध था, जो ‘‘सिद्धांतो’’ पर रोषनी थे। उन्होंने उस मुद्दों को ‘‘नियमानुसार’’ और ‘‘संकुचित’’ कहा -

1-   बाइबल की आंतरिक्तता और पूरा अधिकार।
2-   यीषु मसीह का कुंवारा जन्म और पूरी प्रभुता।
3-   यीषु मसीह का मृत्यु से षारीरिक पुनरूत्थान।
4-   मसीह का क्रूस पर प्रायष्चित और निर्धारित मृत्यु।
5-   यीषु मसीह का षब्दानुसार दूसरी बार आना।

वो विशय थे ‘‘पाँच सिद्धांत’’ के जो रीक वोरेन ने कहा ‘‘नियमानुसार’’ और ‘‘संकुचित’’। ठीक है, अगर वे जो मानते है कि वे नियमानुसार और संकुचित है, मुझे उनमें से एक की तरह नीचा किया! मैं उन में से हर एक के साथ सहमत हूँ! और मुझे एक प्रचारक जो अभी भी निष्चित है, नहीं जानते आपके बारे में कुछ भी, यीषु मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ाने को बचाओ।’’ ‘‘क्रूस में!’’ इसे गाओ!

क्रूस में, क्रूस में,
   मेरी महिमा सदा रहे,
जब तक मेरी उन्मत आत्मा ढूँढे
   विश्राम नदी के पार।
(‘‘क्रूस के करीब’’ फेन्नी जे. क्रोस्बी द्वारा, 1820-1915)।

स्पर्जन, ‘‘प्रचारक के राजकुमार’’, ने कहा, ‘‘सबसे बड़ा झूठ कभी भी दुश्टात्माने कहा वो था कलीसिया आत्मा जीत सकते है मनोरंजन के द्वारा।’’ रीक वोरेन ने और उनकी ‘‘उद्देष्य समाप्त करनेवाली’’ मूर्खता से दूर! हमें ‘‘उद्देष्य समाप्त करने’’ की मुहिम की आवष्यकता नहीं है। हमें आवष्यकता है ‘‘यीषु मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ाने’’ पर प्रचार सुनने की। इसे फिर से गाओ!

क्रूस में, क्रूस में,
   मेरी महिमा सदा रहे,
जब तक मेरी उन्मत आत्मा ढूँढे
   विश्राम नदी के पार।

‘‘यीषु मसीह और उनको क्रूस पर चढ़ाना’’ पूरे बाइबल का मुख्य विशय है। उनके मृत्यु से उठने के बाद, यीषु ने उनके अनुकरण करनेवालो से कहा,

‘‘हे निर्बुद्धियों और भविश्यवक्ताओं की सब बातों पर विष्वास करने में मन्दमतियों! क्या अवष्य न था कि मसीह ये दुःख उठाकर अपनी महिमा में प्रवेष करे? तब उसने मूसा से और सब भविश्यवक्ताओं से आरम्भ करके सारे पवित्रषास्त्र में से अपने विशय में लिखी बातों का अर्थ, उन्हें समझा दिया’’ (लूका 24:25-27)।

‘‘सब भविश्यवक्ताओं से आरम्भ करके सारे पवित्रषास्त्र में से अपने विशय में लिखी बातों का अर्थ, उन्हें समझा दिया’’। वे पुरानी नियमावली पवित्रषास्त्र से समझा रहे थे। हमें भी वहीं करना चाहिए! पुरानी और नयी नियमावली की हर किताब में, हमें ‘‘सारे पवित्रषास्त्र में से अपने विशय में लिखी बातों का अर्थ उन्हें समझा दिया।’’ मसीह बिना की मसीहीता? इसके साथ, हमारे कलीसिया और हमारे तख्त से दूर! चलिये समझाते है ‘‘अपने विशय में लिखी बातों का अर्थ’’ हर सभा में - पापीयों को और संतो को समान रीत से! हाँ, मसीहीयों को आवष्यकता है ‘‘यीषु मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ाने’’ पर धार्मिक प्रवचन सुनने की! मैं उस गीत के साथ पूरी तरह से सहमत हूँ, ‘‘मुझे कहानी कहना पसंद है।’’

मुझे कहानी कहना पसंद है,
   उन्हें जो इसे अच्छी तरह जानते है
दूसरों की तरह इसे सुनने
   भूखे और प्यासे लगते है।
और जब, महिमा के दृष्य में,
   मैं नया, नया गीत गाता हूँ,
वो पुरानी, पुरानी कहानी होगी
   जिससे मैंने बहुत पहले से प्रेम किया था।

इसे गाओ

मुझे कहानी कहना पसंद है,
   वो महिमा में मेरा विशय होगा,
यीषु और उनके प्रेम की
   पुरानी, पुरानी कहानी कहेन।
(‘‘मुझे कहानी कहना पसंद है’’ ए. केथरीन हेन्की द्वारा, 1834 - 1911)।

रीक वोरेन के ‘‘उद्देष्य समाप्त करनेवाले कलीसिया’’ ही आज सिर्फ वहीं दोश नहीं है। ‘‘भाग्यवान सुसमाचार’’ भी अब बहुत से कलीसिया नष्ट कर रहे है। इसे बढावा दिया गया है केनेथ कोपलेन्ड, टी. डी. जेकस, बेन्नी हिन्न, जोयस मेयर, और जोयल ओस्टीन द्वारा। लाखों लोग इस प्रचार को टेलीव्हिझन पर देखते है। केनेथ कोपलेन्ड ने कहा, ‘‘आपके पास आपके अन्दर रहनेवाले प्रभु नहीं है। आप ही हो। आप प्रभु का हिस्सा और खण्ड़ है।’’ आप प्रभु हो! कैसी नास्तिकता! और लोग ये कूड़े कचरे को मानते है! ये प्रवक्ता झूठे सुसमाचार ‘‘प्रभु आपसे कैसे भी प्रेम करते है’’ का प्रचार करते है। डो. हार्टन ने कहा, ‘‘वहाँ पर मसीह की आवष्यकता नहीं है हमारे बिचवई की तरह, जब कि प्रभु कभी भी पूर्णरूप से पवित्र और हम कभी भी पूरी तरह से धर्मानूरूप से हठी, जैसे कुछ भी नहीं जरूरी है मसीह के मृत्यु की तरह हमारी जगह। प्रभु हमारे दोस्त है। उन्हें सिर्फ हम खुष रहे वही चाहीये’’ (हार्टन, ibid., पृपृश्ठ 71, 72)। अगर आप सोचते हो कि वे गलत है, तो जोयल ओस्टीन को सुनो जो उन्होंने लेरी कींग के साथ भेंट (Interview) में कहा, 20 जून 2005 को।

ओस्टीनने कहा वे निष्चित नहीं है कि उन लोगों को क्या होता है जो मसीह का अस्वीकार करते है। राजाने (फिर उनसे पूछा) यहूदी, मुसलमान, और दूसरे जो मसीही नहीं थे उनके बारे में। ‘‘वे गलत है, क्या वे?’’ (राजा ने पूछा)। ओस्टीनने जवाब दिया, ‘‘ठीक है, मैं नहीं जानता कि मैं मानता हूँ वे गलत हैं... परंतु मैं सोचता हूँ कि सिर्फ प्रभु ही आदमी के मन को परखेंगे। मैं बहुत सारा समय मेरे पिता के साथ भारत में बिताता हूँ। मुझे उनके धर्म के बारे में पूरी जानकारी नहीं है, परंतु मैं जानता हूँ कि वे प्रभु से प्रेम करते है। और मै नहीं जानता। मैंने उनकी यर्थाथता देखी है। इसलिये मैं नहीं जानता’’ (हार्टन में प्रमाणित किया हुआ, पइपकण्, पृपृश्ठ 74, 75)।

‘‘मैं निष्चित नहीं हूँ’’ क्या होगा उन लोगों का जो मसीह का अस्वीकार करते है। ‘‘मैं नहीं जानता’’ क्या होगा उन लोगों का जो मसीह का अस्वीकार करते है। ‘‘मैं नहीं जानता’’ अगर लोगों को मसीह की आवष्यकता है या नहीं! श्रीमान ओस्टीन का संदेष मसीह के संदेष से कितना अलग है, जिन्होंने कहा, ‘‘बिना मेरे द्वारा कोई पिता के पास नहीं पहुँच सकता’’ (यूहन्ना 14:6)। श्रीमान ओस्टीन नहीं जानते, परन्तु मैं जानता हूँ। मैं जानता हूँ प्रभु के वचन क्या कहते है,

‘‘क्योंकि क्रूस की कथा नाष होनेवालों के लिये मूर्खता है परन्तु हम उद्धार पानेवालों के लिये परमेष्वर की सामर्थ्य है’’ (1 कुरिन्थियों 1:18)।

‘‘प्रभु यीषु मसीह पर विष्वास कर, तो तू और तेरा घराना उद्धार पाएगा’’ (प्रेरितो 16:31)।

‘‘किसी दूसरे के द्वारा उद्धार नहीं; क्योंकि स्वर्ग के नीचे मनुश्यों में और कोई दूसरा नाम नहीं दिया गया, जिसके द्वारा हम उद्धार पा सके’’ (प्रेरितों 4:12)।

इसीलिये ‘‘मैंने यह ठान लिया था कि तुम्हारे बीच यीषु मसीह वरन् क्रूस पर चढाए हुए मसीह को छोड़ और किसी बात को न जानूँ’’ (1 कुरिन्थियों 2:2)। ‘‘क्रूस में।’’ इसे फिर से गाओ!

क्रूस में, क्रूस में,
   मेरी महिमा सदा रहे,
जब तक मेरी उन्मत आत्मा ढूँढे
   विश्राम नदी के पार।

इस स्वधर्म त्याग के अनोखो दिनों में, क्रूस का संदेष कभी कभी ही प्रचार किया जाता है, ज्यादा स्थितिपालक, बाइबल में विष्वास करनेवाले कलीसिया में भी। यह ज्यादातर सदा धार्मिक - प्रवचन मसीह का होता है, जैसे कि जो वहाँ पर थे वे पहिले से ही फिर से जन्मे हुए थे - जैसे उन स्वयं मसीहीयों को क्रूस का संदेष सुनने की आवष्कता नहीं है! फिर भी उस कलीसिया में लोग कई बार विष्वास में बहुत ज्यादा कमजोर होते है। बाइबल की पद के बाद पद की पढ़ाई और प्रेरणात्मक धार्मिक प्रवचन सुनने के दषकों बाद; उन में से थोड़े लोगों को मसीह के लिये स्वयं समर्पण करनेवाला प्रेम है। पहली सदी के मसीहीयों से कितना अलग, जिन्होंने मसीह और क्रूस के संदेष सदा सुने थे! आज कितने कह सकते है,

‘‘मैं मसीह के साथ क्रूस पर चढाया गया हूँ, अब मैं जीवित न रहा, पर मसीह मुझ में जीवित है; और मैं षरीर में अब जो जीवित हूँ तो केवल उस विष्वास से जीवित हूँ जो परमेष्वर के पुत्र पर है, जिसने मुझ से प्रेम किया और मेरे लिये अपने आप को दे दिया’’ (गलातियों 2:20)?

कितने कह सकते है,

‘‘पर ऐसा न हो कि मैं अन्य किसी बात का घमण्ड़ करूँ, केवल हमारे प्रभु यीषु मसीह के क्रूस का, जिसके द्वारा संसार मेरी दृश्टि में और मैं संसार की दृश्टि में क्रूस पर चढ़ाया गया हूँ’’ (गलातियों 6:14)?

परमेष्वर हमें मदद करो! मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ाने का संदेष हमारे तख्त से फिर से प्रचार होना ही चाहिये! वहाँ पर किसी को भी कोई आषा नहीं यीषु मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ने के बिना! ‘‘क्रूस के करीब! ओ प्रभु के मेम्ने।’’ इसे गाओ!

क्रूस के करीब! ओ प्रभु के मेम्ने,
   इसका दृष्य मेरे सामने लाते है;
मुझे रोज रोज चलने में मदद करें
   मेरे पर उनकी परछाइयों के साथ।

क्रूस में, क्रूस में,
   मेरी महिमा सदा रहे,
जब तक मेरी उन्मत आत्मा ढूँढे
   विश्राम नदी के पार।
(‘‘क्रूस के करीब’’ फेन्नी जे. क्रोस्बी द्वारा, 1820-1915)।

मैं चीनी बेप्टीस्ट कलीसिया का सदस्य था 24 वर्शों तक। मेरे याजक थे डो. तीमोथी लीन, जो पुरानी नियमावली के विद्वान थे। आखरी बार मेरे याजक, डो. लीन हमारे कलीसिया में बोले (प्रचार किया) तब वे 98 वर्श के थे। उन्होंने कुछ कहा जो लौटकर मेरे सामने आता है। उन्होंने मुझसे कहा, ‘‘मैं मानता हूँ कि परमेष्वरने मुझे कहा कि आपके कलीसिया को आवष्यकता है बाहर दूसरों तक पहुँचने की’’ षब्द उस असर तक। मैंने उस समय उन पर इतना ध्यान नहीं दिया। मैंने सोचा कि हमने बाहर पहुँचने के लिये पर्याप्त काम किये थे। इसलिये मैं डो. लीनने जो कहा था उसके बारे में भूल गया था। परंतु पिछले मंगलवार रात को मुझे प्रभु कहते हुए लगे, ‘‘वे सही थे, आप जानते हो। इसीलिये मैं आपकी सेवा को इन्टरनेट पर आषीर्वाद करता हूँ।’’ मैं उस विचार के द्वारा इतना उत्तेजित हो गया था कि मैंने निष्चय किया, फिर और वहाँ ही, यह संदेष प्रचार करना जो इस सुबह आपको दे रहा हूँ!

हाँ, हमारे कलीसिया यहाँ लोस एंजलिस में सुसमाचार प्रचार का बड़ा काम कर रहे हैं। आप बाहर जाओ रास्तों, और मोल और महाविद्यालयों में और खोये हुओं को हर सभा में अंदर लाओ मसीह के सुसमाचार का प्रचार सुनने। हाँ, हम अच्छा काम कर रहे है क्रूस का संदेष यहाँ लोस एंजलिस में बाहर लाने का। परन्तु हमें हमारी वेबसाइट पर पूरे संसार को सीखाना ही चाहिए। हमारे धार्मिक प्रवचन यीषु मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ाना, पहिले से ही हमारी वेबसाइट पर है 16 भाशाओं में, और हम अगले हफ्ते दो और भाशा षामिल करनेवाले है। हम विचार कर रहे है धार्मिक प्रवचन 20 भाशाओं में लाने का, गर्मीयों के अंत तक या उससे जल्दी। अगले हफ्ते तक हमारे धार्मिक प्रवचन मसीह के क्रूस पर चढाने पर हमारी वेबसाइट पर 18 भाशाओं में होंगे, अंग्रेजी, स्पेनीष, रषियन, फ्रेंच, पोलीष, उर्दू (पाकिस्तान), हिन्दी (भारत), लाओटीयन, तागालोग (फिलीपीन्स), बर्मीस, कोरीयन, जापनीस, इन्डोनेशियन, सीम्लीफाइड (सरल) चीनी, परम्परागत चीनी, अर्मेनीयन, कम्बोडीयन, और अरेबीक। हमारे लेख प्रमाण (Record) दिखाते है कि ये धार्मिक प्रवचन संसार के 168 राश्ट्रो में जाते है - स्वाझीलेन्ड से नेपाल तक, बांग्लादेष से आइसलेन्ड तक, पोर्तुगल से अफघानिस्तान तक, इथियोपिया से हन्गेरी तक, मोरोक्को से आयवरी कोस्ट तक, थाईलेन्ड से लेबेनोन तक, स्वीटझरलेन्ड से रोमानिया तक, ताइवान से मेइनलेन्ड चायना तक, कोस्टारीका से मलेषिया तक, रषिया से स्पेन, कोरिया से पोलेन्ड, इन्डोनेषिया से मेक्सिको, ओस्ट्रेलिया से जर्मनी, युक्रेन से फ्रान्स तक, युनाइटेड कींगडम से जापान और प्युएरटो रीको, कुवैत, इटली, साउदी अरेबिया, म्यानमार, इजिप्त, युनाइटेड आरब एमीरेटस, आर्यलेन्ड, युगान्डा, जोर्डन, इस्त्राएल, मोरोक्को, न्युझीलेन्ड, मेडागास्कर, अल्झीरीया, हैती, मालावी, सायप्रस, और समुद्र के आयलेन्ड (द्वीप), धरती के 160 राश्ट्रो से भी ज्यादा तक! परमेष्वर की महिमा हो! उन्होंने महान् चीज की है! धार्मिक विशय पर साहित्य (डोक्सोलोजी) (Doxology)! इसे गाओ!

प्रभु की प्रषंसा करो जिनसे सारे
   आषीर्वाद बहते है,
यहाँ नीचे के सारे जीव उनकी प्रषंसा करो;
   उनकी ऊपर प्रषंसा करो तुम स्वर्गीय यजमान;
पिता, पुत्र और पवित्र आत्मा की प्रषंसा करो! आमीन!
   (‘‘ध डोक्सोलोजी’’ थोमस केन द्वारा 1637-1711)।

इस भूमि में देषवासी प्रचारक इस धार्मिक प्रवचन को उनकी अपनी भाशा में लेते है और प्रचार करते है उनके लोागों को इरान, साउदी अरेबिया, कुवैत, अफघनिस्तान, क्यूबा और पीपल्स रीपबलीक ओफ चायना जैसे राश्ट्रों में जहाँ अंग्रेजी बोलनेवाले देष से धर्म प्रचारक नहीं जा सकते। बहुत से मसीही चिंतित है क्योंकि ‘‘समृद्ध सुसमाचार’’ तीसरे विष्व में फैल रहा है। परन्तु हमारे यीषु मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ाने के धार्मिक प्रवचन बाहर वेबसाइट पर 18 भाशाओं में जाते है अक्षरषः हजारो देषवासी प्रचारक के पास उनकी जगहों में जहाँ हमारे कोई भी धर्मप्रचारक नहीं जा सकते। ये देषवासी प्रचारक हमारे धर्मप्रचारक है - हमारे धार्मिक प्रवचन के हस्तलेख हमारी वेबसाइट पर, उनके अपने लोगों को, उनकी अपनी भाशा में प्रचार करते है।

ग्रीन लेन्ड के बर्फीले पहाड़ों से,
   भारत के मूँगा (Coral) के किनारे से,
जहाँ आफ्रिका के धूप के फव्वारे
   उनकी सुनहरी रेत पर छाँ जाते है,
बहुत सी प्राचीन नदीयों से,
   बहुत से विजयी मैदानों से,
वे हमें पुकारते है उनकी भूमि को
   गलतीयों की जंजीर से छुड़ाने।
क्या हम, जिनकी आत्माएँ ऊँचे से प्रकाषित
   हुई है इच्छा के साथ,
क्या हम उस आदमी से जो अस्वीकार
   करता है अंधकार किए हुए जीवन दीप से?
मुक्ति! ओ मुक्ति! आनन्द भरा आवाज घोशित होता है,
   जब तक धरती के ग्रामीण से ग्रामीण
राश्ट्र ने मसीह का नाम सीखा है।
   (‘‘ग्रीनलेन्ड के बर्फीले पहाड़ों से’’
      रेझीनाल्ड हेबर द्वारा, 1783 - 1826)।

और मैं हिंमत से आपको कहता हूँ जो इस धार्मिक प्रवचन का वीडीयों देख रहे है या हस्तलेख पढ़ते है, ‘‘आओ और हमें मदद करो।’’ हम हमारे कलीसिया जो कर सकते है उसके अंत के करीब है, यहाँ लोस एंजलिस के अंदरूनी षहरो में। अगर आप क्रूस का संदेष जो हम प्रचार करते है उससे प्रेम करते हो, मैं इस सुबह आपसे याचना करता हूँ, हमें इ-मेल भेजो और हमें कहो कि आप हमारे हिस्सेदार (Partner) बनेंगे 50 डोलर, हर महिने देने के द्वारा, हमें सहाय करने और ओर भाशा सामिल करने और ज्यादा खोयी हुई आत्माओं तक पहुँचने भाग्यवान सुसमाचार ‘‘यीषु मसीह और उनके क्रूस पर चढ़ाने’’ के साथ। परमेष्वर आपको आषीर्वाद दे प्रार्थना करने और हमारे साथ आर्थिक रूप से खड़े रहने इस महान् वैष्विक हद से बाहर जाने के लिये! आमीन और आमीन! ‘‘क्रूस में।’’ इसे गाओ!

क्रूस में, क्रूस में,
   मेरी महिमा सदा रहे,
जब तक मेरी उन्मत आत्मा ढूँढे
   विश्राम नदी के पार।

अगर इस सुबह आप यहाँ हो परन्तु बचाये हुए नहीं हो, मैं आपसे कहता हूँ यीषु क्रूस पर चढे़ हुए उद्धारक पर भरोसा करने। वे आपके पापो का दण्ड़ चुकाने क्रूस पर मरे। उन्होंने उनका बहूमूल्य लहू बहाया - आपको सारे पापों से षुद्ध करने। वे मृत्यु से उठे और ऊपर स्वर्ग में चढे़ आपके लिये प्रार्थना करने और आपको अनंत जीवन देने। पश्चाताप करो और यीषु पर भरोसा करों वे आपकी आत्मा को सारे समय और सारी अनंतता के लिये बचायेंगे।

हम गाने जा रहे है ‘‘क्रूस के करीब।’’ जब हम गाते है तब आपकी बैठक (सीट) से उठो और सभागृह के पीछे जाओ। हमारे वरिश्ठ याजक डो. केगन, और मैं आपके साथ जायेंगे और यीषु पर भरोसा करने के बारे में आपसे बात करेंगे। ‘‘क्रूस के करीब! ओ प्रभु के मेम्ने।’’ इसे गाओ!

क्रूस के करीब! ओ प्रभु के मेम्ने,
   इसका दृष्य मेरे सामने लाते है;
मुझे रोज रोज चलने में मदद करें
   मेरे पर उनकी परछाइयों के साथ।
क्रूस में, क्रूस में,
    मेरी महिमा सदा रहे,
जब तक मेरी उन्मत आत्मा ढूँढे
   विश्राम नदी के पार।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन के पहले डो. क्रेगटन एल. चान द्वारा पढा हुआ पवित्रशास्त्र : 1 कुरिन्थियों 1:18-24।
धार्मिक प्रवचन के पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
      ‘‘ध ओल्ड रग्गड क्रोस’’ "The Old Rugged Cross" (ज्योर्ज बेनार्ड द्वारा, 1873 - 1958)।