Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




लुदिया का परिवर्तन

THE CONVERSION OF LYDIA

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजीलस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की सुबह, 20 नवम्बर, 2011
को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, November 20, 2011

‘‘और लुदिया नामक थुआथीरा नगर की बैंजनी कपडे बेचनेवाली एक भक्त स्त्री सुन रही थी। प्रभु ने उसका मन खोला कि वह पौलुस की बातों पर चित्त लगाए'' (प्रेरितो 16:14)।


बाइबल बहुत सी प्राचीन किताबों की तरह भिन्न है बहुत से तरीको में। एक चीज के लिए, पुरी बाइबल में औरतें केन्द्र की व्यक्ति रही है। हव्वा, सारै, रिबका, राहेल, लिआ, रूत, एस्तेर और बहुत सी और ओरतों के बारे में कहा गया था पुरानी नियमावली के पन्नों पर। पुरानी नियमावली में दो किताबें औरतो के नाम पर की गई है - रूत और एस्तेर। नयी नियमावली में भी औरतों ने महत्वपूर्ण कर्तव्य किया है। बार बार हम पढ़ते है कि औरतें मसीह से जुडी थी उनकी सेवा में - उनकी माता मरियम, मरियम, मगदलीनी, मार्था, और मरियम, औरत जो व्यभिचार में ली गयी थी, औरत शैतान द्वारा झुकी थी, औरत लहू के मुद्दे के साथ, कुँअें पर औरत, औरत जिसने उनके पाँव का चूमा - और बहुत से दूसरे। यह वो औरते थी जो पहले कब्र के पास गयी और जाना कि मसीह मृत्यु से उठे है। प्रेरितो पौलुसने प्रिस्किल्ला नामकी औरत का पाँच बार जिक्र किया था, सदा उसके पति अक्विला के साथ और सदा उनकी प्रभु की सेवा को संदर्भ करते हुए। प्रिस्किल्ला सदा अपने पति के पहले वर्णन की गयी थी, जो पहली सदी में बहुत असामान्य था। परंतु वो वहाँ है - बाइबल में!

जब से औरते पूरे बाइबल में इतनी प्रसिद्ध हुई है ये आश्चर्यजनक नहीं है कि ये औरत लुदिया युरोप की पहली परिवर्तित की तरह प्रमाणित की गयी है। बाइबल हमें उसके परिवर्तन के बारे में जो कहता है वो हर आदमी जो मसीही बनता है उसे लागु हो सकता है।

I. पहला, उसके परिवर्तन में परमेश्वर की विधि।

परमेश्वर की विधि का काम डो. हेन्री सी. थीयेस्सेन के मुताबिक, अर्थ है ‘‘प्रभु का वो निरन्तर कार्य जहाँ वे बनाते है सारी घटनाएँ (जो संसार में होती है) उनकी इच्छा अनुसार” (हेन्री.सी.थीयेस्सेन, पीएच.डी., डी.डी., इन्ट्रोडक्टरी लेकचर्स इन सीस्टमेटीक थीयोलोजी, एडमान्स प्रकाशन कम्पनी, 1949 की प्रत, पृष्ठ. 177)। विधि पर एक श्रेष्ठ पाठ है रोमियों 8:28,

‘‘और हम जानते है कि जो लोग परमेश्वर से प्रेम रखते है, उनके लिये सब बातें मिलकर भलाई ही ... उसकी इच्छा के अनुसार बुलाए हुए है'' (रोमियों 8:28)।

ध्यान दिजीये कैसे प्रभु की विधि लुदिया के जीवन में काम करती है। प्रेरितों पौलुस पवित्र आत्मा द्वारा रोका गया था एशिया के रोमी सुबे मे ंजाते हुए (प्रेरितों 16:6)। वो बितूनिया (Bithynia) जानेवाला ही था, परन्तु फिर से प्रभु की आत्मा ने उसे रोका (प्रेरितों 16:7)। फिर प्रभु ने पौलुस को रात में एक स्वप्न भेजा, उसे मकिदुनिया (Macadonia), ग्रीस में आने को बुलाने (प्रेरितों 16:9)।

‘‘ओर उसके यह दर्शन देखते ही हम ने तुरन्त मकिदुनिया जाना चाहा, यह समझकर कि परमेश्वर ने हमें उन्हें सुसमाचार सुनाने के लिये बुलाया है'' (प्रेरितों 16:10)।

‘‘और सब्त के दिन हम नगर के फाटक के बाहर नदी के किनारे यह समझकर गए कि वहाँ प्रार्थना करने का स्थान होगा, और बैठकर उन स्त्रियों से जो इकट्ठी हुई थी, बातें करने लगेे। लुदिया नामक थुआथीरा नगर की बैंजनी कपडे बेचनेवाली एक भक्त स्त्री सुन रही थी, प्रभु ने उसका मन खोला कि वह पौलुस की बातों पर चित्त लगाए'' (प्रेरितों 16:13-14)।

लुदिया मकिदुनिया से नहीं थी। वो एशिया के थुआथीरा (Thyatira) से थी। उसने एशिया से सफर किया, जहाँ पौलुस था, वहाँ से मकिदुनिया के फिलिप्पी (Philippi) के दूर के शहर में। प्रभु की विधि के द्वारा लुदिया वहाँ गयी पौलुस के आने से पहले। वो वहाँ था, उस अन्जान धरती पर, जहाँ उसने सुसमाचार सुना और परिवर्तित हुई थी। प्रभु ने ये सारा निर्धारित किया था और ये सारा हुआ उनकी विधि के द्वारा।

ये आपको कैसे लागु होता है? में चाहता हूँ यहाँ जो भी परिवर्तित है उन हरएक को सोचने के लिये कि आप कलीसिया में पहली बार कैसे आये। वास्तव में हरएक व्यक्ति जो हमारे समुदाय का सदस्य है वो यहाँ हमारे कलीसिया में परिवर्तित हुआ था। सिर्फ डो. केगन और श्रीमान कुन्झ इस में अपवाद है जिन्हें कि मैं जानता हूँ। मैं चाहता हुँ कि आप सोचो आप यहाँ पहलीबार कैसे आये। जो भी हुआ था वो प्रभु की विधि से हुआ था। आप यहाँ अकस्मात से नहीं आये। आप यहाँ प्रभु की विधि के द्वारा आये हो। प्रभु का आपके जीवन में उनका कार्य करने की इच्छा कि आपको सुसमाचार सुनाने और बचाने के लिये ले आने के द्वारा। आप मेंसे कोई भी यहाँ अचानक नहीं आये हो।

आप मेंसे कितने यहाँ आये परिसर में या और कहीं भी किसी के निमंत्रण के कारण? महेरबानी करके खडे रहीये। वो आपकी सबसे भाग्यशाली क्षण थी! अगर आप कलीसिया में जन्में होते तो वो भी प्रभु की कृपा के द्वारा ही। हम मेंसे हरएक यहाँ है सिर्फ प्रभु की कृपा के द्वारा ही। प्रभु ने निर्धारित किया आपको यहाँ आने के लिये। इसलिये इस सुबह आप यहाँ हो। इस प्रकार, हमने देखा लुदिया के परिवर्तन में प्रभु की विधि का काम।

II. दूसरा, लुदिया स्वयं का काम अपने परिवर्तन में।

पाठ कहता है,

‘‘और लुदिया नामक थुआथीरा नगर की बैंजनी कपडे बेचनेवाली एक भक्त स्त्री सुन ...'' (प्रेरितो 16:14)।

लुदिया अन्य जाति से यहूदी में परिवर्तित हुई थी। वो नीचे नदी के किनारे दुसरी यहूदी स्त्रीयों के साथ प्रार्थना में थी। लगता था उनके पास यहूदियों का प्रार्थना करने का स्थान (Synagogue) नहीं था, इसलिये वे इस जगह नदी के किनारे गये, प्रार्थना करने उस सब्त दिन पर। पौलुस और उनके साथी आये और स्त्रीयों के इस समुदाय को प्रवचन दिया। और पाठ कहता है कि लुदिया ‘‘ने उसे सुना''।

कुछ अपरिवर्तित लोग कहते है, ‘‘वहाँ पर कुछ भी नहीं है जो मैं बचाये जाने के लिये कर सकता हूँ।'' परन्तु आप गलत हो। आप हमें सुन सकते हो! आप फिर से यहाँ रविवार की सुबह और रविवार रात को सुसमाचार सुनने के लिये आने का निश्चय कर सकते हो! आप हमें सुनने के लिये निश्चय कर सकते हो, जैसे लुदियाने निश्चय किया, पौलुस और लूका को सुनने का। आप चाहे अपने स्वयं को नहीं बचा सकते या, अपना मन खुद ही नही खोल सकते, कमसेकम आप वो कर सकते हो जो लुदिया ने किया। आप सब साथ मिलकर प्रभु के लोगो से हर हफते हमें सुन सकते हो!

बात काट कर, वहाँ कुछ लोग है जो हर हफते आते है और आपकी कुर्सी पर बैठते है, और ऐसा दिखाते है जैसे सुन रहे है, परन्तु आपका मन कहीं दूर होता है, कुछ और चीजों के बारे में सोचते हुए। आप हमें सुनते नहीं! मसीह ने कहा,

‘‘सकेत द्वार से प्रवेश करने का यत्न कर ... ”(लूका 13:24)।

ग्रीक शब्द जो ‘‘प्रयत्न'' के लिये अनुवाद किया गया है उसका अर्थ है ‘‘परिश्रम''। परिवर्तित होने के लिये आपको तीव्र श्रम और परिश्रम करना होगा पूरे ध्यान से प्रचार सुनने के लिये। आप शायद कहो, ‘‘मैं बाद में धार्मिक प्रवचन पढ़ लूँगा।'' वो शायद आपको कुछ करें। परन्तु यह सुनने के द्वारा ज्यादातर लोग बचाये गये है। बाइबल कहता है,

‘‘और जिसके विषय सुना नहीं उस पर कैसे विश्वास करें? और प्रचारक बिना कैसे सुनें?'' (रोमियों 10:14)।

परिश्रम और प्रयत्न करे धार्मिक प्रवचन सुनने के लिये। वो अनुग्रह का श्रेष्ठ तरीका है जिस के द्वारा प्रयत्नशील पापी परिवर्तित होते है। लुदिया ने ध्यानपूर्वक सुना। वो उसके परिवर्तन में उसका हिस्सा था।

III.  तीसरा, उसके परिवर्तन में पौलुस का कार्य।

पाठ कहता है कि ‘‘वह पौलुस की बातों पर चित्त लगाए'' (प्रेरितों 16:14)। ग्रीक शब्द जो अनुवाद किया गया है ‘‘चित्त लगाया'' के लिये उसका अर्थ है ‘‘ध्यान देना'' (स्ट्रोन्ग)। उसने ध्यान दिया ‘‘पौलुस की (द्वारा) बातों पर''। लुदिया के परिवर्तन में पौलुस का योगदान था उसे प्रचार करना। उसने क्या प्रचार किया? क्यों, मसीह का सुसमाचार, अवश्य! लूका के पद 10 में, वर्णन करनेवाले ने कहाँ, “परमेष्वर ने हमें उन्हें सुसमाचार सुनाने के लिये बुलाया है'' (प्रेरितो 16:10) पौलुस बहुत सारे विषयों पर बोले, परन्तु मसीह के सुसमाचार सदा ही उनका मुख्य विषय था। 1 कुरिन्थियों में पौलुस ने कहा,

‘‘हे भाइयों, अब मैं तुम्हें वही सुसमाचार बताता हूँ जो पहले सुना चुका हूँ, जिसे तुम ने अंगीकार भी किया था और जिसमें तुम स्थिर भी हो। उसी के द्वारा तुम्हारा उद्धार भी होता है, यदि उस सुसमाचार को जो मैंने तुम्हें सुनाया था स्मरण रखते हो; नही ंतो तुम्हारा विश्वास करना व्यर्थ हुआ। इसी कारण मैंने सबसे पहले तुम्हें वही बात पहुँचा दी, जो मुझे पहुँची थी कि पवित्रशास्त्र के वचन के अनुसार यीशु मसीह हमारे पापों के लिये मर गया और गाड़ा गया, और पवित्रशास्त्र के अनुसार तीसरे दिन जी भी उठा'' (1 कुरिन्थियों 15:1-4)।

दूसरी जगह पौलुस ने कहा ‘‘हम क्रूस पर चढाए हुए मसीह का प्रचार करते है'' (1 कुरिन्थियों 1ः23)। हकीकत में, पौलुस ने एकबार कहा था, ‘‘मैंने यह ठान लिया था कि तुम्हारे बीच यीशु मसीह वरन् क्रूस पर चढाए हुए मसीह को छोड और किसी बात को न जानू'' (1 कुरिन्थियों 2:2)।

ओह, मैं कैसे इच्छा करूँ कि हमारे प्रचारक मुख्य विषय पर लौटेंगे, और पूरे धार्मिक प्रवचन दूसरो के बदली मृत्यु पानेवाले और मसीह के शारीरिक पुनरूत्थान पर। मसीह क्रूस पर मारे गये और पुनरूत्थान हुए निःसंदेहरूप से वही था जो श्रेष्ठ प्रेरितों ने लुदिया को प्रचार किया था। खोये हुए लोग बचाये नहीं जाते कहे जाने वाले ‘‘प्रसिद्धि के सुसमाचार'' द्वारा या दूसरे ‘‘कैसे'' विषय के द्वारा जो अब बहुत से प्रचार करते है। और धार्मिक प्रवचन के अंत में मसीहीयों को लक्ष्य करते हुए संक्षिप्त में सुसमाचार देना काम नहीं करता। पापीयों को पूरा धार्मिक प्रवचन मसीह के सुसमाचार पर सुनना आवश्यक है। कोई शायद कहे ‘‘परंतु मसीहीयों के बारे में क्या?'' उन्हें रविवार सुबह में सुसमाचार सुनने दो। जैसे वो पुराना गीत कहता है, ‘‘मुझे काहनी सुनाना पसंद है, जो इसे अच्छी तरह जानते हो कि सुनने के लिये भूखे और प्यासे लगते है औरों की तरह।'' अगर मसीहीयों को ज्यादा सुनना है, उन्हें शाम की सभा में आने दीजीये धार्मिक प्रवचन सुनने जो उनकी ओर ज्यादा निर्देशित किये गये है। और अगर आपके पास शाम की सभा नहीं है, तो आप पर शर्म है! आप स्वतंत्र (Libral) लोगों की तरह उनके ही रास्तों पर गये हो! शाम की सभा शुरू कीजीये, शुरूआत में चाहे थोड़े ही लोग आए। हमें प्रचार करना ही चाहिये जैसे पौलुस ने प्रचार किया था अगर हम आत्मा को बचाया हुआ और हमारे कलीसिया में शामिल हुआ देखना चाहते है। स्पर्जन, प्रचारकों के राजकुमार, ने पौलुस के बारे में यह कहा,

‘‘उनके पास एक ही विषय था, और वह था मसीह ... मसीह जो अभी भी बचा सकते थे : मसीह जिसने क्रूस पर लहू बहाया मनुष्यों को प्रभु के पास लाने, और उनको उनके लहू में शुद्ध करने; स्वर्ग में मसीह, पापीयों के लिये प्रार्थना करते हुए ... पौलुस अपनी बातें खत्म नहीं करते यह कहे बिना, ‘‘उन पर विश्वास करो; उन पर विश्वास करो! वह जिसने उन पर विश्वास किया उसे अनन्त जीवन मिला'' (सी. एच. स्पर्जन, ‘‘लुदिया, पहली युरोपीयन परिवर्तित,'' ध मेट्रोपोलीटन टबरनेकल पुलपीट, पीलग्रीम प्रकाशन, 1973 में फिर से छपाँ हुआ, भाग 37, पृष्ठ 488)।

यही है जो आपको सुनने की आवशक्ता है - मसीह आपकी जगह मरे, आपको प्रभु के क्रोध से बचाने, और आपके पापो को उनके बहुमूल्य लहू के द्वारा शुद्ध करने। वे मृत्यु से माँस और हड्डी में उठे आपको जीवन देने। वे अभी स्वर्ग में है परमेश्वर के दाहिने हाथ पर। मसीह के पास आओ! उनके लहू के द्वारा आपके पापो को धोकर शुद्ध हो जाओ! यहीं था जो पौलुस ने लुदिया को प्रचार किया और यहीं है जो मैं आज इस सुबह आपको प्रचार कर रहा हूँ। प्रेरितों पौलुस ने कहा, ‘‘मैं अन्य किसी बात का घमण्ड न करूँ, केवल हमारे प्रभु यीशु मसीह के क्रूस का'' (गलतियों 6:14)। चलिये हमारा मुख्य विषय सदा ही मसीह के क्रूस का रहे! मसीह हमारी जगह मरे, हमारे पापों को चुकाने। मसीह के पास आओ जैसे लुदियाने किया जब पौलुस ने उसे सुसमाचार प्रचार किया! वो पौलुस का हिस्सा था उसके परिवर्तन में। उसने उसे कहा था प्रभु यीशु मसीह के पास आने के लिये।

IV.  चौथा, उसके परिवर्तन में प्रभु का कार्य।

हमारे पाठ ने लुदिया के लिये कहा, ‘‘प्रभु ने उसका मन खोला'' (प्रेरितों 16:14)। लुदिया और पौलुस एक साथ आये प्रभु की विधि के द्वारा। लुदिया ने पौलुस के प्रचार को ध्यान से सुना। पौलुस ने उसे मसीह का सुसमाचार प्रचार दिया। परन्तु अब हम देखते है कि उसका मन स्वयं प्रभु द्वारा खोला गया था।

लुदिया का मन प्रभु द्वारा खोला गया था, ताकि वो सुसमाचार समझ सके। मैं निरन्तर आश्चर्यचकित हूँ कि बहुत से लोग सुसमाचार के बारे में सरल हकीकत भी नहीं समझ सकते। वहाँ जरूर कुछ अंधेरा और शैतानी होगा उनके अंधेपन के बारे में। पौलुस स्वयं ने कहा यह सच था,

‘‘परन्तु यदि हमारे सुसमाचार पर परदा पडा है, तो यह नष्ट होनेवालों ही के लिये पड़ा है। और उन अविश्वासियों के लिये, जिन की बुद्धि इस संसार के ईश्वर (ष्ौतान) ने अंधी कर दी है, ताकि मसीह जो परमेश्वर का प्रतिरूप है, उसके तेजोमय सुसमाचार का प्रकाश उन पर न चमके'' (2 कुरिन्थियों 4:3-4)।

शैतान ‘‘इस संसार का परमेश्वर'' है। उसने आपके मन को अंधा बना दिया है। फिर भी कुछ नये लोग आते है और जल्दी से समझ जाते है कि यीशु उनके पापो के लिये मरे और वे तुरंत ही जागृत - सचेत हो जाते है। हम सिर्फ कह सकते है, ‘‘यह तो यहोवा की ओर से हुआ है, यह हमारी दृष्टि में अद्भूत है'' (भजनसंहिता 118:23)। पौलुसन ने कहा,

‘‘इसलिये कि परमेश्वर ही है, जिसने कहा, अंधकार में से ज्योति चमके, और वही हमारे हृदयों में चमका कि परमेश्वर की महिमा की पहिचान की ज्योति यीशु मसीह के चेहरे से प्रकाशमान हो'' (2 कुरिन्थियों 4:6)।

परंतु सिर्फ सुसमाचार समझने से ज्यादा, लुदिया का मन स्वयं मसही के पास खुला था। उसने सोचा होगा कि, ‘‘अब जो मैं समझ सकती हूँ कि मसीह मेरे पापो के लिये मरे, और उनका लहू बहाया मुझे पापो से शुद्ध करने, मैं उनके पास आऊँगी! मुझे मसीह चाहिये और मुझे वे अभी चाहिये।'' उसी पल वो यीशु के पास आयी और बचायी गयी। में प्रार्थना करता हूँ कि कोई यहाँ इस सुबह यीशु के पास आए सरल विश्वास में। ‘‘वे आपको बचायेंगे, वे आपको बचायेंगे, वे आपको बचायेंगे अभी!'' आमीन। महेरबानी करके खडे रहीये और गीत क्रमांक चार गाइये।

आओ, हर आत्मा पापो द्वारा वश में है,
   वहाँ पर दया है प्रभु के साथ,
और वे अवश्य आपको राहत देंगे,
   उनके वचनों पर विश्वास करने के द्वारा।
सिर्फ उन पर विश्वास करें, सिर्फ उन पर विश्वास करें,
   सिर्फ उनपर विश्वास करें अभी,
वे आपको बचायेंगे, वे आपको बचायेंगे,
   वे आपको बचायेंगे अभी।

क्योंकि यीशु ने अपना बहुमूल्य लहू बहाया,
    धनवान आशीर्वाद प्रतिपादन करने;
लाल रंग की बाढ़ में अभी लीन हो जाओ,
   जो बर्फ की तरह सफेद (शुद्ध) करती है।
सिर्फ उन पर विश्वास करें, सिर्फ उन पर विश्वास करें,
    सिर्फ उनपर विश्वास करें अभी,
वे आपको बचायेंगे, वे आपको बचायेंगे,
    वे आपको बचायेंगे अभी।

हा, यीशु सच्चाई है, रास्ते,
   जो आपको राहत में ले जाते है;
उन पर विश्वास करें विलंब किये बिना,
    और आप पूरी तरह भाग्यवान हो।
सिर्फ उन पर विश्वास करें, सिर्फ उन पर विश्वास करें,
   सिर्फ उनपर विश्वास करें अभी,
वे आपको बचायेंगे, वे आपको बचायेंगे,
    वे आपको बचायेंगे अभी।
(‘‘सिर्फ उन पर विश्वास करे'' जोन. एच. स्टॉकटन द्वारा, 1813 - 1877)।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन से पहले डॉ. क्रेगटन एल. चान द्वारा पढा हुआ पवित्रशास्त्र :
प्रेरितों 16:6-15।
धार्मिक प्रवचन के पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
‘‘ओह, कितना अद्भूत फव्वारा!'' (जोन. आर. राइस द्वारा, 1895 - 1980)।


रूपरेखा

लुदिया का परिवर्तन

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

‘‘और लुदिया नामक थुआथीरा नगर की बैंजनी कपडे बेचनेवाली एक भक्त स्त्री सुन रही थी। प्रभु ने उसका मन खोला कि वह पौलुस की बातों पर चित्त लगाए'' (प्रेरितो 16:14)।

I.   पहला, उसके परिवर्तन में परमेश्वर की विधि, रोमियों 8:28;
प्रेरितो 16:6, 7, 9, 10, 13-14।

II.  दूसरा, लुदिया स्वयं का काम अपने परिवर्तन म, लूका 13:24;
रोमियों 10:14।

III. तीसरा, उसके परिवर्तन में पौलुस का कार्य, प्रेरितो 16:10;
1 कुरिन्थियों 15:1-4; 1:23; 2:2; गलतियों 6:14।

IV. चौथा, उसके परिवर्तन में प्रभु का कार्य, 2 कुरिन्थियों 4:3-4;
भजनसंहिता 118:23; 2 कुरिन्थियों 4:6।