Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




हाजिरा का परिवर्तन

(उत्पति की किताब पर धार्मिक प्रवचन रु 63)

THE CONVERSION OF HAGAR
(SERMON #63 ON THE BOOK OF GENESIS)

डो. आर एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल मे प्रभु के दिन की सुबह, 23 अक्तुबर, 2011
को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, October 23, 2011

“क्योंकि विष्वास के द्वारा अनुग्रह ही से तुम्हारा उद्धार हुआ है; और यह तुम्हारी ओर से नहीं, वरन् परमेष्वर का दान है” (इफिसियों 2:8)।


आज सुबह मैं उत्पति की किताब से हाजिरा की कहानी पर बोलनेवाला हुँ। हाजिरा का जीवन, पापी के परिवर्तन में परमेष्वर के अनुग्रह का उचित द्रश्टांत देता है। यह मलिन और दुश्ट कहानी है। यह दिखाती है कि सारे मनुश्य उनकी स्वाभाविक अवस्था में पापी होते है। जब आदम ने मनुश्य जाती की षुरूआत में पाप किया, उसके सारे वषंज स्वाभाविकरूप से पापी बन गये, क्योंकि “एक मनुश्य के द्वारा पाप जगत में आया, और पाप के द्वारा मृत्यु आई, और इस रीति से मृत्यु सब मनुश्ययों में फैल गई” (रोमियो 5:12)। जब से हमारी गिरावट हुई है हम सब “पापो मे मरे हुए” (इफिसियों 2:5) है।

मैं हाजिरा की कहानी मेें इन सब भयानक पाप में नहीं जानेवाला हूँ। वह मिस्त्री थी। वह सारै की दासी की तरह लायी गयी थी। अब्राम की पत्नी सारै ने प्रभु पुत्र देंगे इस बात को न मानने के द्वारा पाप किया था। सारै ने अब्राम से हाजिरा द्वारा पुत्र के पिता बनने को कहने का पाप किया था। फिर अब्राम स्वयंने इस युवा औरत के साथ पाप किया। परन्तु हाजिरा स्वंय भी खोयी हुई पापी थी। वह मिस्त्री थी जिस ने प्रभु को नहीं जाना था।

मैं हाजिरा के परिवर्तन पर प्रकाष डालनेवाला हुँ, किन्तु, इस घटना की और षर्मनाक बाजु पर नही। और मैं मानता हूँ कि हाजिरा के परिवर्तन की कहानी आप में से किसीको सहाय करेगी जो आज सुबह अभी तक बिना बचाये हुए है।

प्ण् पहला,   अब्राम और सारै के बुरे की गवाही के बावजूद भी हाजिरा बचायी गयी थी।

आप में से कुछ लोग जो अपरिवर्तित है वे कलीसिया में उठाये हुए युवा लोग है। आपने बहुत से बुरे द्रश्टांत देखे है जो मसीही होने का दावा करते है उनका। कईबार ये “कलीसिया के बच्चे” के लिये सोचने का कारण बनते है, “यह सच नही हो सकता। देखिये किस तरह उन लोगों ने काम किया।” जिन्होने कलीसिया छोड़ा है उनका द्रोह आपको सोचने तक ले जाता है कि षायद सुसमाचार सच न हो। दुश्टात्मा उनके बुरे द्रश्टांतो का उपयोग करता है आपके परिवर्तन की सच्चाई पर षक करने के लिये उकसाने। सैतान आपको सोचने पर विवष करता है, “यह सच कैसे हो सकता है?” हजारो लोग पूरे संसार में अपनी कलीसिया में आत्माएँ खो चुके है कलीसिया सदस्य के बुरे द्रश्टांत के कारण। यह एक मुख्य साधन है जो सैतान उपयोग करता है लोगो को फँसाने और उन्हे नीचे अधोलोक ले जाने।

ये सिर्फ कलीसिया के बच्चो का सत्य नहीं है। युवा लोग जो अभी ही कलीसिया में आये है उन्हें भी वही चीज दुश्टात्मा से उनकी ओर फेंकी हुई मिलेगी। हाजिरा की तरह, युवा मिस्त्री लड़की जो सारै की दासी थी, आप देखेंगे कुछ लोगो का विरोध और गलत काम जो कहते है कि वे मसीही है। हाजिरान अब्राम और सारै का पाप देखा। इसने उसको भयानक रीति से व्याकुल किया।

जब मैं केलिफोर्निया, के हन्टींगटन पार्क के पहले बपतीस कलीसिया में लाया गया था 13 वर्श के तरूण की तरह, मैंने देखे कहे जानेवाले “मसीही” एक दूसरे को धृणास्पद काम करते हुए। मैं धकेला गया कलीसिया के भयानक मजाक के बीच मे। मैंने देखा है कलीसिया के सदस्य एक दूसरे के षाप देते है, और गीतो की किताबें एक दुसरे पर फेकते है, रविवार की सुबह की सभा के दौरान! मेरी उम्र के लगभग सारे युवा लोगो ने कुछ समय बाद कलीसिया मे जाना छोड़ दिया। मैं कलीसिया मे क्यों रहूँ? मैं सिर्फ यहीं कह सकता हूँ कि मैं प्रभु के अनिवार्य अनुग्रह के कारण ही रहा! हा, प्रभु का अनिवार्य अनुग्रह! बाइबल कहता है,

“क्योंकि विष्वास के द्वारा अनुग्रह ही से तुम्हारा उद्धार हुआ है; और यह तुम्हारी ओर से नहीं, वरन् परमेष्वर का दान है” (इफिसियों 2:8)।

जब मै तरूण था, मेरे पहचानवाले बहुत से बेप्टीस्ट ने करीबन हर चीज की जो मानव से संभवतः मुझे व्याकुल और मसीही बनने से दूर रखने! पीछे देखते हुए, मैं आष्चर्यचक्ति हूँ कि मैं बचाया गया था! मै आष्चर्यचक्ति हूँ कि मै बचाया गयां था! सदा के लिये; बपतीस कलीसिया मे इतनी सारी भयानक चीजे देखने के बाद! “अद्भूत अनुग्रह!” इसे गइये!

अद्भूत अनुग्रह! कितना मीठा स्वर है
जिसने मुझ जैसे दुश्ट को बचाया!
मै एक बार खोया था, परन्तु अब मिल गया हूँ,
अंधा था, परन्तु अब देख सकता हूँ।
(“अद्भूत अनुग्रह” जोन न्यूटन द्वारा, 1725-1807)।

हाजिरा की तरह मैं परमेष्वर के षुध्ध अनुग्रह द्वारा बचाया गया था उस कलीसिया में बहुत से कहे जानेवाले “मसीहीयों” के बुरे गवाह और निश्कपट स्वार्थ के बावजूद भी!

वहाँ और कुछ है जो मुझे कहना आवष्यक है। हाजिरा का किस्सा असामान्य नहीं था। नाही मेरा। आज सुबह यहाँ पर सच्चे मसीही इस प्रकार के समान अनुभव से गुजरे है। हर सच्चा मसीही आज यहाँ इस सुबह अनिवार्य अनुग्रह द्वारा बचाया गया था, बुरी गवाही और दूसरे कलीसिया सदस्य के पाप के बावजूद भी। कोई भी नहीं जिसे मैं जानता हूँ कि झुठे मसीही होने की दुश्टता की उग्र जाँच से बचा हो! परन्तु अनूभव द्वारा जान सका हूँ, अगर आप उस ज्वाला से गुजरते हो तो वो आप को षुध्द करेगा। आप सोने की तरह आगे आयेंगे! एक पुराना गीत कहता है,

जब नीच जाँच से आपका रास्ता जाता है,
    मेरा अनुग्रह आपको देने के लिये पूरा होगा;
ज्वाला आपको नुकसान नही करेगी;
    मैने ही रचायी है
तेरा तलछट नश्ट करने;
    और तेरा सोना षुध्ध करने।
(“नींव कितनी मजबूत है,” लेखक अनजान,
   “रीपोन के गीतो के चुनाव” मे “ज्ञ”, 178 7।)

मातापिता आपको रोक नहीं सकते! मित्र आपको रोक नहीं सकते। झुठे मसीही आपको नहीं रोक सकते जब वे कलीसिया छोड़ते है। वे आपको रोक नहीं सकते! वह दुश्ट परीक्षा है, परन्तु वे आपको रोक नहीं सकते। अगर प्रभु का आनवार्य अनुग्रह आपको मसीह के पास ले जाता है - आपको कुछ भी नही रोक सकता उनके पास आने से! हल्लिलूय्याह, हल्लिलूय्याह! अगर आपको अनिवार्यता से ले जाये, आप मसीह को पाओगे - कोई बात नही वे आपको कुछ भी करे! “अद्भूत अनुग्रह।” इसे फिर से गाइये!

अद्भूत अनुग्रह! कितना मीठा स्वर है
जिसने मुझ जैसे दुश्ट को बचाया!
मै एक बार खोया था, परन्तु अब मिल गया हूँ,
अंधा था, परन्तु अब देख सकता हूँ।

प्प्ण् दूसरा,   हाजिराने पहलीबार परमेष्वर का अनुभव किया।

सारै ने अब कुछ और भी भयानक किया हाजिरा को। सारै ने हाजिरा को दूर फेंका और, “वह उसके सामने से भाग गई” (उत्पति 16:6)। अब हाजिरा अकेली थी, गर्भवती, बाहर उज़ाड स्थान मे, रेगिस्तान मे, जहाँ वो भूख के कारण जल्दी ही मर जाती। परन्तु प्रभु का स्वर्गदूत उसके पास आया, अकेले उस गर्मी से तपते रेगिस्तान मे। मैं डो. मेकगी के साथ सहमत हूँ कि “प्रभु का स्वर्गदूत कोई और नहीं परन्तु अवतार से पहले के मसीह (थे)। ये उनका चरित्र था; वे हमेषा खोये हुओ के लिये देखते रहते थे” (जे. वेरनोन मेकगी, टीएच. डी., थ्रु ध बाइबल, थोमस नेल्सन प्रकाषक, 1981, भाग प्, पृश्ठ. 71)।

मसीह ने हाजिारा को सारै के पास लौटने के लिये कहा “और उसके वष मे रह” (उत्पति 16:9)। महेरबानी करके उत्पति 16:13-14 पर फिरो। खडे रहिये और उस दो पद को जोर से पढ़ीये।

“तब उसने यहोवा का नाम जिसने उससे बातें की थी, अत्ताएलरोई रखकर कहा, क्या मैं यहाँ भी उसको जाते हुए देखने पाई और देखने के बाद भी जीवित रही? इस कारण उस कुएँ का नाम लहैरोइ कुआँ पड़ा; वह तो कादेष और बेरेद के बीच में है” (उत्पति 16:13-14)।

आप बैठ सकते हो। हाजिराने उस कुएँ को नाम दिया जहाँ वो “लहैरोई” थी। इसका इब्रानियो अर्थ है, “उनका कुआँ जो मुझको जीवित रखता है और दिखता है।” और हाजिराने कहा, “उसको जाते हुए देखने पाई।” उसने कहा, मैंने अब उसे देखा जो मुझे देखता है।

हाजिराने अब्राम को षास्त्रोक्त प्रार्थना और प्रभु को बलिदान के द्वारा जाते देखा। उसने अब्राम और सारै को प्रभु से प्रार्थना करते हुए सुना। परन्तु उसने स्वयं ने कभी भी प्रभु का अनुभव नहीं किया था। अब पहलीबार प्रभु उसके लिये सच्चे व्यकित बन गये। वे “वह जिसने मुझ को देखा” थे।

डो. केगन, हमारे छोटे याजक, अपनी पूरी जींदगी नास्तिक रहे थे। उन्होने कहा, “मैं प्रभु के अस्तित्व को नहीं मानता। मैंने कभी भी बाइबल नही पढ़ी फिर भी मैं पूरी तरह से मान चुका हूँ कि वो पूरी दोश से भरी थी। मैने सोचा की मसीहीता नादान लोगो के लिये है जिन्हे कुछ चाहिए विष्वास करने के लिये। जब मैं इक्कीस वर्श का था मैं कुछ सुसमाचार प्रचारकों से मिला था। वे मुझ से अच्छे थे, परन्तु मैंने यीषु मे विषवास करने से इन्कार किया। मेरे पास मेरे अपने विचार थे। मुझे मेरे भविश्य के लिये उनकी दखल अंदाजी नही चाहिये। परन्तु मैं अब सोचता हूँ आत्मिक चीजो के विशय में। इस समय के दौरान मैंने मेरे मित्र से कहा, ‘अगर प्रभु है, तो उन्हे संसार की सबसे महत्वपूर्ण चीज होना चाहिये'... फिर 1974 की गिरावट मे मुझे बहुत ही सीधा और अचानक अनुभव हुआ प्रभु के साथ ... एक रात 4.00 बजे मुडने का समय आया जब मैं चिल्लाया, ‘प्रभु मुझे माफ कर दो।' वह मेरे जीवन का पहला दिन था जब मैने प्रार्थना की हो... मुझे अचानक से जानकारी हुई, गहरे अंतः मन मे कि प्रभु हकीकत मे थे... परन्तु मै (अभी भी) मसीही नही था। प्रभु के साथ का मेरा अनुभव सच्चा था, परन्तु मै यीषु मसीह मे विष्वास करने के लिये तैयार नहीं था। मै उन्हे समर्पित होने तैयार नही था। मैं मेरे अंदर मसीह के बारे मे मेरे विचारो से और दो वर्श तक लडता रहा।” (सी. एल. केगन, पी.एच.डी., फोम डारवीन टु डीझाईन, वीटाकेर, हाऊस, 2006, पृश्ठ. 17)।

मुझे स्वयं को याद है वो पल जब प्रभु डरावने प्रकार से मेरे सामने हकीकत बने पहली बार। मैं पहले प्रभु मे विष्वास करता था, परन्तु मुझे याद है वह घंटा जब मैं पवित्रषास्त्र के पवित्र परमेष्वर से डर गया था। मैं पंद्रह वर्श का था। मैं जमीन पर गिर गया आँसू मे और प्रभु मुझ पर वजन की तरह नीचे आये, मुझे कुचलते और कुचलते और कुचलते मेरे पापो के लिये। मैं वहाँ था, कोई वृक्ष के नीचे, घंटो तक। परन्तु डो. केगन की तरह मैं मसीही नही बना कुछ वर्शो के बाद तक। उन वर्शो के दौरान मैं ज्यादातर समय पापो के अपराधभाव के अधीन था, परन्तु मैं बचाया नही गया।

यह हाजिरा का भी किस्सा था। वो अब अपने मन में कह सकती थी, “प्रभु मुझे देखते है”। परमेष्वर अब उसके लिये सच्चाई थे उसके जीवन मे पहलीबार, परन्तु वो अब तक बचायी नही थी। “अद्भूत अनुग्रह।” इसे गाइये!

अद्भूत अनुग्रह! कितना मीठा स्वर है
जिसने मुझ जैसे दुश्ट को बचाया!
मैं एक बार खोया था। परन्तु अब मिल गया हूँ,
अंधा था, परन्तु अब देख सकता हूँ।

ज्यादातर लोग कलीसिया से गुजरते है प्रभु में सच्चे विष्वास के बिना। वे सिर्फ लोगो को देखते है। वे कभी भी महसूस नही करते कि प्रभु उन्हे देखते है।

आपने कभी भी परमेष्वर के प्रभावषाली अस्तित्व को महसूस किया है? क्या आप जानते हो कि वे आपको देखते है? बहुत कम लोग सच्ची मसीहीता मे अविष्वास से बाहर आते है जब तक वे पहले उनके मनमे जानते है कि वहाँ पर परमेष्वर है जो उन्हे देखते है, और उनके पाप को न्याय देते है, जो वे सब जानते है गहराई मे उनकी न्याय की किताब मे लिखा हुआ। क्या आपने कभी भी महसूस किया है उस पवित्र प्रभु की मौजूदगी को, जो आपके पापो को जानते है और उसके लिये आपको अधोलोक भेजेंगे!

इस समय, व्यक्ति अंदर से महसूस करता है कि परमेष्पर है। और वे जानते है कि प्रभु उन्हे देखते है जब वे पाप करते है तब उन्हे देखते है, उनके मन मे पाप को देखते है, उनके पाप भरे विचार और दुश्ट मन को देखते है, उनके झुठ और दुश्टता और द्रोह और दुर्गन्ध और वासना को देखते है। एक लडकीने कहा, “ मैं मेरे स्वयं से घुणित हो गयी हूँ।” आप भी कुछ ऐसा ही महसूस करेंगे जब आप जानेंगे, “प्रभु मुझे देखते है”। यह षर्मनाक है जब प्रभु आपके हर पाप को देखते है जो आप करते हो! फिर भी, जब तक आप अपने पापो का बोंज प्रभु की दृश्टि मे महसूस नही करते, आप कभी भी यीषू मसीह के लिये आवष्यकता महसूस नही करेंगे। आप कभी भी यीषू के लहू के लिये आवष्यकता महसूस नही करेंगे जब तक आप महसूस नही करते “प्रभु मुझे देखते है।” ‘‘‘ वो अनुग्रह था जिसने मेरे मन को डरना सिखाया”। इसे गाइये!

वो अनुग्रह था जिसने मेरे मन को डरना सिखाया,
और अनुग्रहने मेरे डर को पुनःजीवित किया;
वो अनुग्रह कितना बहुमूल्य लगता है
घंटा जिसमे मैने पहली बार विष्वास किया!

प्प्प्ण्   तीसरा, हाजिरा की आँखे खुली थी और उसने कुँअे से पिया।

महेरबानी करके उत्पति 21 पर फिरो। ऊपर देखिए। सारै ने हाजिरा को दूसरी बार उजाड रेगिस्तान में निकाल दिया। अब खाना पीना सब गया था। हाजिरा ने प्रभु से प्रार्थना की, उसके बच्चे को बचाने के लिये। वो गहरी निराषा मे थी। परन्तु मसीह फिर से उसके पास आये। पद 15-19 जोर से पढ़ीये।

“और जब थैली का जल समाप्त हो गया, तब उसने लड़के को एक झाडी़ के नीचे छोड़ दिया। और आप उस से तीर भर के टप्पे पर दूर जाकर उसके सामने यह सोचकर बैठ गई, मुझ को लड़के की मृत्यु देखनी न पडे। तब वह उसके सामने बैठी हुई चिल्ला चिल्ला के रोने लगी। परमेष्वर ने उस लड़के की सुनी; और उसके दूत ने स्वर्ग से हाजिरा को पुकार के कहा, हे हाजिरा तूझे क्या हुआ? मत डर; क्योकि जहाँ तेरा लडका है वहाँ से उसकी आवाज परमेष्वर को सुन पडी है। उठ, अपने लडके को उठा और अपने हाथ से सम्भाल; क्योंकि मैं उसके द्वारा एक बडी जाति बनाऊँगा। तब परमेष्वरने उसकी आँखे खोल दी, और उसको एक कुआँ दिखाई पडा; तब उसने जाकर थैली को जल से भरकर लडके को पिलाया”
    (उत्पति 21:15-19)।

ओह, वो परमेष्वर का अनुग्रह था जो उसे ले गया, उसकी अब्राम और सारै के लिये भयानक गवाही के बावजूद भी। ओह, वो प्रभु का अनुग्रह था जिसने उसे ज्ञान दिया कि “ प्रभु मुझे देखते है”। और अब ये प्रभु का अनुग्रह था जिसने उसे बाहर उजाड़ स्थानमे ले आये, अकेले, “और जब थैली का जल समाप्त हो गया... और वह बैठ गई... और चिल्ला चिल्ला के रोने लगी” ( उत्पति 21:15-16)। क्या आप मे से कोई आज सुबह उस अवस्था मे है? क्या आप की थैली से पानी समाप्त हो गया है? क्या आपकी मुक्ति की आषा सुख गई है? क्या आप इस संसार के उजाड़ स्थान मे अकेला महसूस करते हो? क्या आपने अपनी आवाज उठायी है और अपने पाप पर और अपनी आषाहीन हालात पर रोए हो? क्या आप अपने एक भी आँसू न बचने तक रोए हो? क्या आपके मन मे इस सुबह मे अपनी खोयी हुई अवस्था पर आँसू है? क्या आपने इस में से कुछ भी अनुभव किया है? अगर उस में से कुछ भी सच है फिर आपके लिये षायद वहाँ आषा है!

मसीह हाजिरा के पास आये उसकी दुर्गति में, जैसे ही वह रोयी। “ और तब परमेष्वर ने उसकी आँखे खोल दी, और उसको एक कुआँ दिखाई पडा़; तब उसने जाकर थैली को जल से भरकर...” ( उत्पति 21:19)। बच्चे ने पिया, और हाजिराने पिया और वे जीये!

मसीह जीवन का पानी है। मसीह ने कहा, “यदि कोई प्यासा हो तो मेरे पास आए और पीए” (यूहन्ना 7:37)। ओह, यीषू के पास आओ और “जीवन का जल सेंतमेत ले” (प्रकाषितवाक्य 22:17)। हाजिरा की प्यास पर प्रवचन देते हुए, स्पजर्नने कहा,

आप जानते हो कि जीवन का पानी इच्छायोग्य है; आप इसे ज्यादा जानते हो; आप (प्यासे हो) अंदर की इच्छा से इसे पीने के लिये। आपकी आत्मा अब ऐसी अवस्था मे है कि अगर आप यीषू को नही खोजते, आप कभी भी उनके बिना आनंदित नही रहेंगे... आपको लगातार पुकारना है, “मुझे मसीह दीजिये! मुझे मसीह दीजिये या फिर मैं मर जाऊँगा!”
      मैं आषा करता हूँ आप मे से (कुछ) जो बिना इसे जाने मुक्ति के किनारे पर है। वहाँ पर आपको षुरूआत के बहुत से काम होंगे, क्योंकि आप लंबे समय के बाद उध्दारक के पास लाये गये हो। आप (इच्छित हो) उपके द्वारा बचाये जाने के लिये। वो वहाँ पर है उन्हे लेलो! उन्हे लेलो! पानी का कटोरा आपके सामने रखा गया है! इसे पीयो!... इसे तुरंत ही पीयो, आप जैसे हो यीषू के पास आओ (सी.एच. स्पर्जन, “हाजिराः आँखे खुली,” ध मेट्रोपोलीटन टबरनेकल पुलपीट, 18 मार्च, 1866, बाइबल की औरतो पर धार्मिक प्रवचन से, हेन्डरीक्सन प्रकाषक, एन.डी., पृपृश्ठ. 32, 37)।

हाजिरा ने पानी का कुआँ पहले क्यों नही देखा? डो. जोन गील (1697-1771) ने कहा वो षायद ऐसा हो कि रो रो कर उसकी आँखे सूजकर बंद हो गयी हो। प्रभु को उसे खोलना पड़ा कुआँ देखने जो उसके सामने था? क्या आपके साथ ऐसा किस्सा है? क्या ऐसा हो सकता है कि आप इतना रोंए हो कि आपके मन की आँखे सूज कर बंद हो गयी हो? जो भी किस्सा हो, पद हमे कहता है, “परमेष्वर ने उसकी आँखे खोल दी, और उसको एक कुआँ दिखाई पड़ा” (उत्पति 21:19)। ओह, बहूमुल्य पवित्र आत्मा आपकी आँखे खोले इस सुबह यीषू को विष्वास के द्वारा देखने। मसीह ने कहा, “यदि कोई प्यासा हो तो मेरे पास आए और पीए” (यूहन्ना 7:37)।

यूवा ज्योर्ज वाईटफील्ड (1714-1770) ने सब कुछ प्रयत्न किये बचाये जाने के लिये। बहुत देर तक गरीब वाईटफील्ड ने अपने आपको बिछौने पर डाला और प्रकाष, “मैं प्यासा हूँ! मैं प्यासा हूँ!” तब यीषू एकदम से उसकी ओर आये और उसकी प्यासी आत्मा को षान्त किया, और वो बचाया गया! महेरबानी करके आपके गीत के पर्चे का गीत क्रमांक सात पर फिरो। इसे गाओ!

हो! हर एक जो आत्मा मे प्यासा है,
    हो! हर एक जो थका हुआ और उदास है,
फव्वारे तक आओ, वहाँ पर यीषू की पूर्णता,
   हर चीज जिसके लिये आप उत्सुक हो,
आओ और आनंदित हो जाओ।
   जो प्यासा है मैं उस पर पानी डालूगा,
मैं सूखी जमीन पर बाढ बहाऊँगा;
    अपने मन को भेट के लिये खोलो जो मैं ला रहा हू,
जब (आप) मुझे खोजते हो, मैं मिल जाऊँगा।

संसार की संतान, क्या आप बंधन से थक गये हो?
    सांसारिक आनंद, कितने जूडे,
कितने असत्य इससे थके हुए;
    (मसीह) के लिये प्यासे,
और उनकी पूर्णता का आषीर्वाद?
   आपके लिये वचन और संदेष की सूचि।
जो प्यासा है मैं उस पर पानी डालूँगा,
    मैं सूखी जमीन पर बाढ बहाऊँगा;
अपने मन को भेट के लिये खोलो जो मैं ला रहा हू,
    जब (आप) मुझे खोजते हो, मैं मिल जाऊँगा।
(“हो! हर एक जो प्यासा है” ल्युसी जे. राइडर के द्वारा, 1849-1922;
    याजक द्वारा ठीक किया हुआ)।

यीषुने कहा, “यदि कोई प्यासा हो तो मेरे पास आए और पीए” (यूहन्ना 7:37)। ओह, सरल विष्वास के द्वारा यीषू के पास आओ और “जीवन का जल सेंतमेत ले” (प्रकाषित वाक्य 22:17)। यीषू क्रूस पर मरे आपके पापो को चुकाने। वे मृत्यु से उठे और ऊपर स्वर्ग मे फिर से गये। वे वहॉ है आपको बचाने। उन्होने कहा, “यदि कोई प्यासा हो तो मेरे पास आए और पीए”। क्या आप उनके पास आओगे? मैं प्रार्थना करता हूँ कि प्रभु आपको अनुग्रह दे ऐसा करने इस सुबह। “संसार की संतान।” इसे फिर से गाओ!

संसार की संतान, क्या आप बंधन से थक गये हो?
    सांसारिक आनंद, कितने जूडे,
कितने असत्य इससे थके हुए;
    (मसीह) के लिये प्यासे,
और उनकी पूर्णता का आषीर्वाद?
    आपके लिये वचन और संदेष की सूचि।
जो प्यासा है मैं उस पर पानी डालूगा,
    मैं सूखी जमीन पर बाढ बहाऊँगा;
अपने मन को भेट के लिये खोलो जो मैं ला रहा हू,
    जब (आप) मुझे खोजते हो, मैं मिल जाऊँगा।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

ध्ाार्मिक प्रवचन से पहले डो. क्रेगटन् एल. चान द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रशास्त्र : उत्पति 21:15-19।
धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
“ हो! हर एक जो प्यासा है ” (ल्युसी जे. राइडर द्वारा, 1849-1922)


रूपरेखा

हाजिरा का परिवर्तन
(उत्पति की किताब पर धार्मिक प्रवचन रु 63)

डो. आर एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

“क्योंकि विष्वास के द्वारा अनुग्रह ही से तुम्हारा उध्दार हुआ है; और यह तुम्हारी ओर से नही, वरन् परमेष्वर का दान है” (इफिसियों 2:8)।

(रोमियो 5:12; इफिसियों 2:5)।

प्ण् पहला, अब्राम और सारे के बुरे की गवाही के बावजूद भी हाजिरा बचायी गयी थी, इफिसियों 2:8

प्प्ण् दूसरा, हाजिराने पहलीबार परमेष्वर का अनुभव किया,
उत्पति 16:6,9, 13-14।

प्प्प्ण् तीसरा, हाजिरा की आँखे खुली थी और उसने कुँअे से पिया,
उत्पति 21:15-19; यूहन्ना 7:37; प्रकाषितवाक्य 22:17।