Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




यह बात उनसे छिपी रही

THIS SAYING WAS HID FROM THEM

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजीलस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की शाम,
27 मार्च 2011 को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Evening, March 27, 2011

‘‘पर उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी; और यह बात उनसे छिपी रही, और जो कहा गया था, वह उनकी समझ में न आया'' (लूका 18:34)।


ये तीसरी बार है, लूका के सुसमाचार में, कि यीशु ने बारह चेलो से कहा की वे मरनेवाले है (लूका 9:22, 9:44)ं लूका 18:31-33 में, यीशु ने ये एकदम स्पष्ट किया, जब उन्होंने कहा,

‘‘देखो, हम यरूशलेम को जाते है, और जितनी बातें मनुष्य के पुत्र के लिये भविष्यवक्ताओं के द्वारा लिखी गई है, वे सब पूरी होंगी। क्योंकि वह अन्य जातियों के हाथ में सौंपा जाएगा, और वे उसे ठट्टो में उडाएंगे, और उसका अपमान करेंगे, और उस पर थूकेंगेः और उसे कोडे मारेंगे और घात करेंगे; और वह तीसरे दिन जी उठेगा'' (लूका 8:31-33)।

ये कैसे कुछ स्पष्ट हो सकता है? फिर भी, “उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझीः और यह बात उनसे छिपी रही, और जो कहा गया था वह उनकी समझ में न आया'' (लूका 18:34)। मरकुस 9:32 कहता है, ‘‘वह बात उन की समझ में नहीं आई''। डो. ए. टी. रोबर्टसन ने मरकुस 9:32 पर ये समालोचना दी, ‘‘उन्होंने न समझना जारी रखा। वे (मसीह की) मृत्यु और पुनरूत्थान के विषय के लिये नास्तिक (न माननेवाले) थे'' (ए. टी. रोबर्टसन, लीट.डी., वर्ड पीकचर्स इन ध न्यु टेस्टामेन्ट, ब्रोडमेन प्रेस, 1930, भाग 1, पृष्ठ. 344; मरकुस 9:32 पर टीप्पणी)।

मसीह का सुसमाचार प्रेरितों पौलुस द्वारा विस्तार और स्पष्टता से बताया गया था।

‘‘पवित्रशास्त्र के वचन के अनुसार यीशु मसीह हमारे पापो के लिये मर गया; और गाडा गया, और पवित्रशास्त्र के अनुसार तीसरे दिन जी भी उठा'' (1 कुरिन्थियों 15:3-4)।

फिर भी, इस वक्त, बारह चेले ये सुसमाचार नहीं समझ सके और न माना।

‘‘पर उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी; और यह बात उनसे छिपी रही, और जो कहा गया था, वह उनकी समझ में न आया'' (लूका 18:34)।

जैसे डो. रोबर्टसन ने कहा, ‘‘वे (मसीह की) मृत्यु और पुनरूत्थान के विषय के लिये नास्तिक न माननेवाले थे'' (पइपकण्)। बारह चेलो ने अभी तक सुसमाचार पर विश्वास नहीं किया था! मरकुस 9:30-32 पर समालोचना देते हुए, डो. जे वेरनोन मेकगी ने कहा, ‘‘ये पहली बार नहीं है कि उन्होंने लोगो को उनकी मृत्यु और पुनरूत्थान के बारे में बताया और फिर भी वे नहीं समझते'' (जे वेरनोन मेकगी, टीएच.डी., थ्रु ध बाइबल, थोमस नेल्सन प्रकाशन, 1983, भाग 4, पृष्ठ. 201; मरकुस 9:30-32 पर टीप्पणी)।

‘‘उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी और यह बात उनसे छिपी रही, और जो कहा गया था वह उनकी समझ में न आया'' (लूका 18:34)।

पाठ के तीन शब्द हमें कहते है उनका सुसमाचार में न मानना।

I. पहला, उन्होंने सुसमाचार को समझा नहीं।

‘‘उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी''। ग्रीक शब्द जो अनुवाद किया गया था ‘‘समझने'' के लिये उसका अर्थ था ‘‘मानसिक रूप से समझना'' (स्ट्रोन्ग)। मसीह ने स्पष्टता और यथाशब्द बोले फिर भी, उन्होंने जो कहा उसका अर्थ समझने में चेले असमर्थ थे। पाठ कहता है, ‘‘उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी''। मेथ्यु पुले ने कहा, ‘‘शब्द सरल थे समझने के लिये'' (अ कोमेन्ट्री ओन ध होल बाइबल, ध बेनर अॉफ ट्रुथ ट्रस्ट, 1990 में फिर से छपा हुआ, भाग 3, पृष्ठ. 258; लूका 18:34 पर टीप्पणी) फिर भी उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी! चेले ये नहीं समझ सके की मसीह ‘‘अन्य जातियों के हाथ में सौंपा'' जायेगा। वे नहीं समझ सके कि वे ‘‘ठट्टो में उडायेंगे, अपमान करेंगे और उन पर थूंका'' जायेगा। वे नहीं समझ सके उनको ‘‘घात किया'' जायेगा, उनकी पीठ पर कोडे से मारा जायेगा। वे यह नहीं समझ सके कि उन्हें क्रूस पर ‘‘मृत्यु दी'' जायेगी। वो यह नहीं समझे कि वे मृत्यु से जिलाये जायेंगे ‘‘तीसरे दिन पर''। जैसे हमें मरकुस के सुसमाचार में कहा गया है,

‘‘मनुष्य का पुत्र, मनुष्यों के हाथ में पकडवाया जाएगा और वे उसे मार डालेंगे; और वह मरने के तीन दिन बाद जी उठेगा। पर यह बात उनकी समझ में नहीं आई, और वे उससे पूछने से डरते थे'' (मरकुस 9:31-32)।

मनुष्य को उनकी अज्ञानता का जवाब वीलीयम मेकडोनाल्ड द्वारा समझाया गया था,

समय संबंधी मुक्तिदाता जो उन्हें रोम सें मुक्ति दिलायेगा और तुरंत साम्राज्य स्थापित करेगा, उनके विचार से उनके दिमाग इतने भर दिये थे कि वे किसी अन्य कार्यक्रम को मानने से इन्कार करते थे (वीलीयम मेक्डोनाल्ड, बीलीवर्स बाइबल कोमेन्ट्री, थोमस नेल्सन प्रकाशन, 1989 की प्रत, पृष्ठ. 1880; लूका 18:34 पर टीप्पणी)।

उनके दिमाग मसीह (मसीह बेन जोसेफ) के तडपने में विश्वास करने से विरूद्ध पक्षपात करते थे क्योंकि ज्यादातर यहूदीनी लोग उस दिन के मसीह के लिये देख रहे थे जो उन्हें रोम (मसीह बेन डेवीड) से छुडानेवाले थे। वे यह नहीं समझ सके कि दोनो मसीह एक ही है मेरे धार्मिक प्रवचन ‘‘चेलो का डर'' को देखिये - पढने के लिये यहा क्लिक करें परंतु वहाँ पर एक और कारण है उनके सुसमाचार के प्रति अज्ञानता का।

II. दूसरा, सुसमाचार उनसे छिपा था।

‘‘और उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी : और यह बात उनसे छिपी रही ... '' (लूका 18:34)।

‘‘छिपी'' शब्द ग्रीक शब्द से अनुवाद किया गया है जिसका अर्थ है ‘‘गुप्त, छिपा हुआ'' (स्ट्रोन्ग)। ये यूहन्ना 8:59 में मिले हुए ग्रीक शब्द के एकदम समान है जो कहता है ‘‘यीशु ने स्वयं को छिपाया''। इसलिये हमारे पाठ में, ‘‘बात उनसे छिपी रही''। वहाँ पर अद्भूत तत्व जुडा था जब यीशु ने स्वयं को छिपाया, जैसे उन्होंने मंदिर में पत्थर उठाकर उनकी ओर फेंका (यूहन्ना 8:59)। वहां पर अद्भुत तत्व है हमारे पाठ में भी, ‘‘और यह बात उनसे छिपी रहीं''। लूका 18:34 में उस शब्द पर बोलते हुए, डो. फ्रेंक गेइबेलीयन की समालोचना कहती है, ‘‘लूका सूचित करते है चेलो की अज्ञानता कि क्या स्पष्टरूप से समझने की अद्भूत रूकावट'' (फ्रेंक इ. गेइबेलीयन, डी.डी., जनरल एडीटर, ध एक्सपोझीटर्स बाइबल कोमेन्ट्री, झोन्डेरवान प्रकाशन हाऊस, 1984 की प्रत, भाग 8, पृष्ठ. 1005; लूका 18:34 पर टीप्पणी)। यही है जो मै सोचता हूँ हमारे पाठ का अर्थ। ये समझदारी की अद्भुत रूकावट थी। ‘‘और यह बाते (सुसमाचार) उनसे छिपी रही''।

अब हम देखते है कि उस समय ऐसे बडे शास्त्री नहीं थे। वे सिर्फ मनुष्य थे। मनुष्य की तरह थे, हमारी तरह, आदम की संतान। इसलिये, वे ‘‘अपराधो और पापो में मरे हुए'' थे जैसे मैं सात सालो तक कलीसिया में, मेरे बचाये जाने से पहले; और आप में से कुछ लोगो की तरह जो अभी भी ऐसे हो (इफ्रिसियों 2:1,5)। आदम की संतान की तरह, उनका विषयी मन ‘‘परमेश्वर को प्रसन्न नहीं कर सकते'' (रोमियों 8:7) थे। आदम की संतान की तरह वे सिर्फ शारीरिक मनुष्य थे और ‘‘शारीरिक मनुष्य परमेश्वर के आत्मा की बातें ग्रहण नहीं करता'' (1 कुरिन्थियों 2:14)। आदम की संतान की तरह ‘‘क्रूस की कथा नाश होनेवालों के लिये मुर्खता है'' (1 कुरिन्थियों 1:18)। ऐसी सच्चाई से जैसे मसीह ने निकुदेमुस से कहा, ‘‘तुझे नये सिरे से जन्म लेना अवश्य है'' (युहन्ना 3:7), इसलिये चेलो को नये सिरे से जन्म लेना अवश्य है''। वे नये सिरे जन्म नहीं ले सकते अपना व्यवसाय छोड कर और मसीह के पद्-चिन्हों पर चलकर। वह मुक्ति के कार्य के द्वारा होना चाहिये! इसी तरह रोमन केथलीक इसकी व्याख्या देते है! परंतु हम अनुग्रह द्वारा मुक्ति में विश्वास रखते है, इसलिये वे उनके अनुकरण के द्वारा बचा नहीं सकें!

‘‘क्योंकि विश्वास के द्वारा अनुग्रह ही से तुम्हारा उद्धार हुआ है; और यह तुम्हारी ओर से नहीं, वरन् परमेश्वर का दान है, और न कर्मों के कारण ऐसा न हो कि कोई घमण्ड करें'' (इफिसियों 2:8-9)।

यहूदा बारह चेलो में से एक था। क्या वो फिर से जन्मा? मसीह ने कहा वो ‘‘खोया हुआ'' था और उसे बुलाया ‘‘विनाश का पुत्र'' (यूहन्ना 17:12)। क्या थोमा फिर से जन्मा? पुनरूत्थान के बाद, थोमाने दृढता से कहा ‘‘मैं विश्वास नहीं करूंगा'' (यूहन्ना 20:25)। मुझे पता है कि पतरस के पास प्रभु की कुछ चमक थी (मती 16:17) परंतु सिर्फ कुछ क्षण बाद उसने यीशु की निन्दा की, उन्हें ये कहने के लिये कि वो ‘‘मार डाला जायेगा, और तीसरे दिन जी उठेगा'' (मती 16:21-22); और यीशु ‘‘पतरस से कहा, हे शैतान, मेरे सामने से दूर हो! तू मेरे लिये ठोकर का कारण है; क्योंकि तू परमेश्वर की बातों पर नहीं परंतु मनुष्यों की बातों पर मन लगाता है'' (मती 16:23)। पतरस ने स्पष्टता से सुसमाचार का अस्वीकार किया और शैतान द्वारा प्रभावित हुआ मसीह की क्रूस पर कि मृत्यु और पुनरूत्थान का अस्वीकार करने।

‘‘उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी और यह बात (सुसमाचार की) उनसे छिपी रही ...'' (लूका 18:34)।

प्रेरितों पौलुस ने कहा,

‘‘परंतु यदि हमारे सुसमाचार पर परदा पडा है, तो यह नष्ट होनेवालो ही के लिये पडा है। और उन अविश्वासीयों के लिये जिन की बुद्धि इस संसार (शैतान) के ईश्वर ने अंधी कर दी..'' (2 कुनिन्थियों 4:3-4)।

हाँ, वहाँपर ‘‘अद्भूत'' अंधापन, चेलो का शैतानी अंधापन, उनके अपने विषयी मानवीय स्वभाव के तरफ से सुसमाचार का अंधापन। यीशु ने कहा, ‘‘जब तक तुम न फिरो और बालको के समान न बनो, तुम स्वर्ग के राज्य में प्रवेश करने नहीं पाओगे'' (मती 18:3)। उन्होंने यह किससे कहा? उन्होंने यह ‘‘चेले से'' (मती 18:1) कहा। महेरबानी करके खडे रहीये और मती 18:1-3 पढीये,

‘‘उस घडी चेले यीशु के पास आकर पूछने लगे, स्वर्ग के राज्य में बडा कौन है इस पर उसने एक बालक को पास बुलाकर उनके बीच में खडा किया, और कहा मैं तुम से सच कहता हूँ कि जब तक तुम न फिरो और बालकों के समान न बनो तुम स्वर्ग के राज्य में प्रवेश करने नहीं पाओगे'' (मती 18:1-3)।

आप बैठ सकते हो। चेलो को जानना था उनमें से स्वर्ग के राज्य में श्रेष्ठ कौन बनेगा (मती 18:1) यीशु ने चेलो से कहा ‘‘जब तक तुम न फिरो ... तुम स्वर्ग के राज्य में प्रवेश करने नहीं पाओगे'' (मती 18:3)।

‘‘उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी : और यह बात (सुसमाचार की) उनसे छिपी रही ...'' (लूका 18:34)।

III. तीसरा, उन्हें सुसमाचार अनुभव से नहीं मालूम पडा।

हमारे पाठ का अंत कहता है, ‘‘जो कहा गया था वह उनकी समझ में न आया'' (लूका 18:34) ग्रीक शब्द जो अनुवाद किया है ‘‘समझ'' के लिये उसका अर्थ है ‘‘सचेत, निश्चित, ज्ञानपूर्ण रहिये अनुभव के द्वारा'' (ज्योर्ज रीकर बेरी, अ ग्रीक - इंग्लीश लेक्सीकन अॉफ न्यु टेस्टोमेन्ट सिनोनीमस, स्ट्रोन्ग को कोड किया हुआ, क्रमांक 1097)। यही शब्द इस्तेमाल हुआ है फिलिप्पियों 3:10 में, ‘‘मैं उसको और उसके मृत्युज्जय की सामर्थ्य को, और उसके साथ दुःखो में सहभागी होने के मर्म को जानूँ...'' चेलो को अनुभव के द्वारा सुसमाचार का पता नहीं था। उन्होंने शब्द सुने थे, परंतु सुसमाचार की हकीकत का अनुभव नहीं किया। अब चलिये खडे रहते है और पूरा पद फिर से जोर से पढते है। ये है लूका 18:31-34।

‘‘फिर उसने बारहों को साथ ले जाकर उनसे कहा, देखो हम यरूशलेम को जाते है और जितनी बातें मनुष्य के पुत्र के लिये भविष्यवक्ताओं के द्वारा लिखी गई है, वे सब पूरी होंगी। क्योंकि वह अन्य जातियों के हाथ में सौंपा जाएगा, और वे उसे ठट्टो में उडाऐंगे; और उसका अपमान करेंगे, और उस पर थूकेंगे, और उसे कोड़े मारेंगे और घात करेंगे; और वह तीसरे दिन जी उठेगा। पर उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी; और यह बात उनसे छिपी रही, और जो कहा गया था वह उनकी समझ में न आया'' (लूका 18:31-34)।

आप बैठ सकते हो।

क्या अब आप देख सकते हो? ‘‘उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी : और यह बात उनसे छिपी रही, और जो कहा गया था वह उनकी समझ में न आया (अनुभव द्वारा)''।

सी.एच. स्पर्जन की गवाही को सूनो। वे सुसमाचार प्रवक्ता याजक - उनके अपने पिता के घर में पले बडे थे। वे अपनी गर्मीया अपने दादा के घर बिताते थे, वे भी एक सुसमाचार प्रवक्ता थे। उन्होंने सुसमाचार प्रवचन हर रविवार को सुना था, उनके पूरे जीवनभर। फिर भी वे अपरिवर्तित थे चेलो की तरह पुनरूत्थान के पहिले। स्पर्जनने कहा,

मैंने यीशु के बलिदान द्वारा मुक्ति की बाते सुनी थी मेरे बडो से, परंतु मुझे और ज्यादा कुछ पता नहीं था मेरी अंदरूनी आत्मा में अधिक अगर मैं (मूर्तिपूजक) जन्मा होता। ये मेरे पास आया नई आकाशवाणी की तरह, ऐसे ताज़ा जैसे कि मैंने कभी पवित्रशास्त्र पढ़ा ही नहीं था ... (फिर) मैंने समझा और देखा विश्वास के द्वारा की वह जो प्रभु का पुत्र है मनुष्य बना, और, उनके अपने भाग्यशाली व्यक्ति में, मेरे पापो को सहा उनकी अपनी देह पर वृक्ष के ऊपर (क्रूस पर) ... क्या आपने कभी भी वो देखा है? (सी. एच. स्पर्जन, हाऊ केन ए जस्ट गोड जस्टीफाय गील्टी मेन? चेपल लायब्रेरी पेन्साकोला, फलोरिडा)।

स्पर्जन को मसीह के बारे में पता था। उन्होंने मुक्ति कि योजना सुनी थी। परंतु वे ‘‘इन में से कोई बात न समझी : और यह बात (सुसमाचार की) (उनसे) छिपी रही और जो कहा गया था वह उनकी (अनुभव द्वारा वे) समझ में न आया।'' सुसमाचार अचानक उन तक आया, ऐसी शक्ति से, की उसने कहा, ‘‘ये मेरे पास आया नई आकाशवाणी की तरह, जैसे कि मैंने कभी पवित्रशास्त्र पढा ही नहीं।''

यह सच्चा परिवर्तन है - जब आपकी आत्मा महसूस करायी जाती है आपके पापो के बोझ से - और आप जिलाये हुए मसीह के पास ले जाये जाते हो। किसी ने मुझे कहा, ‘‘बाइबल कहाँ सिखाता है कि चेले परिवर्तित हुए थे जिलाये हुए मसीह के साथ मुकाबला करने के द्वारा?'' जवाब सरल है - सारे चार सुसमाचार के अंत में - मती 20:19-22 में; मरकुस 16 में; लूका 24 में (खास करके पद 36-45 में स्पष्ट किया गया); और यूहन्ना 20:19-22 मे। डो. जे. वेरनोन मेकगी, अमरिका के सबसे ज्यादा मशहूर बाइबल शिक्षक, यहून्ना 20:22 के लिये कहा, ‘‘मैं व्यक्तिगत रूप से मानता हूँ कि जब हमारे परमेश्वर ने उनपर सांसे खींची, और कहा, ‘पवित्र आत्मा लो', ये मनुष्य पुनःजीवित (फिर से जन्मे) हुए थे। इससे पहिले, वे प्रभु की पवित्र आत्मा द्वारा कभी अंदर नहीं रहे'' (जे वेरनोन मेकगी, टीएच.डी. थ्रु ध बाइबल, थोमस नेल्सन प्रकाशक, भाग 4, पृष्ठ. 498; यूहन्ना 20:21 पर टीप्पणी)। आप डो. मेकगी को सुन सकते हो इन्टरनेट पर ूूूण्जीतनजीमइपइसमण्वतह पर।

अब ये हमारी प्रार्थना है कि आप अपने पापो के लिये दोषी ठहराये जाओ पवित्र आत्मा द्वारा, और वह कि परमेश्वर की आत्मा आपके मन को खोले और आपको यीशु मसीह प्रभु के जिलाये हुए पुत्र के पास ले जाये, उनके बहुमूल्य लहू द्वारा शुद्ध करने। आमीन।

डो. मेकगी के हर कार्यक्रम गीत से पूर्ण होते है, ‘‘यीशु ने सब चुकाया''। आपके गीत के पर्चे का सांतवा गीत है। खडे रहीये और इसे गाइये।

मैं सुनता हूँ कि उद्धारक कहते है, ‘‘आपकी ताकत हकीकत में छोटी है,
   कमजोरी की संतान, देखो और प्रार्थना करो, मुझ में ढुंढो आपका सब, सब मे''
यीशु ने सब चुकाया, सब जिसका मैं उनका ऋणी हूँ;
   पापने लाल दाग छोडा था, उन्होंने उसे बर्फ की तरह सफेद धोया।

परमेश्वर, अब हकीकत में मैंने आपकी शक्ति पाई है, और आपके अकेले की,
   क्या कोढि के दाग बदल सकते है, और पत्थर का मन पिघल सकता है।
यीशु सब चूकाया, सब जिसका मैं उनका ऋणी हूँ;
   पापने लाल दाग छोडा था, उन्होंने उसे बर्फ की तरह सफेद धोया।

मेरे पास कुछ अच्छा नहीं है जहाँ आपके अनुग्रह पर हक्क जता सकुं
   मैं अपने पहिनावे सफेद धोऊँगा काल्वरी के मेम्ने के लहु में
यीशुने सब चुकाया, सब जिसका मैं उनका ऋणी हूँ;
   पापने लाल दाग छोडा था, उन्होंने उसे बर्फ की तरह सफेद धोया।

और जब, ताज के पहले, मैं पूरी तरह उनमें खडा रहता हूँ,
    ‘‘यीशु मेरी आत्मा को बचाने मरे,” मेरे होंठ अभी भी दोहराने चाहिये।
यीशुने सब चुकाया, सब जिसका मैं उनका ऋणी हूँ;
   पापने लाल दाग छोडा था, उन्होंने उसे बर्फ की तरह सफेद धोया।
(‘‘यीशु ने सब चुकाया'' एल्वीना एम होल द्वारा, 1820 - 1889)।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन के पहले डो. क्रेगटन् एल. चान के द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रषास्त्र : लूका 18:31-34।
धार्मिक प्रवचन के पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
‘‘मेरी आखें खोलो'' (क्लारा एच. स्कोट द्वारा, 1841-1897)।


रूपरेखा

यह बात उनसे छिपी रही

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

‘‘पर उन्होंने इन बातों में से कोई बात न समझी; और यह बात उनसे छिपी रही, और जो कहा गया था, वह उनकी समझ में न आया'' (लूका 18:34)।

(लूका 18:31-33; मरकुस 9:32; 1 कुरिन्थियों 15:3-4)

I.    पहला, उन्होंने सुसमाचार को समझा नहीं, लूका 18:34 अ; मरकुस 9:31-32।

II.   दूसरा, सुसमाचार उनसे छिपा था, लुका 18:34 ब; यूहन्ना 8:59;
इफिसियों 2:1,5; रोमियों 8:7; 1 ुरिन्थियों 2:14; 1:18; यूहन्ना 3:7; इफिसियों 2:8-9; यूहन्ना 17:12; 20:25; मती 16:17; मती 16:21-22,23;
2 कुरिन्थियों 4:3-4; मती 18:1-3।

III.   तीसरा, उन्हें सुसमाचार अनुभव से नहीं मालूम पडा, लूका 18:34 क; फिलिप्पियों 3:10।