Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




स्‍वयं का खंडन !

SELF-MUTILATION!

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बस्‍तीस टबरनेकल मे प्रभु के दिन की शाम, 13 फऱ़वरी, 2011 को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Evening, February 13, 2011

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?” (यिर्मयाह 47:5 )।


यिर्मयाह “रोता हुआ भविश्‍यवक्‍ता” कहॉ जाता है। उसने कहॉ, “मै अकेले मे तुम्‍हारे गर्व के कारण रोऊॅगा; और मेरी अॉखो से आसुॅओ की धारा बहती रहेगी” (यिर्मयाह 13:17)। विलापगीत की किताब मे यिर्मयाह ने कहॉ, “मै रोती हूॅ ; मेरी अॉखो से अॉसू की धारा बहती रहती है” (विलापगीत 1:16 )।

यिर्मयाह परमेश्‍वर द्वारा कहे गये थे, “जातियो का भविष्‍यवक्‍ता ठहराया” (यिर्मयाह 1:5)। जब उसने प्रभू को वो कहते सूना, यिर्मयाह ने कहॉ, “हाय, प्रभू यहोवा! देख, मै तो बोलना भी नही जानता, क्‍योंकि मै लडका ही हूॅ” (यिर्मयाह 1:6)। परन्‍तु प्रभू ने उनसे कहॉ,

“मत कह कि मै लडका हूॅ ; क्‍योकि जिस किसी के पास मै तूझे भेजूं वहॉ तू जायेगा, और जो कुछ मै तूझे आज्ञा दूॅ वही तू कहेगा तू उनके मुख को देखकर मत डर, क्‍यांेंकि तुझे छुडाने के लिये मै तेरे साथ हूॅ, यहोवा की यही वाणी है। तब यहोवा ने हाथ बढाकर मेरे मूॅह को छुआ ; और यहोवा ने मूझसे कहांॅ, देख मैनेे अपने वचन तेरे मुॅह मे डाल दिये है। सुन मै ने आज के दिन तूझे जातियों और राज्‍यो पर अधिकारी ठहराया है.....” (यिर्मयाह 1:7-10)।

पहले 42 पाठ मे, हमने यिर्मयाह को अपने लोगोको, इस्‍त्राएल, दण्‍ड देते हुए प्रवचन को लिखा। उसने कहॉ

“पर इस प्रजा का हठीला और बलवा करनेवाला मन है; इन्‍होंने बलवा किया और दूर हो गए..... बुरे कामों मे वे सीमा को पार कर गए है; वे न्‍याय, विशेश करके अनाथों का न्‍याय नही चुकाते .... यहोवा की यह वाणी है,क्‍या मैं इन बातो का दण्‍ड न दूॅ ? क्‍या मै ऐसी जाती से पलटा न लूॅ?” (यिर्मयाह 5: 23,28-29)।

फिर, पाठ 46 से 51 मे, यिर्मयाहने प्रवचन दिया दूसरे राश्‍ट्रो के पापो के विरूध्‍द-मिस़्‍़त्र के पापो के विरूध्‍द, पलिश्‍तियो के पापो के विरूध्‍द, मोआब के पापो के विरूध्‍द, अम्‍मोनवंशियो के पापो के विरूद्व, एदोम के पापो के विरूध्‍द, दमिश्‍कवासी के पापो के विरूध्‍द, केदार के पापो के विरूध्‍द, एलाम के पापो के विरूध्‍द, और बेबीलोन और कसदीयों के पापो के विरूध्‍द।

यहॉ, हमारे पाठ में, यिर्मयाह प्रवचन देते है पलिश्‍तियो के पापो के विरूध्‍द। विलियम मेकडोनाल्‍डने कहॉ,

पलिश्‍तियो उतर से बेबीलोन के (जल्‍दी ही होनेवाले) आक्रमण द्वारा कुचला जायेगा। वे (फिर होनेवाले )सूर और सैदा और उनके बडे शहरो, गाजा और अश्‍कलोन, शोक विलाप मे डूबे हुए, वे (होनेवाले) प्रभू की तलवार द्वारा मारेे जायेंगे (विलियम मेकडोनाल्‍ड, बिलीर्वस बायबल कोमेन्‍ट्री, थोमस नेल्‍सन प्रकाशक, 1990, पृश्‍ठ. 1023; यिर्मयाह 47:1-7 पर समालोचना)।

ये हमे हमारे पाठ यिर्मयाह 47:5 के अंत मे लाता है,

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?” (यिर्मयाह 47:5)

अक्षरशः, कितने देर तक आप अपने आपका खंडन करोगे? डो. गीलने कहॉ की वे “उनके चेहरे, हाथ और उनके देह के ओर अंग उनकी दुःखी हालात पर विलाप और शोक करते है; (यिर्मयाह सूचित करते है) इसके वचने की भयानकता” (जोन गील, डी़़. डी., एन एक्‍सोपीसन ओफ ध ओल्‍ड टेस्‍टामेन्‍ट, ध बेप्‍टीस स्‍टानर्डड बेरर, 1989 मे फिर से छपा हुआ, भाग पू, पृश्‍ठ. 654; यिर्मयाह 47:5 पर टिप्‍पणी) ।

यहॉ भविश्‍यवक्‍ता यिर्मयाह बात करते है पलिश्‍तियो से जो परमेश्‍वर द्वारा दण्‍डींत किये जाने वाले थेे। “और उसने कहॉ,” “तू कबतक अपनी देह चिरता रहेगा?” कितने देर तक वो लोग प्रभूका भयानक दण्‍ड अपने आप पर लेना जारी करेंगे?

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?”

स्‍पर्जनने कहॉ, “प्रश्‍न पूछा गया है थोडी आशा के साथः जैसे अगर स्‍वयं-यातना कभी भी (रूकेगी) नही परन्‍तु अपने आप का अंतहीन खंडन होते ही रहेगा” (सी. एच.स्‍पर्जन, “मित्र की सुकोमल पूछताछ,” ध मेट्रोपालीटन टबरनेेकल पुलपीट, भाग 34, पीलग्रीम प्रकाशन, 1974 प्रत, पृश्‍ठ. 290)।

“तू कब तक अपनी देेह चीरता रहेगा?”

मै आज रात यह प्रश्‍न हमारे पर नियुक्‍त करूॅगा।

।. पहला, मै हमारे प्रवक्‍ता का प्रश्‍न है वो पूछुॅगा ?

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा ?”

मै याजको से यह प्रश्‍न पूछता हूॅ जिन्‍होने रविवार शाम की सभा बंद कर दी है। क्‍या पागलनपन है ये? आपने अपना कलीसिया क्‍यों खंडीत किया शामकी सभा काटने के द्वारा ? आपने अपने आपको इस तरह क्‍यूं चीरा? क्‍या आप नही जानते इसने सिध्‍दांन्‍तवादी और प्रधान याजक दारा शासित गिरजे के लोगो ने क्‍या किया-कहे जानेवाली “मुख्‍यदिशा” जातियो को? वे अपनी रविवार शाम की सभा काटने 1920 और 30वी सदीमे और उनकी सदस्‍यता निश्‍फल हुइ्‌र्, अक्षरशः लाखो मे, आनेवाले दशको मे ! अब आप असावधानी से उनके रास्‍ते पर चल रहे हो । ये आपको कहॉ ले जायेगा ? पहला, आप तुंरत ही एक चढावा खो देंगे । हर याजकको उस बारेमे सोचना जरूरी है, आपका कलीसिया हर साल हजारो डॉलर गवॉ देगा रविवार शाम की सभा का चढावा बंद होने के कारण । इस अर्थिक मुश्‍किल समय मे , सेकडों कलिसिया बंद हो रहे है पैसे के अभाव से । रविवार शाम की सभा काटने से यह शोकान्‍त मे निसंदेह बढावा देगा । फिर आपके लिये ये कहॉ जायेगा जो पुराने इस्‍त्राएल के लिये कहॉ गया था,

“हे इस्‍त्राएल, तेरे विनाश का कारण यह है” (होशे 13:9) ।

दुसरा, ये आपके युवा लोगो के ओर कही जाने के लिये मुक्‍त फिरायेंगे । वे जो 18 औेर ज्‍यादा आयू के रविवार रातको बाहर जायेंगे । वे कहॉ जायेंगे ? क्‍या वह दुसरे कलिसिया में जायेंगेे जो रविवार रातको खूला रहता है ? क्‍या वे वहॉ अनजानी शिक्षा सीखेंगे ? बदतर क्‍या वे बाहर जायेंगे रविवार रात को कुछ पाप का काम करेंगे? तीसरा, आप रविवार शाम की सुसमाचार प्रचार सभा रखने का मौका गवॉ देंगे। आपके पास सिर्फ 1 घंटा होगा रविवार सुबह में , आपके अपने लोंगो के सिखाने । आप को अब ओर कोई मौका नही होगा खोये हुओ को सुसमाचार प्र्र्रचार का धार्मिक प्रवचन देने। कुछ सालो मेंं सुसमाचार प्रचार के मौको की कमी के कारण आपके कलिसिया में हाजरी देनेवाले लोंगो में कमी कर देंगे , जैसे इसने किया “मुख्‍य दिशा” के कलिसिया को जब उन्‍होंने अपनी रविवार शाम की सभा काट दी।

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा ?”

फिर, भी, मै मातापिता से पूछता हूेॅ , आप क्‍यो अपने याजक के पास नहीं जाते और याचना किजीये की वे शाम की सभा फिर से चालू करें क्‍योंकी आपके बच्‍चों को इसकी जरूरत है ? उन्‍हें कटने नही दिजीये , जल्‍दी आयू में , प्रभू के वचन को प्रचार करनेसे , और कलिसिया की सदस्‍यता रविवार रातको! जाइये और याजक सेे कहीये आपके युवा लोग है, हकीकत में, जो आशिर्वाद वहॉ होने चाहीये थे उसमे से आधे बहिश्‍कार किया हुआ है। उनसे कहीये उन्‍हे जरूरत है प्रत्‍यक्ष रविवार शाम की सभाकी। कोई ताजूब नही है की 80 फिसदी से भी ज्‍यादा युवा लोगोने हमारे कलिसिया मे आना बंद कर दीया , कभी लौटके न आने के लिये , 18 से 25 वर्श की उम्र के बीच के लोग। उनके पास रविवार रात को कुछ भी नही है!

“तू कब तक अपना देह चीरता रहेगा?”

हॉ, मैं इन्‍टरनेट पर प्रवचन करता हूॅ । करीबन तीस हजार याजक इस धार्मिक प्रवचन हर महिने पढते है। आप याजको को प्रवचन देने के लिये कोई चाहिये । और मै आपसे पूछता हूॅ, क्‍या आपके पास वो है जो आपके कलिसिया को फिराने के लिये चाहिये? क्‍या आपके पास है? फिर ये समय है आपके लिये की आप अपने पूराने धार्मिक प्रवचन की रूपरेखा निकाल दे और हर हफ्‍ते नये धार्मिक प्रवचन तैयार करने लगो। फिर आपके लिये ये समय है हर सूबह एक घंटा प्रभू की प्रार्थना मे बिताने की, वे आपको बताये की क्‍या प्रवचन करना है! फिर यह समय है आपकी रविवार शामकी सभा फिर से चालू करने का। खराब संगीत से छुटकारा पाइये। गीत को अपने आप आगे बढाये। अधोलोक पर प्रवचन करो, पूरी भ्रश्‍टाचार पर, मसीह के लहू पर। आपके कलिसिये को बहने मत दिजीये! आपकी ताकत को बाहर नीकालाये! आप पसीने से तरबतर होने तक प्रवचन दीजीये!

कूडा कचरा जैसा खाना खानेका पूरी तरह बंद कीजीये। सोडा पोप मत पीओ। पानी पीओ। हरी चाय पीओ। सुबह का नास्‍ता हर रोज खाओ। सुअर का मांस नही। ओट मील और अंडे की सफेदी खाओ। तंदुरस्‍त बन जाओ। दौडना और तैरना शुरू कीजीये। ये हर रोज करो। 25 पाउन्‍ड वजन कम करो ताकि आप पसीने से तरबतर होने तक प्रवचन दे सकोगे! आपके कलिसिया को जीत तक ले जाओ!

“तू कब तक अपना देह चीरता रहेगा?”

प्रवक्‍ता, अपने आपको छोटा करना बंद कीजीये और अपने आपको प्रभू के काम मे डाल दीजीये! आपने जो करना शूरू किया है वो करते रहीये!

II. दूसरा, मै हमारे बीचके अपरिवर्तितो के वो प्रश्‍न को पूछूंगा।

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?”

ठीक है, मैने प्रवक्‍ताओ से बात की। अब मैं आपसे बात करने जा रहा हूँ! आपमें से कुछ लोग हमारे कलिसिया में आते हो, क्‍योंकि हम जन्‍मदिन की मेेजवानी और खाना रखते हैं। आप आते हो क्‍योंकि ये मौज है। गलत नही है, परन्‍तु वो पूरा भी नही है। अगर आप सिर्फ मौज करने आते हो, आप अधोलोक में जाओगे! मसीह ने कहॉ,

“ये अनन्‍त दण्‍ड भोगेंगे” (मती 25:46)।

वोही है जहाँ आप जा रहे हो-अधोलोक की ज्‍वाला की “अनन्‍त दण्‍ड” में। ये समय है आपके लिये धार्मिक प्रवचन सूनना शुरू करने का। जब मै धार्मिक प्रवचन का छपा हुआ पर्चा देता हुं सभा के बाद, उसे घर ले जाओ और बार बार इसे पढीये। गंभीर बनीये! रविवार सुबह और रविवार रात - और शनिवार शाम को बाइबल की पढ़ाई और सुसमाचार प्रचार के लिये आना शुरू कीजीये। गंभीर बनीये! अर्थहीन जीवन जो अनंत अधोलोक तक ले जाता है उससे संतुश्‍ठ मत बनीये।

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?”

मैं अब बात करता हुं आप मे से उन लोगो से जो कठोरता और द्रोही से अस्‍वीकार करते है पापो से यीशु ओर फिरने। ये आपके लिये जरूर बहुत मुश्‍किल होगा यहॉ रविवार के बाद रविवार को बैठना और धार्मिक प्रवचन सूनना जो आपको कहेता है की आप के लिये कोई आशा नही है। ये जरूर आप को परेशान करेगा कुछ समय मसीह के वचनो को सूनने मे,

“यदि कोई नये सिरे से न जन्‍मे तो परमेश्‍वर का राज्‍य देख नही सकता” (यूहन्‍ना 3:3)।

क्‍या मसीह के अस्‍वीकारने आपको शान्‍ति और आनंद दिलाया? आप खोये हुए होने से खुश हो? अगर आप अपरिवर्तित होकर खुश नही हो, तो आप मसीह में “प्रवेश पाने का प्रयत्‍न” क्‍युं नही करते? (लूका 13:24)। आप अपने आपको क्‍युं काटते हो अपने मन को मसीह मे प्रवेश करने के प्रयत्‍न के बिना? क्‍युं पापभरे द्राहे मे चलते रहे? यीशु के पास आने से क्‍युं मना करे? “तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?”

दूसरे शायद सोचे, “मुझे और कटने की जरूरत है। मेरे पास यीशु तक आने के लिये पूरा अपराधभाव नही है।” ये हमेशा मुझे अजीब लगता है की लोग औशधीय तबीब के पास जायेंगे और वे जो भी दवाई सूचित करेंगे वे लेंगे बिना किसी दलील या प्रश्‍न के। परन्‍तु जब वे ब्रहमज्ञान के तबीब के पास आते है वे एक के बाद दूसरी दलील सामने रखेंगे और औशध नहीं लेंगे। इसलिये, आप सोचते हो की आपको जरूरत है और ज्‍यादा महेसूस करने की आपके मसीह के पास आने से पहले। मैं आप से कहता हूं अभी मसीह के पास आओ, परन्‍तु आप नही आयेंगे। आपको ज्‍यादा महेसूस करना है। इसलिये औशध को मना करते हो और अपनी पापभरी बिमार हालत मे चलते हो। आप में से कुछ पापो के अपराधी प्रमाणीत हो चूके है। आप पवित्र आत्‍मा द्वारा बहुत बार अपराधी प्रमाणीत हुए हो-और फिर भी आप मसीह तक आने से पीछे हटते हो-और पीछे हटने से आप अपने आपको काटते हो!

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?”

जोसेफ हार्टने ये अच्‍छा कहाँ,

आओ, आप थके हुए, भारी बोझसे लदे हुए,
   गिराव के द्वारा कुचले और तूटे हुए ;
अगर आप रूकते हो जब तक आप बहेतर हो,
   आप कभी भी नहीं आआगे...
(“आओ, आप पापींयो”, जोसेफ हार्ट, द्वारा 1712-1768)।

यीशु कहते है, “मेरे पास आओ” (मती 11:28)। परन्‍तु आप कहते हो, “मुझे पहले गहराइ से मेहसूस होना और बेहतर अपराध प्रमाणीत होना जरूरी है।” अगर आप रूकते हो अब जब तक आप बेहतर हो, आप कभी भी नही आओगे।

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?”

अभी यीशु के पास आओ। यीशु, प्रभु के पुत्र, जो आपकी जगह देह मे काटे गये थे, जब उन्‍होने उनकी पीठ के चीथरे नीकाले और उन्‍हे मारा। जब उन्‍होने उसे क्रुस पर चढ़ाया, वे हाथ और पैरो में कील द्वारा काटे गये, आपकी जगह, आपके पापो का दण्‍ड चूकाने। और ज्‍यादा देर मत किजीये। यीशु के पास आइये।

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?”

उनके पास आओ जो आपके पापो को चूकाने क्रुस पर चढाये गये। यीशु कहते है “मुझे ताकेंगे अर्थात्‌ जिसे उन्‍होने बेधा है” (जकर्याह 12:10)। अपने आपको देख़ना बंद करो। क्रुस पर चढे मसीह की ओर देखो। उनके पास आओ-और आप बचाये जाओगे!

पहाडो के अंधेरो मे पाप और शर्म से ठोकर खाते हुए,
अधोलोक की (सन्‍ताप देनेवाली) ज्‍वाला के गड्डो की ओर ठोकर खाते हुए,
पापो की ताकत के द्वार ठगाई और दबाये हुए,
(यीशु की आवाज) सूनो, “मेरे पास आओ और विश्राम पाओ।”
मेरे पास आओ; मैं आपको विश्राम दूंगा;
मेरा जुआ आप पर लो, मुझे सूनो और भाग्‍यवान बनो;
मै विनम्र और विनयी हूँ, आओ (मेरी नजरोमें);
आओ, मेरा जुआ सरल है, और मेरा बोझ हलका।
(“मेरे पास आओ” चार्ल्‍स पी. जोनेस, द्वारा, 1865-1949;
याजक द्वारा ठीक किया हुआ)।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन के पहले डों क्रेगटन एल. चान द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रशास्‍त्रः भजनसंहिता 32:1-5।
धार्मिक प्रवचन के पहले श्रीमान बेन्‍जामिन कीनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीतः
“मेरे पास आओ” (चार्ल्‍स पी. जोनेस, द्वारा 1865-1949)।


रूपरेखा

स्‍वयं का खंडन!

डो. आर. एल. हायर्मस,जुनि.दारा

“तू कब तक अपनी देह चीरता रहेगा?” (यिर्मयाह 47:5)।

(यिर्मयाह 13:17; विलापगीत 1:16;
यिर्मयाह 1:5,6, 7-10; 5:23, 28-29)।

।. पहला, मैं हमारे प्रवक्‍ता का प्रश्‍न है वो पूछुंगा, होशे 13:9।

॥. दूसरा, मैं हमारे बीच कें अपरिवर्तितो के वो प्रश्‍न को पूछुंगा,
मती 25:46; यूहन्‍ना 3:3; लूका 13:24; मती 11:28; जकर्याह 12:10।