Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २२१ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३७ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net .




दुसरे यीशु

ANOTHER JESUS

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजजिस के बप्‍तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की शाम,
जुलै 4, 2010 को दिया गया धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord's Day Morning, July 4, 2010

“परंतु मैं डरता हूँ, कि जैसे साँप ने अपनी चतुराई से हव्‍वा को बहकाया, वैसे ही तुम्‍हारे मन उस सीधाई और पवित्रता से जो मसीह के साथ होनी चाहिए कहीं भ्रष्‍ट न किए जाएँ। यदि कोई तुम्‍हारे पास आकर किसी दूसरे यीशु का प्रचार करे, जिसका प्रचार हम ने नहीं किया, या कोई और आत्‍मा तुम्‍हें मिले जो पहले न मिला था या और कोई सुसमाचार, सुनाए जिसे तुम ने पहले न माना था, तो उसे सह लेते हो¬” (2 कुरिन्‍थियो 11:3-4)।


ख्रिस्‍ती धर्म के फेलाव को रोकने के लिये पहले की सदीयों में शैतान ने दो तरकीबे इस्‍तेमाल की। उसने प्रभु के कार्य के खिलाफ अत्‍याचार और जुठी षिक्षा का इस्‍तेमाल कीया। हमारे पाठ मे हम देखते है की ष्‍ौतान, की पुराना साँप, जु्रठे षिक्षको का इस्‍तेमाल करते है ख्रिस्‍तीयो को बेवकुफ बनाने कुस्‍न्‍थिुस में, उनके यीषु में सरल विष्‍वास से बहेकाकर राह भुलाना जोे पौलुसने प्रवचन मे उनसे कहॉ था जब उसने उन्‍हे कलीसीया मे पाया।

परंतु अब वे “झूठे प्रेरितो” (2 कुरिन्‍थियो 11:13) को सुनते थे। और ये जूठे षिक्षक कहते थे,

“...दुसरे यीषु, जीसका प्रचार हमने (सच्‍चे प्रेरितोने) नहीं किया” (2 कुरिन्‍थियो 11:4)।

डो. वोल्‍टर मार्टीन, जिसे मैं व्‍यक्‍तिगत रूप से जानता हुँ और जिसने हमारे कलीसीया से प्रवचन दिया था, कहाँ,

यीषु का काम और उनके लोग हकीकत के ख्रिस्‍ती विष्‍वास की नींव है... दुसरे संप्रदाय के “दुसरे” यीषु उस दिन के (रहस्‍यमय और गेलेटीयनीसम) कलसीया को धमकाया... ताकी वे षायद ज्‍यादा अच्‍छी तरह समज ले कैसे (2 कुरिन्‍थियो 11:4) अपने दिनो मे लागु होता है, हमे जरूरत है सिर्फ कुछ प्रमाण (आधुनिक) द्रश्‍टांतो की “दुसरे” यीषु के जो बाइबल सचित्रसूची उसके विरूध्‍ध में सूचित करते है (वोल्टर मार्टीन, पीएच. डी., धोखे का राज्य, 1985 प्रत, पृश्ठ.378)।

फिर से, डो. मार्टीनने कहाँ, “हमें दुसरे यीषु का स्‍वभाव समजना चाहिये, और फिर बाइबल का कारणो दो की क्‍यो ये ख्रिस्‍तीयो का उपकार है उसे गलत पहचानना” (मार्टीन, ibid., पृश्‍ठ. 377)। चलिये आज सुबह मे कुछ मीनट लेते है “दुसरे यीषु” को पहचानने के लिये की वो हमारे दिनो मेें जुठे घर्म मे हाजिर है।

I. पहला, ख्रिस्‍ती विज्ञान के “दुसरे यीषु”।

डो. मार्टीनने कहाँ की, ख्रिस्‍ती धर्म के विज्ञान मे, “रहस्‍यात्‍मय फिर से हुआ था और श्रीमती (मेरी बेकर) एडी (ख्रिस्‍ती विज्ञान की प्रणेता)...ने अपने मंतव्‍य बताये यीषु मसीह के बारे मे ताकि कोइॅ भी उन्‍हे गलत समजने की कोषिश न करे जब उसने लिखा,

आत्‍मीक मसीह गलत होने के लिये असमर्थ थे; यीषु भौतिक मानवरूप में, मसीह नहीं थे (मीसलेनीयस लिखाई, पृश्ठ. 84)।

प्रेरितो यूहन्‍नाने मजबुती से जुठे रहस्‍यमय विचार के विरूध्‍ध लिखा, श्रीमती एडी द्वारा सिखाया गया, की यीषु अपने षरीर मे, “मसीह नही थे”। प्रेरितो यूहन्‍नाने मजबूतीसे वो विरूध्‍ध जवाब दिया जब उन्‍होने कहा,

“जो आत्‍मा यीषु को नहीं मानती, वह परमेश्‍वर की ओर से नहीं” (1 यूहन्‍ना 4:3)।

डो. मेरील एफ. अन्‍जर ने बताया की “आये है” वो ग्रीक षब्‍द “इलेलुथोटा” से जो पूर्ण काल मे है और सूचित करते के यीषु, षरीर में आते है “सिर्फ ऐतिहासिक हकीकत नहीं है परन्‍तु कृपालु को असर की भेट है” (मेरील एफ. अन्‍जर, पीएच. डी., आज की दुनिया के दुश्‍टांत्‍मा, टायनडेल हाउस प्रकाषक,1972 की प्रत, पृष्‍ठ. 156)। डो. नोरमन गेइसलर, 1 यूहन्‍ना 4:2 पर टीका करते हुअे, कहते है कि वाक्‍यांश “आये है” वो पूर्णकाल है, अर्थात, यीशु भूतकाल में शरीर में आये थे और शरीर में ही रहे (उनके मृत्‍यु से उठने के बाद)” (नोरमन एल. गेइस्‍लर, पीएच. डी., पूनरूत्‍थान के लिये लडाई, वीप्‍फ और स्‍टोक प्रकाशक, 1992 की प्रत, पृष्‍ठ. 164)। इसलिये, श्रीमती एडी गलत थे, जब उन्‍होने कहा, “यीशु, भौतिक मानवस्‍वरूप्‍ में, मसीह नहीं थे” (ibid.)। प्रेरितो यूहन्‍नाने जवाब दिया,

“झूठा कौन है केवल वह जो यीशु के मसीह होने से इन्‍कार करता है” (1 यूहन्‍ना 2:22)।

इसलिये, हम ये सारांश देते है की ख्रिस्‍ती विज्ञान के “आत्‍मा - मसीह” सच्‍चे यीशु नही है। ये “दूसरे यीशु”; है पवित्रवाक्‍या और इतिहास वाले यीशु नही!

II. दूसरा, जेहोवा की गवाही के “दूसरे यीशु”।

जेहोवा की गवाहीने हमेंशा ये सिखाया है की यीशु “प्रभु” है, परन्‍तु अवतरीत प्रभु नही। उन्‍होने कहाँ की,

वे “शक्‍तिशाली प्रभु” है, परन्‍तु शक्‍तिशाली प्रभु नही, जो जेहोवा है (ध ट्रथ शेल मेक यु फ्री, पृष्ठ. 47)।

जेहोवा की गवाही के शोधक, चार्ल्‍स टेझ रूशेल, कहाँ की यीशु दुनिया में प्रकट होने से पहले आर्चेन्‍जल मायकल थे (पवित्रवाक्‍या के अभ्‍यास में, भाग. 5, पृष्‍ठ. 84)। इसलिये जेहोवा की गवाही के “यीशु” प्रभु के दूत है जो इंसान बने है। वे प्रभु “ही” है, परन्‍तु प्रभु जो पुत्र है वो नहीं, त्रिदेव में दूसरे व्‍यक्‍ति। ये गलत शिक्षाये थी जो जेहोवा की गवाही के “यीशु” को “दूसरे यीशु” बनाते है - पवित्रतावाक्‍या के यीशु प्रभु “ही” है वो मंतव्‍य को सहारा देने के लिये, वे यूहन्‍ना 1:1 को गलत तरीके से बदलते है। ग्रीक शब्‍द “थीयोस” प्रमाणिकता से प्रभु “ही” के जैसे अनुवाद नही किया जा सकता। KJV सही है, “वचन परमेश्‍वर था” (यूहन्‍ना 1:1)। और यीशु घोषित करते है की वे प्रभु थे, श्रेष्‍ठ “मैं जो हूँ सो हूँ” निर्गमन 3:14 के, जब उन्‍होने कहाँ,

“पहले इसके कि अब्राहम उत्‍पन्‍न हुआ, मैं हूँ” (यूहन्‍ना 8:58)।

“यह सुन थोमा ने उतर दिया, हे मेरे प्रभु, हे मेरे परमेश्वर” (यूहन्‍ना 20:28)।

फिर से, जेहोवा की गवाही का मंतव्‍य यीशु के पुनरूत्‍थान के लिये स्‍पष्‍टता से बताते है की वे “दूसरे यीशु” में मानते है। जेहोवा की गवाही की किताब में, सब चीजो के लिये नक्‍की बनो, हमने “यीशु के आत्‍मा के जैसे उठाव” को पढ़ा (पृष्‍ठ.320)। फिर से, वे कहते है, “मसीह का अद्रश्‍यरूप से वापस आना, जैसे उन्‍होने गवाही दी थी की इंसान उन्‍हे फिर से आदमी के रूप में नहीं देखेंगे” (पृष्‍ठ.321)। वे कहते है कि मसीह “पवित्र आत्‍मा के जैसे” उठे थे (मार्टीन, ibid., पृष्‍ठ. 97)। फिर भी बाइबल इसे एकदम स्‍पष्‍ट करता है की वे आत्‍मा के रूप में नहीं उठे थे!

“वे ये बातें कह ही रहे थे, कि वह आप ही उनके बीच में आ खड़ा हुआ, और उनसे कहा, तुम्‍हे शांति मिले। परन्‍तु वे घबरा गए और डर गए, और समझे कि हम किसी भूत को देख रहे है। उसने उनसे कहाँ क्‍यो घबराते हो? और तुम्‍हारे मन में क्‍यों सन्‍देह उठते हैं? मेरे हाथ और मेरे पाँव को देखो की में वही हूःँ मुझे छूकर, देखो, क्‍योंकि आत्‍मा के हड्डी माँस नहीं होता, जैसा मुझ में देखते हो। यह कहकर, उसने उन्‍हें अपने हाथ पाँव दिखाए। जब आनन्‍द के मारे उनको प्रतीति न हुईे और वे आश्‍चर्य करते थे, तो उसने उनसे पूछा क्‍या यहाँ तुम्‍हारे पास कुछ भोजन है?” उन्‍होने उसे भूनी मछली का टूकडा दिया, उसने लेकर, उनके सामने खाया” (लूका 24:36-43)।

जब यीषु चालिस दिनो बाद उठे थे, वे वोही माँस और हड्डीयों के षरीर मे थे जो मृत्‍यु से उठा था,

“उसके जाते समय जब वे आकाश की ओर ताक रहे थे, तो देखो, दो पुरूष श्‍वेत वस्‍त्र पहिने हुए उनके पास आ खडे़ हुए और उनसे कहा हे गलीली पुरूषो, तुम क्‍यो खडे आकाश की ओर देख रहे हो? यही यीषु, जो तुम्‍हारे पास से स्‍वर्ग पर उठा लिया गया है जिस रिती से तुम ने उसे स्‍वर्ग को जाते देखा है उसी रीति से वह फिर आयेगा” (प्रेरितो 1:10-11)।

इसलिये हम देखते है की ख्रिस्‍ती विज्ञान के “यीषु” और जेहोवाकी गवाही के “यीषु” दोनो पुनरूत्‍थान के वक्‍त आत्‍मा थे। परन्‍तु पुनरूत्‍थान पाये यीषु ने खुदने साफ साफ कहाँ है,

“आत्‍मा के हड्डी मॉस नहीं होता जैसा मुझ मे देखते हो” (लूका 24:39)।

इसलिये, ख्रिस्‍ती विज्ञान के “यीषु” “दूसरे यीषु” है और जेहोवाकी गवाही के “यीषु” भी “दूसरे यीषु” है।

III. तीसरा, यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसिया के “दूसरे यीषु”।

यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसिया दावा करते है की यीषु दूसरे बहुत परमेष्‍वर मे से एक है, जो उनके अपने साहित्‍य मे स्‍पश्‍ट किया है,

ये सभी परमेष्‍वर में से हर एक, यीषु मसीह और उनके पिता को मिलाकर सिर्फ बनाये गये आत्‍मा के अधिकार मे नही है, परन्‍तु माँस और हड्डीयो के भव्‍य षरीर मे है (धार्मिक मान्‍यताओं की पढ़ाई के विज्ञान की चाबी, पर्ली प्राट द्वारा, 1973 की प्रत, पृश्ठ. 44)।

यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसिया के धार्मिक पढ़ाई सदस्‍य प्राटने दिया जो यीषु मसीह के बाद के दिनो की सदस्‍य मानते है। उनके पास बहुत देवतांओका पूरा विष्‍व देवालय है। परन्‍तु बाइबल कहता है,

“परमेष्‍वर एक ही है, और परमेष्‍वर और मनुश्‍यो के बीच मे भी एक ही बिचवई है, अर्थात्‌ यीषु जो मनुश्‍य है” (1 तिमुथियुस 2:5)।

यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसिया कहते है की यीषु, उनके अवतरीत होने के पहले, ल्‍युसीफर के आत्‍मा-भाई थे। वे कहते है की यीषु, उनके अवतरीत होने के बाद, बहु पत्‍नीत्‍व थे, मरीयम और मार्था के पति! इसलिये ये सहज है, हर एक को जिसे ख्रिस्‍ती बाइबल की जानकारी है, की यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसिया के “यीषु” “दूसरे यीषु” भी है-जिसको, नये नियमावलीमे बताया गया था। डो.वोल्‍टर मार्टीनने कहॉ,

ख्रिस्‍ती वैज्ञानिकोके यीषु, यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसिया के सदस्‍य, जेहोवा की गवाहीयॉ और सारे धोखे के रीतके परन्‍तु गुठ हास्‍य चित्र (बाइबल) के यीषु का... परन्‍तु वे अभी भी (बिना प्रष्‍न किये) “दूसरे यीषु” है जो दूसरे सुसमाचार और दूसरी आत्‍मा के जानकारी के जानकारी का प्रतिनिधित्‍व करते है, जो कोई भी विचारोके खींचावसे पवित्र नही कहॉ जा सकता (मार्टीन, ibid., पृश्‍ठ.380)। दूसरे षब्‍दो मे, ये ष्‍ौतानी आत्‍मा है!

यीषुने इस “झूठे मसीहो” की भविश्‍यवाणी की मती 24:24 मे,

“क्‍योंकि झूठे मसीह और झूठे भविश्‍यवेता उठ खडे होंगे और बडे चिन्ह, और अद्‌भूत काम दिखाएँगे कि यदी हो सके तो चूने हुओ को भी भरमा दें” (मती 24:24)।

फिर, दूसरे पद मे, यीषु ने कहाँ,

“देखो, मैं ने पहलेसे तुम से यह सब कुछ कह दिया है” (मती 24:25)।

IV. चौथा, उदार पष्‍चिमी ख्रिस्‍ती कलीसिया की सदस्‍यता के “दूसरे यीषु”।

मैंने दो उदार धार्मिक पाठषाला से स्‍नातकता प्राप्‍त की थी जब मै जवान था। मैने धर्मात्‍मा डो.एमील बुनेर को पढ़ा, जिसने कहाँ,

माँस का पुनरूत्‍थान, नहीं! (देखिये नोरमन एल. गेइस्लर, पुनरूत्‍थान के लिये लडाई, वीप्‍फ अेन्‍ड स्‍टोक प्रकाषक 1992 की प्रत, पृश्ठ. 89)।

उदार धार्मिक मान्‍यताओंकी पढ़ाई करने वाले डो.रूडोल्‍फ बल्‍टमेनने कहॉ की यीषु का पुनरूत्‍थान “गत इतिहास का कोई प्रसंग नही था... ऐतिहासिक हकीकत जो मृत्‍यु से पुनरूत्‍थान को मिलाकर एक एकदम समज के बाहर की बात है (गेइस्लर, ibid.)। बल्‍टमेनने “पौराणिक प्रसंगकी नमाननेवाली बात जैसे लाष का पुनरूत्‍थान” की बात की (गेइस्लर, ibid.)। फूलर धार्मिक पाठषाला के डो. ज्‍योर्ज एल्‍डन लाडने कहाँ की यीषु का पुनरूत्‍थान “लाष का पुनःजन्‍म, भौतिक जीवनमे वापसी नही थी” (गेइस्लर, ibid. पृश्‍ठ. 94)। डो. लाडने सिखाया की यीषु का षरीर “बस अदृष्‍य हो गया” (गेइस्लर, ibid.)। ट्रीनीटी इवान्‍जलीकल डीवाइनीटी षाला के डो. मुरेय हेरीस ने सिखाया की “यीषु” का पुनरूत्‍थान से प्रकट होना सिर्फ प्रदर्षन था और उनका वोही भौतिक देह नहीं जिसमे वे मरे थे” (गेइस्लर, ibid. पृश्‍ठ. 99)। परन्‍तु यीषु खुदने कहॉ की वे मृत्‍यु से वोही देहमे उठे जिसमे उन्‍हे क्रूस पर किल से लटकाया गया था,

“उसने उनसे कहॉ क्‍यो घबराते हौ? और तुम्‍हारे मन मे क्‍यो संन्‍देह उठते है? मेरे हाथ और मेरे पाँव को देखो कि मैं वही हूँ। मुझे छूकर देखो, क्‍योकि आत्‍मा के हड्डी माँस नही होता हैसा मुझमे देखते हो। यह कहकर उसने उन्‍हें अपने हाथ पाँव दिखाए” (लूका 24:38-40)

इसलिये, हमे भी जरूर कहना चाहिये, दूःखसे, की पष्‍चिमी ख्रिस्‍ती कलीसिया के सदस्‍य और सुसमाचार प्रचार के विरोधी जो यीषु के बारे मे बोलते है वो भी “दूसरा यीषु” है। ध्‍यान दिजिये की यह उदार पष्‍चिमी ख्रिस्‍ती कलीसिया के सभी सदस्‍यो के पास वोही मूल मंतव्‍य है यीषु का आत्‍माके रूप मे उठना- और यह जरूरी से वोही चीज है जो जहोवा की गवाही और ख्रिस्‍ती वैज्ञानिक मानते है!

मै ये धार्मिक प्रवचन ये मुख्‍य कारण बताये बिना पूरा नही कर सकता की क्‍यो हमारे दिनो में बहुत सारे लोग “दूसरा यीषु” मे मानते थे (2 कुरिन्‍थियो 11:4)। दूसरे बडे जागृतता लानेवाले प्रवक्‍ता सी.जी. फिनेय (1792-1875) के याजक नुकसानी के साथ चलते है, उसके जल्‍दीसे बदलते हुए रास्‍ते उसके अंत के तरफ। फिनेय के पहले पुराने प्रवक्‍ता पूछताछ करनेवालो के सबूत को सुनते थे! परन्‍तु फिनेय ये सबसे दूर रहे और उनके “नये मापदंड” के उपयोग के द्वारा, हजारो लोगो के बिना सूने और बिना जाने की वो क्‍या मानते है, सबको कलीसिया में ले आये। कुछ ही दषको में ज्‍यादातर प्रवक्‍ताने फिनेय का तरीका अपनाया। जो कोई भी परिवर्तित होने का दावा करता था वो तुरंत ही कलीसिया मे लाया जाता था। हमने एक किताब लिखी है जिसमे ये सब अच्‍छी तरह समजाया गया है, जिसका षिर्शक है “आज का स्‍वधर्म त्‍याग”। आप ये निषुल्‍क पढ़ सकते हो इस वेबसाइट पर। पढ़ने के लिये यहॉ क्‍लिक करें “आज का स्‍वधर्म त्‍याग”

डो. अेष्‍ोल नेटलेटन (1783-1844) कुछ ख्रिस्‍ती नेताओ मे से एक थे जो फिनेय के “निर्णायक्‍ता” के विरूध्‍द खडे थे। फिनेय द्वारा लाये गये नये तरीके के बारे मे बोलते हुए, डो. नेटलेटनने कहॉ,

मैं बहुतबार प्रवचन करने के इन हालातो मे अटक गया था, की बनावटी (जूठे) परिवर्तन के खतरे के बारेमे कुछ भी नहीं सुना था। कितने ही महीनो तक, कभी विचार नजर के सामने दिखा ही नही, की वहाँ पर ऐसी कोई चीज है जैसे ष्‍ौतानी प्रभाव... उत्‍सुक ढोंगी, या खुदको छलनेवाला व्‍यक्‍ति, जो कभी सपनो में भी नही देखा जाता (अष्‍ोल नेटलेटन, डी.डी., बेनेट टायलर और अेन्‍ड्रु बोनर मे बताया गया, घ लाईफ अेन्‍ड लेबर्स ओफ अष्‍ोल नेटलेटन, घ बेनर ओफ ट्रुथ ट्रस्‍ट, 1975 मे फिर से छपा गया, पृ.पृश्ठ. 367-368)।

फिर से, डो. नेटलेटनने कहा,

प्रवक्‍ता के कर्तव्‍य का ये एक महत्‍वपूर्ण भाग है... सच्‍चे और जूठे परिवर्तन के बीच अंतर करना। इसके बिना... काम जल्‍दीसे कमजोर होगा (ibid.)।

ठीक है, यही है जो हकीकत मे हुआ था! स्‍ुसमाचार प्रचार का काम जल्‍दीसे कमजोर हो रहा था। फिनेय के तरीको पे चलते हुअे, हजारो प्रवक्‍ता निश्‍फल हुअे है “सच्‍चे और झूठ परिवर्तन के बीच अंतर करने मे”। हजारो प्रवक्‍ता भूल गये “की वहाँ पर ष्‍ौतानी प्रभाव जैसी भी कोई चीज है”। और, इसलिये, लाखो अपरिवर्तित लोग याजक द्वारा बिना किसी प्रष्‍न पूछे, कलीसिया के सदस्‍यता मे लाये गये हजारो आये “दूसरे यीषु” मे मानने के लिये जैसे याजको की उनके सबूत सुनने की उपेक्षाके सीधे परिणाम स्‍वरूप-कुछ सरलसे सवाल पूछने की उपेक्षा जिसका हर कोई सच्‍चा परिवर्तक जवाब दे सकता है। फिनेय के बाद कुछ थोडे ही दषको में पष्‍चिमी ख्रिस्‍ती कलीसिया और बप्‍तीस कलीसिया के अपरिवर्तित लोगो से भर गये जो धर्मात्‍मा बनने लगे थे, या मैने जो बताये थे वो संप्रदायमें कीसी एक मे जुडने लगे। आज भी यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसिया मे उनके ज्‍यादातर “परिवर्तक” बप्‍तीस कलीसियासे मीलते है क्‍योंकि उन बप्‍तीस लोगोने कभी सच्‍चे परिवर्तन का अनुभव नहीं किया था।

क्‍या आप जानते हो की सिर्फ टेक्‍सास राज्‍य मे ही यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसिया हर हफते एक बप्‍तीस कलीसिया को “खाते” है? हाँ, वे करीबन तीनसो बप्‍तीस लोग हर हफते लेते है। उनके ये वर्तमान प्रगति क्रम मे अमरिकामे आनेवाले अंदाजित बीस वर्शमे वे दक्षिणी-बप्‍तीस कन्‍वेन्‍षन को छोड़ कर और बडे बिन केथलिक जुथमें सामिल हो जायेंगे। कालवरी कोन्‍टेन्डरने बताया “यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसियावाले बप्‍तीस लोगोमेसे परिवर्तित बनाते है।” यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसियावाले कहते है की उनके पास बप्‍तीस से परिवर्तित ज्‍यादा है किसी और लोगो से (कालवरी कोन्‍टेन्डर मई 15, 2001, पृश्ठ.2)। डो. पेइज पेटरसन, दक्षिण-पष्‍चिमी बप्‍तीस प्रभुकी मान्‍यता की पढ़ाई की धार्मिक पाठषाला के प्रमुख, ने स्‍वीकार किया की “ये षायद सच हो सकता है” (कालवरी कोन्‍टेन्डर, (ibid.); देखिये आर. एल. हायमर्स, जुनि. टीएच.डी., अपने मरते हुए राश्‍ट्रसे पुरीटन कहते है, हर्थस्‍टोन प्रकाषन, 2002, पृ.पृश्ठ. 11-12)।

ये अस्‍वीकार की दषा सिर्फ बप्‍तीस प्रवक्‍ता द्वारा ही ठीक हो सकती है ऐसे नक्‍की जैसे ये संभावना की उनके लोग सचमे परिवर्तित थे।

1903 मे, एफ. एल. चेपल नाम के बप्‍तीस याजकने कहॉ “काले दिन जिसने श्रेश्‍ठ जागृतताको पसार किया वो वापस आयेंगे जब तक कोई मजबूती से और स्‍पश्‍टतासे और नक्‍की खडा रहता है परिवर्तित कलीसिया की सदस्‍यता की षिक्षा से” (एफ.एल.चेपल, 1740 की श्रेश्‍ठ जागृतता, 1903 मे लीखी गई)। हम अभी “काले दिनो” मे रहते है जिसकी भविश्‍यवाणी सेंकडो वर्श पहले की गई थी।

स्‍ी.एच. स्‍पर्जन उन आखरी प्रवक्‍ताओ मे से एक थे जो पुराने दिनो को मानते थे। उनके दिनो के सब से बडे बप्‍तीस कलीसिया के याजक होने बाद भी, वे अपने लोगो को प्‍यार से सूनते थे और हर एक की मान्‍यता को जाचते थे उनको बप्‍तीसमा देने के पहले।

मैं अभी भी आपको “यीषु के लिये निर्णय” करने को कहे सकता हूँ, और निःसंदेह आपमेसे बहुत से लोग प्रतिभाव देंगे। परन्‍तु मुझे पता है, 52 सालसे सेवा मे होने से, की षायद आप सब-षायद हर एक-जल्‍दी ही कलीसियासे निकल जायेंगे और अपनी स्‍वार्थी पाप भरी जिंदगी मे वापस चले जाओगे।

हर एक परिवर्तित एक समान नहीं होता। परन्‍तु सामान्‍यतः आप जरूर पापोकी मान्‍यतासे आते हो, और अपने मनके भश्‍ट्राचार को महेसूस करो। सिर्फ तभी ही आप यीषु की क्रूस पर की मृत्‍यु जो आपके पापो को चूकाने को मीली उसकी किंमत देख सकते हो। सिर्फ तभी ही आप देख सकते हो की आपको सच्‍चे यीषु की जरूरत है आपके पापो को उनके सच्‍चे लहू मे धोने के लिये। सिर्फ तभी आप सच्‍चे यीषु के पास आओगे, और सिर्फ तभी ही आप उनके द्वारा सच्‍चे ख्रिस्‍ती का जीवन जी पाओगे, स्‍थानीक कलीसिया के सच्‍चे सदस्‍य की तरह।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन के पहले डो. क्रेगटन एल. चान द्वारा पढ़ा गया पवित्र वाक्‍या : मती 24:23-25।
धार्मिक प्रवचन के पहले डो. श्रीमान बेन्‍जानिन कीनकेड ग्रीफिथ व्‍दारा गाया हुआ गीतः
“एक दिन” (डो. जे विलबर चेपमेने द्वारा 1859-1918)।


रूपरेखा

दूसरे यीषु

डो. आर. एल.हायमर्स, जुनि. द्वारा

“परन्‍तु मै डरता हूँ, की जैसे साँप ने अपनी चतुराई से हव्‍वा को बहकाया, वैसे ही तुम्‍हारे मन उस सीधाई और पवित्राता से जो मसीह के साथ होनी चाहिये। कही भ्रश्‍ट न किए जाएँ। यदि कोई तुम्‍हारे पास आकर किसी दूसरे यीषु का प्रचार करे, जिसका प्रचार हमने नहीं किया; या कोई और आत्‍मा तुम्‍हे मिले जो पहले न मिला था या और कोई सुससमाचार सुनाए जिसे तुमने पहले न माना था, तो तुम उसे सह लेते हो” (2 कुरिन्‍थियो 11:3-4)।

(2 कुरिन्‍थियो 11:13)

I.   पहला, ख्रिस्‍ती विज्ञान के “दूसरे यीषु”, 1 यूहन्‍ना 4:3; 2:22।

II.  दुसरा, जहोवा गवाही के “दूसरे यीषु”, यूहन्‍ना 1:1; निर्गमन 3:14;
यूहन्‍ना 8:58; 20:28; लूका 24:36-43; प्ररितो 1:10-11।

III. तीसरा,यीषु मसीह के बाद के दिनो के कलीसिया के “दूसरे यीषु”,
1 तिमुथियुस 2:5; मती 24:24, 25।

IV. चौथा, उदार पष्‍चिमी ख्रिस्‍ती कलीसिया की सदस्‍यता के “दूसरे यीषु”,
लूका 24:38-40।