Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




परिवर्तन का मूल रूप अदर्ष

(उड़ाऊ पुत्र पर धार्मिक प्रवचन क्रमांक 1)

THE ARCHETYPE OF CONVERSION
(SERMON NO. 1 ON THE PRODIGAL SON)
(Hindi)

डॉ. आर. एल. हायमर्स, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की
सुबह, 25 अगस्त, 2013, को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन

A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, August 25, 2013

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।


उड़ाऊ पुत्र का दृश्टांत बाइबल की कहानीयों में सबसे ज्यादा पसंद किया हुआ है। परंतु यह आज कईबार गलत अनुमान लगाया जाता है। मैं आज रात मेरे धार्मिक प्रवचन ‘‘उड़ाऊ पुत्र का गलत अनुमान लगाना'', में यह दोश ठीक करने का प्रयत्न करूँगा। मैं आषा करता हूँ कि आप 6:30 बजे यह सुनने फिर से आओगे। आपके लिये बाद में हम रात का भोजन रखेंगे, इसलिये आज रात वापस आओ!

सब पुरानी टीप्पणीयाँ कहती है कि उड़ाऊ पुत्र खोया हुआ था। उन्होंने कहा यह दृश्टांत उसका परिवर्तन वर्णन करता है। परंतु बीली ग्रेहाम और दूसरो ने कहा यह परिवर्तन का चित्र नहीं था। निर्णायको ने कहा यह हकीकत में चित्र था धर्मभ्रश्ट मसीही के पुनःसमर्पण का। कैसे सारी पुरानी टीप्पणीयाँ गलत हो सकती है? ठीक है, वे गलत नहीं थे। यह जो आधुनिक भाशांतर है वह गलत है। आप देखो, आधुनिक प्रचारकों को इसे पुनःसमर्पण बनाना पड़ा क्योंकि उन्होंने इस प्रकार का परिवर्तन कभी देखा ही नहीं। इसलिये महान् बाइबल षिक्षक जैसे डॉ. मेकगी ने भी इसे गलत लिया - जेसे मैं आज रात के धार्मिक प्रवचन में विस्तार से दिखाऊँगा।

बीसव़ी सदी में, ‘‘निर्णायक्ता'' ने परिवर्तन किया सस्ती चीजों में - सिर्फ आपके हाथ उठाइये और आप बचाए गए हो। सिर्फ तोते के समान जल्दी प्रार्थना पढ़ो और आप बचाए हुए हो। इसलिये, बीसव़ी सदी में, प्रचारकों ने परिवर्तन नहीं देखे जेसे उड़ाऊ पुत्र का हुआ। ‘‘निर्णायक्ता'' के सीधे परिणामस्वरूप बीली ग्रेहाम और दूसरों को दृश्टांत का पुनःभाशांतर करना पड़ा पुनःस्मर्पण की तरह बज़ाय परिवर्तन से अधिक। दृश्टांत को स्वयं कहने देने के बजाय, वे अब इसे पढ़ते है ‘‘निर्णायक्ता'' के ‘‘चष्मे'' से। महान् बाइबल षिक्षक जैसे डॉ. मेकगी भी निर्णायक्ता द्वारा व्याकुल हो गए थे। इसलिये उन्होंने कहा, ‘‘यह पापियों का चित्र नहीं है जो बचाए जाते है ... चलिये समझते है दृश्टांत मूल किस बारे में है। पापी कैसे बचाए जाते है उस बारे में दृश्टांत नहीं है; यह पितामह के मन को प्रकट करता है जो पापी को ना सिर्फ बचाएँगे परंतु जो पुत्र पाप करता है उसे वापस ले लेंगे'' (जे. वेरनोन मेकगी, टीएच.डी., थ्रु ध बाइबल, बाइबल द्वारा, थोमस नेल्सन प्रकाषक, 1983, भाग IV, पृश्ठ 314; लूका 15:14 पर टीप्पणी)।

मैं मानता हूँ डॉ. मेकगी षायद इस पर व्याकुल थे लेवीस स्पेरी ष्‍ोफर, डल्लास थियोलोजीकल धार्मिक पाठषाला के षोधक। डॉ. ष्‍ोफर पुरानी-रीति के संकट समय के परिवर्तन के मजबूत विरोधी थे। उन्होंने पढ़ाया ‘‘सेन्डेमानीयानीझम'' का प्रकार-विचार की हम बचाए गए है सिर्फ विष्वास करने के द्वारा जो बाइबल कहता है मसीह के बारे में। ऐसा लगता है संभवतः डॉ. मेकगी को उनका विचार मिला उड़ाऊ पुत्र के बारे में ‘‘पुनःसमर्पण'' की तरह लेवीस स्पेरी ष्‍ोफर से। अगर कोई यह धार्मिक प्रवचन पढ़ता हो वह पुनःसंषोधन करे डॉ. ष्‍ोफर ने उड़ाऊ पुत्र के बारे में क्या कहा, और मुझे वह भेजे, मैं वह पसंद करूँगा। यह झूठा विचार बीसव़ी सदी में बहुत फैला। उड़ाऊ के बारे में बीली ग्रेहाम बोले जैसे धर्मभ्रश्ट जो परमेष्वर के पास वापस आया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं आपसे कहता हूँ आपके प्रमाणीकरण को पुनःप्रमाणित करने। मैं आपसे आज रात प्रभु के पास वापस आने को कहता हूँ''। उन्होंने इस प्रकार की बातें हमेषा कही जब उन्होंने उनके महान् धर्मयुद्ध में उड़ाऊ पुत्र का प्रचार किया, जो पूर्ण अमरिका में दूरदर्षन पर प्रसारित किया गया था प्राइम समय में पचास वर्शो तक। इसलिये आज वह सरेराष धर्मप्रचारक अमरिका में उड़ाऊ पुत्र के बारे में सोचते है। परंतु यह अत्यन्त व्याकुल करनेवाला है! क्यों? क्योंकि उड़ाऊ पुत्र का दृश्टांत पुनःसमर्पण के बारे में बात नहीं करता! यह बात करता है सच्चे परिवर्तन के बारे में - और दोनों समान नहीं है! परिवर्तन कुछ है जो परमेष्वर आपको करते है। पुनःसमर्पण कुछ है जो आप करते हो। परिवर्तन में, प्रभु की आत्मा पापी को जागृत करती है और उसे पाप का होगपेन छुड़ाते, है और उसे मसीह के पास ले जाते है। अगर कोई व्यक्ति सिर्फ उसका जीवन पुनःसमर्पित करता है वह अधोलोक जाएगा। क्यों? क्योंकि मुक्ति अनुग्रह से है, और पुनःसमर्पण काम द्वारा है। और काम ने कभी भी किसी को नहीं बचाया!

सारी पुरानी टीप्पणीयाँ, जो निर्णायक्ता से पहले लिखी गयी थी, ने कहा उड़ाऊ पुत्र खोया आदमी था। दृश्टांत के तौर पर, मेथ्यु हेन्रीस कोमेन्ट्री ने कहा कि ‘‘पुत्र'' षब्द का अर्थ नहीं है कि वह बचाया गया है, परंतु ‘‘सारी जाति के सर्वसामान्य पिता की तरह परमेष्वर को प्रस्तुत करते है''। हेन्री ने यह भी कहा कि दृश्टांत दिया गया था ‘‘कितना प्रसन्नीय है परमेष्वर को पापी का परिवर्तन'' (हेन्ड्रीकसन प्रकाषन, 1996 की प्रत, भाग 5, पृश्ठ 598; लूका 15:11-32 पर टीप्पणीयाँ)। इस प्रकार सारी उच्चकोटि की टीप्पणीयोंने, बीसव़ी सदी की निर्णायक्ता से पहले, दृश्टांत को समझाया।

बीसव़ी सदी की भूतकाल की तुच्छ निर्णायक्ता को चलाते हुए, चलिए हम सोचे दृश्टांत के सही अर्थ के बारे में। यह तीसरा है दृश्टांतो की सूचि में जो यीषु ने फरीसियों को दिए थे उसमें। वे यीषु का मज़ाक उड़ा रहे थे क्योंकि वो ‘‘पापियों से मिलता है, और उनके साथ खाता भी है'' (लूका 15:2)। वे क्यों पापियों से मिले और उनके साथ खाया वह समझाने, यीषु ने तीन दृश्टांत दिये - तीन छोट़ी कहानीयाँ उसमें सबक के साथ। पहला, उन्होंने दृश्टांत दिया खोए हुए भेड़ का (लूका 15:3-7)। दूसरा, उनहोंने दृश्टांत दिया खोए सिक्के का (लूका 15:8-10)। तीसरा, उन्होंने दृश्टांत दिया खोए हुए पुत्र का - जो हम कईबार कहते है ‘‘उड़ाऊ'' (लूका 15:11-32)। वह सारे तीनों दृश्टांत है खोए आदमी की मुक्ति के बारे में। हर एक सहमत है कि पहले दो दृश्टांत है खोया आदमी बचाया जाता है उस बारे में। और बीसव़ी सदी से पहले हर एक भाश्यकार ने कहा कि तीसरा दृश्टांत भी खोया आदमी बचाया गया था उसके बारे में है! स्कोफिल्ड टीप्पणी इसे कहती है ‘‘खोए पुत्र का दृश्टांत'' (ध स्कोफिल्ड स्टडी बाइबल, 1917 की प्रत)। और यह एकदम वही है। लूका 15:24 में लड़के के अपने पिता ने कहा वह आत्मिकरूप से मरा हुआ था, और वह खोया हुआ था!

‘‘क्योंकि मेरा यह पुत्र मर गया था, और फिर जी गया है [पुनःजन्म]; वह खो गया था , अब मिल गया है ...'' (लूका 15:24)।

उड़ाऊ पुत्र का दृश्टांत मसीह द्वारा किया गया था मूल रूप आदर्ष की तरह - नमूना, सच्चे परिवर्तन का दृश्टांत। पौलुस के परिवर्तन ने इस नमूने का अनुकरण किया। और उड़ाऊ के परिवर्तन के दृश्टांत का अनुभव किया गया था सारे महान् प्रचारकों द्वारा बीसव़ी सदी तक - पेलेजीयन नास्तिक फिनेय के अपवाद के साथ। थोड़ा मसीही इतिहास पढ़ो और आप देखोगे कैसे यह सारे महान् मसीही आगेवान को परिवर्तन मिला उड़ाऊ पुत्र के परिवर्तन के नमूने पर आधारित। अगस्टीन के परिवर्तन ने यह नमूने का अनुकरण किया। वैसे ही लुथर, बुनयान, वाईटफिल्ड, दोनों वेस्ली भाई के परिवर्तन, वे सारे जो परिवर्तित थे पहली और दूसरी महान् जागृतता (1730-1840), और सी.एच. स्पर्जन, आर.ए. टोरेय, और सारे समय के महान् प्रचारकों में से एक, सुसमाचार प्रचारक चीन के डॉ. जोन सन्ग के परिवर्तन ने भी। यह सारे आदमी परिवर्तित हुए थे जब उन्होंने उड़ाऊ के परिवर्तन के नमूने का अनुभव किया।

बात काटते हुए, मैं सोचता हूँ यह एक कारण मसीह ने उड़ाऊ का दृश्टांत दिया - हमें परिवर्तन का चित्र देने। और कहीं चार सुसमाचारों में मसीह ने भी नहीं स्पश्टता से वर्णन दिया कैसे परिवर्तन होता है उसका। हाँ, पौलुस की गवाही प्रेरितों की किताब में तीन बार दर्ज है - परंतु मैं तर्क करता हूँ कि पौलुस के परिवर्तन ने अनुकरण किया आदर्ष, मसीह द्वारा रखा गया, पौलुस के परिवर्तन के वर्शों पहले, जब परमेष्वर ने हमें उड़ाऊ पुत्र का दृश्टांत दिया था।

(यहाँ क्लिक करें मेरा धार्मिक प्रवचन पढ़ने जिसका षिर्शक है, ‘‘उड़ाऊ पुत्र को गलत भाशांतर करना''। आपको उसे पढ़ना चाहिए इस धार्मिक प्रवचन के साथ)।

जेसे मैंने षुरूआत में कहा, उड़ाऊ का दृश्टांत लंबे अरसे से एक सबसे ज्यादा पसंद किया हुआ वाक्यखण्ड है बाइबल में। उसका कारण है क्योंकि यह दिखाता है खोए पापी को आदर्ष जो उसे बचाए जाने के लिये अनुभव करना ही चाहिए। और उस लंबी प्रस्तावना के साथ, हम आते है धार्मिक प्रवचन स्वयं के देह तक। विशय सरल है,

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

अब मैं कहता हूँ कि उड़ाऊ का परिवर्तन मूल रूप का आदर्ष है क्योंकि यह दिखाता है सारे तत्व जो होते है जब व्यक्ति यर्थाथ में परिवर्तित होता है। विशय सरल है,

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

वहाँ परिवर्तन में भिन्न स्तर है, और हम उसे देखते है उड़ाऊ के अनुभव में। पहला, वहाँ स्तर है जब युवा आदमी को उसके पिता से स्वतंत्र होना होता है। वह नहीं चाहता था उसके पिता उस पर अब और नियंत्रण करे। उसे ‘‘आज़ाद'' होना होता है। उड़ाऊ प्रभु के अस्तित्व का इन्कार नहीं करते। वह धार्मिक सभाओं में हाजरी देता है उसके माता-पिता के साथ। परंतु उसके मन की गहराई में कहे जानेवाली ‘‘स्वतंत्रता'' की इच्छा छिपी होती थी। उसे उसके पिता के सभी कायदे-कानून फेंक देने थे। उसने सोचा वहाँ षायद थोड़ा प्रसन्नता भरा अनुभव होगा जिसका उसने कभी भी आनंद नहीं लिया था। उसे निश्‍ोध किए हुए संसार का फल चखना था जिसका उसने पहले कभी भी आनंद नहीं लिया था। अब वह आदमी था, और उसे अपने स्वयं का नियंत्रण अपने में चाहिए था, और उसके अपने कायदे बनाने थे बजाय उसके पिता के नियंत्रण के अधीन रहने के। अगर आपको ऐसे विचार है, आप षायद ‘‘आओ अपने स्वयं के पास'' अभी, आप नश्ट और षर्म में जाओ उससे पहले, जो आएगी अगर आप इस द्रोही विचारों के साथ चलते रहोगे।

परंतु जल्दी उड़ाऊ दूसरे स्तर पर आया। उसे उसका वारसा पहले ही मिला था, उसके पिता की मृत्यु से पहले। उसने पैसे लिये और दूर के देष में भाग गया। अब वह वो सारे काम करेगा जिसके उसने पहले सिर्फ ख्वाब ही देखे थे। उसने अपने दिन और रातें बिताई आनंद लेने ‘‘पाप में थोड़े दिन के सुख'' में (इब्रानियों 11:25)।

लंबे समय के पहले की वह तीसरे स्तर पर आया, जब उसने ‘‘सारे खर्च'' किए। अब उसकी भूख संतुश्ट करने कुछ भी नहीं था। उसके सारे पापों ने अब उसे संतुश्टी नहीं दी। और वह इस भयानक परिस्थिति में था कि वह चौथे स्तर पर आया - ‘‘वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17) - या आधुनिक अनुवाद इसे रखता है, ‘‘वह उसके ज्ञान में आया''।

कैसा मूर्ख था वह! वह पागल व्यक्ति के समान था, एक पाप से दूसरे में जाना। हमने देखा है युवा लोगों को जंगली, अजीब काम करते हुए। हमने देखे है युवा लोगों को पाप में इतने दूर जाते हुए कि वे आखिरकार हमारा कलीसिया छोड़ देते है। हमने उन्हें और गहरे पाप में डूबते देखा है। अब उन्हें कोई रोक नहीं सकता। उन्होंने कभी भी नहीं सोचा वे पाप में इतने गहरे जाएँगे। वे षायद व्यापार में सफल हो और बाहरी दिखावा करते हैं, परंतु परमेष्वर की बातों की चिंता करने वे पषु की तरह बन गए, उनके मन में षान्ति के बिना और संसार में आषा के बिना।

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

वह अनुग्रह का पहला काम है खोए पापियों के मन में। सिर्फ पवित्र आत्मा पापियों को उसके ज्ञान में ला सकती है और उसके जीवन, और उसके अनन्त मंजिल के बारे में बुद्धि से सोचना षुरू करने। और ष्‍ौतान को मत सुनो अगर वह आपसे कहता है कि आप कभी भी लौटकर आ सकते हो, उड़ाऊ की तरह। उस पर भरोसा मत करो! आप सिर्फ तभी ही आ सकते हो अगर परमेष्वर आपको लाते है, और वहाँ जमानत नहीं की वे आपको फिर से खीचेंगे अगर आप पाप में इच्छा से जाओ! वे षायद कहे, ‘‘एप्रैम मूरतों का संगी हो गया है : इसलिये उसको रहने दे'' (होष्‍ो 4:17)। चलिये थोड़ी मिनट लेते है देखने कैसे उड़ाऊ का दृश्टांत प्रकट करता है खोए पापी के परिवर्तन को।

।. पहला, खोए पापी अपने आपे में आते हैं।

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' - जब वह अपने ज्ञान में आया है। यह पहला चिन्ह है कि परमेष्वर का अनुग्रह आपके जीवन में काम कर रहा है। कभी कभी मन का यह बदलाव अचानक होता है। उसी प्रकार यह हुआ श्रीमान ग्रीफिथ को, जिन्होंने कुछ पल पहले गाया, ‘‘प्रभु, मैं घर आ रहा हूँ''। उन्होंने अनुभव किया पुराने - प्रकार का, अचानक परिवर्तन। वे एक मित्र के साथ कलीसिया में आए थे। मैं तीव्रता में पाप और न्याय पर प्रचार दे रहा था। मित्रने कहा, ‘‘चलो यहाँ से बाहर चलते है''। कुछ उस प्रकार का। ग्रीफिथ ने कहा, ‘‘रुको, मुझे यह सुनना है''। दूसरा व्यक्ति भाग गया, अक्षरषः मेरे आवाज़ से दूर भागता हुआ। ग्रीफिथ रूक गए। वे पाप के अपराधभाव के अधीन आए। ‘‘वह अपने आपे में आए''। उसने सोचा, ‘‘प्रचारक सही है। मैं पापी हूँ''। फिर तभी और वहाँ, उन्होंने यीषु पर भरोसा किया और वे बचाए गए। मैं बहुत आनंदित हो उठा जब मैंने वह सुना। वे बन गए प्रभु की बातों के लिए पूर्ण इच्छित जैसे एकबार वे पाप की चीजों के लिये थे। हर कोई जो उन्हें जानता है कह सकता है की उनके मन का बदलाव सच्चा था, चाहे वे अचानक आए पहली बार सुसमाचार सुनने के बाद। उसी प्रकार डॉ. चान परिवर्तित हुए थे। उसी प्रकार मेरी पत्नी परिवर्तित हुई थी। उसी प्रकार मेलीसा सेन्डर्स परिवर्तित हुई थी। उसी प्रकार श्रीमान केगन और बहुत से दूसरे हमारे कलीसिया में परिवर्तित हुए थे। वे उनके ज्ञान में अचानक आए - और उन्होंने अचानक यीषु पर भरोसा किया। और वे बचाए गए पहली बार में ही जब उन्होंने मुझे सुसमाचार प्रचार करते सुना!

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

दूसरी ओर, कभी कभी यह बदलाव बहुत धीरे से आता है, बहुत आहिस्ते से। उसी प्रकार श्रीमान सोन्ग परिवर्तित हुए थे। वे कलीसिया आए और धार्मिक प्रवचन के बाद पूछताछ कक्ष में गए। वे बार बार आए। उनका अपना तरीका था सोचने का। उन्होंने हमारे साथ दलीले करना षुरू किया जैसे हमने उसे मसीह की ओर दर्षाने का प्रयत्न किया। एक दिन उसने मेरे साथ बहुत मजबूती से दलीले की और मैंने उसका मज़ाक उड़ाया। उसने हमारा कलीसिया छोड़ दिया और दूसरा धर्मषासक याजक ढूँढ़ने का प्रयत्न किया जो उसके लिये परिवर्तन आसान बना सके। जैसे मैं स्मरण करता हूँ, वो केथलिक याजक के पास गया। परंतु उस आदमी ने उसकी सहायता नहीं की। वो उदार प्रोटेस्टन्ट सेवा में गया, परंतु उसे वहाँ भी सहायता न मिली। आखिरकार उसने टीवी षुरू किया और यीषु के बारे में चलचित्र का हिस्सा देखा। किसी न किसी प्रकार से प्रभु ने उससे बात की, और वह आँसू में टूट पड़ा। अगले रविवार मैंने उसे देखा सभा में आते हुए, और मैं आनंदित हो उठा! जब वह पूछताछ कक्ष में आया उस सभा के बाद, उसका अभिमान टूट चुका था। उसने यीषु का भरोसा किया था। वह परिवर्तित हो गया,

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

हमारे युवा लोगों में से एक हमारे कलीसिया में बड़ा हुआ था। वह चीनी लड़का था। उसने परिश्रम और परिश्रम किया था। वह यीषु का इन्कार करता था - भावना के लिये देखना, बजाय पाप के लिये माफी से अधिक। फिर एक सुबह मैंने उसकी आँखों में आँसू देखे। वह परिश्रम करते करते टूट चुका था। मैंने उसे उसके घुटनों पर उसकी माँ की बाजू में बिठाया, और उसने यीषु का भरोसा किया। वह परिवर्तित हो गया,

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

दूसरा युवा आदमी बार-बार पूछताछ कक्ष में आया। वह गहरे अपराधभाव के अधीन था, परंतु उसने सरल विष्वास में यीषु के पास आने से इन्कार किया। हर समय जब वह पूछताछ कक्ष में आया - तब वह रोया, परंतु वह बचाया नहीं गया था। आखिरकार वह इतनी कठिनाई से रोने और विलाप करने लगा मैंने सोचा षायद उसे मूर्छा आ गयी हो। मैंने उसे विश्रामगृह में जाने और उसका चेहरा धोने को कहा। जब वह वापस आया, मैंने उसे पुराने-प्रकार का भक्तिगीत कथन किया,

मेरा उत्साह विलम्ब न जान सके,
   मेरे आँसू सदा बह सके,
मेरे सारे पाप का प्रायष्चित न हो सका;
   आप बचाने चाहिए, और आप अकेले।
युगो के पहाड़, मेरे लिये फटे,
   मुझे आप में छिप जाने दो।
(‘‘युगो के पहाड़, मेर लिये फटे'' अगस्तस एम. टोपलेडी द्वारा, 1740-1778)।

उसने यीषु पर भरोसा किया और बचाया गया,

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

श्रीमान ली कलीसिया में आए और लगता था यीषु पर भरोसा कर रहे थे। परंतु यह सिर्फ ऊपरी निर्णय था। थोड़ी देर के बाद यह स्पश्ट था कि उसके पास मसीह से जीवन नहीं था। उसका ‘‘इंधन खत्म हुआ था'', बोलने का भी। वह पूछताछ कक्ष में वापस आए। वे उद्धारक के पास आए पष्चाताप के आँसू और पष्चाताप के साथ। वह तुरंत परिवर्तित हो गया,

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

अब बहुत वर्शों से वे लोगों में प्रार्थना कर सकते थे उत्साह और प्रेम के साथ जो आदमीयों को एक बार था 18 वी और 19 वी सदी की महान् जागृतता और 1907 के कोरिया के पुनःउद्धार में। परमेष्वर की सराहना करो! वह दृढ़ता से परिवर्तित थे,

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

जोन केगन को कलीसिया से तिरस्कार था, और उसे अपने पिता से नफरत थी उसे हर रविवार यहाँ लाने के लिये। एक सुबह पवित्र आत्मा ने उसका मन तोड़ा। वह रोते - बिलखते, अपने हाथो और घुटनों पर चलते पूजा के स्थान तक आए। वे बचाए गए थे पुराने-समय के मेथोडीस्ट के समान! ओह, परमेष्वर को सराहो! वे परिवर्तित हो गये,

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

मैं अभी एक लड़की के बारे में सोच रहा हूँ। वह बहुत धार्मिक थी! परंतु वह अपने-आप के बंधन में थी। उसे पता न पड़ा कैसे यीषु के पास आते हैं। उसे यह निरर्थक लगा। उसे जरा भी आषा नहीं थी। जब बाकी सारी आषाएँ धरती पर टकराई, बिखरी टूटे काच के समान, वह बहुत कोमलता से यीषु के पास आई, और वह बचायी गयी,

‘‘जब [वह] [अपने आपे] में आई'' (लूका 15:17)।

॥. दूसरा, क्या मैं आपको सिर्फ आने नहीं दे सकता और जल्दी निर्णय लूँ?

अवष्य मैं कर सकता था! मैं आपको आने दे सकता था, और आपको कहे जानेवाली ‘‘पापीयों की प्रार्थना'' के षब्द दोहराने कह सकता था। आप आनंदित होते - कुछ क्षण के लिये। परंतु फिर आप सोचना षुरू करते, ‘‘क्या इतना काफी है वहाँ इसके लिये? मुझे यह अब जरा भी सही नहीं लगता''। और आप एकबार फिर उड़ाऊ विचार करना षुरू करोगे। आप फिर से सोचना षुरू करोगे ‘‘षायद दुनिया में कुछ है मैं जिसके अभाव में रहा''। ‘‘षायद बाद में यह सब सही न हो!'' ‘‘षायद मैं वहाँ कुछ सच्चा आनंद चूक रहा हूँ''। मैंने वह देखा है! मैंने वह देखा है! बाइबल कहता है, ‘‘उनकी पिछ़ली दषा पहली से भी बुरी हो गई है'' (2 पतरस 2:20)। बेहतर है इसे अभी ले लो! बेहतर है इसे अभी ले लो! अगर आप इसे अभी नहीं लेते, ‘‘पिछली दषा'' आपके साथ बुरी होगी ‘‘पहली से भी''। क्योंकि फिर आपका मन इतना कठोर और इतना बंद होगा कि आप प्रभु के वचन से जो भी सुनोगे आपको हिला नहीं सकेगा! परिश्रम करना और रोना बेहतर है, और अभी पुकारो, ‘‘निकम्मे मन पर छोड़ दिया कि वे अनुचित काम करे'' (रोमियों 1:28) पर देने से अधिक। बेहतर है मसीह को पाने अभी परिश्रम करना और प्रयत्न करना वे आप को कहने से अधिक, ‘‘तेरे विनाष का कारण तू'' (होष्‍ो 13:9)। बेहतर है अभी कड़वे आँसू होना और विलाप करता हुआ मन, किसी दिन मसीह को कहते सुनने से अधिक,

‘‘मैंने तुम को कभी नहीं जाना। हे कुकर्म करनेवालों, मेरे पास से चले जाओ'' (मती 7:23)।

‘‘वहाँ रोना और दाँत पीसना होगा, जब तुम देखोगे [यह जिसका परिवर्तन मैंने आपको कहा आज aसुबह] परमेष्वर के राज्य में, और अपने आप को बाहर निकाले हुए देखोगे'' (लूका 13:28)।

और आप सुनोगे मसीह को कहते हुए,

‘‘इस निकम्मे दास को बाहर के अन्धेरे में डाल दो ... जहाँ रोना और दाँत पीसना होगा'' (मती 25:30)।

ओह! ओह! मैं आपसे विनंती करता हूँ, अभी सोचो! अभी सोचो! अभी सोचो! ‘‘जब वह अपने ज्ञान में आता है।'' ओह, आप षायद अपने ज्ञान में आज आओ! और षायद आपको यह कहा जाए,

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

उसने अपने मन में कहा, ‘‘मैं उठुँगा और अभी यीषु के पास आऊँगा'' -

आप के बहुमूल्य लहू में षुद्ध होने
   जो काल्वरी पर बहा।
मैं आ रहा हूँ, प्रभु! अभी आ रहा हूँ आपके पास!
   मुझे धोओ, लहू में मुझे षुद्ध करो
जो काल्वरी पर बहा।
(‘‘मैं आ रहा हूँ, प्रभु'' लेवीस हार्टसाफ द्वारा, 1828-1919)।

अगर आपको मसीही बनना पसंद है, मेहरबानी करके अभी आपकी बैठक छोड़ो, और सभागृह के पीछे जाओ। डॉ. केगन आपको प्रार्थना करने षांत जगह ले जाएँगे। सभागृह के पीछे अभी जाओ। डॉ. चान, मेहरबानी करके किसी को अपने आप में आने और अभी यीषु पर भरोसा करने के लिये प्रार्थना कीजिये। आमीन।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान एबल प्रुद्योम्म द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रषास्त्रः लूका 15:11-19।
धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान बेन्जामिन कीनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीतः
‘‘प्रभु, मैं घर आ रहा हूँ'' (वीलीयम जे. कीर्कपेट्रीक द्वारा, 1838-1921)।


रूपरेखा

परिवर्तन का मूल रूप अदर्ष

(उड़ाऊ पुत्र पर धार्मिक प्रवचन क्रमांक 1)

डॉ. आर. एल. हायमर्स, जुनि. द्वारा

‘‘जब वह अपने आपे में आया'' (लूका 15:17)।

(लूका 15:2, 24; इब्रानियों 11:25; होष्‍ो 4:17)

I.    पहला, खोए पापी अपने आपे में आते हैं, लूका 15:17।

II.   दूसरा, क्या मैं आपको सिर्फ आने नहीं दे सकता और जल्दी निर्णय लूँ? 2 पतरस 2:20; रोमियों 1:28; होष्‍ो 13:9; मती 7:23; लूका 13:28; मती 25:30।