Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




जहां परमेष्वर पापियों को खींचता है

WHERE GOD DRAWS SINNERS
(Hindi)

द्वारा डॉ0आर.एल.हिमर्स,जूनियर
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

रविवार की प्रातः, 12 जनवरी 2014 को दि बैपटिस्ट टैबरनेकल लॉस ऐंजिलिस में
दिया गया संदेष
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, January 12, 2014


पिछले सप्‍ताह मुझे एक प्रसिद्ध क्रिष्‍चियन यूनिवर्सिटी के अति सम्‍मानीय चर्च इतिहास के प्रोफेसर की ई मेल प्राप्‍त हुई। उन्‍होंने कहा, ‘‘मैंने आपके ‘क्रिसमस इन साइबरस्‍पेस! ' संदेष का आनंदपूर्वक लाभ उठाया। और ज्‍यादा समय नहीं हुआ, जब मैंने (अमेजन) से (आपकी पुस्‍तक) की कुछ नयी और उपयोग में आई हुई पुस्‍तक षीर्षक ए प्‍यूरिटन स्‍पीक्‍स टू अवर डाईंग नेषन्स खरीदी। मैं उन्‍हे अपने पास्‍टर्स को देता हूं और प्रेरित करता हूं कि वे उसे पढें़।''

यह बडे सम्‍मानजनक उदगार है एक ऐसे व्‍यक्‍ति की ओर से, जिसने लगभग चालीस वर्षो तक, मसीही सेवकाई के विद्यार्थियों को मसीहत का इतिहास पढ़ाया!

मित्रों, यह एक बडी विषिष्‍ट वेबसाईट है। ये संदेष विष्‍व के लगभग 170 देषों में 28 भाषाओं में जाते हैं। क्‍या आप जानते हैं कि इस विष्‍व के संपूर्ण एक तिहाई भाग में अमेरिका का एक भी मिषनरी नहीं है? वे 1/3 विष्‍व के हिस्‍से में नहीं जा सकते! किंतु इंटरनेट सब जगह जाता है - यहां तक कि कम्‍यूनिस्‍ट चीन देष में भी, क्‍यूबा, अफगानिस्‍तान और ईरान! ये संदेष भी सब दूर पहुंचते हैं। और वहां के रहवासी प्रचारक इन प्रतिबंधित देषों में मेरे संदेष की अपनी भाषा में प्रतियां छपवाते हैं, और लोगों को प्रचार करते हैं। उनके पास संदेष तैयार करने के दूसरे साधन नहीं हैं। वे मेरे संदेषो का उपयोग करके बड़े आषीषित हैं। क्‍या आप हमें 25.00 डालर या 50.00 डालर प्रतिमाह दान कर सकते हैं ताकि हम और भाषाओं को भी जोड़ सकते हैं? देखिये इस संदेष के अंत में, जब मैं पुनः वापस आता हूं आप जान सकते हैं कि हमें मासिक दान आप कैसे भेज सकते हैं ताकि हम और अधिक भाषायें जोड़ सकें!

अब कृपया यिर्मयाह 31:3 खोलिये।

‘‘मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूःं इस कारण मैंने तुझ पर अपनी करूणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

मार्टिन लूथर किंग जेम्‍स बाईबल के साथ सहमत है जिसके इब्रानी क्रिया रूप‘‘मषक'' का अर्थ है ‘‘खींचना'' या ‘‘खींच ले जाना'' । एन ए एस वी के अनुवादक यिर्मयाह 31:3 इसका हवाला देते हैं। हम इस पद का इस तरह अनुवाद कर सकते हैःं

‘‘मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूःं इसका कारण मैंने तुझ पर अपनी करूणा ढेजतवदहझ ढेजतवदहझबनाय ढध्‍ेजतवदहझ ढध्‍ेजतवदहझे रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

परमेष्‍वर आपसे प्रेम रखता है, अतः वह आपको ढेजतवदहझ खींचताढध्‍ेजतवदहझ है!

‘‘मैं उनको मनुष्‍य जानकर प्रेम की डोरी (रस्‍सी से) (खींचता) था'' (होष्‍ो 11:4)

ये पद इस ओर भी इषारा करते हैं कि परमेष्‍वर इजरायलियों को मिस्र से ‘‘खींच'' निकाल लाया ताकि उन्‍हें आषीषित प्रदेष में प्रवेष करवायें। ये पद हमें सिखाते हैं कि परमेष्‍वर कैसे पापियों को पाप के जीवन से बाहर खींचता है - मसीह यीषु में उद्धार प्राप्‍त करने के लिये!

होष्‍ो 11:4 और यिर्मयाह 31:3 के पदों से यह बहुत स्‍पष्‍ट है। कि परमेष्‍वर पापियों को कहीं से भी ‘‘खींचकर'' बाहर निकालता है, ताकि उन्‍हें बचा सके। किंतु यिर्मयाह और होष्‍ो के इन पदों का यह आषय है कि वह आपको कहां खींचता है। बाईबल में प्रत्‍येक स्‍थान में, यह स्‍पष्‍टतया बताया है कि परमेष्‍वर हमको कहां खींचता है, जब वह हमें अपने अनुग्रह से बचाता है।

1.प्रथम,परमेष्‍वर हमें स्‍थानीय कलीसिया में खींचता है।

मैं जब किषोर था तब कोई मुझे चर्च में लेकर आया था। मैंने एक सर्वे रिपोर्ट में पढ़ा था कि 82 प्रतिषत लोग जो पाप में खोने के पष्‍चात चर्च में आते हैं उन्‍हे उनके मित्र लेकर आते हैं। केवल एक मामूली प्रतिषत ही चर्च में इसलिये आता है क्‍यों उन्‍होंने कोई विज्ञापन या पर्चा पढ़ा होगा। और मैं भी इसी तरह चर्च में आया था। कोई मुझे चर्च में लेकर आया और मुझे लाता रहा। जब कभी मैं चर्च छोड़ देता था तब उस चर्च के एक डीकन मि. बीन मुझसे मिलने आते थे। वह मुझे वापस चर्च आने के लिये प्रेरित करते थे। अब मुझे याद आता है कि मि. बीन और उनकी पत्‍नी मेरी आंटी मिर्टल के घर के दरवाजे, पर खडे़ रहते थे। मैं इस वरिष्‍ठ व्‍यक्‍ति और उनकी पत्‍नी के लिये परमेष्‍वर का धन्‍यवाद देता हूं। वह पूर्णतः नीले सूट व टाई में तैयार होकर आते थे, और उनकी पत्‍नी के सिर पर हैट होता था, वे चर्च जाने की तरह ही बहुत अच्‍छी व सभ्‍य तरीके से प्रस्‍तुत होते थे। वे एक पंद्रह वर्ष के बालक के लिये, आते थे ताकि वह पुनः चर्च आ जायें। मैं जब तक जीवित रहूंगा यह बात कभी नहीं भूलूंगा। मैं उस बूढे़ डीकन व उनकी पत्‍नी के लिये परमेष्‍वर का धन्‍यवाद देता हूं!

परमेष्‍वर मि. और मिसिस बीन जैसे लोगों का इस्‍तेमाल करता है जो आपको चर्च तक खींच कर लाते हैं। डॉ. एवं मिसिस मैकवान जब मैं छोटा लडका था मुझे अपने बच्‍चों के साथ चर्च लेकर जाते थे। मैं बीस वर्ष की उम्र में मसीही बना, किंतु डॉ. एवं मिसिस मैकवान के प्रयासों से मैं चर्च की ओर खिंचा चला गया। मैं मि.एवं मिसिस बीन के आने से चर्च की ओर वापस खींचा गया। बाईबल कहती है,

‘‘और जो उद्धार पाते थे, उन को प्रभु प्रतिदिन उन में मिला देता था'' (प्रेरितों के काम 2:47)

और, बाईबल फिर कहती हैः

‘‘इसप्रकार कलिसिया विष्‍वास में स्‍थिर होती गयी गिनती में प्रतिदिन बढती गयी‘‘ (पे्ररितो के कार्य 16:5)

यह चर्च है जहां हम मसीह का सुसमाचार सुनते हैं और बचाये जाते हैं। और 82 प्रतिषत वे लोग जो चर्च आते हैं, जहां सुसमाचार प्रचार किया जाता है, किसी न किसी के द्वारा लाये जाते हैं। अतः, यह स्‍पष्‍ट है, इस सर्वे से, और बाईबल से, कि परमेष्‍वर हमेषा आपको चर्च में खींचने के लिये लोगों को उपयोग करता है!

तब, चर्च में, सुसमाचार सुनाया जाता है। पौलुस ने चर्च के लोग जो कुरिंथ की कलीसिया थी उनसे कहाः

‘‘हेे भाइयों, मैं तुम्‍हें वही सुसमाचार बताता हूं..... जो पहिले सुना चुका हूं, जिसे तुम ने अंगीकार भी किया था और जिस में तुम स्‍थिर भी हो। उसकी के द्वारा तुम्‍हारा उद्धार भी होता है,यदि उस सुसमाचार को जो मैंने तुम्‍हे सुनाया था स्‍मरण रखते हो; नहीं तो तुम्‍हारा विष्‍वास करना व्‍यर्थ हुआ। इसी कारण मैंने सब से पहिले तुम्‍हें वही बात पहुंचा दी, जो मुझे पहुंची थी, कि पवित्र षास्‍त्र के वचन के अनुसार यीषु मसीह हमारे पापों के लिये मर गया। और गाडा गया; और पवित्र षास्‍त्र के अनुसार तीसरे दिन जी भी उठा। (1 कुरंथियों 15:1-4)

पौलुस ने इस कलीसिया के लोगों को स्‍मरण दिलाया कि उसने उन्‍हे उनके पापों के कारण मसीह की मृत्‍यु व पुनरूत्‍थान का सुसमाचार ‘‘प्रचार किया'' है।

वर्तमान में कई उदारवादी कलीसिया बाईबल अस्‍वीकार करने वाली पायी जाती है - और कई पंथ, और कई झूठे धर्म प्रचलित हैं। आप कैसे बतायेंगे कि कौन सही है? उत्‍तर साधारण हैः क्‍या ये चर्च आपको बताते हैं कि आप अपने पापों के दंड से मसीह की क्रूस पर मृत्‍यु के द्वारा बचाये गये हैं! क्‍या वे इसे उनके संदेष में बार बार प्रचारित करते हैं? यहां इस चर्च में प्रत्‍येक सभा में, हम आपको बताते रहते हैं कि आप कैसे बचाये जायेंगे। यह सुसमाचार प्रचार - करने वाला चर्च है, जैसे कि बाईबल के दिनों में, नये नियम में बताई गई कलीसिया होती थी।

परमेश्वर ने मुझे यहां आपको यह प्रचार करने रखा है कि आप किस प्रकार यीशु मसीह के द्वारा बचाये जा सकते हैं! परमेश्वर ने पौलुस को कुरिंथ की कलीसिया को ‘‘वही सुसमाचार सुनाने के लिये जो पहले सुना चुका हूं’’ (1कुरंथियों 15:1) के लिये रखा था। और परमेश्वर मुझे इस चर्च में वही समान बात सुनाने के लिये - आपको प्रचार करने के लिये कि आप यीशु पर विश्वास करके किस तरह पापों से बचाये जा सकते हैं।

दूसरा कारण परमेष्‍वर आपको स्‍थानीय चर्च में खींचता है वह यह है कि आप उत्‍साही और प्रेरित हो जायेःं

‘‘और एक दूसरे के साथ इकटठा होना ना छोडें, जैसे t कि कितनों की रीति है,पर एक दूसरे को समझाते रहें'' (इब्रानियो 10:25)

कुछ लोग कहते हैं कि आप बिना चर्च जाये मसीही हो सकते हैं। किंतु वे गलत कहते हैं। जब तक आप चर्च नहीं आयेंगे आप मन बदलने वाला सुसमाचार नहीं सुन पायेंगे। आप अगर चर्च नहीं आयेंगे तो मसीही जीवन जीने के लिये प्रेरित व उत्‍साही नहीं बन पायेंगे। बाईबल कहती है, ‘‘परमेष्‍वर का घर, जो जीवते परमेष्‍वर की कलीसिया है, और जो सत्‍य का खंभा,और नेंव है'' (1तिमुथियुस 3:15) परमेष्‍वर ने नये नियम की कलीसिया में सच्‍चाई को रखा है - इसलिये इस सत्‍य को जानने के लिये प्रति रविवार आपको चर्च आना आवष्यक है, ताकि आप एक सच्‍चे मसीही बने, और मसीही जीवन जीना सीख सकें।

मैंने मसीही जीवन जीना स्‍कूल में नहीं सीखा। मैं दो कॉलेज से स्‍नातक हूं और तीन धर्मविज्ञान डिग्रियां प्राप्‍त की है। किंतु उस अध्‍ययन के दौरान भी मैंने मसीही जीवन जीना नहीं सीखा। मैंने प्रत्‍येक चीज प्रार्थना करना, प्रचार करना और मसीही जीवन कैसे व्‍यतीत करना मेरे स्‍थानीय चर्च, के पास्‍टर और अन्‍य मसीही अगुवों द्वारा सीखा। मैं परमेष्‍वर का धन्‍यवाद करता हूं कि हमारे एक विष्‍वसनीय चाईनीज पास्‍टर थे जिन्‍होंने मुझे सिखाया कि मसीही जीवन कैसे बिताऊं! उनका नाम था डॉ. तिमोथी लिन। मैं उनके नब्‍बे वर्ष के जन्‍मदिवस पर गया था। मैंने उनकी अंतिम क्रिया पर संदेष दिया था! जितना कुछ मैं जानता हूं मुझे वह अपने पास्‍टर से सीखने को मिला, और इसके लिये मैं ईष्‍वर का धन्‍यवाद करता हूं। परमेष्‍वर ने कहाः

‘‘मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूःं इसका कारण मैंने तुझ पर अपनी करूंणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

आज सुबह परमेष्‍वर ने आपको इस चर्च में खींचा हैं। मैं आषा करता हूं कि आपके पास यहां रूकने का पर्याप्त आधार है, जिसे मैं एक युवक के रूप में यहां आया था। यहां ठहरिये और आप बचाये जायेंगे! यहां ठहरिये और बाईबल सीखिये! यहां ठहरिये और मसीही जीवन कैसे व्‍यतीत करना है सीखिये!

एक युवक हमारे चर्च में प्रति रविवार आ रहा था। वह मुझे प्रचार करते हुए सुना करता था और वह निष्‍चित ह ीवह एक परिवर्तित दिषा की ओर बढ रहा था। तभी उसकी लडकी-मित्र ने उसे यह कहते हुए प्रभावित किया कि, ‘‘इस चर्च के समान ही एक ओर चर्च है। मेरे साथ अगले रविवार मेरे चर्च चलना।'' उसने अपनी मित्र की बात मान ली। वह यहां नहीं आया, जहां उसे हमेषा, आना था! वह अपनी मित्र के साथ उस चर्च में गया जहां सुसमाचार भी प्रचार नहीं किया गया। तब मैंने उसे कुछ रातों के बाद देखा। आप जानते हैं मैंने क्‍या देखा? उसने अपनी सारी जागृति खो दी जो उसके अंदर पहले उपस्‍थित थी। वह अब पाप में खो गया था बिल्कुल वैसे जैसे यहां आने से पहले खोया हुआ था। आप जानते हैं क्‍यों? क्‍योंकि उस लडकी मित्र के चर्च में वे आपको परिवर्तित करने वाला प्रचार नहीं करते - इसलिये! उस लडकी के मुंह से ष्‍ौतान बोला था जब उसने कहा, ‘‘कि एक ओर दूसरा चर्च ऐसा ही अच्‍छा है। मेरे साथ मेरे चर्च चलो।''

परमेष्‍वर उस जवान मनुष्‍य को हमारे चर्च में खींच रहा है, परन्‍तु ष्‍ौतान उसे दूसरी तरफ ले जा रहा है - चर्च के बाहर ताकि - वह मनुष्‍य के कार्यों द्वारा अर्जित किये गये उद्धार के गलत सुसमाचार का प्रचार सुने - बजाय एक पवित्र,प्रोटेस्‍टैंट, बाईबल का वह संदेष सुनने के जिसमें मसीह के ऊपर विष्‍वास लाने से उद्धार संभव है प्रचार किया जाता है। परमेष्‍वर ने कहाः

‘‘मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूःं इस कारण मैंने तुझ पर अपनी करूणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

जब परमेष्‍वर आपको चर्च में खींचता है तो उसका विरोध मत कीजिये। हमारे पास आते रहिये ताकि आप सत्‍य सुसमाचार सुनो व बचाये जाओ। जब वह आपको पुनः चर्च में खींच कर लाता है तब उसका विरोध या विद्रोह मत कीजिये। ष्‍ौतान आपके किसी मित्र, संबंधी या और किसी व्‍यक्‍ति का इस्‍तेमाल न करने पाये, आपको चर्च से अलग खींचने के लिये, वह चर्च ‘‘जिसमें सत्‍य का खंभा और नेव है'' (1तिमुथियुस 3:15)।

बाइबल कहती है, ‘‘अगर वे लोग सत्‍य का विरोध कर सकते थे'' (2तिमुथियुस 3:8) अगर वे लोग सत्‍य का विरोध कर सकते थे, तो आपका भी कर सकते हैं। स्‍टीफन ने कहा, ‘‘तुम हमेषा पवित्र आत्‍मा का विरोध करते हो'' (प्रेरितों के कार्य 7:51) अगर वे लोग जिनसे वह बोलता था वे ही परमेष्‍वर के द्वारा खींचे जाने का विरोध करते हैं, तो तुम भी कर सकते हो। यह वह विषय है जो मैं पूरी रीति से नहीं समझता। इसलिये मैं बाईबल को जैसा लिखा है वैसा ही मानता हूं। लूथर ने कहा कि हमारे अंदर ‘‘न'' कहने की सामर्थ है, परन्‍तु ‘‘हां'' कहने की सामर्थ नहीं है। इस चर्च के ही तीन या चार जवान लोग हैं जो सप्‍ताह सप्‍ताह परमेष्‍वर द्वारा चर्च में खींचे जाने का विरोध करते हैं।

और आप भी, परमेष्‍वर का विरोध कर सकते हैं जब वह आपको चर्च में खींचना चाहता है। जब इस चर्च का कोई डीकन या चर्च अगुवा आपको टेलीफोन करता है, तो आप कह सकते हैं, ‘‘मैं वापस नहीं आऊंगा'' और, इससे भी बुरी बात कि आप अपनी मां या परिवार के अन्‍य सदस्‍य को फोन उठाने का कह देते हैं कि वह आपके लिये झूठ बोले, कि आप घर पर नहीं हैं। इस तरह आप परमेष्‍वर का विरोध करते हैं और वापस चर्च लौटने से इंकार करते हैं और सुनना नहीं चाहते कि कैसे बचाये जायें। परमेष्‍वर ने कहाः

‘‘मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूःं इसलिये मैंने तुझ पर अपनी करूणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

अगर आप परमेष्‍वर द्वारा खींचे जाने का विरोध या विद्रोह करते रहेंगे, और वापस नहीं लौटेंगे, तो आप षायद कभी भी बचाये नहीं जायेंगे। आप षायद कभी भी एक सच्‍चे मसीही नहीं बन पायेंगे।

2. दूसरा, परमेष्‍वर आपको यीषु मसीह के पास खींचता है। वह आपको पूरे समय मसीह की ओर खींचता है और बचाता है।

‘‘मैं उनको मनुष्‍य जानकर प्रेम की डोरी (रस्‍सी से) (खींचता) था'' (होष्‍ो 11:4)

यीषु में विष्‍वास रखने का कार्य बहुत ही साधारण है, यद्यपि आप पर उसका अनुग्रह होना एक बडा चमत्‍कार है। आपको मसीह की ओर ‘‘खींचे'' चले जाना है नही ंतो आप उस पर विष्‍वास ला ही नहीं सकते, भले ही आपको यह कितना ही आसान कार्य प्रतीत होता हो।s

यीषु ने कहा, ‘‘तुम परमेष्‍वर पर विष्‍वास रखते हो, मुझ पर भी रखो'' (यूहन्‍ना 14:1) यीषु में विष्‍वास रखने का यह आषय है। आप उस पर वैसा ही विष्वास रखते हो जैसा आप परमेष्‍वर पर रखते हो। और वह साधारण सा विष्‍वास जो आपको पहले से ही परमेष्‍वर पर है, आप उसी विष्‍वास से परमेष्‍वर के पुत्र पर भी विष्‍वास लाते हो, और आपके बचाये जाने के लिये यही पर्याप्‍त है। बाईबल कहती है, ‘‘प्रभु यीषु मसीह पर विष्‍वास लाओ, और तुम बचाये जाओगे'' (प्रेरितों के कार्य 16:31) मैं आपको उसी तरह यीषु पर विष्‍वास रखने के लिये कहता हूं जैसे आप परमेष्‍वर पर विष्‍वास रखते हैं। ‘‘तुम परमेष्‍वर पर विष्‍वास रखते हो, मुझ पर भी रखो'' (यूहन्‍ना 14:1)

सच में यह कहना बडा आसान लगता है, हंसने जैसी बात लगती है, क्‍यों ठीक है न? और सभी खोये हुए लोगों को यह समझाया भी नहीं जा सकता। वे 100प्रतिषत भटके हुए ही रहेंगे। प्रचारक उन लोगों से साधारण से प्रष्‍न पूछते हैं जो उनके पास उद्धार पाने के विषय में पूछने आते हैं; प्रचारक साधारण प्रष्‍न पूछते हैं और तब उनके उत्‍तर भी सुनते हैं - वे प्रचारक समझ जायेंगे कि मैं सही कह रहा हूंं। प्रसिद्ध बाईबल कॉलेज के अध्‍यक्ष ने अभी अभी मुझसे कहा कि वह सोचते हैं कि 100 में से केवल एक ही बचाया जाता है!

किसी ने कहा,‘‘ आप इसे जटिल बना देते हैं।'' ढेजतवदहझइस व्‍यक्‍ति का तात्‍पर्य था कि ये ‘‘निर्णय लेने वाले'' दूसरी बातों की तरह ही उद्धार को भी एक अनुभव के समान ग्रहण कर लेते हैं।ढध्‍ेजतवदहझ ये ऊपरी तौर पर ‘‘बदले हुए'' लोग किसी भी बात पर आसानी से विष्‍वास कर लेते हैं, और प्रचारक भी उन्‍हें स्‍वीकार कर लेता है और उन्‍हे ‘‘बचाये हुए'' कहने लगता है। परन्‍तु ऐसी कोई पुरानी वस्‍तु परमेष्‍वर स्‍वीकार नहीं करेगा। ढेजतवदहझपरमेष्‍वर जोर देता ढध्‍ेजतवदहझहै इस बात पर कि तुम कोई ढेजतवदहझएक कामढध्‍ेजतवदहझ करोः तुम्‍हे यीषु पर विष्‍वास करना चाहिये। (प्रेरितों के कार्य 16:31) अगर आप ढेजतवदहझकुछ ओरढध्‍ेजतवदहझ करते हो तो, आप बचाये हुए नहीं कहलाओगे। इसलिये, बुद्धिमान प्रचारक यह ढेजतवदहझसुनतेढध्‍ेजतवदहझ हैं कि लोगों ने वह जरूरी कार्य किया है या नहीं। और प्रचारक जिनके पास यह समझ नहीं है वे इसका विरोध करेंगे जिस पर हम जोर देते हैं, ‘‘प्रभु यीषु मसीह पर विष्‍वास करो, और तुम बचाये जाओगें'' (प्रेरितों के कार्य 16:31) अक्‍सर ऐसे मूर्ख प्रचार उद्धार प्राप्‍त किये जाने का विरोध करते हैं क्‍योंकि उन्‍होंने स्‍वयं यह जरूरी कार्य नहीं किया होता है - और इसलिये, वे स्‍वयं खोए हुए हैं।

सच में, यीषु पर विष्‍वास करना इतनी साधारण सी बात है! यीषु ने कहा,‘‘तुम परमेष्‍वर पर विष्‍वास रखते हो, मुझ पर भी विष्‍वास रखो'' (यूहन्‍ना 14:1) फिर भी लाखों लोग जो सोचते हैं कि वे बचाये हुए हैं उन्‍होंने वास्‍तव में ऐसा नहीं किया है। उन्‍होंने ‘‘प्रभु यीषु मसीह'' पर विष्‍वास नहीं किया है। उन्‍होंने कुछ ओर ही किया है और अभी भी खोए हुए हैं। (मत्‍ती 7:21-23)

किसी को भी यीषु के ऊपर साधारण सा विष्‍वास लाने में परमेष्‍वर का अनुग्रह लगता है। परमेष्‍वर सुसमाचार के द्वारा लोगों को यीषु तक खींचता है। बाईबल कहती है,

‘‘और मेरा धर्मी जन विष्‍वास से जीवित रहेगा, और यदि वह पीछे हट जाए तो मेरा मन उस से प्रसन्‍न न होगा' ' (इब्रानियों 10:38)

जब परमेष्‍वर आपको यीषु के पास खींच कर लाना चाह रहा है और आप उसका विरोध करते हैं या वापस लौटते हैं, तो परमेष्‍वर भी एक समय के पष्‍चात आप को छोड़ देगा, और तब आप के बचाये जाने के लिए बहुत देर हो जायेगी। यह अक्षम्‍य पाप है। यीषु ने कहा,

‘‘कोई मेरे पास नहीं आ सकता, जब तक पिता, जिस ने मुझे भेजा है, उसे खींच न ले‘‘ (यूहन्‍ना 6:44)

उसके पास ‘‘आने'' का क्‍या आषय है? इसका अर्थ है उस पर ‘‘विष्‍वास'' करना। यीषु ने, तीन पदो केे उपरांत कहा,

‘‘जो मुझ पर विष्‍वास करेगा अनंत जीवन उसका है'' (यूहन्‍ना 6:47)

परन्‍तु जब तक परमेष्‍वर आपको उसके पास नहीं खींचे आप यीषु पर ला सकते (यूहन्‍ना 6:44)

यीशु पर साधारण विश्वास लाना िबना परमेश्वर के खींचे संभ् ाव नहीं है। ण्

.

‘‘मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूःं इसलिये मैंने तुझ पर अपनी करूणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

परमेष्‍वर आपसे इतना प्रेम रखता है कि वह आपको चर्च में खींच कर लेकर आता है। आप परमेष्‍वर की योजना के अंतर्गत कि आपका नया जन्‍म हो सके चर्च में लाये जाते हों, और इसीलिये आपकी मां ने आपको अपनी कोख में धारण किया है। या, कोई मित्र आप को यहां चर्च में लेकर आया है। परमेष्‍वर लोगों को इस्‍तेमाल करता है जिससे कि आप चर्च में आ सकें। वह आपकी मां की कोख में लेकर आया ताकि आप चर्च आ सके, या वह आपको ऐसे व्‍यक्‍ति के द्वारा चर्च में लेकर आया हो जिसने आपको फोन किया हो और आपको घर से लेकर यहां लेकर आया हो। हां, प्रत्‍येक जन, यहां तक कि मैं भी, परमेष्‍वर द्वारा चर्च में खींचे गये हैं।

परन्‍तु अब परमेष्‍वर आपको यीषु के पास खींच रहा है। ‘‘परन्‍तु यदि वह पीछे हटे (परमेष्‍वर कहता है), तो मेरे मन को प्रसन्‍नता नहीं होगी'' (इब्रानियों 10:38) आपको अब यीषु पर विष्‍वास लाना चाहिये, जबकि परमेष्‍वर आपको खींच रहा है। षीघ्रता करें अन्‍यथा देर हो जायेगी! सचमुच, यीषु में अब विष्‍वास रखिये - जबकि परमेष्‍वर आपको उसके पास खींच रहा है!

‘‘मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूःं इसलिये मैंने तुझ पर अपनी करूणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

3. परन्‍तु, तीसरी बात, परमेष्‍वर आपको स्‍वर्ग में खींच रहा है।

परमेष्‍वर सर्वप्रथम आपको स्‍थानीय चर्च में खींचकर लाता है। दूसरे स्‍थान पर, वह आपको उसके पुत्र, यीषु मसीह के पास खींच कर लाता है। परन्‍तु, तीसरे स्‍थान पर, परमेष्‍वर आपको स्‍वर्ग में खींचना चाहता है। अगर आप सच्‍चे मसीही हैं तो परमेष्‍वर आपको स्‍वर्ग में खींच रहा है! यीषु ने कहाः

‘‘कोई मेरे पास नहीं आ सकता, जब तक पिता, जिस ने मुझे भेजा है, उसे खींच न ले'' (यूहन्‍ना 6:44)

परमेष्‍वर द्वारा खींचा जाना आपको यीषु के पास लेकर आता है। परमेष्‍वर द्वारा आपको खींचा जाना आपको कब्र से भी बाहर खींच कर लायेगा और आपको स्‍वर्ग में भी खींचेगा! परमेष्‍वर आपको चर्च में खींच कर लाता है। परमेष्‍वर आपको यीषु के पास खींच कर लाता है। परमेष्‍वर आपको कब्र से बाहर खींचता है और स्‍वर्ग तक खींचता है!

‘‘कोई मेरे पास नहीं आ सकता, जब तक पिता, जिस ने मुझे भेजा है, उसे खींच न ले'' (यूहन्‍ना 6:44)

सच में, कितनी महान आषा है यह! हम विष्‍वास करते हैं, जो हमें इतनी दूर तक खींच कर लाया है, वह हमें हमारे घर तक भी ले चलेगा - जो स्‍वर्ग है! वह स्‍वर्ग तक हमें खींचेगा!

‘‘मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूःं इसलिये मैंने तुझ पर अपनी करूणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

‘‘क्‍योंकि प्रभु आप ही स्‍वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार, और प्रधान दूत का षब्‍द सुनाई देगा, और परमेष्‍वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे। तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिये जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें, और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे।'' (1थिस्‍सलुनीकियो 4:16-17)

‘‘उठा लिए जाऐंगे....बादलों में, हवा में प्रभु से मिलने के लिये!'' (1 थिस्‍सलुनीकियों 4:17) हवा में उठा लिये जायेंगे!

‘‘इसलिये मैंने तुझ पर अपनी करूणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

हवा में खींच लिये जायेंगे! यीषु के पास खींच लिये जायेंगे! सीधे स्‍वर्ग में खींच लिये जायेंगे, हमेषा के लिये!

‘‘इसलिये मैंने तुझ पर अपनी करूणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

परमेष्‍वर आपको चर्च मेंं खींच कर लाया है। उसका विरोध मत कीजिये। प्रति रविवार चर्च वापस लौट आइये। परमेष्‍वर आपको यीषु के पास खींच रहा है। उसके विरूद्ध संघर्ष मत कीजिये। यीषु पर विष्‍वास रखिये। ‘‘तुम परमेष्‍वर पर विष्‍वास रखते हो, मुझ पर भी विष्‍वास रखो।'' और एक दिन परमेष्‍वर आपको स्‍वर्ग में खींच लेगा।

सचमुच आनंद! कितना,आनंद! हमें होगा जहां न मृत्‍यु,
   न बीमारी, न उदासी, न डर और न विलाप होगा,
हवा में बादलों में उठाये जायेंगे प्रभु के साथ उसकी महिमा में,
   जब यीषु से मिलेंगे ‘‘उसके अपने लोग।''
हमारे प्रभु यीषु,कब तक,कब तक
   हम आनंद के गीत गाते रहेंगे,
मसीह के आगमन तक! हाल्‍लेलुयाह!
   gkYysyqयाह! आमीन, हाल्‍लेलुयाह! आमीन!
(‘‘मसीह लौटेगा'' द्वारा एच.एल.टर्नर,1878)

अगर आप यीषु के पास आने के विषय पर बात करना चाहते हैं, तो कृपया उठकर पूछताछ कमरे में आ जाइये। डॉ0 चान, कृपया आइये और प्रार्थना कीजिये कि आज की रात कोई यीषु पर विष्‍वास लाये। आमीन।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

संदेष के पूर्व बाईबल में से पढा गया श्री ऐबेल प्रुद्योमें द्वाराः यूहन्ना 6:37-44
संदेष के पूर्व एकल गीत श्री बैंजामिन किनकैद ग्रिफिथ द्वारा गाया गया :
‘‘स्वामी आ चुका है'' (द्वारा सारा डाउडने, 1841-1926 ष्)


रूपरेखा

जहां परमेष्‍वर पापियों को खींचता है

द्वारा डॉ0 आर.एल.हिमर्स,जूनियर

‘‘मैं तुझ से सदा प्रेम रखता आया हूःं इस मैंने तुझ पर अपनी करूणा बनाये रखी है'' (यिर्मयाह 31:3)

1-प्रथम, परमेष्‍वर हमें स्‍थानीय कलीसिया में खींचता है,प्रेरितों के काम2:47;16:5; 1 कुरूंथियों 15:1-4;इब्रानियों 10:25;
1तिमुथियुस 3:15; 2 तिमुथियुस 3:8; प्रेरितों के काम 7:51

2-दूसरा, परमेष्‍वर आपको यीषु मसीह के पास खींचता है,होष्‍ो 11:1;
यूहन्‍ना 14:1; प्रेरितों के काम 16:31; मत्‍ती 7:21-23; यूहन्‍ना 12:32;
इब्रानियों 10:38; यूहन्‍ना 6:44,47

3-परन्‍तु, तीसरी बात, परमेष्‍वर आपको स्‍वर्ग में खींच रहा है, यूहन्‍ना 6:44;
1 थिस्‍सलुनीकियों 4:16-17