Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




नये विश्वासियों के लिये सात बिंदु

SEVEN POINTS FOR NEW CONVERTS
(Hindi)

डॉ आर एल हिमर्स
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

दि बैपटिस्ट टैबरनेकल ल्योस ऐंजीलिस में शनिवार संध्या
७ अगस्त‚ २०१७ की संध्या को दिया गया संदेश
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Saturday Evening, October 7, 2017

‘‘और चेलों के मन को स्थिर (दृढ़ करते रहे) और यह उपदेश देते थे‚ कि हमें बड़े क्लेश उठाकर परमेश्वर के राज्य में प्रवेश करना होगा" (प्रेरितों के कार्य १४:२२)


दि अप्लाईड न्यू टेस्टामेंट कमेंटरी इस पद के बारे में यह बताती है कि‚

केवल एक ही स्थान से शुभ संदेश का प्रचार करना पर्याप्त नहीं है नये विश्वासियों को शिक्षा देना और उन्हें उनके विश्वास में दृढ़ करना आवश्यक है। यही पौलुस ओर बरनबास ने किया। उन्होंने नये चेलों को चेतावनी दी कि परमेश्वर के राज्य में प्रवेश करने के लिये उन्हें अनेक कठिनाईयों को सहन करना होगा (जैसे दवाब और कष्ट)

प्रेरित पौलुस ने कहा था, ‘‘यदि हम धीरज से सहते (दृढ़) रहेंगे तो उसके साथ राज्य भी करेंगे" (२ तिमो २:१२) । इसका अर्थ यह हुआ कि एक सच्चे समर्पित मसीही जन को मसीह जीवन के दवाब को सहन करना आवश्यक है ताकि मसीह के साथ उनके आने वाले राज्य में राज्य कर सके। ‘‘मसीह यीशु के अच्छे योद्धा की नाईं मेरे साथ दुख उठा" (२ तिमोथियुस २:३) ।

१॰ पहली बात‚ आप को कुछ कष्ट सहन करना आवश्यक है।

यह पहली बात है जो आप को जानना आवश्यक है। आप को स्वर्ग जाने के लिये केवल उद्धार पाना ही आवश्यक नहीं है। एक बार जब आप बचाये जाते हैं तो ‘‘मसीह यीशु के अच्छे योद्धा की नाईं दुख उठा........ यदि हम धीरज से सहते रहेंगे तो उसके साथ राज्य भी करेंगे" (२ तिमोथियुस २:३‚१२) । चायनीज चर्च जाने से पहले मुझे यह बात नहीं सिखाई गयी थी। डॉ तिमोथी लिन ने मुझे सिखाया कि मसीह के साथ उनके राज्य में राज्य करने के लिये मुझे जीत प्राप्त करने वाला मसीही जन बनना आवश्यक है‚ ‘‘जो जय पाए‚ और मेरे कामों के अनुसार अन्त तक करता रहे‚ मैं उसे जाति जाति के लोगों पर अधिकार दूंगा" (प्रकाशितवाक्य २:२६) । मुस्लिम देश और चीन के मसीही जन जानते हैं कि मसीह के साथ उनके राज में राज्य करने के लिये उन्हें कष्ट सहन करना आवश्यक होगा। जैसे इस संदेश का प्रारंभिक पद कहता है‚ ‘‘हमें बड़े क्लेश उठाकर परमेश्वर के राज्य में प्रवेश करना होगा" (प्रेरितों के कार्य १४:२२) । प्रेरित पौलुस ने नये बने विश्वासियों को सिखाया कि उन्हें मसीह के साथ उनके आने वाले राज में राज्य करने के लिये अनेक कष्टों से (सताव के प्रकार − दवाब इत्यादि) से होकर गुजरना आवश्यक होगा। और यही आप को भी करना आवश्यक होगा अगर आप इस आत्मिक जाग्रति में परिवर्तित हुए हैं। डॉ वाटस के प्रसिद्ध भक्ति गीत ने तीन सौ साल पूर्व हमारे भजनों में हमें यह सिखाया है!

क्या यह अवश्य है कि मैं आकाश में फूलों की शैया पर चैन के साथ उठाया जाउं‚
जबकि दूसरों ने पारितोषिक के लिये लड़ाई लड़ी और रक्तिम समुद्रों को पार किया?
मुझे संघर्ष करना अवश्य है अगर मैं राज्य करना चाहूं‚ मेरा साहस बढ़ा दीजिये प्रभु‚
मैं कठिन परिश्रम करूंगा‚ कष्ट सहन करूंगा‚ आप के वचन से सहायता पाकर।
   (‘‘क्या मैं जो क्रूस का योद्धा हूं?" डॉ आयजक वाटस‚ १६७४−१७४८)

२॰ दूसरा‚ आप के पास एक बाइबल होना आवश्यक है और उसे पढ़ना जरूरी है।

‘‘हर एक पवित्रशास्त्र परमेश्वर की प्रेरणा से रचा गया है और उपदेश‚ और समझाने‚ और सुधारने और धर्म की शिक्षा के लिये लाभदायक है। ताकि परमेश्वर का जन सिद्ध बने‚ और हर एक भले काम के लिये तत्पर हो जाए" (२ तिमोथियुस ३:१६‚१७)

आप को एक स्कोफील्ड बाइबल खरीदना आवश्यक है ताकि जैसे हम आप को पेज संख्या बताते हैं आप उसके अनुसार निकाल सकें। आप को इन संदेशों की प्रतिलिपियां अपने साथ घर ले जाना आवश्यक है ताकि सप्ताह के बीच में आप इनसे अध्ययन कर सकें। किसी भी रेडियों या टी वी प्रचारक को मत सुनिये। उनमें से कई झूठे उपदेशक हैं। डॉ जे वर्नान मैगी के अतिरिक्त किसी को मत सुनिये। आप उनका नित्य बाइबल अध्ययन दिन या रात में कभी भी अपने कंप्यूटर पर www.ttb.org या www.thrutheBible.org पर सुन सकते हैं। ल्योस ऐंजीलिस के व्यस्ततम क्षेत्र‚ ५५० साउथ होप स्ट्रीट में ओपन डोअर चर्च में वे यहां लंबे समय तक पास्टर रहे। मैंने प्रतिदिन उन्हें सुनने के द्वारा बाइबल सीखी। वह वर्तमान में प्रचलित लगभग सभी त्रुटियां और पाखंड की उपेक्षा करते हैं। रेडियो या टेलीविजन पर वह एकमात्र बाइबल शिक्षक हैं जिन पर मैं विश्वास करता हूं - केवल एकमात्र। हमारे यहां ऐसे भी लोग थे जो रेडियो पर डॉ मैगी के कार्यक्रम के पहले या बाद में आने वाले कार्यक्रमों में उलझ कर रह गये। इसलिये उन्हें आप के कंप्यूटर पर सुनना उत्तम होगा (सभी गैर अंग्रेजी भाषाई अनुवाद यहां www.ttb.org/global-reach/regions-languages) उपलब्ध हो सकते हैं) ।

प्रतिदिन बाइबल पढ़िये। ‘‘मैं ने तेरे वचन को अपने हृदय में रख छोड़ा है‚ कि तेरे विरुद्ध पाप न करूं" (भजन संहिता ११९:११)

३॰ तीसरा, छुटिटयों के अतिरिक्त दूसरे चर्चेस में मत जाइये।

हम ऐसे समय में रह रहे हैं जब चर्चेस में गहरे रूप में स्वधर्म त्याग व्याप्त है । इसलिये उनसे दूर रहिये।

‘‘और बहुत से झूठे भविष्यद्वक्ता उठ खड़े होंगे‚ और बहुतों को भरमाएंगे। और अधर्म के बढ़ने से बहुतों का प्रेम ठण्डा हो जाएगा" (मत्ती २४:११‚१२)

हम दूसरे चर्चेस की अनुशंसा नहीं कर सकते। यहां तक कि बैपटिस्ट चर्च भी अक्सर ‘‘निर्णयवाद" और दूसरे प्रकार के पाखंड को बढ़ावा देते हैं।

४॰ चौथा, इस चर्च में हर रविवार प्रातः और शनिवार संध्या को आइये। इसके साथही गुरूवार रात्रि की प्रार्थना सभा और हर सप्ताह के शुभ संदेश प्रचार में भाग लीजिये।

५॰ पांचवीं बात‚ अपने पास्टर और सहयोगी पास्टर को जानिये।

आप डॉ हिमर्स को फोन कर सकते हैं और किसी भी समय उनसे कोई प्रश्न पूछ सकते हैं − या यहां चर्च में आकर उनसे मिल सकते हैं।

‘‘जो तुम्हारे अगुवे थे‚ और जिन्हों ने तुम्हें परमेश्वर का वचन सुनाया है‚ उन्हें स्मरण रखो; और ध्यान से उन के चाल−चलन का अन्त देखकर उन के विश्वास का अनुकरण करो" (इब्रानियों १३:७)

‘‘अपने अगुवों की मानो; और उनके आधीन रहो‚ क्योंकि वे उन की नाईं तुम्हारे प्राणों के लिये जागते रहते‚ जिन्हें लेखा देना पड़ेगा‚ कि वे यह काम आनन्द से करें‚ न कि ठंडी सांस ले लेकर‚ क्योंकि इस दशा में तुम्हें कुछ लाभ नहीं" (इब्रानियों १३:१७)

‘‘अगुवे" शब्द को इस तरह भी अनुवादित किया जा सकता हैं कि जो ‘‘तुम्हारे अग्रणी" हैं रिफार्मेशन स्टडी बाइबल इब्रानियों १३: १७ के विषय में कहती है‚ ‘‘विश्वसनीय चर्च अगुवे विश्वसनीय चरवाहे होते हैं.........अगुवों (पास्टर्स) की देखरेख बहुत गहरी और उचित होती है क्योंकि वे परमेश्वर द्वारा नियुक्त किये गये हैं और उसको लेखा देंगे। जिसकी सेवकाई का इंकार किया जायेगा‚ उस हर एक जन को दुख उठाना पड़ेगा।" पास्टर डॉ हिमर्स हैं। आप उनको (८१८) ३५२−०४५२ फोन कर सकते हैं। सहयोगी पास्टर डॉ कैगन हैं। आप उन्हें (३२३) ७३५ −३३२० पर फोन कर सकते हैं।

६॰ छटवीं बात‚ आत्मा जीतने को अपने जीवन की दृढ़ प्राथमिकता बनाइये।

कोई भी तब तक एक अच्छा मसीही जन नहीं हो सकता जब तक वह शुभ संदेश सुनाने के लिये लोगों को लाने के लिये कठिन परिश्रम न करे। यीशु कहते थे‚ ‘‘लोगों को बरबस ले ही आ ताकि मेरा घर भर जाए" (लूका १४:२३)।

७॰ सातवीं बात‚ किसी एक छोटे प्रार्थना समूह के साथ जुड़ जाइये।

मिसिस हिमर्स या डॉ कैगन से पूछिये कि कौनसा समूह आप के लिये उत्तम है। प्रति सप्ताह अपने प्रार्थना समूह से मिलिये।

‘‘क्योंकि जहां दो या तीन मेरे नाम पर इकट्ठे होते हैं वहां मैं उन के बीच में होता हूं" (मत्ती १८:२०)

अगर आप बचाये नहीं गये हैं‚ तो हम आपसे आग्रह करते हैं कि अपने पापों से पश्चाताप कीजिये और यीशु मसीह पर विश्वास कीजिये। जब आप पश्चाताप करते हैं और उन पर विश्वास करते हैं तो उनका रक्त आप को आप के सारे पापों से शुद्ध करता है।

‘‘उसके पुत्र यीशु का लोहू हमें सब पापों से शुद्ध करता है" (१ यूहन्ना १:७)

कृपया‚ डॉ कैगन से मिलिये और अगर आप सोचते हैं कि आप बचाये गये हैं तो अपनी गवाही उनको सुनाइये। उनका फोन नं (३२३) ७३५ −३३२० है।

आमीन।


अगर इस संदेश ने आपको आशीषित किया है तो डॉ हिमर्स आप से सुनना चाहेंगे। जब आप डॉ हिमर्स को पत्र लिखें तो आप को यह बताना आवश्यक होगा कि आप किस देश से हैं अन्यथा वह आप की ई मेल का उत्तर नहीं दे पायेंगे। अगर इस संदेश ने आपको आशीषित किया है तो डॉ हिमर्स को इस पते पर ई मेल भेजिये उन्हे आप किस देश से हैं लिखना न भूलें।। डॉ हिमर्स को इस पते पर rlhymersjr@sbcglobal.net (यहां क्लिक कीजिये) ई मेल भेज सकते हैं। आप डॉ हिमर्स को किसी भी भाषा में ई मेल भेज सकते हैं पर अंगेजी भाषा में भेजना उत्तम होगा। अगर डॉ हिमर्स को डाक द्वारा पत्र भेजना चाहते हैं तो उनका पता इस प्रकार है पी ओ बाक्स १५३०८‚ लॉस ऐंजील्स‚ केलीफोर्निया ९००१५। आप उन्हें इस नंबर पर टेलीफोन भी कर सकते हैं (८१८) ३५२ − ०४५२।

(संदेश का अंत)
आप डॉ.हिमर्स के संदेश इंटरनेट पर प्रति सप्ताह पढ सकते हैं
www.sermonsfortheworld.com पर
''पांडुलिपि संदेशों'' पर क्लिक कीजिये।

पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना डॉ.
हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। यद्यपि डॉ.
हिमर्स के सारे विडियो संदेश का कॉपीराईट है और उन्हें
अनुमति से उपयोग में ला सकते हैं।

संदेश के पूर्व बैंजामिन किंकेड ग्रिफिथ का एकल गान:
‘‘क्या मैं जो क्रूस का योद्धा हूं?" (डॉ आयजक वाटस‚ १६७४−१७४८)


रूपरेखा

१॰ पहली बात‚ आप को कुछ कष्ट सहन करना आवश्यक है‚ २ तिमो २:३‚१२;
प्रकाशित २:२६

२॰ दूसरा‚ आप के पास एक बाइबल होना और उसे पढ़ना जरूरी है‚
२ तिमो ३:१६‚१७; भजन ११९:११

३॰ तीसरा, छुटिटयों के अतिरिक्त दूसरे चर्चेस में मत जाइये‚ मत्ती २४:११‚१२

४॰ चौथा, इस चर्च में हर रविवार प्रातः और शनिवार संध्या को आइये। इसके साथ
ही गुरूवार रात्रि की प्रार्थना सभा और हर सप्ताह के शुभ संदेश प्रचार में
भाग लीजिये।

५॰ पांचवीं बात‚ अपने पास्टर और सहयोगी पास्टर को जानिये‚ इब्रानियों १३:७‚१७

६॰ छटवीं बात‚ आत्मा जीतने को अपने जीवन की दृढ़ प्राथमिकता बनाइये‚
लूका १४:२३ १:७

७॰ सातवीं बात‚ किसी एक छोटे प्रार्थना समूह के साथ जुड़ जाइये‚ मत्ती १८:२०;
१ यूहन्ना १:७