Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




हवा में उठा लिये जाना

(बाइबल की भविष्यवाणी पर संदेश ३)
THE RAPTURE
(SERMON #3 ON BIBLE PROPHECY)
(Hindi)

द्वारा आर एल हिमर्स
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

रविवार की संध्या, ७ मई, २०१७ को लॉस ऐंजीलिस के दि बैपटिस्ट टैबरनेकल
में दिया गया संदेश
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Evening, May 7, 2017

‘‘क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार, और प्रधान दूत का शब्द सुनाई देगा, और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे। तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे कि हवा में प्रभु से मिलें, और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे.........’’
     (१थिस्सु ४:१६–१७)


एक अदभुत वायदा बाइबल में दिया गया है! यीशु फिर आ रहे हैं! हर सच्चे अनुयायी को ये शब्द सुनकर हर्ष होना चाहिये कि ‘‘यीशु फिर आ रहे हैं’’! अपनी बाइबल खुली रखिये जहां यह पद मिलता है।

यीशु कई घंटे कीलों से क्रूस पर टंगे रहे। अंत में उन्होंने जोर से पुकार कर कहा, ‘‘हे पिता, मैं अपनी आत्मा तेरे हाथों में सौंपता हूं और यह कहकर प्राण छोड़ दिए’’ (लूका२३:४६)। उनका प्राणांत हो गया। सैनिकों ने उनका शव कब्र में रख दिया। उन्होंने कब्र पर मुहर लगा दी और रोमन सैनिक को पहरा देने की आज्ञा दी।

मरने के तीन दिन उपरांत वह जीवित हुए। अपने चेलों को दिखाई दिये,

‘‘परन्तु वे घबरा गए, और डर गए, और समझे, कि हम किसी भूत को देखते हैं’’ (लूका २४:३७)

तब यीशु ने उनसे कहा ,

‘‘मेरे हाथ और मेरे पांव को देखो, कि मैं वहीं हूं; मुझे छूकर देखो; क्योंकि आत्मा के हड्डी मांस नहीं होता जैसा मुझ में देखते हो’’ (लूका २४:३९)

वह उन्हें यरूशलेम शहर के बाहर जैतून पर्वत पर ले गये। उसने उन्हें संसार भर में सुसमाचार सुनाने के लिये कहा।

‘‘यह कहकर वह उन के देखते देखते ऊपर उठा लिया गया; और बादल ने उसे उन की आंखों से छिपा लिया। और उसके जाते समय जब वे आकाश की ओर ताक रहे थे, तो देखो दो पुरूष श्वेत वस्त्र पहिने हुए उन के पास आ खड़े हुए। और कहने लगे; हे गलीली पुरूषों, तुम क्यों खड़े स्वर्ग की ओर देख रहे हो? यही यीशु, जो तुम्हारे पास से स्वर्ग पर उठा लिया गया है, जिस रीति से तुम ने उसे स्वर्ग को जाते देखा है उसी रीति से वह फिर आएगा’’ (प्रेरितों के कार्य १:९–११)

‘‘वही यीशु’’ जो ‘‘स्वर्ग ले’’ जाये गये पुनः लौट रहे हैं। वह उपर उपर गये! वह नीचे आ रहे हैं! वह पुनः लौट रहे हैं!

वह फिर से आ रहा है वह फिर से आ रहा है,
वही यीशु जो, मनुष्यों का ठुकराया हुआ;
वह फिर से आ रहा है, वह फिर से आ रहा है,
बड़ी सामर्थ और बड़ी महिमा के साथ, वह फिर से आ रहा है!
   (‘‘वह फिर से आ रहा है’’ मैबल जॉनस्टन कैंप, १८७१–१९३७)

बाइबल हमें बताती है कि दो चरणों में उनका आगमन फिर से होगा। यीशु के लौटने का दूसरा चरण यह है कि वे जैतून पर्वत पर आयेंगे कि हजारों सालों के लिये धरती पर अपना राज्य स्थापित करे।

आज बाइबल में १ थिस्स ४: १६–१७ के पद पर हम चर्चा कर रहे हैं, वे पद उनके आगमन के पहले भाग के विषय में बताते हैं। धर्मशास्त्र अनुसार इस घटना में तीन बातें विशेष रूप से घटित होंगी।

१॰ पहली बात, प्रभु यीशु धरती से उपर बादलों में आयेंगे।

१ थिस्स ४: १६ पर ध्यान दीजिये

‘‘क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार सुनाई देगा ........ ’’ (१ थिस्स ४: १६)।

‘‘मसीह‘‘ स्वयं ‘‘स्वर्ग’’ से उतरेंगे। यह पवित्र आत्मा नहीं होगा। वास्तव में यह कोई आत्मिक रूप होगा ही नहीं। वही यीशु जो स्वर्ग पर....... चढ़ाये गये (थे) (प्रेरितों के कार्य १:११)। ‘‘वही यीशु’’ स्वर्ग से उतरेंगे।

‘‘क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा........ ’’ (१ थिस्स ४: १६)।

पुर्नरूत्थित मसीह ने कहा था,

‘‘मेरे हाथ और मेरे पैरों को देखों कि वह मैं ही हूँ। मुझे छूकर देखो’’ (लूका २४:३९)।

वह फिर से आ रहा है वह फिर से आ रहा है,
वही यीशु जो, मनुष्यों का ठुकराया हुआ;
वह फिर से आ
रहा है, वह फिर से आ रहा है,
बड़ी सामर्थ और बड़ी महिमा के साथ, वह फिर से आ रहा है!
   (‘‘वह फिर से आ रहा है’’ मैबल जॉनस्टन कैंप, १८७१–१९३७)

यूहन्ना १४:३ में यीशु ने कहा था,

‘‘मैं पुनः आउंगा’’ (यूहन्ना १४:३)

मैं आप का ध्यान इस ओर आकर्षित करना चाहता हूं कि हमारे इस पद में बताया गया है कि वह धरती पर नहीं आयेगें। धरती पर आगमन एक बिल्कुल अलग घटना होगी, वह घटना बाद में घटित होगी। पर मैं चाहता हूं कि आप ध्यान दें कि इस पद के अनुसार वह इस धरती पर नहीं आयेंगे। पद १७ को देखिये और आइये खड़े होकर इसे पढ़ते हैं।

‘‘तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें........ ’’
    
(१ थिस्स ४: १७)।

अब आप बैठ सकते हैं। मसीह ‘‘हवा में अर्थात बादलों में’’ आयेंगे। पहले बादलों में फिर उसके बाद धरती पर। बाइबल में यथाशब्द पठन से यह ज्ञात होता है ये दोनों दो अलग अलग घटना घटित होंगी।

प्रभु यीशु स्वर्ग से उतरेंगे परंतु धरती से उपर ‘‘हवा में’’ ठहरे रहेंगे। उनके विश्वासी लोग ‘‘हवा में उठा लिये’’ जाने का अर्थ है एक स्थान से दूसरे स्थान ले जाना - ताकि अतिरेक आनंद की अवस्था में विश्वासी लोग प्रभु से मिलें! अंतरिक्ष में हवा नहीं होती है तो यह प्रगट करता है कि जब वह धरती के वातावरण में प्रवेश करने वाले होंगे, वे वहीं हवा में ठहर जायेंगे।

‘‘तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें........ ’’
     (१ थिस्स ४: १७)।

२॰ दूसरा, जो मसीह में मरते हैं, वे हवा में उठाये जायेंगे।

पद १६ में हमें इस प्रकार पढ़ने को मिलता है,

‘‘क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार, और प्रधान दूत का शब्द सुनाई देगा, और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे.......’’ (१ थिस्स ४: १६)

अब आप बैठ सकते हैं। डॉ जे वर्नान मैगी के अनुसार ‘‘जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे,’’

वह ललकार के साथ स्वर्ग से उतरेंगे। यह आदेशात्मक आवाज होगी। यह वैसी ही आवाज होगी जिसका प्रयोग उन्होंने तब किया था, जब उन्होंने लाजर की कब्र के बाहर खड़े होकर आवाज दी थी और कहा था, ‘‘लाजर बाहर निकल आ’’ (जे वर्नान मैगी, टी एच डी, थ्रू दि बाइबल, थॉमस नेल्सन पब्लिशर्स, १९८३ वॉल्यूम ५, पेज ३९८)

यीशु लाजर की कब्र के पास आये और कहा,

‘‘पत्थर को हटाओ।’’ उस मृतक की बहन मार्था ने उससे कहा, ‘‘प्रभु, अब तो उसमें दुर्गन्ध आती होगी क्योंकि यह चौथा दिन है’’ (यूहन्ना ११:३९)

परंतु उन्होंने यीशु की आज्ञा का पालन किया। उन्होंने कब्र के मुंह से पत्थर हटाया। और यीशु ने,

‘‘बड़ी जोर से पुकारा, ‘‘हे लाज़र, निकल आ!’’ जो मर गया था वह कफन से हाथ पैर बंधा हुआ निकल आया’’

ऐसी ही गूंज जब मसीह बादलों में आयेंगे, तब सुनाई देगी। उस महान स्वर्गदूत के समान उनकी आवाज गूंजेगी, एक तुरही के समान ( मैगी, उक्त संदर्भित)

जब मसीह पुकारते हैं, जैसा उन्होंने लाजर की कब्र के बाहर किया था, तो वे जो ‘‘मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे।’’ मसीह के सच्चे अनुयायियों के मृत शरीर जीवित हो जायेंगे और हवा में मसीह के साथ मिलने के लिये उठाये जायेंगे।

जब जॉन कैगन एक छोटा बालक था, वह जानता था कि उसका उद्वार मसीह में नहीं हुआ है – परंतु उसके माता पिता सच्चे मसीही जन थे। परंतु जब मैंने हवा में उठाये जाने पर प्रचार किया, तो रात भर यह लड़का चिंतित रहा। वह मुझे बताता था कि वह रात भर उठ उठ कर माता पिता के बिस्तर के पास जाता रहा कि कहीं वे हवा में तो उठा लिये नहीं गये। यह भी एक अच्छा भय था। यह डरना अच्छा है कि आप पीछे छोड़ दिये जायेंगे। यीशु पर विश्वास कीजिये और आप का यह भय मिट जायेगा! बाइबल कहती है,

‘‘तेरे मृतक जीवित होंगे, उनके शव जीवित हो उठेंगे। तुम जो धूल में पड़े हो, जागो और जय जयकार करो, क्योंकि तेरी ओस, भोर की ओस के समान है पृथ्वी मृतकों को उगल देगी’’ (यशायाह २६:१९)

अय्यूब पुराने नियम की सबसे पुरानी पुस्तक है। मूसा द्वारा उत्पत्ति की पुस्तक लिखे जाने के पूर्व ही यह पुस्तक लिखी गयी थी।

अय्यूब ने हवा में उठा लिये जाने के विषय में कहा था,

‘‘और अपनी खाल के इस प्रकार नाश हो जाने के बाद भी, मैं शरीर में हो कर ईश्वर का दर्शन पाऊंगा। उसका दर्शन मैं आप अपनी आंखों से अपने लिये करूंगा, और न कोई दूसरा। यद्यपि मेरा (हृदय) अन्दर ही अन्दर चूर चूर भी हो जाए’’ (अय्यूब १९:२६–२७)

प्रेरित पौलुस ने भी हवा में उठाये लिये जाने के विषय में कहा था। उस ने कहा था,

‘‘और यह क्षण भर में, पलक मारते ही पिछली तुरही फूंकते ही होगा: क्योंकि तुरही फूंकी जाएगी और मुर्दे अविनाशी दशा में उठाए जांएगे, और हम बदल जाएंगे......’’ (१ कुरूं १५:५२)

हमारा पद कहता है,

‘‘जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे’’ (१ थिस्स ४ :१६)

अब आप का आश्चर्य हो सकता है कि कैसे वे शरीर जो लंबे समय से मृत हैं, सच्चे विश्वासियों की देह और अय्यूब के संबंध में तो ३५२० साल पहले के शरीर किस प्रकार जीवित होंगे। कैसे संभव होगा? कुरूंथियों की पुस्तक में पौलुस इसे एक ‘‘रहस्य’’ कहता है, मूल यूनानी में ‘‘मस्टेरियन’’ कहते हैं, ऐसा कुछ घटेगा जिसे मानवीय बुद्वि पकड़ नहीं सकती। खुलकर कहेंगे, तो यह आश्चर्य ही होगा। आप परमेश्वर पर विश्वास करते हैं, क्या नहीं करते? बाइबल के प्रारंभ से अंत होने तक हमें परमेश्वर पिता के आश्चर्यकर्मो के विषय में बताया गया है। उनमें से यह भी परमेश्वर का एक सबसे बड़ा आश्चर्यकर्म है,

‘‘जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे.....’’ (१ थिस्स ४: १६)

इन सब घटनाओं को तर्क लगाकर नहीं समझा जा सकता। तौभी यह सत्य है।

‘‘जो मसीह में मरे हैं, (मसीह के सच्चे अनुयायी) पहिले जी उठेंगे.....’’ (१ थिस्स ४: १६)

३॰ तीसरा, जो जीवित अनुयायी होंगे वे भी हवा में उठा लिये जायेंगे।

पद १७ की ओर देखिये,

‘‘तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे कि हवा में प्रभु से मिलें’’ (१ थिस्स ४:१७)

सच्चे अनुयायी जो उस समय धरती पर रह रहे होंगे और सच्चे अनुयायी जो मर चुके हैं, दोनों ‘‘उपर उठा लिये’’ जायेंगे ताकि ‘‘प्रभु से हवा में मिलेंगे।’’ पहले मुरदे जीवित होगें और हवा में ‘‘उपर उठा लिये’’ जायेंगे और फिर जो जीवित है वे ‘‘उपर उठा लिये’’ जायेंगे। बाइबल बताती है यह सब कुछ क्षण भर में घटित होगा,

‘‘और यह क्षण भर में पलक मारते ही’’ (१कुरूंथियों१५:५२)

जितनी देर में आप पलक झपकाते हैं, यह उतनी सी देर में घटित होगा। यीशु के वे अनुयायी जो पहले ही मर चुके हैं, और वे जो धरती पर जीवित हैं, ‘‘दोनों उपर उठा लिये जायेंगे – और हवा में यीशु मसीह से मिलेंगे।’’ बाइबल में कितनी अदभुत प्रतिज्ञा है! सच्चे मसीही अनुयायी के लिये अदभुत आशा है!

कितना आनंद! कितना हर्ष ! मरने के बाद भी होगा अनंत,
न रहेगी बीमारी, न उदासी, न कोई क्लेश, न रोना चीखना।
महिमावान प्रभु से अतिरेक आनंद में हवा में मिलना,
जब वह ‘‘उनके अपनों’’ को ग्रहण करेगें
   (‘‘मसीह का आगमन’’ एच एल टूमेर,१८७८)

डॉ मैगी का कथन था कि ‘‘हवा में उठा लिये जाने’’ का ‘‘हार्पेजों’’ यूनानी शब्द से अनुवाद किया गया है। अर्थात ‘‘फुर्ती से पकड़ लेना, झपट लेना, उठा लेना, हवा में उठा लेना।’’ (उक्त संदर्भित, पेज३९९) तब डॉ मैगी के अनुसार,

कितना अदभुत आश्चर्यजनक विश्राम होगा! मृतक (अनुयायी) सशरीर उठा लिये जायेंगे। उस समय जो पृथ्वी पर रह रहें होगे और यीशु के सच्चे अनुयायी होंगे, वे भी हवा में उठा लिये जायेंगे। प्रभु बादलों में प्रकट होगें और हम उनसे वहां मिलेंगे। फिर हम प्रभु के निवास स्थानों पर रहेंगें। और पुनः प्रभु के साथ नयी बनी धरती पर राज्य करने के लिये आयेंगे (उक्त संदर्भित, पेज ३९९)

क्या आप इन घटनाओं के लिये तैयार हैं? या आप की तैयारी है? आज जिन्होंने यीशु मसीह के नाम में उद्वार पाया है, वे उस समय प्रभु से हवा में मिलाये जायेंगे। उद्वार पाया है? यीशु ने क्रूस पर मरने के द्वारा आप के पापों का मूल्य चुका दिया है। वह तीसरे दिन मरके जीवित हुए और अपना बहाया रक्त स्वर्ग में लेकर उपस्थित हुए, ताकि आप के पापों को शुद्व कर सकें। हर वह व्यक्ति जो यीशु के इस बलिदान पर विश्वास करता है। पापों से मुक्ति प्राप्त कर लेता है। फिर उसके मन से धीरे धीरे पाप करने की इच्छा खत्म होती जाती है। खूब आशीषें फलती है। केवल अपने साधारण से विश्वास के साथ यीशु के सामने समर्पण कर देने से आप को मोक्ष प्राप्त होता है,

‘‘तब हम जो जीवित बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें’’ (१ थिस्स ४: १७)

इस आनंद में हम यह गीत गा सकते हैं,

कितना आनंद ! कितना हर्ष ! मरने के बाद भी होगा अनंत,
न रहेगी बीमारी, न उदासी, न कोई क्लेश, न रोना चीखना।
महिमावान प्रभु से अतिरेक आनंद में हवा में मिलना,
जब वह ‘‘उनके अपनों’’ को ग्रहण करेगें
हे प्रभु यीशु, और कितने समय तक, कितने समय तक,
आनंद का गान गाते हैं हम,
मसीह पुनः आते हैं! हैल्लुयाह! आमीन!
हैल्लुयाह! आमीन! हैल्लुयाह! आमीन!
   (‘‘मसीह का आगमन’’ एच एल टूमेर, १८७८)

अगले रविवार फिर चर्च में आइयेगा, मैं आप को यह शुभ संदेश सुनाउंगा। यीशु आप से बहुत प्यार करते हैं! उन पर विश्वास रखिये, वह आप के जीवन भर के सारे पापों को अपने क्रूस पर बहाये गये लहु से धोकर निर्मल कर देंगे! आमीन!


अगर इस संदेश ने आपको आशीषित किया है तो डॉ हिमर्स आप से सुनना चाहेंगे। जब आप डॉ हिमर्स को पत्र लिखें तो आप को यह बताना आवश्यक होगा कि आप किस देश से हैं अन्यथा वह आप की ई मेल का उत्तर नहीं दे पायेंगे। अगर इस संदेश ने आपको आशीषित किया है तो डॉ हिमर्स को इस पते पर ई मेल भेजिये उन्हे आप किस देश से हैं लिखना न भूलें।। डॉ हिमर्स को इस पते पर rlhymersjr@sbcglobal.net (यहां क्लिक कीजिये) ई मेल भेज सकते हैं। आप डॉ हिमर्स को किसी भी भाषा में ई मेल भेज सकते हैं पर अंगेजी भाषा में भेजना उत्तम होगा। अगर डॉ हिमर्स को डाक द्वारा पत्र भेजना चाहते हैं तो उनका पता इस प्रकार है पी ओ बाक्स १५३०८‚ लॉस ऐंजील्स‚ केलीफोर्निया ९००१५। आप उन्हें इस नंबर पर टेलीफोन भी कर सकते हैं (८१८) ३५२ − ०४५२।

(संदेश का अंत)
आप डॉ.हिमर्स के संदेश इंटरनेट पर प्रति सप्ताह पढ सकते हैं
www.sermonsfortheworld.com पर
''पांडुलिपि संदेशों'' पर क्लिक कीजिये।

पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना डॉ.
हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। यद्यपि डॉ.
हिमर्स के सारे विडियो संदेश का कॉपीराईट है और उन्हें
अनुमति से उपयोग में ला सकते हैं।

संदेश के पूर्व नोहा सोंग द्वारा संदेश पढ़ा गया: १ कुरूंथियों १५:५१–५४
संदेश के पूर्व बैंजामिन किंकैड ग्रिफिथ ने एकल गान गाया गया:
          ‘‘यीशु पुनः आ रहे हैं'' (जॉन डब्ल्यू पीटरसन, १९२१–२००६)


रूपरेखा

हवा में उठा लिये जाना

(बाइबल की भविष्यवाणी पर संदेश ३)
THE RAPTURE
(SERMON #3 ON BIBLE PROPHECY)

द्वारा आर एल हिमर्स

‘‘क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार, और प्रधान दूत का शब्द सुनाई देगा, और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे। तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे कि हवा में प्रभु से मिलें, और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे.........’’
     (१थिस्सु ४:१६–१७)

(लूका २४:३७, ३९; प्रेरितों के काम १:९–११)

१॰   पहली बात, प्रभु यीशु धरती से उपर बादलों में आयेंगे, १थिस्सु ४:१६ अ;
प्रेरितों १:११; लूका २४:३९; यूहन्ना १४:३; प्रकाशित १९:११–१६;
मत्ती २४:२७–३१; जर्कयाह १४:४–५; १थिस्सु ४:१६

२॰  दूसरी बात, जो मसीह में मरते हैं, वे हवा में उठाये जायेंगे, १थिस्सु ४:१६ ब;
यूहन्ना ११:३९, ४३–४४; यशायाह २६:१९; अय्यूब १९:२६–२७;
१ कुरूंथियों १५:५२, ५१

३॰ तीसरी बात, जो जीवित अनुयायी होंगे वे भी हवा में उठा लिये जायेंगे,
१थिस्सु ४:१७; १ कुरूंथियों १५:५२