Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




गर्भपात और मसीह का द्वितीय आगमन!

ABORTION AND THE SECOND COMING OF CHRIST!
(Hindi)

द्वारा सी एल कैगन
by Dr. C. L. Cagan

रविवार की सुबह, १७ जनवरी, २०१६ जनवरी को लॉस ऐंजीलिस के दि बैपटिस्ट
टैबरनेकल में किया गया प्रचार
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, January 17, 2016

''मेरे पिता के घर में बहुत से रहने के स्थान हैं‚ यदि न होते‚ तो मैं तुम से कह देता क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूं। और यदि मैं जाकर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूं‚ तो फिर आकर तुम्हें अपने यहां ले जाऊंगा‚ कि जहां मैं रहूं वहां तुम भी रहो'' (यूहन्ना १४:२−३)


चीन‚ अफ्रीका और तीसरी दुनिया के अधिकतर देषों में बसने वाले लोग मसीह पर विश्वास कर रहे हैं। स्वर्ग से आत्मिक जाग्रति उडेली जा रही है। उनकी तुलना में अमेरिका और पष्चिम के चर्चेस इस विषय पर उदासीन हैं और आत्मिक जागरण भी अल्प मात्रा मे है।

यूरोप और अमेरिका में यह दशा है कि लोग परमेश्वर से विमुख हो गये हैं। १९७३ में सुप्रीम कोर्ट ने गर्भपात की अनुमति मांगे जाने को वैधानिक करार दिया था। त्रियालीस वर्षो तक हमने बिना आवाज उठाये लाखों बच्चों को मारे जाने दिया। अमेरिका में इस अवधि में अठावन लाख भ्रूण अपनी माता के गर्भ में मार डाले गये। हिटलर से नौ गुना अधिक हमारे देश ने हत्यायें की हैं। परमेश्वर हमारे देश के लोगों का न्याय करेंगे। यहां तक कि रूढ़िवादी कहलाये जाने वाले लोग भी गर्भपात रोकने की दिशा में कोई कदम नहीं उठायेंगे। अभी रिपब्लिकन कांग्रेस ने हमारे टैक्स का अधिकतर सुनियोजित अभिभावकता में देने का बजट पास किया है जिसके अंतर्गत भ्रूण के हिस्से परीक्षण के लिये बेचे जा सकेंगे। रिपब्लिकंस को शर्म आनी चाहिये! ईश्वर का धन्यवाद हो कि फ्रैंकलीन ग्राहम ने रिपब्लिकंस पार्टी छोड़ दी। उनका कहना था कि मुझे रिपब्लिकन डेमोक्रेटिक पार्टी और किसी (भी) टी पार्टी में कोई आशा नहीं दिखाई देती कि इनसे अमेरिका का कुछ भला होने वाला हो। (http://www.foxnews.com/politics/2015/12/22/evangelist-franklin-graham-slams-quits-gop.html?intcmp=hppop). इसके साथ ही मैं आप को और भी स्पष्ट कर दूं कि डेमोक्रेटिक पार्टी तो रिपब्लिक से भी बुरी है। न रिपब्लिक पार्टी से कोई आशा है न डेमोक्रेटिक पार्टी से और न किसी प्रकार की राजनीति से। सच्ची आशा केवल मसीह में पायी जाती है! मसीह ने कहा था‚ ''मैं फिर आउंगा।'' उनके आने के कई चिंन्ह हमारे आस पास उपस्थित हैं।.

मैं इस बात से सहमत हूं कि हमारे देश और चर्चेस में जो पाप दिखाई देते हैं वे इस बात का सूचक है कि मसीह का दूसरा आगमन समीप है। लेकिन एक चिंन्ह और है। यहूदी लोग अपने देश लौट रहे हैं। परमेश्वर ने यहूदियों से कहा था ''मैं तुम को देशों में से इकट्ठा करूंगा; और तुम को तुम्हारे निज देश में पहुंचा दूंगा'' (यिजकेल ३६:२४) । परमेश्वर ने उनसे कहा '' मैं तुम को....... इस्राएल के देश में पहुंचा दूंगा'' (यिजकेल ३७:१२) । यह भविष्यवाणी १९४८ में पूर्ण होना प्रारंभ हो गयी जब इजरायल देश की स्थापना हुई। जब इजरायली पुन: अपने देश में लौटना प्रारंभ करते हैं − तो हम समझ सकते हैं कि अंत निकट है! हम अपने जीवनकाल में ही इसका अनुभव करते हैं। हम संसार के अंत और मसीह के द्वितीय आगमन के समीप हैं।

आज मैं मसीह के आगमन के उपर विस्तार में जाना चाहता हूं। बाइबल कहती है उनका आगमन दो भागों में होगा। पहले वह बादलों में प्रगट होंगे। उसके पश्चात पृथ्वी पर उनका आगमन होगा।

१. क्या होगा जब मसीह हवा में प्रगट होंगे।

मसीह हवा में प्रगट होंगे। सच्चे मसीहियों को वह अपने साथ स्वर्ग ले जायेंगे। इस विषय में बाइबल कहती है‚

''क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा उस समय ललकार‚ और प्रधान दूत का शब्द सुनाई देगा‚ और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी‚ और जो मसीह में मरे हैं‚ वे पहिले जी उठेंगे। तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे‚ उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे‚ कि हवा में प्रभु से मिलें‚ और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे।'' (१ थिस्सलुनीकियों ४:१६−१७)

यह ''रैप्चर'' कहलाता है। अंग्रेजी भाषा का शब्द ''रैप्चर'' लैटिन भाषा से लिया गया है इसका अर्थ है ''उठा लिये जाना'' या ''ले चलना।'' बाइबल कहती है ''जो मसीह में मरते हैं वे पहले जी उठेंगे'' वे मुरदों में से पुर्नजीवित होकर मसीह से मिलने के लिये उठाये जायेंगे। जो मसीहीजन उस समय पृथ्वी पर जीवित होंगें ''वे बादलों पर उठा लिए जाएंगे‚ कि हवा में प्रभु से मिलें।'' उन सभी मसीहियों को अनश्वर पुर्नजीवित देह प्राप्त होगी। बाइबल कहती है‚

''देख‚ मैं तुम से भेद की बात कहता हूं कि हम सब तो नहीं सोएंगे‚ परन्तु सब बदल जाएंगे। और यह क्षण भर में‚ पलक मारते ही पिछली तुरही फूंकते ही होगा क्योंकि तुरही फूंकी जाएगी और मुर्दे अविनाशी दशा में उठाए जांएगे‚ और हम बदल जाएंगे।'' (कुरूंथियों १५:५१−५२)

''क्षण भर में‚ पलक मारते ही'' विश्वासियों को उनका वह शरीर प्राप्त होगा जो अविनाशी होगा। हम प्रभु यीशु से हवा में मिलेंगे और उनके साथ स्वर्ग ले जायेंगे।

यह कब होगा? मसीह का कथन था कि कोई मनुष्य उस दिन को नहीं जानता ''उस दिन और उस घड़ी के विषय में कोई नहीं जानता'' (मत्ती २४:३६ ) । कोई भी जन जो मसीह के आने की तारीख घोषित करता है वह झूठा भविष्यवक्ता है! पर हम साधारण रूप से उस समय को जान सकते हैं। जैसे जैसे एक के बाद एक चिंन्ह पूरे होते जायेंगे हमें यह पक्का विश्वास होता जायेगा कि हम अंतिम दिनों में रह रहे हैं।

अनेकों अमेरिकियों का विचार है कि वे अपने पैसों से जीवन का आनंद उठायेंगे‚ सप्ताहांत का लुत्फ लेंगें और बिना सताव सहें एक दिन किसी समुद्र तट से या पहाड़ से रैप्चर में उठा लिये जायेंगे। ये विचार उत्तरी कोरिया में रहने वाले मसीहियों को अजीब लग सकता है जहां वे यीशु पर विश्वास रखने के कारण कैदखाने में डाले जाते‚ भूखे मरते‚ और मौत के घाट उतार दिये जाते हैं। ये विचार ईरान‚ ईराक और सीरिया में रहने वाले मसीहियों को विचित्र लग सकता है जहां परमेश्वर के पुत्र पर विश्वास रखने के लिये उनके सिर कत्ल कर दिये जाते हैं। कोई कारण ही नहीं है कि मसीह के हवा में प्रगट होने के पहले अमेरिका में गरीबी‚ सताव और क्यों नहीं आ सकते। एक देश जो इतने भूणों की हत्या का दोषी है तो मुझे आश्चर्य है कि क्यों नही परमेश्वर का न्याय उन पर पड़ेगा।

आप में से कई तो यहीं रह जायेंगे। मसीह ने दस कुंवारियों वाली कथा सुनाई थी। ये जो ''कुंवारियां'' थी वे संसार की अविश्वासी लोगों का प्रतीक नहीं पर धार्मिक लोग का प्रतीक थी। उनमें से पांच बचायी गयी और पांच भटकी हुई ही रह गयी। तब दुल्हा जो मसीह थे वह पहुंचे ''जब वे मोल लेने को जा रही थीं‚ तो दूल्हा आ पहुंचा‚ और जो तैयार थीं‚ वे उसके साथ ब्याह के घर में चलीं गई और द्वार बन्द किया गया'' (मत्ती २५:१०) । वे पांच जो बचायी गई थी वे मसीह से मिलने चली गयी। शेष पांच पीछे रह गयीं। ''दरवाजा बंद हो गया'' वे कह रही‚ ''हे स्वामी‚ हे स्वामी‚ हमारे लिये द्वार खोल दे'' (मत्ती २५:११) । पर प्रभु ने उत्तर दिया‚ ''मैं तुम्हें नहीं जानता'' (मत्ती २५:१२) ।

आप को मसीह क्यों नहीं जानते? क्योंकि आप ने उन्हें जानने से इंकार किया है! आप उन पर विश्वास नहीं करते! आप के पाप मसीह के रक्त में धुले हुये नहीं हैं। आप के पापों का मोल उनके क्रूस पर बहाये रक्त से नहीं चुका हुआ है। आप ने उनके पुर्नजीवित होने से उद्वार नहीं पाया है। अभी मि0 प्रुधोमें ने धर्मशास्त्र में से पढ़ा‚ यीशु ने कहा‚''बिना मेरे द्वारा कोई पिता के पास नहीं पहुंच सकता'' (यूहन्ना १४:६) । आप यीशु पर विश्वास नहीं रखते हैं इसलिये आप परमेश्वर के नहीं हो सकते। जब रैप्चर आयेगा आप पीछे रह जायेंगे!

२. दूसरा‚ जब मसीह हवा में आयेंगे तब क्या होगा।

रैप्चर के समय मसीह हवा में प्रगट होंगे और मसीही जिलाये जायेंगे ताकि उनसे भेंट कर सकें। मसीह अपने लोगों को स्वर्ग ले जायेंगे। तब उनका क्या होगा?

दस कुंआरियों की कथा में‚ मसीह ने स्वयं को दुल्हा बताया है। उन्होंने कहा‚ ''दूल्हा आ पहुंचा‚ और जो तैयार थीं‚ वे उसके साथ ब्याह के घर में चलीं गई'' (मत्ती २५:१०) । सच्चे मसीही जन तो मसीह की दुल्हन के समान है और रैप्चर के पश्चात जब वे स्वर्ग ले जायेंगे‚ तब मेम्ने के विवाह के समय मसीह से उनका विवाह होगा। बाइबल यह भविष्यवाणी करती है‚

''आओ‚ हम आनन्दित और मगन हों‚ और उस की स्तुति करें; क्योंकि मेम्ने का ब्याह आ पहुंचा; और उस की पत्नी ने अपने आप को तैयार कर लिया है। और उस को शुद्ध और चमकदार महीन मलमल पहिनने का अधिकार दिया गया‚ क्योंकि उस महीन मलमल का अर्थ पवित्र लोगों के धर्म के काम हैं। और उस ने मुझ से कहा; यह लिख‚ कि धन्य वे हैं‚ जो मेम्ने के ब्याह के भोज में बुलाए गए हैं; फिर उस ने मुझ से कहा‚ ये वचन परमेश्वर के सत्य वचन हैं'' (प्रकाशितवाक्य १९:७−९)

मसीह ''परमेश्वर का मेम्ना है‚ जो जगत के पाप उठा ले जाता है'' (यूहन्ना १:२९) । उनकी पत्नी अर्थात सभी युग के उद्वार पाये मसीहीजन जिन्होंने ''संतो की सी धार्मिकता'' रूपी वस्त्र धारण किये हैं। यीशु ने बहुत लंबे समय तक अपने विवाह के लिये इंतजार किया है। और यह कैसा अदभुत समय होगा! ''धन्य हैं वे जो मेम्ने के विवाह भोज में आमंत्रित होंगें।''

जब मसीह जन स्वर्ग से अपने प्रभु के साथ लौटेंगे तब इसके पहले स्वर्ग में और भी कुछ होगा। विश्वासियों का न्याय होगा और वे पुरस्कृत करेंगे। ये ''बेमा न्याय'' कहलाता है। यूनानी शब्द ''बेमा'' का अर्थ होता है ''न्याय का सिंहासन।'' शिष्य पौलुस ने लिखा ''क्योंकि अवश्य है‚ कि हम सब का हाल मसीह के न्याय आसन (बेमा) के साम्हने खुल जाए‚ कि हर एक व्यक्ति अपने अपने भले बुरे कामों का बदला जो उस ने देह के द्वारा किए हों पाए'' (२ कुरूंथियों ५:११) ।

जो बिना उद्वार पाये मुरदे हैं यह उनके लिये अंतिम न्याय का समय नहीं होगा कि अविश्वासियों का उनके पापों के लिये न्याय हो और वे आग की झील में डाले जायें। यह मसीहियों का न्याय होगा जो कार्य उन्होंने पृथ्वी पर रहते हुये किये। यह केवल सच्चे मसीही जनों के लिये होगा क्योंकि बाइबल कहती हैं‚ ''क्योंकि उस नेव को छोड़ जो पड़ी है‚ और वह यीशु मसीह है कोई दूसरी नेव नहीं डाल सकता'' (१ कुरूंथियों ३:११) । बिना मसीह की नींव के आप भटके हुये हैं और नर्क जा रहे हैं। पर अगर आप के पास मसीह हैं तो फिर आप ने उनके लिये कौनसे कार्य किये इस बात का न्याय होगा। बाइबल कहती हैं‚ ''और यदि कोई इस नेव पर सोना या चान्दी या बहुमोल पत्थर या काठ या घास या फूस का रद्दा रखता है। तो हर एक का काम प्रगट हो जाएगा; क्योंकि वह दिन उसे बताएगा; इसलिये कि आग के साथ प्रगट होगा: और वह आग हर एक का काम परखेगी कि कैसा है'' (१ कुरूंथियों ३:१२‚ १३) अगर एक मसीही जन अपना जीवन ऐसे बनाता है मानो ''सोना‚ चांदी और बेशकीमती पत्थरों जैसा अनमोल हो........ तो उसे प्रतिफल मिलेगा'' (१ कुरूंथियों ३:१२‚ १४) पर अगर आप अपना समय ऐसे व्यर्थ करते हैं जैसे ''काठ या घास या फूस का रद्दा'' तो आप का ''काम जल जायेगा'' और आपको उसके राज्य में कोई पुरस्कार नहीं मिलेगा (१ कुरूंथियों ३:१५)

मसीह हमें कौन से पुरस्कार देंगें और क्यों? यीशु आप को भूले नहीं हैं। अगर आप एक विश्वसनीय सेवक हैं तो वह आप को उनके राज्य में एक उंचा पद देंगे। वह आप से कहेंगें‚ ''धन्य हे अच्छे और विश्वासयोग्य दास‚ तू थोड़े में विश्वासयोग्य रहा; मैं तुझे बहुत वस्तुओं का अधिकारी बनाऊंगा अपने स्वामी के आनन्द में सम्भागी हो'' (मत्ती २५:२१‚२३) । किसी से वह कहेंगे‚ ''तू.......पांच नगरों पर हाकिम हो जा'' (लूका १९:१९) तो किसी को वह कहेंगें‚ ''अब दस नगरों पर अधिकार रख'' (लूका १९:१७)। विश्वसनीय मसीही जन मसीह के साथ पृथ्वी पर उनके राज्य में हजारों वर्षो तक राज्य करेंगे।

मसीहियों को उनके दुख उठाने के लिये पुरस्कार दिया जायेगा। बाइबल कहती हैं‚ ''यदि हम धीरज से सहते रहेंगे‚ तो उसके साथ राज्य भी करेंगे'' (२ तीमुथियुस २:१२) । जो यीशु के लिये शहीद होते हैं उन्हें भी पुरस्कार दिया जायेगा। मसीह ने कहा‚ ''प्राण देने तक विश्वासी रह‚ तो मैं तुझे जीवन का मुकुट दूंगा'' (प्रकाशितवाक्य २:१०) ।

उन मसीहियों के लिये भी पुरस्कार होंगे जो आत्मायें जीतते हैं। बाइबल कहती हैं‚ ''तब सिखाने वालों की चमक आकाशमण्डल की सी होगी‚ और जो बहुतों को धर्मी बनाते हैं‚ वे सर्वदा की नाईं प्रकाशमान रहेंगे'' (दानियेल १२:३) । किसी को धर्मी बनाने से क्या तात्पर्य हैं? मसीह के लिये आत्मायें जीतने की क्या जरूरत है!

जब आप मसीह से मिलने स्वर्ग जायेंगे तो इसका कुछ अर्थ नहीं रह जायेगा कि कौनसी कार आप के पास थी कितना पैसा आप ने जमा कर लिया था या कितनी जगह आप घूमे थे। पर अगर आपने आत्मायें जीती होंगी तो यह कार्य जरूर मायने रखेगा! एकमात्र चीज जो आप स्वर्ग ले जा सकते हैं वह है आप के द्वारा मसीह के लिये आत्मा जीतना! आत्मा जीतने के कार्य में व्यस्त हो जाइये! सुसमाचार प्रचार करने जायें तो लोगों के नाम वापस लेकर लौटिये! स्वयं आप लोगों को यहां सुसमाचार सुनने के लिये लाइये! काश ऐसा हो कि परमेश्वर आप को आत्मा जीतने वाला मुकुट प्रदान करे!

लेकिन अगर आप परिवर्तित नहीं हुये हैं तो आप इस न्याय में नहीं होंगे। क्योंकि मसीह आप के पापों का दंड चुकाने के लिये मरे‚ लेकिन आप ने उन पर विश्वास लाने से इंकार किया । आप मसीह पर विश्वास लाने वाले नहीं ठहरे‚ जिन्होंने आप के पापों को शुद्व करने के लिये अपना रक्त बहाया। इस लिये आप दुनिया में बीतने वाले उस बड़े सताव काल में जलजलाहट‚ दर्द‚ रक्त और मृत्यु सहने के लिये पीछे छोड़ दिये जायेंगे। जब आप मरेंगे तब आप नर्क में जायेंगे। अंतिम न्याय के समय आप नर्क की झील में डाल दिये जायेंगें। आप के साथ यह सब कुछ होने वाला है।

३. तीसरा‚ उस समय क्या होगा जब मसीह पृथ्वी पर आयेंगे।

पहले तो‚ मसीह सच्चे मसीहियों को लेने हवा में आयेंगे ताकि उन्हें स्वर्ग ले जा सके। तब वह उन मसीहियों के साथ जैतून पर्वत पर आयेंगे कि उनका राज्य पृथ्वी पर स्थापित करें। मसीह जैतून पर्वत पर से ही स्वर्ग में उठा लिये गये थे‚ यह पर्वत यरूशलेम के पूर्वी भाग में स्थित है। जब शिष्यों ने उन्हें उपर उठा लिये जाते हुये देखा‚ तब दो स्वर्गदूतों ने उनसे कहा‚

''हे गलीली पुरूषों‚ तुम क्यों खड़े स्वर्ग की ओर देख रहे हो? यही यीशु‚ जो तुम्हारे पास से स्वर्ग पर उठा लिया गया है‚ जिस रीति से तुम ने उसे स्वर्ग को जाते देखा है उसी रीति से वह फिर आएगा'' (प्रेरितों १:११)

यीशु मसीह जैतून पर्वत से उपर उठा लिये गये थे और वे दुबारा जैतून पर्वत पर ही उसी तरह‚ शारीरिक रूप में‚ प्रगट होंगें − उनके साथ मसीही जन भी आयेंगे। बाइबल कहती है‚ ''और उस समय वह जलपाई के पर्वत पर पांव धरेगा.........तब मेरा परमेश्वर यहोवा आएगा‚ और सब पवित्र लोग उसके साथ होंगे'' (जकर्याह १४:४−५) रैप्चर में‚ सच्चे मसीहियों को लेने के लिये मसीह हवा में प्रगट होंगे । बाद में वे इन सच्चे मसीहियों के साथ‚ पृथ्वी पर आयेंगे। मसीह के आगमन के ये दो भाग हैं। जब मसीह इस पृथ्वी पर आयेंगे तब वह हजारों वर्षो तक राज्य करेंगे। बाइबल कहती है कि मसीही जन‚ ''मसीह के साथ हजार वर्ष तक राज्य करते रहे'' (प्रकाशितवाक्य २०:४)।

अगर आप परिवर्तित नहीं होंगे तो इसमें से कुछ भी आप के लिये नहीं है! आप ये सब खो देंगे। आप के साथ क्या होगा? आप को झेलना होगा न्याय‚ दर्द‚ यंत्रणा‚ और आग! आप रैप्चर के समय पीछे छोड दिये जायेंगे। परमेश्वर का कोप आप पर उडे़ला जायेगा। उस महा क्लेश काल में आप दर्द के उपर दर्द सहते रहेंगे। जब आप मर जायेंगे तब आप नर्क में डाल दिये जायेंगे और ''ज्वाला में.........तड़प रहे होंगे'' (लूका १६:२४) । अंतिम न्याय के समय‚ आप को नर्क से घसीट कर निकाला जायेगा‚ और परमेश्वर की पुस्तक से आप अपने पाप सुनने के लिये बाध्य होंगे। फिर आप हमेशा के लिये ''आग की झील'' में जलने के लिये डाल दिये जायेंगे (प्रकाशितवाक्य २०:१५) ।

अगर आप परिवर्तित नहीं होंगे तो आप के लिये कोई रैप्चर‚ कोई पुरस्कार‚ कोई स्वर्ग‚ कोई राज्य नहीं होगा! आप ने तो मसीह पर विश्वास लाने से इंकार किया है। आप के पाप का मोल मसीह की मृत्यु से चुका हुआ नहीं है। आप के पाप उनके रक्त से शुद्व नहीं हुये हैं! इसलिये आप को स्वयं अपने पापों के लिये दुख उठाना होगा। आप के ''पापों के लिये फिर कोई बलिदान बाकी नहीं'' होगा (इब्रानियों १०:२६) परंतु ''दण्ड का एक भयानक बाट जोहना'' होगा (इब्रानियों १०:२७) । न्याय! नर्क की आग! आप के लिये है‚ आप के लिये है‚ आप के लिये है! ओह पर ऐसा नहीं होना चाहिये। यीशु के नाम में मांगते हैं‚ आमीन।


अगर इस संदेश ने आपको आशीषित किया है तो डॉ हिमर्स आप से सुनना चाहेंगे। जब आप डॉ हिमर्स को पत्र लिखें तो आप को यह बताना आवश्यक होगा कि आप किस देश से हैं अन्यथा वह आप की ई मेल का उत्तर नहीं दे पायेंगे। अगर इस संदेश ने आपको आशीषित किया है तो डॉ हिमर्स को इस पते पर ई मेल भेजिये उन्हे आप किस देश से हैं लिखना न भूलें।। डॉ हिमर्स को इस पते पर rlhymersjr@sbcglobal.net (यहां क्लिक कीजिये) ई मेल भेज सकते हैं। आप डॉ हिमर्स को किसी भी भाषा में ई मेल भेज सकते हैं पर अंगेजी भाषा में भेजना उत्तम होगा। अगर डॉ हिमर्स को डाक द्वारा पत्र भेजना चाहते हैं तो उनका पता इस प्रकार है पी ओ बाक्स १५३०८‚ लॉस ऐंजील्स‚ केलीफोर्निया ९००१५। आप उन्हें इस नंबर पर टेलीफोन भी कर सकते हैं (८१८) ३५२ − ०४५२।

(संदेश का अंत)
आप डॉ.हिमर्स के संदेश इंटरनेट पर प्रति सप्ताह पढ सकते हैं
www.sermonsfortheworld.com पर
''पांडुलिपि संदेशों'' पर क्लिक कीजिये।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना डॉ. हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। यद्यपि डॉ. हिमर्स के सारे विडियो संदेश का कॉपीराईट है और उन्हें अनुमति से उपयोग में ला सकते हैं।

संदेश के पूर्व ऐबेल प्रुद्योमे द्वारा धर्मशास्त्र पढ़ा गया: यूहन्ना १४:१−६
संदेश के पूर्व मिस जूली सिविले ने एकल गान गाया गया:
''इन टाइम्स लाइक दीज'' (रूथ काये १९०२−१९७२)


रूपरेखा

गर्भपात और मसीह का द्वितीय आगमन!

ABORTION AND THE SECOND COMING OF CHRIST!

द्वारा सी एल कैगन
by Dr. C. L. Cagan

''मेरे पिता के घर में बहुत से रहने के स्थान हैं‚ यदि न होते‚ तो मैं तुम से कह देता क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूं। और यदि मैं जाकर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूं‚ तो फिर आकर तुम्हें अपने यहां ले जाऊंगा‚ कि जहां मैं रहूं वहां तुम भी रहो'' (यूहन्ना १४:२−३)

(यिजकेल ३६:२४; ३७:१२)

१. पहला‚ क्या होगा जब मसीह हवा में प्रगट होंगे‚
१ थिस्सलुनीकियों ४:१६−१७; १ कुरूंथियों १५:५१‚५२; मत्ती २४:३६;
मत्ती २५:१०‚११‚१२; यूहन्ना १४:६

२. दूसरा‚ जब मसीह हवा में आयेंगे तब क्या होगा‚
मत्ती २५:१०; प्रकाशित १९:७−९; यूहन्ना १:२९; २ कुरूंथियों ५:१०; १ कुरूंथियों ३:११−१५; मत्ती २५:२१‚ २३; लूका १९:१९‚१७; २ तिमोथी २:१२; प्रकाशित २:१०; दानियेल १२:३

३. तीसरा‚ उस समय क्या होगा जब मसीह पृथ्वी पर आयेंगे‚ प्रेरितों १:११;
जकर्याह १४:४−५; प्रकाशित २०:४; लूका १६:२४; प्रकाशित २०:१५;
इब्रानियों १०:२६‚२७