Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




ऐलेक्सामेनोज और उसका परमेश्वर

ALEXAMENOS AND HIS GOD
(Hindi)

द्वारा डॉ.आर.एल.हिमर्स
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

रविवार की सुबह, ७ जून, २०१५ को लॉस ऐंजीलिस के दि बैपटिस्ट टैबरनेकल में
प्रचार किया गया संदेश
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, June 7, 2015

“ताकि जैसा लिखा है, वैसा ही हो, कि जो घमण्ड करे वह प्रभु में घमण्ड करे”
(१ कुरूंथियों१:३१)


१ कुरूंथियों के प्रथम दो अध्याय से हम क्या सीख सकते हैं? सब महत्वपूर्ण बातों में से जो एक बात है कि हम प्रारंभिक मसीहियों के बारे में सीख सकते हैं। आप इन दोनों अध्यायों को बिना ये देखे नहीं पढ़ सकते कि ये कितने मसीही केंदित है। जो स्वयं को विद्वान समझते थे उन्होंने मसीह को अस्वीकार कर दिया, “क्योंकि क्रूस की कथा नाश होने वालों के निकट मूर्खता है, परन्तु हम उद्धार पाने वालों के निकट परमेश्वर की सामर्थ है।” (१:१८) “परन्तु हम तो उस क्रूस पर चढ़ाए हुए मसीह का प्रचार करते हैं” (१:२३) “मसीह परमेश्वर की सामर्थ, और परमेश्वर का ज्ञान है।” (१:२४) “परन्तु उसी की ओर से तुम मसीह यीशु में हो, जो परमेश्वर की ओर से हमारे लिये ज्ञान ठहरा अर्थात धर्म, और पवित्रता, और छुटकारा।” (२:२) डॉ जे वर्नान मैगी ने कहा था,

पौलुस ने दार्शनिक बहस में भाग नहीं लिया........वह केवल मसीह की कूस की कथा के प्रचार में लिप्त रहा। उसने कूसित मसीह का प्रचार किया। इसी प्रकार की सेवकाई की आज तीव्रता से आवश्यकता है जे वर्नान मैगी, टी एच डी, थ्रू दि बाइबल, वाल्यूम ५, थॉमस नेल्सन पब्लिशर्स, १९८३, पेज १३, १ कुरूंथियों २:२ पर व्याख्या)

“ताकि जैसा लिखा है, वैसा ही हो, कि जो घमण्ड करे वह प्रभु में घमण्ड करे” (१ कुरूंथियों १:३१)

यूनानी शब्द महिमा का अर्थ “गर्वोक्ति” होता है − किसी चीज का “आवर्धन करना” या उस पर “घमंड करना” होता है। प्रेरित मसीह को महिमामंडित करने को कहता है − मसीह पर घमंड करने को कहता है − “मसीह में महिमा करने को कहता है।” प्रारंभिक मसीही मसीह की इतनी बात करते थे कि अविश्वासी उन् पर यह आरोप गढ़ने लगे कि वे मरे हुये यहूदी की आराधना करते हैं! “(मसीह में) पक्के निश्चय के साथ बोलने का एक बड़ा दिल को छू लेने वाला उदाहरण रोम के पेलिटियन हिल के क्वाटर्स में रहने वाले एक इंपीरियल लड़के का था (एक बच्चे) ने बिल्कुल प्रारंभिक तीसरी सदी में अपने हाथों से एक तस्वीर बनाई थी जिसमें एक लड़का आराधना करने की मुद्रा में खड़ा है और उसके हाथ उपर उठे हुये हैं। वह जिसकी आराधना कर रहा है वह एक कूस है और उस पर मनुष्य की आक्रति का व्यक्ति टंगा है जिसके सिर के स्थान पर गधे का चित्र बना हुआ है। उसके नीचे घसीटी लिखावट में लिखा हुआ था, ‘कि ऐलेक्सोमेनोस उसके ईश्वर की आराधना करता है।’ निश्चत उन पेजेस में से एक पेज मसीही पृष्ठभूमि लिये हुये था और इसके लिये वह संकोचहीन (लज्जित) भी नहीं था उसके स्कूल के मित्र उसके इस कदम के लिये उसका मखौल उड़ा रहे थे.........उसके हाथ में एक दूसरा (कथन) लिखा हुआ कागज था जिसमें लिखा था कि ‘ऐलेक्सोमेनोस विश्वसनीय है।’ शायद उस कूर कार्टून पर उसकी यही प्रतिकिया थी। मैं सोचता था कि यही उसकी प्रतिकिया थी।” (माइकल ग्रीन, डी डी, इवेंजलिज्म इन दि अर्ली चर्च, विलियम्स बी इयर्डमन्स पब्लिशिंग कंपनी, १९७०, पेज १७४, १७५)

मैंने इसे सीधे मूल भित्ति चित्र में से लिया है यह दूसरी शताब्दी के अंत में प्राचीन रोम के पेलेटियन हिल पर स्थत पेज ब्वायज के लिये बने कमरे की दीवाल पर से ली हुई सीधी तस्वीर है।

Alexamenos and his God

जब मैंने इस प्राचीन कार्टून को देखा तो मेरी आंख में आंसू आ गये। एक १० या १२ साल का लड़का यीशु के लिये खड़ा था! और एक बुरे लड़के ने उसका मखौल उडाते हुये उसकी यीशु की आराधना करते हुये एक चित्र बना दिया - जिसमें गधे का सिर बना दिया था! मैंने सोचा, “मैं परमेश्वर का धन्यवादित हूं ऐलेक्सोमेनोस जैसे लड़को के लिये!” इसी तरह के लड़के लड़कियों ने यीशु का सुसंदेश रोमन संसार में फैलाया! मैं तुमसे स्वर्ग में मिलूंगा ऐलेक्सोमेनोस! मैं चाहता हूं कि चर्च में उसके समान लड़के लडकियां हो − जो मसीह के बारे में गर्व महसूस कर सके − चाहे ईश्वर को त्यागने वाली यह पीढ़ी कितना ही मखौल उडाये!

डूगर परिवार पर आरोप मढ़े गये और बिना मुकदमा चलाये दंड दिया गया। उनके यहां उन्नीस बच्चे थे। बारह साल पहले उनके यहां के लड़कों में से एक ने अपनी दो बहनों को भददे ढंग से छू लिया था। उसके माता पिता उसे पुलिस के पास ले गये। वह केवल १५ साल का था इसलिये रिकार्ड सील कर दिया गया। कुछ समय पहले एक मूर्ख पुलिस अधिकारी ने फिर से रिकार्ड खुलवा लिया और उसे मीडिया को दे दिया। मीडिया ने उस परिवार को जैसे कूस पर चढ़ा डाला और उस घर को “भयानक घर” नाम दे दिया। वे ऐसा क्यों कर रहे हैं? क्योंकि डूगर बैपटिस्ट चर्च के सदस्य हैं − क्योंकि वे मसीही लोग है!!! क्योंकि वे जानती थी कि केवल यही एक निष्पक्ष जगह उनके लिये सिद् होगी। ये युवतियां अपने माता पिता को बचाने के लिये फौक्स न्यूज पहुंची तब मैंने व्हूपी गोल्डबर्ग का छिपा हुआ शैतानी चीखता हुआ चेहरा देखा। “इस बात में परमेश्वर का समावेश मत करो! “मसीहियों को पकडो! मसीहियों को पकडो! मसीहियों को पकडो!” − कुछ भी नहीं बदला उस समय से लेकर जब प्राचीन रोम में यातना कारी मसीही लड़कियों को शेर के सामने फेंक दिया करते थे! व्हूपी गोल्डबर्ग नीरो या कैलीगुला के जैसे प्रतीत हो रहा था! “मसीहियों को मार डालो! मसीहियों को पकडो! मसीहियों को पकडो! मसीहियों को पकडो!” परमेश्वर हमारी रक्षा करे − ऐसे लोगों से जो मीडिया को नियंत्रित करते हैं! इन बुरे और शैतानी दिनों में, आज सुबह क्यों न हर जवान लड़के के लिये यह कहा जा सके, “ऐलेक्सोमेनोस विश्वसनीय है।”

“ताकि जैसा लिखा है, वैसा ही हो, कि जो घमण्ड करे वह प्रभु में घमण्ड करे” (१ कुरूंथियों १:३१)

उसके साथ किसी नश्वर की तुलना नहीं होती,
   मनुष्यों के पुत्रों में से कोई;
इतना निष्पक्ष नहीं हो सकता जितना कि वह,
   जो स्वर्गीय ट्रैन को भर देता है,
जो स्वर्गीय ट्रैन को भर देता है,

उसको मैं अपना जीवन मेरी श्वास देता हूं,
   और सारा आनंद जो मेरे पास है;
वह मुझे मौत के उपर विजयी बनाता है,
   और मुझे कब्र से छुडाता है,
और मुझे कब्र से छुडाता है!
   (“मैजेस्टक स्वीटनेस सीटस एनथ्रान्ड” सेमुयेल स्टेनैट १७२७−१७९५)

आप के पास लेफ्टविंग मीडिया हो सकता है। आप के पास व्हूपी गोल्डबर्ग जैसे लोग हो सकते है, और संपूर्ण उदारवादी, परमेश्वर को नापसंद करने वाले लोगो की हॉलीवुड की भीड़ मिल सकती है! आप उन्हें ले सकते है! परंतु उनके पास आपको देने के लिये कुछ नहीं है! कुछ नहीं है! कुछ नहीं है! कुछ नहीं है! − “ऐलेक्सोमेनोस विश्वसनीय है!” “ऐलेक्सोमेनोस विश्वसनीय है!” “ऐलेक्सोमेनोस विश्वसनीय है!” ऐसा ही हो प्यारे प्रभु! ऐसा ही!

“ताकि जैसा लिखा है, वैसा ही हो, कि जो घमण्ड करे वह प्रभु में घमण्ड करे” (१ कुरूंथियों १:३१)

हम मनोरंजन के लिये चर्च नहीं आते। हम “आराधना करने वालों” का ऐसा प्रदर्शन देखने नहीं आते मानो वे लॉस ऐंजीलिस के क्लब के प्रदर्शक हो। हम चुटकुले कहानियां या स्व उत्थान की बातें सुनने नहीं आते। जिमी फैलोन से हम ज्यादा अच्छे चुटकुले सुनने जा सकते हैं। हम स्व उत्थान के लिये रीडर्स डायजेस्ट में से कहानियां पढ़ सकते हैं। हम “मसीही” रॉक संगीत द्वारा चकित होने के लिये चर्च नहीं आते। यह तो खोखला संगीत है। यह हमारी आत्माओं को नहीं छूता। यह हमारे मुंह में कसैला स्वाद छोड़ देता है। यह तो खोखला, भावशून्य और समय का अपव्यय है!

सेन डिएगो में आरेन्ज काउंटी में एक बड़े चर्च की शनिवार की आराधना में मैं अपनी पत्नी के साथ भाग ले रहा था। वहां कानफाडू संगीत था। यह सम्मोहित कर देने वाला संगीत था। बिल्कुल यह रॉक संगीत ही था। इसका अंत भी बहुत अकस्मात हुआ। ऐसा प्रदर्शन कभी कहीं नहीं, देखा था।

तब लोग बाहर निकल आये। वे बहुत स्तब्ध, चकित और पैर घसीट कर निकल रहे थे मानो “नाईट आफ दि लिविंग डैड” के जांबिज बाहर निकल रहे हो। तब लोग बाहर निकलते गये। कोई मुस्कुरा नहीं रहा था। कोई बोला नहीं। किसी ने अभिवादन नहीं किया। वे अकेले ही आये थे − मनोरंजन करने। और अकेले ही बाहर निकले। डॉ डेविड वेल्स ने कहा, “अकेलापन आधुनिक प्लेग है। यह दूसरो से कट जाने का, जड़ नहीं पकडे रखने का, किसी भी विशेष जगह से नहीं जुडे होने की बीमारी है दिखने में तो ऐसा लगता है कि मनुष्य सभी से जुड़ा है पर वास्तव में वह बहुत अकेला है। यह अकेले रह जाने का दुख है, उपेक्षित रह जाने का दुख है, और ऐसे ही किसी अंजान संसार द्वारा चलाये चलने का दुख है” (डेविड एफ वेल्स, पी एच डी, दि करेज टू बी प्राटिस्टन्ट, इयर्डमंस, २००८, पेज ३३)

डॉ वेल्स एक महान धर्मविज्ञानी थे और उनका कहना सही था। “अकेलापन आधुनिक प्लेग है”। पर उस विशाल चर्च के पास लोगों के अकेलेपन के लिये कोई उत्तर नहीं था। उनके पास केवल एक रॉक स्टार बैंड था − और हर कोई उसमें सम्मोहित हो जाता था − जैसे लोग डॉजर स्टेडियम के गेम को देखने के बाद मंत्रमुग्ध हो जाते हैं! तो इसका उत्तर क्या था? उत्तर वह चर्च है जो स्वयं प्रभु यीशु मसीह में केंदित है। मसीह उत्तर है − रॉक संगीत नहीं! मसीह उत्तर है − न कि बड़ी, अकेली भीड़! इन बड़े आधुनिक विशालकाय चर्च में देने को कुछ नहीं है! कुछ नहीं! कुछ नहीं! कुछ नहीं! केवल मसीह में केंदित, मसीह की घोषणा करने वाला, मसीह का सम्मान करने वाले चर्च के पास ही उत्तर होता है! यह उत्तर सदैव और सदैव मसीह यीशु स्चयं में ही मिलता है। वह छोटा लड़का जो दूसरी शताब्दी में रहता था वह यह जानता था। इसीलिये तो “ऐलेक्सोमेनोस उसके ईश्वर की आराधना करता है!” “ऐलेक्सोमेनोस विश्वसनीय है!”

“ताकि जैसा लिखा है, वैसा ही हो, कि जो घमण्ड करे वह प्रभु में घमण्ड करे” (१ कुरूंथियों १:३१)

उद्वार के बारे में क्या कहते हैं? क्या आप उन बड़े प्रचारकों से सुनते हैं कि कैसे बचा जा सकता है? ओह प्रभु मैं उन्हें सब प्रकार की बाते करता सुनता हूं! वे पवित्र आत्मा की बात करते हैं। वे कैसे अच्छा लगा जाये इस बारे में बताते हैं। सफल कैसे हुआ जाये वे इस बारे में बोलते हैं जोसेफ प्रिन्स नामक एक प्रचारक है जो अक्सर अनुग्रह की बात करता है। पर बताये कि कौन बचाये जाने की बात करता है? मैं तो इस की चर्चा नहीं सुनता! कौन कूस की बात करता है? मैं तो इस की चर्चा नहीं सुनता! कौन रक्त की बात करता है? मैं तो इस की चर्चा नहीं सुनता! यीशु पर पूरा संदेश कौन देता है? मैं तो इस की चर्चा नहीं सुनता!

एक गरीब क्यूबावासी ने मुझे कुछ दिन पहले एक ई मेल भेजी। यह संदेश पूरे संसार में गये - लगभग 32 भाषाओं में 200 देशों में पहुंचाये गये। तो इस जवान क्यूबन ने लिखा कि उसने यीशु को जीवन दिया है और बपतिस्मा लिया। पर उसके मित्रों में से एक ने उसे चुनाव के बारे में बताया। उसने बताया कि इस बात ने उसे चिंता में डाल दिया! मुझे यह समझ में नहीं आया। मुझे यह लगता है कि चुनाव आपको उद्वार के विषय में और अधिक आश्वस्त करता है। यह आप पर निर्भर नहीं करता। यह केवल मसीह पर निर्भर करता है! आमीन! पर उसने पॉल वाशर को देखना प्रारंभ कर दिया और मैक आर्थर को पढ़ना आरंभ कर दिया। उसने रे कंफर्ट का संदेश “हैल्स बेस्ट केप्ट सीकेट” भी पढ़ा। फिर उसने कैल्वीनिज्म का विडियो “अमेजिंग ग्रेस” देखा। इन सबने उसे उलझन में डाल दिया। तो उसने हमें पत्र लिखा, “कि मैं विश्वास करता हूं कि हम उसे वह पुस्तके बताये जो व्यवस्था के बारे में बताती हो और विचार प्रगट करती हो और पाप का बोध देती हो।” उसने कहा, “कि उसे व्यवस्था की गहराई के बारे में जानने की आवश्यकता है।” यहां मैंने उसे इस प्रकार उत्तर दिया,

ध्यान देना कि तुमने एक बार भी मसीह का नाम नहीं लिया! पर एक बार भी प्रभु यीशु का नाम नहीं लिया। न कूस पर किये गये उनके कार्य का उल्लेख, किया न उनके बेशकीमती लहू, की चर्चा की! यह अति आधुनिक कैल्वेनिज्म का बिछाया हुआ जाल है। आप घंटो पॉल वाशर और मैक आर्थर पढ़ सकते हो और व्यवस्था के बारे में सोच सकते हो, बजाय यीशु के सोचने के! मुझे वॉशर मैकआर्थर और रे कंफर्ट जैसे लोगों से यह शिकायत है। वे व्यवस्था के अधिक अच्छे प्रचारक है बजाय सुसमाचार के! मेरे संदेश पढ़ने के लिये (यहां क्लिक करें आप मेरे संदेशों को पढ़ सकते हैं, “बहुत स्तब्ध करने वाला जवानों के लिये संदेश! पॉल वॉशर को मेरा जवाब!”)

तब मैंने उसे दो संदेश और भेजे: यीशु मसीह स्वयं औतुम मसीह के बारे में क्या सोचते हो? तो उसे यह चाहिये था − केवल यीशु मसीह! और यही आप को चाहिये − केवल प्रभु यीशु मसीह!

“ताकि जैसा लिखा है, वैसा ही हो, कि जो घमण्ड करे वह प्रभु में घमण्ड करे” (१ कुरूंथियों १:३१)

उसके साथ किसी नश्वर की तुलना नहीं होती,
   मनुष्यों के पुत्रों में से कोई;
इतना निष्पक्ष नहीं को सकता जितना कि वह,
   जो स्वर्गीय ट्रैन को भर देता है,
जो स्वर्गीय ट्रैन को भर देता है,

उसने मुझे गहरे दुख में गोते लगाते हुये देखा,
   विश्राम देने के लिये दुतगति से आया;
मेरे लिये उसने शर्मनाक कूस की मौत सही,
   और मेरा सारा दुख उठाया।

चूंकि उसकी अधिकता से मैं पाता हूं
   उसके अलौकिक प्रेम के प्रमाण,
होते हजारों दिल तो देता तुझ ही को,
   प्रभु, वे सब दिल तेरे ही होने थे।
प्रभु, वे सब दिल तेरे ही होने थे।

यीशु के पास आना कितना आसान है। जैसे प्राचीन रोम में वह छोटा लड़का आया − वैसे की आप भी आ सकते हो!

ऐलेक्सोमेनोस उसके ईश्वर की आराधना करता है! उसका परमेश्वर कूस पर लटका हुआ है, और ऐलेक्सोमेनोस के पापों का दाम चुका रहा है।

राबर्ट हिमर्स उसके ईश्वर की आराधना करता है! उसका परमेश्वर कूस पर लटका हुआ है, और राबर्ट हिमर्स के पापों का दाम चुका रहा है।

ऐलेक्सोमेनोस उसके ईश्वर की आराधना करता है! उसका परमेश्वर नाजरथ का यीशु है। उसका परमेश्वर स्वर्ग से नीचे उतर आया कि कूस पर प्राण बलिदान करे ऐलेक्सोमेनोस के पाप और तुम्हारे पापों का दंड चुकाये। उसका परमेश्वर यीशु है, जो शरीर में जीवित हुआ, मरे हुओ के बीच में से जीवित हुआ, और अब स्वर्ग में है − पिता परमेश्वर के दाहिने हाथ विराजमान है।

ऐलेक्सोमेनोस उसके ईश्वर की आराधना करता है! यह संसार कहता है कि वह जिस परमेश्वर की आराधना करता है उसके सिर के स्थान पर गधे का सिर लगा हुआ है! यह संसार ऐलेक्सोमेनोस द्वारा यीशु की आराधना किये जाने पर मखौल उडाता है। “ऐलेक्सोमेनोस विश्वसनीय है” वह क्यों विश्वसनीय है? क्योंकि उसके परमेश्वर यीशु ने कहा “बिना मेरे द्वारा कोई पिता के पास नहीं पहुंच सकता” (यूहन्ना १४:६)

ऐलेक्सोमेनोस उसके ईश्वर की आराधना करता है। संपूर्ण रोमन संसार ढहता और गिरता जाता है। और सारी मूर्तियां गिरती जाती है। और सारी भव्यता पिघलती जाती है। और मसीह कुलुसियम और पार्थीनोन के अवशेषों के उपर से उंचा उठाया जाता है।

“ताकि जैसा लिखा है, वैसा ही हो, कि जो घमण्ड करे वह प्रभु में घमण्ड करे” (१ कुरूंथियों १:३१)

ऐलेक्सोमेनोस उसके ईश्वर की आराधना करता है। बाइबल की भविष्यवाणयों में बताया गया हैं कि लहरे कापेंगी धरती हिलायी जायेगी चंद्रमा लहू बन जायेगा बौर सारी इमारते चटटाने पहाड़ टुकड़े हो जायेंगे। धरती का साम्राज्य पिघल जायेगा और मनुष्य भय के मारे चटटानो की खोह में छिप जायेगा। और वे सब गलत ठहराये जायेंगे। और वह लड़का सही सिद् हुआ। “ऐलेक्सोमेनोस विश्वसनीय है” क्या आप उसके परमेश्वर में विश्वास करेगे? क्या आप यीशु में और उसके पवित्र लहू में आपके सारे पापों के धोये जाने का विश्वास करेगे? मेरी प्रार्थना है कि आप करें। उसी के नाम में मांगते है आमीन।

अगर इस संदेश ने आपको आशीषित किया है तो डॉ हिमर्स को इस पते पर rlhymersjr@sbcglobal.net ई मेल भेजिये। आप डॉ हिमर्स को किसी भी भाषा में ई मेल भेज सकते हैं पर अंगेजी भाषा में भेजना उत्तम होगा।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

संदेश के पूर्व ऐबेल प्रुद्योमे ने बाइबल पाठ पढ़ा: १ कुरूंथियों १:२६ − ३१
संदेश के पूर्व बैंजामिन किन्केड गिफिथ द्वारा एकल गीत गाया गया:
(“मैजेस्टक स्वीटनेस सीटस एनथ्रान्ड” (सेमुयेल स्टेन १७२७−१७९५)