Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




स्वर्ग और नरक

HEAVEN AND HELL
(Hindi)

द्वारा डॉ.आर.एल.हिमर्स
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

गुरूवार की शाम, ३जुलाई, २०१४ को लॉस एंजीलिस के दि बैपटिस्ट टैबरनेकल में प्रचार किया गया संदेश
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Thursday Evening, July 3, 2014

''और मैं तुम से कहता हूं कि बहुतेरे पूर्व और पश्चिम से आकर इब्राहीम और इसहाक और याकूब के साथ स्वर्ग के राज्य में बैठेंगे। परन्तु राज्य के सन्तान बाहर अन्धियारे में डाल दिए जाएंगे: वहां रोना और दांतों का पीसना होगा।'' (मत्ती ८ : ११−१२)


इस पदयांश के दो भाग हैं। प्रथम भाग बहुत अदभुत है, और दूसरा भाग भयानक। जबकि, दोनों भाग ही सत्य हैं, मैं आज रात इन दोनों भागों पर ही प्रचार करूंगा।

१. प्रथम, इसमें स्वर्ग की प्रतिज्ञा दी गई है।

''और मैं तुम से कहता हूं, कि बहुतेरे पूर्व और पश्चिम से आकर इब्राहीम और इसहाक और याकूब के साथ स्वर्ग के राज्य में बैठेंगे.......... '' (मत्ती ८ : ११)

मि.आँलिवके ने फादर्स डे के दिन जो खूबसूरत वीडियो बनाया वह हमने देखा। उन्होंने उसमें और भी कुछ जोडा है, जो आप हमारी वेबसाईट के आगे वाले पेज पर देख सकते हैं। पूरे विश्व भर से हमें ई-मेल प्राप्त हो रही हैं जिनमें यह बताया गया है − कि इस वीडियो ने लोगों को कैसे आशिषित किया है, इसमें हमारी चर्च इमारत के उपर बंधक रखी वस्तु का जलाया जाना भी दिखाया गया है। तस्वीरे देखकर उन्हें जो आनंद प्राप्त हुआ है उन्होंने उस पर भी टिप्पणी की है। वे इतने सारे कई जातियों के लोगों को एक साथ हंसते हुये व गाते देख बहुत अधिक प्रसन्न हुये। वे नहीं जानते हम यह कैसे कर सके। ईमानदारी से कहूं, मैं भी नहीं जानता यह कर्ज कैसे खत्म हुआ! हमारा चर्च स्वयं परमेश्वर का चमत्कार है! और हां, यह सब आप लोगों के अथक परिश्रम का नतीजा है। जो मसीह में आप करते आये हैं। परमेश्वर आप सभों को आशिष देवे!

इस चर्च में इतनी जातियों के लोग जमा हैं! सचमुच, यीशु ने कहा था, ऐसा स्वर्ग में होगा! ''कि बहुतेरे पूर्व और पश्चिम से आकर......... स्वर्ग के राज्य में बैठेंगे..... ।'' क्या हमको यह कुछ अजीब नहीं लगता − क्योंकि हम सब मसीह में एकत्रित किये गये हैं − जैसे स्वर्गिक राज्य में दुनियां के कोने कोने से लोग एकत्रित किये जायेंगे!

पर ध्यान दीजिये यीशु ने कहा, ''बहुतेरे हैं जो आयेंगे।'' मैं जानता हूं कि कभी कभी यह लगता है कि कुछ ही लोग प्रवेश करेंगे। हम ऐसे अंधकार पूर्ण व शैतानियत भरे शहर में रहते हैं। हम ऐसे कठोर व स्वार्थी देश में रहते हैं। जहां हर साल लगभग डेढ मिलियन बच्चे मौत के घाट उतार दिये जाते हैं। फिर भी चर्च खामोश है! मैं चार जुलाई के दिन मूर्तिपूजन अमेरिका के उपर दो शब्द भी नहीं कह सका। हम जो बन गये है उससे मेरे दिल को चोट पहुंचती है। किंतु अमेरिका एक दिन समाप्त हो जायेगा और भुला दिया जायेगा − किंतु परमेश्वर के लाखों लोग स्वर्ग के राज्य में आनंद मनायेंगे! वह हमारा सच्चा घर होगा! वह हमारा वास्तविक देश होगा! वह परमेश्वर के अधीन एक देश होगा!

उस शहर में किसी का दिल न दुखेगा,
   आंखो से आंसू न बहेंगे;
स्वर्ग में निराशा का नामो निशान नहीं,
   आकाश में कोई शत्रुता या संघर्ष;
संत पूर्ण रूप से पवित्र होंगे,
   वे मधुर संगति में वहां निवास करते हैं;
मेरा दिल अब उस शहर पर लग गया है,
   किसी दिन उसकी किसी दिन उसकी आशिषों में भागी हूंगा।
उस चमकीले शहर, मोतियों जैसे श्वेत शहर में,
   वहां मेरा घर वस्त्र और मुकुट हैं;
अब मैं राह तकता हूं, मेरी दिली इच्छा है,
   उस श्वेत शहर में में जा बसूं जो शीघ्र नीचे आने वाला है।
(''पर्ली व्हाइट सिटी'' आर्थर एफ.इगलर, १८७३−१९३५)

वहां थोडे लोग नहीं होंगे! परमेश्वर कहता है, ''हर एक जाति, और कुल, और लोग और भाषा में से एक ऐसी बड़ी भीड़, जिसे कोई गिन नहीं सकता था'' स्वर्गिक राज्य में खड़ी है। (प्रकाशितवाक्य ७:९)

उस चमकीले शहर, मोतियों जैसे श्वेत शहर में,
   वहां मेरा घर वस्त्र और मुकुट हैं;
अब मैं राह तकता हूं, मेरी दिली इच्छा है,
   उस श्वेत शहर में में जा बसूं जो शीघ्र नीचे आने वाला है।

''और मैं तुम से कहता हूं, कि बहुतेरे पूर्व और पश्चिम से आकर इब्राहीम और इसहाक और याकूब के साथ स्वर्ग के राज्य में बैठेंगे....... ।''

वे पहुंचेंगे! वे पहुंचेंगे! स्वर्ग और प्रथ्वी और नरक भी उन्हे आगे बढने से रोक नहीं सकता! आप सोचते हैं कि उनका आना कठिन होगा − पर मैं कहता हूं कि उनको आने से रोकना असंभव होगा। सुनामी की विशाल लहरों के समान यीशु का अनुग्रह अपने चुने हुए लोगों को उसके राज्य में प्रवेश देगा। सारे संशय दूर हो जायेंगे! सारे डर मिट जायेंगे! सारे दोष जाते रहेंगे! ''वे आयेंगे हाल्लेलूयाह! वे आयेंगे हाल्लेलूयाह!''

अभी यीशु के पास आइये, वह आपको बाहर नहीं निकालेगा, जो उसके पास आता है वह प्रत्येक को बचायेगा।

भले ही नष्ट हो जाउं पर मैं जाउंगा;
   मैंने कोशिश करने की ठानी है,
अगर मैं मसीह से दूर रहूं
   मैं सदा के लिये मर जाउंगा।

सचमुच उस श्वेत नगर में जाना मत भूलिये! हमारे साथ यह गाना मत भूलिये,

उस चमकीले शहर, मोतियों जैसे श्वेत शहर में,
   वहां मेरा घर वस्त्र और मुकुट हैं;
अब मैं राह तकता हूं, मेरी दिली इच्छा है,
   उस श्वेत शहर में में जा बसूं जो शीघ्र नीचे आने वाला है।

२. दूसरा, नरक के विषय मे चेतावनी।

दुख की बात है हमें आपको पद का दूसरा भाग भी बताना पड़ रहा है। मैं इस भाग को बताना नहीं चाहता! किंतु इसे प्रचार करना मेरा कर्तव्य है।

''परन्तु राज्य के सन्तान बाहर अन्धियारे में डाल दिए जाएंगे, वहां रोना और दांतों का पीसना होगा।'' (मत्ती ८ : १२)

हमारे घर के सामने से एक बूढा आदमी रोज जोगिंग करता हुआ निकलता था उसकी टोप में पंख लगे होते थे। वह अपनी पत्नी के साथ प्रति वर्ष लंबी लंबी छुटिटयां साउथ अमेरिका में बिताया करता था। उसके घर के आंगन में पीछे एक स्वीमिंग पुल भी था। हमारे घर में कर्टिस गोल्डमैन नामक प्रचारक ठहरे हुये थे जब यह बूढा सुबह जॉगिंग पर निकला। प्रचारक गोल्डमैन गली में पहंचकर उसे अपनी गवाही देने लगे, किंतु वह भाग गया, जैसे उसके पीछे कोई भूत पड़ गया हो। गोल्डमैन भी उसके पीछे चिल्लाते हुये भागे, ''रूको! तुम नरक जाओगे, बूढे आदमी! ठहरो! तुम नरक जा रहे हो!'' किंतु पंखो वाली टोप पहने वह बूढा आदमी भाग गया। फिर वह बूढा आदमी सो नहीं पाया। उसने अपना स्वीमिंग सूट पहना और पुल में तैरने ही वाला था, किंतु इसी बीच उसका पैर फिसला और सिर टकराया और वह पुल के अंदर गिर पडा − सुबह २ बजे की बात थी। किसी ने अगली सुबह उसका ठंडा पड़ा शव पानी में तैरते हुये देखा। अंतिम शब्द जो उसने किसी प्रचारक से सुने थे वह यह थे − ''ठहरो! तुम नरक जा रहे हो, बूढे आदमी! ठहरो! तुम नरक जा रहे हो!'' वह एक अच्छा आदमी था। मैं उसे पसंद करता था। मुझे जब मेरी पत्नी इलियाना ने बताया कि वह मर गया है तो मुझे बेहद दुख हुआ यह जानकर कि वह कैसे मरा। यह पैराग्राफ लिखने से पूर्व ही मैंने उसके बारे में सुना।

इस ख्याल को यूं ही मत झटक दीजिये कि वह बूढा आदमी था − और आप अभी जवान हैं! यह सोचने की हिम्मत मत कीजिये। मैं प्रतिदिन सुबह दो अखबारों के श्रद्धांजली वाले कॉलम पढता हूं। मैंने काटूर्न्स पढना बंद कर दिये हैं। हम उनको ''मजेदार अखबार'' कहा करते थे। किंतु वे मजेदार नहीं थे। वे उदास करने वाले और आशाहीन अखबार हैं − बिल्कुल ऐसे उदास और आशाहीन अखबार जैसे मेरे शहर के अच्छे घरों में रहने वाले एकांकी जीवन जीने वाले बूढे लोग। जवानों, अपने पिता या माता को अकेले मत रहने दो। ऐसे अकेले रहना बड़ा घातक है। मेरे सामने परमेश्वर से वायदा करो कि तुम अपने बूढे मां बाप को जब वे अकेले हो जायेंगे तब अपने साथ घर में ही रखोगे। मुझसे वायदा करो! अपने माता पिता को अकेलेपन की, बूढी अवस्था में जीवन मत बिताने दो। आपके फोन कर देने से या सिर्फ कुछ पंक्तियों का मैसेज भेज देने से कुछ नहीं होगा! अपनी मां या पिता को जब उनके जीवन साथी मर जायें तो अपने साथ रखिये। उन्हें यह संदेश सुनाइये ''स्वर्ग या नरक''। माता पिता की चिंता करना एकमात्र मसीही कर्तव्य है जो आपको करना है! कम से कम कोशिश तो कीजिये! परमेश्वर के लिये अपनी मां को अकेले मत मर जाने दीजिये − जबकि आप अपना जीवन अकेले आराम से गुजार रहे हो। अगर आपने ऐसा किया तो आप वही काटोगे, जो बोओगे। आप भी एकाकी जीवन मरोगे, और केवल नरक जाओगे, जैसे कल वह बूढा आदमी मर कर नरक पहुंचा, जब उसका पैर फिसला और वह स्वीमिंग पुल में गिर गया।

''परन्तु राज्य के सन्तान बाहर अन्धियारे में डाल दिए जाएंगे वहां रोना और दांतों का पीसना होगा।'' (मत्ती ८ : १२)

आज रात मैं आप में से कुछ लोगों से बात करूंगा जिनकी मां जीवित है। आपमें से कुछ अपनी बेचारी मांओ के दिल को तोड़ रहे हैं। हम ने अपनी मां को हमारे साथ घर में रखा और मेरी पत्नी बडे प्रेम से उनकी देखभाल करती थी, और हम ने उनके जीवन के अंतिम चार सालों में उनकी बडे प्रेम से देखभाल की। किंतु आज रात मैं चर्च के जवानों से कहता हूं अपनी मां का दिल न तोडें और असमय ही उनके बालों को सफेद न होने दें। आप बार बार वही करते जाते हो, जो आपकी मां का दिल रात को तोड़ देता है! वह तो आपसे कुछ नहीं कहेगी किंतु आप ही उसकी एकमात्र आशा हैं। उसने अपना जीवन आप पर कुरबान कर दिया। आप अच्छा जीवन जी सको इसलिये उसने सुबह से रात तक गुलामों जैसा काम करके आप की परवरिश की है। किंतु जब उसने केवल एक चीज आपसे मांगी तो आपने वही उसको देने से इंकार कर दिया! वह तो आपको कहती भी नहीं क्योंकि वह आपको इतना प्यार करती है कि वह आपको उदास करना नहीं चाहती। पर सचमुच, वह चाहती है कि आप यीशु पर विश्वास लाये ताकि जब आप यीशु के नाम में बपतिस्मा लें तो वह आपके बचाये जाने की खुशी में आनंद मना सके! क्या आप अपनी बेचारी मां को अपने नये जीवन का उपहार भी नहीं दे सकते? इसके बगैर वह यही समझेगी कि उसका जीवन तो मानो व्यर्थ गया, अगर आपने यीशु को ग्रहण नहीं किया, बपतिस्मा नहीं लिया और इस बात का गर्व अपनी मां को नहीं होने दिया।

भले ही आपकी मां मसीही हो या नहीं हो, आपसे निवेदन है कि, परमेश्वर के लिये जवान बच्चों − यीशु के पास अभी इसी समय आईये, जबकि आपकी उम्र और दिल अभी नाजुक है। बिना मसीह के जीवन जियेंगे − तो आखिर में आप मसीह का नाम सुनते ही भाग खडे होंगे − जैसे वह पंखो वाली टोप लगाये बूढा आदमी भाग रहा था − अगर आज मसीह को कच्ची उम्र में नहीं स्वीकारोगे तो − शायद नरक में मरना पडे, शायद स्वीमिंग पुल में, पानी के अंदर डूब जाओगे, बाहर दुनियां के अंधकार में डूब जाओगे, जहां आपकी जीभ को ठंडा करने के लिये एक बूंद पानी भी नहीं मिलेगा जो अनंत आग में आपको आराम दे।

स्पर्जन ने एक महिला के बारे में बताया जिसने अपना सपना अपने बच्चों को सुनाया। उसने सपना देखा कि न्याय दिवस आ पहुंचा है। बड़ी पुस्तकें खोली गई और परमेश्वर ने कहा, ''जिनका नया जन्म नहीं हुआ उन्हे बायीं तरफ रखो, और जो नये जन्में हैं उन्हे दायीं ओर रखो।'' एक स्वर्गदूत आया और मां को यह कहते हुये ले जाने लगा कि, ''वह एक सच्ची मसीही महिला है और उसे दायीं ओर जाना चाहिये! किंतु उसके बच्चों ने नया जन्म प्राप्त नहीं किया है अत: वे बकरियों के समान हैं। उन्हें बायी ओर खड़े रहना चाहिये।'' मां ने सपना देखा कि बच्चे रो रहे थे और कह रहे थे, ''मां, क्या हमें आपको छोड़ना पड़ेगा'' मां ने उन्हे गले लगाते हुये कहा कि, ''मेरे बच्चों, काश यह संभव होता कि मैं तुम्हे अपने साथ ले जाती। किंतु तुमने यीशु पर विश्वास नहीं किया इसलिये अब यह संभव नहीं है। मैंने तुमसे विनती की थी कि तुम उस पर विश्वास लाओ तो बचाये जाओगे, पर तुमने मेरी नहीं सुनी और न आज्ञा मानी।'' अब मां के आंसू, बच्चों के प्रति नैसर्गिक प्रेम से उपर उठकर, सूख गये थे। वह परमेश्वर की शांति से भर गई थी और ईश्वर की इच्छा के आगे श्रद्धावनत थी। वह बच्चों की ओर मुड़ी और कहने लगी, ''मैं तुम्हे चर्च ले जाती थी। मैंने तुम्हे घर पर बाईबल पढाई। मैं तुम्हारे लिये रात में प्रार्थना करती थी। तब भी तुमने यीशु को नहीं माना। अब तुम्हारे अनंत दंड के लिये मैं आमीन से आगे क्या कह सकती हूं।'' तब स्वर्गदूत मां को अलग ले गये और मां ने अपने बच्चों को, नरक की अनंत आग में डाले जाते हुये देखा।

जवान बच्चों, आप क्या सोचते हो, जब अंतिम दिन आयेगा, और आप मसीह की आवाज सुनोगे, यहां से जाओ, हे शापित लोगों, उस नरक की आग में जाओ।'' और तब कोई आवाज आयेगी जो कहेगी, ''आमीन'' जब तुम जानना चाहोगे कि आमीन किसने कहा, तो आप पाओगे वह आपकी मां है। सचमुच, हे जवान लडकियों, जब आप नरक के अंधेरे में डाल दी जाओगी तो आप एक आवाज सुनोगी, ''आमीन,'' और आप पाओगी कि यह आपके पिता की आवाज थी।

कई भटके हुये लोग शराबी, वेश्या, समलिंगी जिन्होने नया जन्म पा लिया है और नशीली दवायें लेने वाले पापी लोग स्वर्ग में जायेंगे। और ''उसके राज्य की संतान'' के भ्रम में जीने वाले, तुम बच्चे, जो जीवन भर नियम से चर्च आते रहे, किंतु यीशु को कभी नहीं अपनाया, तुम नरक के अंधकार और आग में फेंक दिये जाओगे। तब सदा के लिये तुम्हारे लिये कोई आशा नहीं रहेगी − सदा काल − सदाकाल तुम्हारे लिये कोई उम्मीद नहीं रहेगी! तुम सदा के लिये नष्ट किये जाओगे!

किंतु इस भयानक दशा से बचना आसान है! आपको केवल यीशु पर विश्वास लाना है − यह बहुत सरल है − बहुत आसान है − ''केवल उस पर विश्वास कीजिये, केवल उस पर भरोसा कीजिये, केवल उस पर विश्वास अभी लाइये!'' वह आपको बचायेगा, वह आपको बचाएगा, वह अभी आपको बचाएगा। केवल उस पर भरोसा कीजिये और उसके क्रूस पर बहाये गये लहू से आपके पाप साफ हो जायेंगे! मसीह के क्रूस के पास आईये और उसके लहू में साफ हो जाइये! यह संदेश थोड़ा थोड़ा सी.एच.स्पर्जन ''जो प्रचारकों का राजकुमार'' कहलाते थे, उनसे लिया गया है, जब उन्होंने इक्कीस वर्ष की उम्र में एक बडी भीड को यह संदेश दिया था। वह आपको बताने वाले पहले शख्स होंगे कि यह गीत कितना सत्य है,

क्रूस पर आपके लिये जगह है,
   क्रूस पर आपके लिये जगह है,
यद्यपि लाखों आ चुके हैं, पर फिर भी जगह बाकि है −
   हां, क्रूस पर आपके लिये जगह है।
(''रूम एट दि क्रास फार यू'' एस.एफ.स्टेनफिल १९१४−१९९३)

क्या आप यीशु के लहू से अपने पापों को धोने के विषय में हमसे बात करना चाहेंगे? अगर ऐसा है तो अभी पूछताछ कक्ष में जाइये। आमीन

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।


रूपरेखा

स्वर्ग और नरक

द्वारा डॉ.आर.एल.हिमर्स

''और मैं तुम से कहता हूं, कि बहुतेरे पूर्व और पश्चिम से आकर इब्राहीम और इसहाक और याकूब के साथ स्वर्ग के राज्य में बैठेंगे। परन्तु राज्य के सन्तान बाहर अन्धियारे में डाल दिए जाएंगे: वहां रोना और दांतों का पीसना होगा।'' (मत्ती ८: ११−१२)

१. प्रथम, इसमें स्वर्ग की प्रतिज्ञा दी गई है, मत्ती ८ : ११;
प्रकाशितवाक्य ७:९

२. दूसरा, नरक के विषय मे चेतावनी मत्ती ८ : ११