Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




परमेष्‍वर का न्‍याय-एक भयानक बात है

GOD’S JUDGMENT – A FEARFUL THING
(Hindi)

द्वारा डा0आर.एल.हिमर्स, जूनियर
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

रविवार की प्रातः 17 नवंबर 2013,
को लॉस एंजेल्‍स के टेबरनेकल में दिया गया संदेष।
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Evening, November 17, 2013


अभी-अभी डा0जॉन आर.राईस द्वारा लिखित गाना मि0ग्रिफिथ ने प्रस्‍तुत किया,इस प्रकार के गीतों को गाये जाने की आवष्‍यकता हमारे चर्चेस में है। वर्तमान में, परमेष्वर के न्‍याय से संबंधित बहुत कम गीत चर्च में गाए जाते हैं। प्‍यूरिटन्स नरक से संबंधित गीत गाते थे। किंतु वर्तमान में इंवेजलिकल स्‍वंय को बडा विद्वान व विवेकी समझने लगे हैंं। इस प्रकार के गीत गाने में वे झिझकते हैं और ऐसे गीतों को वे गाते भी नहीं है। ष्‍ोक्‍सपियर के पक ने कहा था कि, ‘‘ये नाषमान प्राणी भी कितने मूर्ख हैं।'' यही बात वह आजकल के आगे बढ रहे इंवेजलिकल्स को भी कह सकता है। इस खोए हुए संसार में ये इंवेजलीकल्स 40 वर्ष पीछे है। इन्‍होंने चालीस वर्ष पूर्व वॉन डायक की दाढी रखना आरंभ कर दिया था। आजकल के ये ‘‘प्रगतिषील'' इंवेजलीकल्स दाढी रख रहे हैं - किंतु इससे वे इतने चुस्त नहीं हो जाते कि स्‍वयं को ‘‘वॉन डायक'' कह सके। वे अपनी छदम-प्रबुद्धता में स्‍वयं को ‘‘बकरे की दाढी'' रखने वाला कहलाने वाला पसंद करते हैं।

लगभग चालीस वर्ष पूर्व इस विष्व में धूम्रपान - विरोधी अभियान प्रारंभ हुआ था। बुद्धिमान जन धूम्रपान नहीं करते हैं। जबकि, ये नये इंवेजलिकल जो ‘‘प्रगतिषील'' कहलाते हैं उन्‍होंने धूम्रपान करना प्रारंभ कर दिया है, उनका ऐसा मानना है। व्‍हीटन कॉलेज, जहां बिलीग्राहम ने स्‍नातक की षिक्षा प्राप्त की थी और डॉ0जॉन आर.राईस की सभी छः पुत्रियों ने स्‍नातक उपाधि प्राप्त की थी, अब इसी कॉलेज ने अपने विद्यार्थियों को धूम्रपान करने की अनुमति दे दी। और क्‍या आपको पता है कि पिछले महिने ही मूडी बाईबल इन्‍स्‍टीटयूट षिकागो ने याचिका पर अमल करते हुए, धूम्रपान पर से प्रतिबंध हटा दिया? और क्रिष्‍चियनिटी टू डे के ताजे अंक पर बडा सा, सिगार बना हुआ है - यह इस बात का संकेत है कि सिगरेट पीना बहुत अच्‍छी व विद्वतापूर्ण गतिविधि है - जैसे सी.एस.लेविस, पाईप पीते थे। प्रबुद्धता दिखाने के चक्कर में नये इवेंजलीकल धूम्रपान का रास्‍ता अपना रहे हैं जब कि - विष्व ने इसे चालीस वर्ष पहले छोडना प्रारंभ कर दिया था।

चर्च में मसीही गीत या भजन गाना पुरानी बात हो गई। कलीसिया एक ही उथली कोरस को बार-बार गाती रहती है जब तक कि उपस्‍थित लोगों में से एक एक में थोडा पागलपन न दिखाई दे। ऐसा गीत गंवाने के द्वारा वे उन्‍हें संदेष के लिये ‘‘तैयार'' करते हैं। ऐसा प्रतीत होता है कि वे उन्‍हें सोने के लिये तैयार कर रहे हों, जो कि अधिकतर लोग उनके मृदु ‘‘बाईबल अध्ययन'' के दौरान करते हैं। तो कहने का अर्थ यह है कि आजकल चर्चेस में कोई नरक जाने से संबंधित गीत नहीं गाता। बाईबल में सर्वत्र नरक जाने से संबंधित चेतावनी दे रखी है - किंतु संसारी इंवेजलिकल्स आजकल इन चेतावनियों के विषय में गाना ही नहीं चाहते - और ये निष्‍चित है कि वे उन पर प्रचार भी नहीं करना चाहते! डा0राईस ने अंतिम न्‍याय के ऊपर यह गाना लिखकर एक महान कार्य किया है,

तब तुम यीषु को क्‍या, कहोगे,
   जब तुम्‍हारे जीवन भर का न्‍याय हो
और जो तुमने अपने मुक्‍तिदाता का इतने सालों इंकार किया
   उस अंतिम घडी में तुम क्‍या उत्तर दोगे
जब उसकी सामर्थ में न्‍याय का सामना करोगे,
   तुम्‍हारे लेखा सामने होगा और तुम उत्तर दोगे आंसुओं के साथ?
तब तुम क्‍या कहोगे? तब तुम क्‍या बोलोगे?
   अगर (ईष्वर) का सामना करते हो उस दिन बिन माफी?
तब तुम क्‍या कहोगे? तब तुम क्‍या बोलोगे?
   प्रभु का सामना करना है उस दिन को पहले क्‍यों घृणित जाना?
(‘‘तब तुम क्‍या कहोगे?‘‘ द्वारा डॉ0जॉन आर.राईस,1895-1980)

कृपया मेरे साथ बाईबल में से इब्रानियों 10:31 निकाल लीजिये - और परमेष्वर का वचन पढने के लिये खडे हो जाईये।

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथ में पडना भयानक बात है'' (इब्रानियों 10:31)

कृपया बैठ जाइये।

यह एक महत्‍वपूर्ण पद है, विष्‍ोषकर इस वर्तमान समय के लिये। बाईबल कहती है,‘‘उन की आंखों के सामने परमेष्वर का भय नहीं''(रोमियों 3:18) हमें परमेष्वर से भय रखने वाले लोग नहीं मिलते! कभी नहीं! कोई अपवाद नहीं! ‘‘उन की आंखों के सामने परमेष्वर का भय नहीं,‘‘ परन्‍तु, फिर भी, हमारा पद यह कहता है,'' जीवित परमेष्वर के हाथ में पडना भयानक बात है‘‘(इब्रानियों10:31) इस तरह बाईबल आधुनिक आदमी छदम प्रबुद्धता से परमेष्वर के प्रति उसकी अनभिज्ञता से विरोधाभास रखती है। बाईबल बहुत ही ऊंचे षब्द से व स्‍पष्ट कहती है,

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथ में पडना भयानक बात है'' (इब्रानियों 10:31)

यद्यपि आधुनिक आदमी, ‘‘की आंखों के सामने (परमेष्वर) का कोई भय नहीं,'' वह अपनी जगह गलत है - बिल्‍कुल गलत। और आज की रात मैं कुछ मिनिट एक तार्किक दिमाग को समझाने के लिये लूंगा कि सचमुच, ‘‘जीवित परमेष्वर के हाथ में पडना भयानक बात है।'' मैं आपको भावुक नहीं करना चाहता। यह संदेष आपको एक तार्किक व सही बात इस सत्य के लिये देगा कि ‘‘जीवित परमेष्वर के हाथों में पडना एक भयानक बात है।''

1. प्रथम, यह स्‍वयं परमेष्वर द्वारा सिद्ध किया गया है।

ध्‍यान दीजिये कि यह पद कहता है कि ‘‘जीवित परमेष्वर'' के हाथ में पड़ना ‘‘भयानक'' बात है। हम सभी जानते हैं कि इस संसार में अनेक ‘‘मृत'' देवता हैं। मिस्र में मेरी पत्‍नी और मैं कर्णक के मंदिर में गये। यह उस दिन की बहुत षानदार इमारत थी। परन्‍तु हरेक जन यह जानता था कि उस प्राचीन मंदिर की दीवारों पर लगी देवताओं की तस्‍वीरें मृत देवताओं की थी। उदारवादी प्रोटेस्‍टैंट लोगों का ‘‘देवता'' भी एक मृतक देवता है। डॉ0एडवर्ड जॉन कारनेल फुलर थियोलॉजिकल सेमिनरी के एक प्रसिद्ध प्रोफेसर थे। सन 1959 में डॉ0कारनेल ने ‘‘द केस फॉर अॉर्थोडाक्स थियोलोजी'' के नाम से एक पुस्तक लिखी। यह पुस्तक यह दर्षाती है कि फुलर सेमनरी 1959 तक लगभग नष्ट हो चुकी थी। यह पुस्तक यह षिक्षा देती थी कि एक प्रजाति से दूसरी प्रजाति का जन्म हुआ; यह षिक्षा देती थी कि बाईबल के सभी भाग बराबरी से प्रेरित नहीं है; यह मसीह के द्वितीय आगमन पर भी प्रहार करती है; और इसने विकृत व गलत ढंग से अनुवादित उदारवादी आर.एस.वी.बाईबल का भी प्रचार किया। लगभग डेढ वर्ष बाद मैंने डॉ0चार्ल्स वुडब्रिज का संदेष सुना। डॉ0वुड ब्रिज ने कारनेल द्वारा बाईबल के ऊपर प्रहार किये जाने से खफा होकर फुलर सेमनरी छोड दी थी। उन्‍होंने कारनेल के उदारवादी मत के विरूद्ध प्रचार किया। मैं डॉ0वुडब्रिज के उसी संदेष के दौरान ही बचाया गया। मै यह जानता था कि एडवर्ड जॉन डॉ0 कारनेल का ‘‘देवता'' मेरा परमेष्वर नहीं था। डॉ0 कारनेल ने कुछ वर्षों पष्‍चात केलीफोर्निया के ओकलैंड के एक होटल में आत्‍महत्‍या कर ली। उसका ‘‘देवता'' मेरा परमेष्वर नहीं था! मेरा परमेष्वर ‘‘जीवित परमेष्वर'' था और है।

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथ में पडना भयानक बात है'' (इब्रानियों 10:31)

फुलर थियॉलाजिकल सेमनरी के मृतक देवता के हाथों में पडना भयानक बात नहीं है! ओह, बिल्‍कुल भी नहीं! रॉब बेल ने फुलर से स्‍नातक पास की - और उसी ने यह पुस्तक लिखी लव विन्स (हार्पर वन, 2011)। इस पुस्तक में रॉब बेल ने लिखा था कि बाईबल में ‘‘नरक में दंड मिलेगा'' का सनातन सिद्धांत ‘‘गलत दिषा देने वाला व जहरीला'' है (पृष्ठ 8)। यह उसने फुलर में सीखा था। उसका देवता निस्‍संदेह मेरा देवता नहीं है! उसका देवता ‘‘जीवित परमेष्वर'' नहीं है।

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथ में पडना भयानक बात है'' (इब्रानियों 10:31)

2. दूसरा, परमेष्वर ने पूर्व काल में जो किया वह इसे प्रमाणित करता

पूर्व काल में परमेष्वर ने जिस प्रकार से न्‍याय किया, वह उसके जीवित परमेष्वर होने के गुण को दर्षाता है। स्‍पर्जन ने कहा था, ‘‘अब्राहम का परमेष्वर, जैसा पुराने नियम में प्रगट हुआ वह (उदारवादियों के) आधुनिक सपनों वाल,े वैष्‍विक पिता से कहीं अलग है क्‍योंकि वह अपोलो या बकुस से निकला है'' (सी.एच.स्‍पर्जन, ‘‘आने वाला न्‍याय एक भयानक बात है'')

‘‘जीवित परमेष्वर'' ने बाईबल में संपूर्ण मानव जाति को उसके पाप के कारण बडी बाढ में नष्ट कर दिया था,

‘‘बाईबल कहती है,और यहोवा ने देखा, कि मनुष्‍योंकी बुराई पृथ्‍वी पर बढ गई है, और उनके मन के विचार में जो कुछ उत्‍पन्न होता है सो निरन्तर बुरा ही होता है...... और यहोवा प्रथ्‍वी पर मनुष्‍यों को बनाने से पछताया, और वह मन में अति खेदित हुआ।'' (उत्‍पत्‍ति 6:5-7)

पुनः, प्रेरित पतरस ने बताया कि परमेष्वर ने सदोम व अमोरा को नष्ट कर दिया। पुनः परमेष्वर ने, मिस्र के समस्त पहिलौठों को एक ही रात में मार डाला। पुनः, परमेष्वर ने फिरौन और उसकी सारी सेना को लाल समुद्र में डुबो कर नष्ट कर डाला। पुनः,हिब्‍बी, यबूसी व अन्य राष्‍ट्र परमेष्वर की आज्ञा से तलवार की नोक से गिराये गये। ‘‘ जो उससे बैर रखते है (वह) उनके देखते उनसे बदला ले कर नष्अ कर डालता है; अपने बैरी के विषय में देर नहीं करेगा, उसे देखते ही मार डालेगा'' (व्‍यवस्‍थाविवरण 7:10)

‘‘जो उससे बैर रखते है (वह) उनके देखते उनसे बदला ले कर नष्ट कर डालता है; अपने बैरी के विषय में देर नहीं करेगा, उसे देखते ही मार डालेगा'' (व्‍यवस्‍थाविवरण 7:10)

पुनः और पुनः बाईबल सिखाती है,

‘‘जीवते परमेष्वर के हाथों में पडना भयानक बात है।'' (इब्रानियों 10:31)

3. तीसरा, यह स्‍वयं यीषु के कहने के द्वारा सिद्ध

बाईबल सिखाती है कि यीषु मसीह मानव रूप में परमेष्वर है, परमेष्वर स्‍वयं अवतरित हुए। यह सत्य है कि बाईबल में नरक के बारे में इतनी भयानक बातें स्‍वयं प्रभु यीषु मसीह के अतिरिक्त किसी ने नहीं कही। यहां कुछ पद लिखे गये हैं जो अनंत न्‍याय के विषय में यीषु ने कहे थे।

‘‘जो षरीर को घात करते हैं, पर आत्‍मा को घात नहीं कर सकते, उनसे मत डरना; पर उसी से डरो, जो आत्‍मा और षरीर दोनों को नरक में नाष कर सकता है।'' मत्‍ती 10:28

पुनः, यीषु ने कहा,

‘‘जगत के अन्त में ऐसा होगाः स्‍वर्गदूत आकर दुष्‍टों को धर्मियों से अलग करेंगे और उन्‍हे आग के कुंड में डालेंगे। वहां रोना और दांत पीसना होगा।'' (मत्‍ती 13:49-50)

पुनः मत्‍ती के बाइसवें अध्‍याय में, यीषु ने बताया कि परमेष्वर (राजा) क्‍या कहेगा,

‘‘तब राजा ने सेवकों से कहा, इस के हाथ पांव बांधकर उसे बाहर अंधियारे में डाल दो; वहां रोना, और दांत पीसना होगा।'' (मत्‍ती 22:13)

तब, मरकुस, अध्‍याय 9, में यीषु ने तीन बार नरक एक स्‍थान के रूप में वर्णन किया,

‘‘जहां उन का कीडा नहीं मरता और आग नहीं बुझती।'' (मरकुस 9:44)

पुनः,

‘‘जहां उन का कीडा नहीं मरता और आग नहीं बुझती।'' (मरकुस 9:46)

और फिर ,

‘‘जहां उन का कीडा नहीं मरता और आग नहीं बुझती।'' (मरकुस 9:48)

मैं आपको केवल कुछ आयतें दे रहा हूं जहां यीषु ने नरक के विषय में बताया, ताकि आप सत्य को पहचान लें कि,

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथों में पडना भयानक बात है।'' (इब्रानियों 10:31)

यीषु ने इस बात को बिल्‍कुल स्‍पष्ट कर दिया जब उसने लूका के सोलहवें अध्‍याय में धनवान व लाजर की कहानी कही। धनवान व्‍यक्‍ति मर गया,

‘‘और अधोलोक में उस ने पीडा में पडे हुए अपनी आंखें उठाई, और दूर से इब्राहीम की गोद में लाजर को देखा।'' (लूका 16:23)

और पुनः, यीषु ने कहा वह धनवान आदमी रोया,

''मैं इस ज्वाला में तडप रहा हूं।'' (लूका 16:24)

मैं आषा करता हूं कि आप यह महसूस करते हैं कि यीषु दयालू मृदु व प्रेमी है। यही कारण है कि उसने नरक के विषय में इतनी सख्त चेतावनी दी। यीषु ने उसकी दया व हमारे प्रति प्रेम के कारण हमें आने वाले न्याय के प्रति चेताया, क्योंकि

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथों में पडना भयानक बात है।'' (इब्रानियों 10:31)

4. चौथा, यह पापी के जागरूक विवेक के द्वारा भी सिद्ध हुआ।

यह निष्चित है, कि अधिकतर लोग बाईबल में बताये गये परमेष्वर के न्याय को अस्वीकार करते हैं। और वे यीषु मसीह द्वारा परमेष्वर के न्याय को लेकर कही गई बातें भी अस्वीकृत करते हैं।

यह सत्य है कि मनुष्य अपने मानवीय स्‍वभाव में समस्त प्रमाण व चेतावनियों को अस्‍वीकार करता है। वे तब तक नहीं बदलेंगे जब तक कि परमेष्वर का आत्‍मा आकर उनकी आत्‍मा को न जगाये। उस समय तक पापी का विवेक ठीक से कार्य नहीं करता है। बाईबल इसी विषय में बताती है

‘‘जिन का विवेक मानो जलते हुए लोहे से दागा गया है'' (1तीमुथियुस 4:2)

पाप ने उनके विवेक को बारंबार नष्ट कर दिया है। यह इतनी बार दागा गया है कि यह ढंप गया है, और अगर ऐसा कहा जाये कि इतने दागदार तंतुओं के कारण अब यह ठीक से काम भी नहीं करता।

इस तरह वे अपने पाप से मुंह मोडने के लिये बहाने बनाते हैं। व अपने मनोवैज्ञानिक और सामाजिक बहाने पाप से मुंह मोडने के लिये बनाते हैं। वे अपनी पापमय दषा के लिये उनके माता पिता को उत्‍तरदायी ठहराते हैं। वे वातावरण को दोष देते हैं। वे परमेष्वर की न्‍याय की पुस्तक में अपने भयानक पापों के वर्णन के लिये जो चाहे सो बहाने गढते हैं।

किंतु यदि परमेष्वर ने उन्हें चुना है, तो वह अपनी आत्मा उन्हें पाप के प्रति जागृत करने के लिये भेजेगा। तब परमेष्वर का आत्मा, ‘‘(उन्हें) पाप के विषय में निरूत्तर करेगा (यूहन्ना 16:8)।'' तब वे उस जवान महिला जिसकी गवाही मैंने आज प्रातः आपको सुनाई थी, उसके सदृष महसूस करेंगे। स्मरण कीजिये उसने उसके पापों के बारे में क्या कहा

...मेरे पाप मुझमें ऐसे घर कर गये कि मैं उनसे दूर नहीं हो पा रही थी। मुझे आष्चर्य होता था, ‘‘मैं ये पाप कैसे कर पाई?'' ....ये पाप मेरे कुटिल व छली हृदय से निक्लकर आये....मैंने स्वयं को सब कुछ जानने वाले परमेष्वर जो मेरे बारे में सब जानता व यहां तक कि चर्च में किये गये मेरे कार्य भी, जो मेरे पापी, स्वार्थी स्वभाव वष किये गये थे उनको भी परमेष्वर जानता था। हर बार मैं जब चर्च जाती थी, स्वयं को कोढी जैसा समझती थी.....मुझे मसीह (बिल्कुल नापसंद) था।

मैं जानता हूं कि इस संसार के भटके हुए लोग यह सोचते हैं कि ऐसे दुखी विचार अजीब व अस्वाभाविक होते हैं। एक तरह से, वे सही भी हैं। मनुष्य अपने दिमाग की ‘‘साधारण'' व ‘‘स्वाभाविक'' दषा में कभी ऐसा नहीं सोचता। बाईबल कहती है ‘‘स्वाभाविक आदमी'' को पाप का कुछ भान भी नहीं होता। ऐसे मनुष्य की आत्मा को जगाने के लिये ईष्वर का कार्य संपन्न होता है। पाप के विषय में जागृत करने वाले विचार तभी आते हैं जब परमेष्वर का अनुग्रह आपके हृदय को खोलता है ताकि आप देख सको कि आप कितने पापी हो। जॉन न्यूटन ने अपने गीत,‘‘अमेजिंग ग्रेस,'' में लिखा था, ‘‘वह परमेष्वर का अनुग्रह था जिसने मेरे हृदय को भय मानना सिखाया।'' मसीही पुर्नजागरण को ‘‘जागना'' कहकर बुुलाते हैं। जब आप अपने हृदय की पापमय दषा से जाग जाते हो, तब आपका विवेक इस बात पर राजी हो जाता है कि,

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथों में पडना भयानक बात है।'' (इब्रानियों 10:31)

5. पांचवा, मसीह के दुख उठाने के द्वारा ताकि हम पाप से छुडाये जाऐं, यह सिद्ध हुआ।

महान स्पर्जन ने कहा था, ‘‘मसीह का दुख उठाना सब बातों से बढकर था, (पाप) बेहद दुखदायी बात है..........यह ऐसी बुराई है जिससे मुक्त होना संभव नहीं था सिर्फ परमेष्वर के प्रिय पुत्र के रक्त बहाने व क्रूस पर बलिदान के द्वारा ही पापों से मुक्ति संभव थी। अगर आप नरक के विषय में हल्की बात सोचते हैं, तो आप क्रूस के बारे में भी हल्के ढंग से ही सोचोगे। अगर आप भटकी हुई आत्माओं के तकलीफ पाने के विषय में थोडा सोचते हो, तो आप उन्हें बचाने वाले मसीह के विषय में भी थोडा ही सोचोगे,'' ( सी.एच.स्पर्जन, ‘‘फ्यूचर पनिषमेंट ए फियरफुल थिंग,'' मेट्रोपोलिटिन टेबरनेकल पुलपिट,नंबर 682)।

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथों में पडना भयानक बात है।'' (इब्रानियों 10:31)

क्या यीषु ने आपको अनंत न्याय से बचाने के लिये यही नहीं किया? क्या यीषु जीवित परमेष्वर के हाथ में नहीं पडे? क्या यीषु ने आपके बदले स्वयं क्रूस पर परमेष्वर का, भयानक न्याय नहीं सहा? इस महान आयत के ऊपर विचार करो जिसमें मसीह आपके स्थान पर पापी के रूप में मरा।

‘‘तौभी यहोवा को यही भाया कि उसे कुचले; उसी ने उसको रोगी कर दिया; जब तू उसका प्राण दोषबलि करे।'' (यषायाह 53:10)

यह परमेष्वर की इच्छा थी कि यीषु को, ‘‘कुचले'' (आधुनिक अनुवाद) ताकि उसे हमारे पाप के बदले में दंड चुकाने के लिये ठहराये।

यह ‘‘बदले में न्याय चुकाने वाला'' सिद्धांत है। रिफॉर्मेषन स्टडी बाईबल कहती है, कि ‘‘क्रूस ने परमेष्वर का न्याय चुकाने का कार्य किया। ऐसा कह सकते हैं कि, इसने परमेष्वर के न्याय को संतुष्ट किया.......मसीह ने दुख हमारी पहचान धारण कर हमारे बदले न्याय को सहा'' (पृष्ठ 1617)। जॉन पाईपर ने कहा कि मसीह ने हमारे पापों के कारण ‘‘परमेष्वर के क्रोध को पी लिया।'' इससे यह सिद्ध होता है, कि इससे भी बढकर यह बात है कि,

‘‘जीवते परमेष्वर के हाथों में पडना भयानक बात है।'' (इब्रानियों 10:31)

यीषु गतसमनी के बगीचे से ही परमेष्वर के हाथों में पडना प्रारंभ हो गये थे। परमेष्वर ने पापों के बोझ से यीषु को कुचला - और सब लोगों के पापों के बोझ से यीषु को कुचला। यीषु इतनी बुरी तरह कुचला गया कि उसका पसीना ‘‘मानो'' रक्त की बडी बूंदो के समान गिर रहा था। परमेष्वर ने यीषु को इतना भयानक दंड दिया कि लगभग वह गतसमनी के बगीचे में मर ही जाता। तब, ‘‘परमेष्वर की ठहराई मनसा और होनहार के ज्ञान के अनुसार'' (प्रेरितो के कार्य 2:23) यीषु लगभग अधमरा ही किया गया और उसके हाथ व पैरों पर कीलें ठोकी गई - परमेष्वर द्वारा प्रताडित किया गया - उसके क्रोध को षांत करने के लिये, ताकि आपको परमेष्वर के भयानक हाथों, में पडने से बचा सके! परमेष्वर ने यीषु को आपके स्थान पर ‘‘मरने'' के लिये दिया। बाईबल कहती है,

‘‘क्योंकि परमेष्वर ने जगत से ऐसा प्रेम रखा कि उस ने अपनाएकलौता पुत्र दे दिया ताकि जो कोई उस पर विष्वास करे वह नाष न हो, परन्तु अनन्त जीवन पाए।'' (यूहन्ना 3:16)

परमेष्वर को ऐसा इसलिये करना पडा क्योंकि इसके अतिरिक्त पापियों के लिये दंड चुकाने का कोई अन्य रास्ता नहीं था।

हर वह दर्द जो यीषु ने महसूस किया - जब उन्‍होंने उसे चेहरे पर मारा जब उन्‍होंने उसकी दाढी को उखाडा, जब उन्‍होंने उसकी पीठ को रक्त से लथपथ कर दिया, जब उन्‍होंने उसके हाथ व पैर को कीलों से ठोका - हर वह दर्द जो मसीह ने सहा, परमेष्वर के क्रोध के रूप में उस पर उंडेला गया, बजाय आप के ऊपर उंडेले जाने के! यह बदले में दंड झेलना कहलाता है। जैसा कि एक नया गीत इस प्रकार है,

जब तक यीषु क्रूस पर न मरा,
   परमेष्वर का क्रोध संतुष्ट न हुआ;
हर वह पाप जो मसीह पर रखा गया -
   मसीह की उस मृत्‍यु में मैं जी उठता हूं
(‘‘इन क्राईस्ट अलोन'' कैथ गैरी और स्‍टीवर्ट टाउन एंड,2001 द्वारा रचित)

एक लडकी जिसने ‘‘पेषन अॉफ क्राईस्ट'' देखी, मैंने उसे कहते हुए सुना, ‘‘अरे, जो mUgksaus यीषु के साथ किया वह कितना भयानक था!'' किंतु यह सही नहीं था। वास्तव में जो परमेष्वर ने यीषु के साथ किया, वह भयानक था। परमेष्वर ने यीषु को खूब यातना दी - क्‍योंकि उसके क्रोध को ‘‘पीने'' का और कोई रास्‍ता नहीं था - बदले में दंड भोगा - हमारे स्‍थान पर यीषु को यह दंड सहना पडा। हां,

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथों में पड़ना भयानक बात है।'' (इब्रानियों 10:31)

यह ऐसे सिद्ध होता है कि परमेष्वर ने हमारे पापों का दंड यीषु पर उंडेल दिया। वह जवान स्‍त्री जिसके बारे में मैंने बताया था उसने इस प्रकार गवाही दी,

(बजाय इसके) कि मैं मेरे भीतर झांकू... मेरी भावनाओं को तौलूं जैसा मैं पहले हमेषा किया करती थी जैसा मैं पहले हमेषा किया करती थी,मैंने यीषु की ओर विष्‍वास से देखा। वह वहां था! जीवित यीषु! उसने मुझे बचाया; ; उसने अपने बेषकीमती लहू में मेरे पापों को डुबो दिया। उसने मेरे पापों का भारी बोझ उठा लिया। परमेष्वर का जो क्रोध मेरे ऊपर उंडेला जाना था, मेरे जीवन, पर मेरी मृत्‍यु पर, अंतिम न्‍याय के समय और नरक में,....मेरे अभिलेख में दर्ज किया गया ‘‘निरपराध'' यीषु के लहू द्वारा लिखा गया। वह मेरा महायाजक है, मेरा बिचवई है, मेरा हीरो है,मेरा प्रभु है!....मेरी इच्‍छा हैै कि जिन्‍होने मेरे समान संघर्ष किया है, वे सब यीषु की क्षमा का अनुभव कर सके! उसने मेरे पापों के लिये अपने ऊपर सब आरोपों को स्‍वीकार किया। उसने पूरा दंड चुका दिया।

हां! आमीन! जैसा एक प्राचीन भजन कहता है,

इससे अच्‍छा कुछ नहीं कि मैं उसके अनुग्रह का दावा करूं -
   मैं अपने वस्‍त्रों को कलवरी क्रूसित मसीह के कीमती लहू से धो लूंगा।
यीषु ने पूरा दाम चुकाया, मैं उसे सब कुछ देता हूं;
   ाप के बडे गहरे धब्‍बे भी, उसने बर्फ जैसे सफेद कर दिये हों।

और जब, सिंहासन के समक्ष, मैं उसके खडा होता,
   ‘‘यीषु, मेरी आत्‍मा को बचाने के लिये मरा,'' मेरे होंठ सदा दोहराते रहेंगे।
यीषु ने सारा दंड चुका दिया, मैं उसे सब कुछ देता हूं;
   पाप के बडे गहरे धब्‍बे भी, उसने बर्फ जैसे सफेद कर दिये हों।
(‘‘यीषु ने सब चुका दिया'' एलविना एम.लाल 1820-1899 )

अगर आप हमसे बात करना चाहते हैं कि कैसे यीषु का लहू, आपके पापों को षुद्ध कर सकता है, तो कृपया अपनी सीट पर से उठकर अॉडिटोरियम में पीछे की ओर आ जाइये। डा0कगान आपको दूसरे कमरे में ले जाएंगे और आपके साथ बात करेंगे व प्रार्थना करेंगे। अभी आइये। डा0चान, कृपया प्रार्थना कीजिये कि कोई व्‍यक्‍ति आज प्रभु यीषु पर विष्‍वास रखे। आमीन।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

संदेष के पूर्व धर्मषास्त्र पाठ का पठन श्री ऐबेल प्रुदोमे द्वारा किया गयाःइब्रानियों 10:28-31
संदेष के पूर्व एकल गान श्री बैंजामिन ग्रिफिथ द्वारा प्रस्तुत किया गयाः
(‘‘तब तुम क्‍या कहोगे?‘‘ द्वारा डॉ0जॉन आर.राईस,1895-1980)


रूपरेखा

परमेष्वर का न्‍याय-एक भयानक बात है

द्वारा डॉ0आर.एल.हिमर्स,जूनियर

‘‘जीवित परमेष्वर के हाथों में पड़ना भयानक बात है।''
(इब्रानियों 10:31)

(रोमियों 3:18)

1. प्रथम, यह स्‍वयं परमेष्वर द्वारा सिद्ध किया गया है, इब्रानियों 10:31, 1 यूहन्‍ना 1:7

2. दूसरा, परमेष्वर ने पूर्व काल में जो किया वह इसे प्रमाणित करता है, उत्‍पत्‍ति 6:5,7 ; व्‍यवस्‍थाविवरण 7:10

3. तीसरा, यह स्‍वयं यीषु के कहने के द्वारा सिद्ध हुआ,
मत्‍ती 10:28; 13:49-50; 22:13; मरकूस 9:44, 46, 48;
लूका 16:23,24

4. चौथा, यह पापी के जागरूक विवेक के द्वारा भी सिद्ध हुआ। 1 तिमोथी 4:2; यूहन्‍ना 16:8

5.पांचवा, मसीह के दुख उठाने के द्वारा ताकि हम पाप से छुडाये जाऐं, यह सिद्ध हुआ। यषायाह 53:10; प्रेरितों के काम 2:23;यूहन्‍ना 3:16