Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




यीषु जख्मी, घायल और पीटा गया

(यषायाह 53 से छठवा संदेष)
JESUS WOUNDED, BRUISED AND BEATEN
(SERMON NUMBER 6 ON ISAIAH 53)
(Hindi)

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

इस संदेष का प्रचार लोस एंजलिस में बप्तीस टबरनेकल में
मार्च 23, 2012 को षनिवार की षाम हुआ था।
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Saturday Evening, March 23, 2013

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया : हमारी ही षान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी; कि उसके कोड़े खाने से हम लोग चँगे हो जाएँ’’ (यषायाह 53:5)।


रोमियो की किताब के दो ग्रीक षब्द का प्रयोग कुछ बातें जानना और उन बातों का पूरा ज्ञान प्राप्त करने में फरक है। रोमिया 1:21 में कहा गया है कि पूर्वजों ‘‘परमेष्वर को जानते थे’’। ‘‘पहचान’’ के लिए ग्रीक षब्द है ‘‘ग्नोसीस’’। इसका मतलब है उन्हे परमेष्वर के बारे में जानकारी थी। किंतु रोमियो 1:28 में कहा है कि उनको ‘‘परमेष्वर की पहचान’’ नहीं थी यहाँ ‘‘पहचान’’ षब्द के लिए ‘‘एपीग्नोसीस’’ का प्रयोग किया गया है। यह बताता है कि (जानने) ग्नोसीस षब्द की मजबूत रीति से दर्षाया गया है। (see W. E. Vine, An Expository Dictionary of New Testament Words, Revell, 1966, volume II, p. 301) हॉलाकि पूर्वजों परमेष्वर के बारेमें जानते थे (एपीग्नोसीस), उन्हे व्यक्तिगत रूपसे मसीह की पहचान नहीं थी।

जब हम प्रभु भोजन अध्यादेष की ओर ध्यान देते है, मैं सोचता हूँ कि दो ग्रीक षब्द का प्रयोग जो रोमियो के पहले अध्याय में किया है बताता है कि कई लोग हमें रोटी और प्याला लेते हुए देखते है, किंतु उसमें हिस्सा नहीं ले पाते क्योंकि उनका उद्धार नहीं हुआ है। उन्हे बाहरी और मानसिक रूपसे प्रभु भोजन क्या है इसका पता है किंतु वे मसीह का अनुभव नहीं कर पाते। उन्हे इसके बारे में जानकारी (‘‘1 ग्नोसीस’’) है किंतु मसीह की पहचान (एपीग्नोसीस) का ज्ञान नहीं है। उन्हे यीषु मसीह की सही में पहचान नहीं है।

ऐसा ही कुछ हमारे संदेष का अर्थ है। आपको षायद इसके षब्दो का बाहरी रूप से प्रयोग और मतलब मालूम होगा किंंतु इसका गहरा अर्थ पता नहीं होगा, पूरी रीति से समझाना हो ‘‘षक्तिषाली प्रभाव’’ होता है (ibid.)। इसलिए मेरे संदेष का यही अर्थ है कि इसका गहरा मतलब आप तक पहुँचा सकूँ, इसी आषा के साथ कि इन षब्दों का ज्ञान आपको यीषु मसीह की ओर मानसिक रूप से, व्यक्तिगत रूप की और ले जाए।

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया : हमारी ही षान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी; कि उसके कोड़े खाने से हम लोग चँगे हो जाएँ’’ (यषायाह 53:5)।

यही वचन है जिसकी पकड से आप में परिवर्तन होगा अगर आप आषा करो तो। मैं प्रार्थना करता हूँ कि इससे आप दिमागी तौर से यीषु मसीह पर सही में भरोसा कर सको - जो तुम्हारे पापों का जुर्माना भरने के लिए क्रूस पर मरा। यहाँ पर संदेष को तीन मुख्य हिस्सों में बाँटा गया है।

I. पहला, मसीह हमारे गुनाहों के लिए जख्मी हुआ, हमारे अपराधों के लिए घायल हुआ।

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया...’’ (यषायाह 53:5)।

पहला षब्द ‘‘परंतु’’ चौथे वचन के अंतमें दिए हुए गलत सोच के विरूद्ध में दर्षाया गया है, यह कि मसीह अपने ही पापों और मूर्खता के लिए मरा, और हकीकत में वह हमारे पापों के लिए मरा। डॉ. एडवर्ड जे. यंग पूराने करार का विद्वान था। वह चीनी पासबान का निजी मित्र था। डॉ. तीमथी लीन, भी पुराने करार के प्रसिद्ध विद्वान थे। डॉ. यंग ने कहा है ‘‘दूसरी बात पर जोर दिया जाता है कि सर्वनाम पहले बताया गया है, यह बताने लिए कि इसके विपरीत कि जो सही में सज़ा के योग्य है, उसने अपराधी के पाप ढोए’’ (एडवर्ड जे. यंग, पी.अेचडी., The Book of Isaiah, William B. Eerdmans Publishing Company, 1972, volume 3, p. 347)।

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया...’’ (यषायाह 53:5)।

‘‘घायल’’ षब्द अति महत्वपूर्ण हैै। डॉ. यंग ने कहा कि इसका हिब्रू षब्द है ‘‘भोंका जाना, अक्सर इसका संबंध मृत्यु होने तक भोंका जाना’’ (यंग, ibid.)। हिब्रू षब्द का अर्थ है ‘‘पीअर्झ थु्र’’, ‘‘जालीदार’’ (ibid.)। यह षब्द जकर्याह 12:10 में दिया गया है,

‘‘तब वे मुझे ताकेंगे अर्थात जिसे उन्होने बेधा है’’ (जकर्याह 12:10)।

यह मसीह के लिए स्पश्ट भविश्यद्वाणी है, जिसकी खोपडी काँटो के ताज़ से भौंकी गई थी, जिस के हाथ और पैरो को कीलो से ठोका गया था, जिस देह की पंजर को रोमियो सिपाहीने भालेसे भौंका था। जैसे प्रेरित यूहन्ना ने कहा है,

‘‘परंतु सैनिकों में ये एक ने बरछे से पंजर बेधा, और उसमें से लहू और पानी निकला...ये बातें असलिए हुई कि पवित्रषास्त्र में जो कहा गया वह पूरा हो...(यह) कहा है जिसे उन्हो ने बेधा है, उस पर वे दृश्टि करेंगे’’ (यूहन्ना 19:34,36,37)।

और फिर संदेष कहता है, ‘‘हमारे अपराधों के लिए घायल हुआ था’’ (यषायाह 53:5) ‘‘घायल’’ का हिब्रू षब्द है ‘‘कुचला गया’’ (यंग, ibid.) मसीह के कुचलने की और घायल होने का प्रारंभ गेथसेमनी के बाग से हुई थी, क्रूस पर चढ़ने की अगेल दिन रातको जब यीषु,

‘‘हार्दिक वेदना से...और उसका पसीना मानो लहू की बड़ी बड़ी बूँदो के समान भूमि पर गिर रहा था’’ (लूका 22:44)।

गेथसेमनी के बाग में हमारे पापो के भार से कुचला गया था, जो उसे पर लादा था।

कुछ ही घंटो में मसीह को मार-पीटकर घायल किया गया था, यह उसके क्रूस पर चढ़ने के पहले किया गया था फिर उसे भाले से भौंका गया था, किंतु कुचलने का गहरा अर्थ है पापों के नीचे दब जाना, प्रेरित पतरस ने कहा है,

‘‘वह आप ही हमारें पापों को अपनी देह पर लिए हुए क्रूस पर चढ़ गया...’’ (1 पतरस 2:24)।

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया...’’ (यषायाह 53:5)।

डॉ. आईसेक ने अपने प्रसिद्ध स्तोत्र मे स्पश्टीकरण किया है,

वोज़ इट फोर क्राईम देट आय हेड डन
   ही ग्रोनड अपोन ध ट्री?
अमेझींग पीटी? गे्रस अननोन!
   एंड लव बीयोंड डीग्री!
वेल माईट ध सन इन डार्कनेस हाईड,
   एंड षट हीस ग्लोरीज़ इन,
व्हेन क्राइस्ट, ध माईटी मेकर, डाईड
   फोर मेन ध क्रीचरस् सिन।
(“Alas! And Did My Saviour Bleed?”
by Isaac Watts, D.D. 1674-1748).

II. दूसरा, मसीह हमारी जगह दंडीत हुआ।

हमारे संदेष के तीसरे हिस्से की ओर ध्यान दे,

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया : हमारी ही षान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी...’’ (यषायाह 53:5)।

मैं कई सालों तक बिना मतलब से पढ़ता रहा। डॉ. डेलीट्रझ ने भाशांतर किया, ‘‘ताड़ना हमें षांति की ओर ले जाती है’’ (C. F. Keil and F. Delitzsch, Commentary on the Old Testament, Eerdmans Publishing Company, 1973 reprint, volume VII, p. 319). ‘‘यह हमारी षांति के लिए...हमारी भलाई के लिए, हमारी आषिशों के लिए, इनकी पीडाओं ने हमें सुरक्षित रखा है’’ (ibid). ‘‘ताड़ना’’ का अर्थ है ‘‘सजा’’। डॉ. यंग ने कहा है, ‘‘कोई इस संदेष को नहीं पढ़ रहा है अगर उसका दावा है कि (मसीह) पर गिरी हुई ताड़ना आराधन का उदेष्य है’’ (यंग, ibid., p. 349)। ‘‘परमेष्वर का न्याय मसीह पर पड़ा-आराधन और परमेष्वर का पाप के विरूद्ध का कोप। डॉ. जॉन गील गये जहाँ आधुनिक टिप्पणी कर्ता जाने के लिए डरते है, जो करने में सही था, जब उन्होने कहा,

हमारी षान्ति के लिए उस पर ताड़ना पडी; कि उसके कोडे खाने से हमें षांति और सुलह परमेष्वर के साथ उससे हुई...जहाँ दैवी प्रकोप संतुश्ट है, न्याय से संतुश्ट हुए, और षांति बनी रही (John Gill, D.D., An Exposition of the Old Testament, The Baptist Standard Bearer, 1989 reprint, vol. I, p. 312).

प्रेरित पौलुस ने मसीह की “propitiating” परमेष्वर का प्रकोप के बारे में कहा,

‘‘यीषु मसीह-जिन पर परमेष्वर का प्रकोप उसके लहूके विष्वास द्वारा भुगतान किया गया’’ (रोमियो 3:24-25)।

अलर्बट मीडलॅन ने समझाया ‘‘भुगतान’’ का अर्थ जो प्रेरित ने बताया है उसे संदेष की पहले के स्तोत्र में श्री. ग्रीफीथ ने बताया है,

नो टंग केन टेल ध रॉध ही बोर,
   ध रॉध सो डयू टु मी;
सीनस् जस्ट डेसर्ट; ही बोर इट अॉल,
   टु सेट ध सिर्नस् फ्री।

नाऊ नोट अ सींगल ड्रोप रीमेंन्स;
   ‘‘टीस फीनीषड’’, वोज़ हीस क्राय;
बाय वन इफेक्युएल ड्राट, ही ड्रेंक
   ध कप अॉफ रॉध क्वाइट ड्राय।
(“The Cup of Wrath” by Albert Midlane, 1825-1909).

मसीह ताड़ा गया, तुम्हारी जगह सजा पायी, तुम्हारे पाप के लिए परमेष्वर के क्रोध को न्याय का तुश्टीकरण बना।

‘‘हमारी ही षान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी’’ (यषायाह 53:5)।

III. तीसरा, मसीह ने उसके कोडों द्वारा हमारे पापों के चंगाई दी।

कृपया खडे होकर संदेष को जोर से पढिए, और अंतिम हिस्से पर खास ध्यान दे, ‘‘और उसके कोडे खाने से हम चँगे हो गए’’।

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया : हमारी ही षान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी; कि उसके कोड़े खाने से हम लोग चँगे हो जाएँ’’ (यषायाह 53:5)।

आप बैठ सकते हो।

‘‘और उसके कोडे खाने से हम लोग चँगे हो गए।’’ ‘कोडे’ षब्द का हिब्रू मतलब है ‘‘ज़ख्मी’’ (Strong). प्रेरित पतरस ने 1 पतरस 2:24 में कहा है, पतरस ने ‘कोडे’ षब्द का भाशांतर किया है। मतलब है ‘‘झटका के निषान’’(Strong) मैं मानता हूँ कि ‘‘उसके कोडे खाने से हमें चंगाई मिली’’ जो यषायाह 53:5 है और 1 पतरस 2:24 में यीषु के कोडे के बारेे में बताया है। मैं निष्चित रूप से मानता हूँ कि खास करके मसीह के फटके के बारे में यह षब्द लिए है जिसे पीलातु के आदेष के अनुसार सैनिको ने किया था जो रोय के राज्यपाल थे। मसीह को क्रूस पर चढ़ाने के कुछ ही देर पहले पवित्रषास्त्र कहता है,

‘‘इस पर पिलातुस ने यीषु को कोडे़ लगवाएँ’’ (यूहन्ना 19:1)।

‘‘इस पर उसने बरअब्बा को उनके लिये छोड़ दिया, और यीषु को कोडे़ लगवाकर सौंप दिया, कि क्रूस पर चढ़ाया जाए’’ (मती 27:26)।

ग्रीक षब्द ‘‘कोड़े लगवाकर’’ के अनुवद पर टिप्पणी। डबल्यू. ई. वाईन ने कहा कि यह बताता है, ‘‘पिलातुस के आदेष का प्रषासन के द्वारा मसीह ने कोडे़ लगवाना’’। रोम की रीति से कोड़े लगवाना का अर्थ है मनुश्य को नंगी दषा में झुकी हुई स्थिति में स्तंभ के साथ बांधना...कोडे (फटकार) जो चमडे की चप्पल से बने हो जिसको हड्डियों के तेज़ टुकडी या वनज जोडा हो, जिससे दोनों आगे और छाती के मांस को फाडते है। इतिहास कहता है षहीदों की इस प्रकार की पीडा की गवाही देते हुए मारें गये’’ (W. E. Vine, An Expository Dictionary of New Testament Words, Fleming H. Revell Company, 1966 reprint, volume III, pp. 327, 328). ‘‘कोडे’’ षब्द का प्रयोग यीषु को भविश्यवाणी ने उसपर होनेवाली पीड़ा बताया है, जब उसने कहा,

‘‘देखो, हम येरूषलेम को जाते है; और मनुश्य का पुत्र प्रधान याजकों और षास्त्रियों को हाथ पकडवाया जाएगा, और वे उसको घात के योग्य ठहराएँगे। और उसको अन्य जातियों के हाथ सौपेंगे कि वे उसे ठट्ठो में उडाएँ, और कोडे मारें, और क्रूस पर चढ़ाएँ’’ (मती 20:18-19)।

मसीह के कोडे के संदर्भ में स्परजीअॉन के टिप्पणी दी :

ठहरो, फिर देखो (यीषु) को रोम के स्तंभ के साथ बांधा गया, निर्दयता से कोडे मारे। भयंकर फटकार (कोडे के) सुनो, बहते हुए जस्त्र देखो, और देखो उसके आषिशित देह की पीडा में तडपते है। फिर देखो उसके प्राण की किस तरह मारा है। उसकी आत्मा पर गिरे हुए फटकार सुनो, जब तक उसका हृदय पीडित हुआ असहनीय जख्मों से, जो सदा के लिए हमारे लिए...केवल इसी मकसद पर ध्यान लगाओ किसी भी भटकती सोच के बिना, और मैं प्रार्थना करता हूँ कि आप और मैं उसकी अतुलनीय (यीषु की) पीडा के बारे में सोचे जब तक हमारे हृदय उसके आभारी प्रेम के लिए पीघले नहीं। (C. H. Spurgeon, “Christopathy,” The Metropolitan Tubernacle Pulpit, Pilgrim Publications, 1976 reprint, volume XLIII, p. 13).

फिर स्परजीयोॅन ने कहा कि हमारे ही पापों के लिए उसने कोडे खाये और वधस्तंभ पर चढ़ा। तुम्हारे और मेरे लिए उसने कोडों की फटकार खायी, और क्रूस पर चढ़ गया। स्परजीयोॅन ने कहा,

निष्चित हम भी उसके दुःख के सहभागी थे। ओह! निष्चित रूप से कहते है, ‘‘उसके कोडों से हमें चंगाई मिली’’। तुमने उसे मारा (फटकारा), प्रिय मित्र, तुमने उसे घायल किया; इसलिए तुम चुप मत रहो जब तक कहते नहीं, ‘‘उसके कोडों खाने से मुझे चँगाई मिली।’’ उसकी (यीषु) पीड़ा का व्यक्तिगत (ज्ञान होना) चाहिए। जब हमें उसके कोडे खाने से चंगाई मिलती है (पापों से)। हमें अवष्य...यह महान बलिदान को अपने हाथों लेना है, ताकि हम स्वीकारे (जो उसने हमारें लिए किया); यह हमारे लिए (भयंकर) बात है कि हम जाने मसीह (मारा गया), किंतु नहीं जानते है कि ‘‘उसके कोडे खाने से चँगाई प्राप्त हुई है’’...अगर परमेष्वर ने पाप को रोग के रूप में न देखा होता तो चंगाई बात करना व्यर्थ है (ibid., p.14)...‘‘उसके कोडों की फटकार से हमें चंगाई मिली’’। यह अस्थायी उपाय नहीं है; यह दवाई है कि जो चंगाई (लाती है) और स्वास्थ जिससे हमारे प्राण संपूर्ण रीत से चंगे हो। जिससे अंत में हम परमेष्वर के सिंहासन के सामने अन्य पवित्र लोगों के साथ खडे हो (स्वर्गलोक में) ताकि मनुश्य (वहाँ के अन्य लोग के साथ) गाएँ ‘‘उसके कोडे खाने से हमें चंगाई मिली है’’। घायल मसीह की महिमा हो! सारा आदर, महिमा और अधिराज्य और आराधना सदा के लिए आपकी हो। वो सभी (पापों से चंगाई पाने वाले) कहे, ‘‘आमीन और आमीन’’ (ibid., p.21)।

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया : हमारी ही षान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी; कि उसके कोड़े खाने से हम लोग चँगे हो जाएँ’’ (यषायाह 53:5)।

केवल ईन बातों को जानकर उद्धार नहीं मिलती! जब तक मसीह की पीड़ा की सच्चाई की तड़प आपकी हृदय में परिवर्तन न लाएँ! यह संदेष आपके हृदय को छु ले। ये षब्द आपके हृदय को मसीह के लिए छु ले।

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया : हमारी ही षान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी; कि उसके कोड़े खाने से हम लोग चँगे हो जाएँ’’ (यषायाह 53:5)।

इन षब्दों से आप को मसीह पर भरोसा हो, और हर पापों से चंगाई मिले, ताकि आप कह सें, ‘‘उसके कोडे खाने से मुझे पापो की पीडा से हमेषा के लिए चँगाई मिली है।’’ आमीन।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

संदेश से पहले पढ़े हुए वचन : यषायाह 52:13-53:5।
संदेश के पहले श्री. बेंजामीन कीनकेइड ग्रीफिथ ने अकेले गाना गाया :
“The Cup of Wrath” (by Albert Midlane, 1825-1909).


रूपरेखा

यीषु जख्मी, घायल और पीटा गया

(यषायाह 53 से छठवा संदेष)

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

‘‘परन्तु वह हमारे ही अपराधों के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के कारण कुचला गया : हमारी ही षान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी; कि उसके कोड़े खाने से हम लोग चँगे हो जाएँ’’ (यषायाह 53:5)।

(रोमियों 1:21, 28)

I.   पहला, मसीह हमारे गुनाहों के लिए जख्मी हुआ, हमारे अपराधों के लिए घायल हुआ, यषायाह 53:5अ; जकर्याह 12:10; यूहन्ना 19:34,36,37; लूका 22:44; 1 पतरस 2:24।

II.  दूसरा, मसीह हमारी जगह दंडीत हुआ, यषायाह 53:5ब, रोमियो 3:24-25।

III. तीसरा, मसीह ने उसके कोडों द्वारा हमारे पापों के चंगाई दी, यषायाह 53:5सी; यूहन्ना 19:1; मती 27:26; 20:18-19।