Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




मसीह का ऊँचे चढ़ना

THE ASCENSION OF CHRIST

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की सुबह, 10 फरवरी, 2013 को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, February 10, 2013

‘‘वह ऊँचे पर चढ़ा और बन्दियों को बाँध ले गया और मनुश्यों को दान दिए''
(इफिसियों 4:8)।


जेबुसाइट्स (Jebusites) इस्त्राएल के दुष्मन थे। उन्होंने बहुत लंबे अरसे तक यरूषलेम नगर को पकड़कर रखा, प्रभु के लोगों द्वारा बाकी भूमि ले लेने के बाद। परंतु आखिरकार दाऊद और उसके आदमीयों ने नगर ले लिया। दाऊद को स्मरण था कैसे उसके सैनिकों ने प्रचण्ड आक्रमण किया यरूषलेम की ऊँचाइयों पर। यह परमेष्वर का पहाड़ था, स्य्यिोन पर्वत, जहाँ परमेष्वर का मंदिर स्थापित होनेवाला था। गाने और आनंद के हर्शोल्लास के साथ, दाऊद वाचा (Covenant) के जाहाज को ऊपर स्य्यिोन पर्वत पर ले आया, जगह जहाँ यह रहेगा। परंतु दाऊद ने दूर (आगे) देखा वो सांसारिक दृष्य। उसने देखा मसीह को ऊपर चढे हुए, बन्दियों को लेते हुए जैसे ही वे गये और उनके लोगो का विजय जितते हुए, ताकि वे उनके बीच उनके परमेष्वर और उद्धारक के समान रह सके और इसलिये, भजन संहिता 68 में दाऊद ने लिखा,

‘‘तू ऊँचे पर चढ़ा, तू लोगों को बँधुआई में ले गया; तू ने मनुश्यों से, वरन् हठीले मनुश्यों से भी भेंटे ली, जिस से यह परमेष्वर उन में वास करे'' (भजन संहिता 68:18)।

हजार वर्शों बाद प्रेरितो पौलुस प्रभु की आत्मा द्वारा चलाया गया; उन षब्दों को हमारे दाऊद, प्रभु यीषु मसीह, को लागू करने, जब वे फिर से स्वर्ग में चढ़े प्रभु के दाहिने हाथ पर। और इसलिये प्रेरितो ने भजन संहिता 68:18, का कथन किया, पुनरूत्थानवाले मसीह को इसे लागू किया,

‘‘वह ऊँचे पर चढ़ा और बन्दियों को बाँध ले गया और मनुश्यों को दान दिए'' (इफिसियों 4:8)।

प्रभु यीषु मसीह स्वर्ग से नीचे उतरकर आए जब वे बैतलहम के चरनी में बालक (छोटे बच्चे) की तरह आए। वे और नीचे उतरे जब वो ‘‘दुःखी पुरूश था, रोग से उसकी जान पहिचान थी'' (यषायाह 53:3)। वे नीचे उतरे जब हमारे पाप गतसमनी की वाटिका में उन पर लादे गए, जब वे हाँफ और कराह रहे थे और पसीना ‘‘मानो लहू की बड़ी बड़ी बूँदो के समान भूमि पर गिर रहा था'' (लूका 22:44)। वे और भी उतरे जब उन्होंने ‘‘आज्ञाकारी रहा कि मृत्यु, हाँ, क्रूस की मृत्यु भी सह ली'' (फिलिप्पियों 2:8)। और वे और भी नीचे हुए जब उनकी मृत देह कब्र में रखी गयी थी। जैसे प्रेरितो पौलुस ने कहा, ‘‘वह पृथ्वी की निचली जगहों में उतरा भी था'' (इफिसियों 4:9)। उनका उतरना लंबा और अंधेरा था, दीनता, पीड़ादायक और मृत्यु में था। गहरे अंधेरे और परित्याग में वे चिल्लाए, ‘‘हे मेरे परमेष्वर, हे मेरे परमेष्वर, तूने मुझे क्यों छोड़ दिया?'' (मती 27:46)। कब्र में नीचे उन्हें रखा जैसे रोमी सिपाहीयों ने उनकी कब्र को मुहर किया और उस पर पहरा बिठायज्ञं

परंतु तीसरे दिन पर, सुबह भोर में, भूमि हिली, प्रभु के स्वर्गदूत ने द्वार पर से पत्थर पिछे गिराया; यीषु मृत्यु से उठे और सुबह के सूरज में उस अंधेरी कब्र से बाहर निकले!

हल्लिलूय्याह! हल्लिलूय्याह! हल्लिलूय्याह!
   तीन उदास दिन जल्दी से बीत गए;
वे मृत्यु से तेज में उठ़ते है;
   सारी महिमा हमारे उठे हुए नेता को! हल्लिलूय्याह!
हल्लिलूय्याह! हल्लिलूय्याह! हल्लिलूय्याह!
(‘‘विवाद खत्म हुआ'' फ्रांसीस पोट्ट द्वारा अनुवादित, 1832-1909)।

उस प्रकाषमय इस्टर की सुबह मसीह ने उनका तेजस्वीरुप से ऊपर उठना षुरू किया! प्रमाणित करने की वे मृत्यु से उठे है, मांस और हड्डीयों में, वे धरती पर रहे, और ‘‘उसने दुःख उठाने के बाद बहुत से पक्के प्रमाणो से अपने आप को उन्हें जीवित दिखाया और चालीस दिन तक वह उन्हें दिखाई देता रहा'' (प्रेरितो 1:3)। मरीयम मगदलीनी और याकूब ने उनको अकेला देखा। ग्यारह चेलों ने उनको देखा जब वे उनके बीच जाकर खड़े हुए, ‘‘उन्होंने उसे भुनी हुई मछली का टुकड़ा दिया। उसने लेकर उनके सामने खाया'' (लूका 24:42,43)। इम्माऊस के रास्ते पर दो लोगों ने उनसे बात की। पांच सौ भाईयों ने उनको एक साथ देखा। उन्होंने कहा प्रेरितो से, ‘‘मुझे छूकर देखो, क्योंकि आत्मा के हड्डी मांस नहीं होता जैसा मुझ में देखते हो'' (लूका 24:39)। थोमाने उसकी ऊंगलियाँ उनके हाथों के छेद में डाली, और उनके हाथ को उनकी एक ओर की जख्म में धक्का भी दिया, जो भाले के द्वारा बने थे जिसने उनको बेध कर क्रूस पर लटका दिया था। हकीकत यह है कि यीषु सच में मर गए थे, वो जख्म के छिद्रो द्वारा प्रमाणित हुआ था। और हकीकत कि वे मृत्यु से उठे थे वो प्रमाणित हुआ थोमा द्वारा पुनरूत्थान प्राप्त हुए प्रभु के हाथ के व्यवहार द्वारा। किसी भी षक से ऊपर, मसीह यीषु मृत्यु से उठे है!

हल्लिलूय्याह! हल्लिलूय्याह! हल्लिलूय्याह!
   मृत्यु के सामर्थ्य ने उनका बुरा कर लिया,
परंतु मसीह का सैन्य फैल गया;
   चलो चिल्लाए पवित्र आनंद का विस्फोट, हल्लिलूय्याह!
हल्लिलूय्याह! हल्लिलूय्याह! हल्लिलूय्याह!

जब उन्होंने उनको प्रमाणित किया कि वे मृत्यु से उठे थे, मसीह उनके चेलो को जैतून के पहाड़ पर ले गए। जब उन्होंने देखा, ‘‘वह उन के देखते देखते ऊपर उठा लिया गया, और बादल ने उसे उनकी आँखो से छिपा लिया'' (प्रेरितो 1:9)। निष्चितरूप से कवियत्री गलत नहीं थे जब उन्होंने कहा,

स्वर्ण वीणा बज रही है, स्वर्गदूत की आव़ाजे बज रही है,
   मोती के सदृष द्वार खुले है, खुले है राजा के लिये
मसीह, महिमा का राजा, यीषु, प्रेम का राजा,
   प्रसन्नता में ऊपर गए है ऊपर उनके सिंहासन पर।
उनके सारे काम खत्म हुए है, आनन्द से हम गाते है;
   यीषु ऊपर उठे है; हमारे राजा को कीर्ती!
(‘‘स्वर्ण वीणा बज रही है'', फ्रान्सीस आर. हेवरजेल द्वारा, 1836-1879)।

प्रभु यीषु मसीह स्वर्गीय जगह में फिर से लौट गये है जहाँ से वे आये थे। ओह मसीह, आप हो संसार के (त्रिलोक) के राजा! आप हो पितामह के अनन्त बेटे! आप बैठे हो स्वर्ग की ऊँचाई पर, यष के साथ राज्यभिश्‍ोक किए हुए; सामर्थ्य के कपड़े पहने हुए; राजाओं के राजा और प्रभुओं के प्रभु!

यीषु, उद्धारक, षासन करो हमेषा और सदा;
उन्हें ताज पहनाओ! उन्हे ताज पहनाओ!
   भविश्यवक्ता, और याजक और राजा!
मसीह आ रहे है! संसार पर जितनेवाला,
जहाँ तक प्रभु हो वहाँ तक सामर्थ्य और महिमा
उनको सराहो! उनको सराहो!
   उनके उत्कृश्ट महानता की बातें करो
उनको सराहो! उनको सराहो!
   हमेषा आनन्दित गीत में!
(‘‘उनको सराहो! उनको सराहो!'' फेन्नी जे. क्रोस्बी द्वारा, 1820-1915)

जो हमें फिर से हमारे पाठ पर लाता है,

‘‘वह ऊँचे पर चढ़ा और बन्दियों को बाँध ले गया और मनुश्यों को दान दिए'' (इफिसियों 4:8)।

और पाठ से हम सिखते है तीन महान् सच मसीह के फिर से स्वर्ग में चढ़ने के बारे में।

1. पहला, मसीह की प्रसन्नता दिखती है उनके ऊपर चढ़ने में।

मसीह नीचे धरती पर आए प्रभु और आदमी के दुष्मनों से लड़ने। लड़ाई जो उन्होंने लड़ी वो मांस और हड्डीयों के विरूद्ध नहीं थी, ‘‘परंतु प्रधानों से, और अधिकारियों से, और इस संसार के अन्धकार के हाकिमों से और उस दुश्टता की आत्मिक सेनाओं से है जो आकाष में है'' (इफिसियों 6:12)। मसीह लड़े पाप, मृत्यु और अधोलोक के विरूद्ध। वे लड़े प्रभु की नफरत और झूठे धर्म के प्रेम के विरूद्ध। वे लड़े ष्‍ौतान और उनके दुश्टात्माओं के विरूद्ध। उन्होंने इन दुष्मनों के सामने तब तक युद्ध किया जब तक उन्होंने लहू का पसीना न बहाया और ‘‘अपने प्राण मृत्यु के लिये उण्डेल दिया'' (यषायाह 53:12)। परंतु जब लड़ाई खत्म हुई, वे मृत्यु से विजयी उठे और पितामह के सिंहासन पर ऊपर चढ़े!

षर्म, तड़प और ईष्वरनिन्दा अब उनसे बहुत पीछे है। वे ऊपर गए है उपहास करनेवाले सदूकीयों और दोशी ठहरानेवाले फरीसियों के पकड़ से आगे। यहूदा अब उनको चूम नहीं सकते। पिलातुस अब उनको कोड़ो से मार नहीं सकता। हेरोदेस उनका मज़ाक नहीं कर सकता। वे उनके दुष्मनों की पहुँच से कई ज्यादा ऊपर गए है सदा के लिये!

वे जो हमें बचाने आए,
   वे जिन्होंने लहू बहाया और मरे,
अब वे कीर्ति में ताज पहनाए गए है
   उनके पिता की बाजु;
अब कभी भी ज्यादा तड़पना नहीं,
   अब कभी भी ज्यादा मरना नहीं,
यीषु, कीर्ति के राजा,
   ऊपर आकाष में गए है
(‘‘स्वर्ण वीणा बज रही है'', ibid)

मसीह का संसार में कार्य पूर्ण हुआ। जब उन्होंने क्रूस पर से पुकारा, ‘‘यह पूरा हुआ'', हमारी मुक्ति के लिए और ज्यादा कुछ भी करने की आवष्यकता नहीं थी। अब वे बैठते है उनके सिंहासन पर हमारे महायाजक के समान हमारे लिये प्रार्थना करते हुए। अब वे ऊँचे किए गए है हरएक नाम से और सारी बातें उनके अधीन रखी गई है! यह मसीह है जिनका हम भरोसा करते है, और जिनसे हम प्रेम करते है।

और हमें कभी भी भूलने नहीं चाहिए सारे फायदें जो हमारे पास आते है उनके द्वारा। यह उनके द्वारा है की हम सारे आषीर्वाद प्राप्त करते है। ‘‘वह ऊँचे पर चढ़ा''। ‘‘वह बन्दियों को बाँध ले गया''। ‘‘उन्होंने मनुश्यों को दान दिए''। चलिए मसीह का उनके सिंहासन तक ऊँचे चढ़ने के लिये आनन्द करे। उनका चढ़ना उनके विजय का और उनकी जीत का प्रमाण है। सारी चीजे जो हमारी मुक्ति के लिए आवष्यक है वो अब मिलती है ऊँचे चढ़े हुए मसीह में। सच्चाई से, उनका ऊँचे चढ़ना पुकारता है, ‘‘यह पूरा हुआ'' - सब जो हमारी मुक्ति के लिए आवष्यक है वो मिलता है यीषु मसीह में प्रभु के दाहिने हाथ पर महिमा में!

2. दूसरा, मसीह के ऊँचे चढ़ने ने हमारे सारे दुष्मनों को पराजित किया।

‘‘वह ऊँचे पर चढ़ा और बन्दियों को बाँध ले गया...'' (इफिसियों 4:8)।

हम गुलाम थे। हम पाप के बन्दी थे, ष्‍ौतान द्वारा वष में किए हुए, ‘‘आत्मा जो अब भी आज्ञा न माननेवालों में कार्य करता है'' (इफिसियों 2:2)। हम तीव्र लालसा के बन्दी, दोश के बन्दी, हमारे अपने मन के कपट के बन्दी थे। परंतु मसीह ने ‘‘बन्दीयों को बन्दी'' बनाया। कभी भी न भूलना कि आप उन सारे दुष्मनों द्वारा बन्दी बनाए गए थे। कभी भी भूलना नहीं कि आप आषाहीन गुलाम थे मिस्त्र में इस्त्राएल के बच्चों के समान, और जैसे फिरौन, ष्‍ौतान ने आपको क्रूर बन्धन में पकड़े रखा। परंतु मसीह, हमारे मूसा, ने आपको आज़ाद किया! उनके ऊँचे चढ़ने पर, ‘‘बन्दियों को बाँध ले गया!'' ओह, उनके पवित्र नाम की सराहना करो!

यहाँ इस सुबह निःसंदेहरूप कुछ लोग है जो अभी भी ष्‍ौतान, भयानक अंधेरे के राजकुमार द्वारा बन्दी है। आप ‘‘इसके द्वारा उसकी इच्छा पूरी करने के लिये सचेत'' (2 तीमुथियुस 2:26) हो। परंतु मसीह फिर से स्वर्ग में चढ़े आपको उन घृणित पिषाच से आज़ाद करने! उठ़े हुए मसीह पर भरोसा करो, और वे आपको ष्‍ौतान के जाल से, पाप के गुनाह से, और मृत्यु की ड़ोर से मुक्त करेंगे! मैं जानता हूँ वह सत्य है क्योंकि यीषु ने मेरे लिये वह किया है! ‘‘उन्होंने बन्दियों को बाँध लिया'' और उनके षक्तिषाली हाथों से मुझे बचाया!

डूबती हुई रेत से उन्होंने मुझे उठाया,
   मुलायक हाथों से उन्होंने मूझे उठाया,
रात की परछाइयों से रोषनी के मैदान तक,
   ओह, उनके नाम को सराहो, उन्होंने मुझे उठाया!
(‘‘उन्होंने मुझे उठाया'' चार्ल्स एच. गेब्रीयल द्वारा, 1856-1932)।

3. तीसरा, मसीह का चढ़ना हमारे लिये भेंट नियुक्त करता है।

पूरा पाठ कहता है,

‘‘वह ऊँचे पर चढ़ा और बन्दियों को बाँध ले गया और मनुश्यों को दान दिए'' (इफिसियों 4:8)।

इफिसियों के चौथे पाठ के, संदर्भ में, हम पढ़ते है कुछ भेंटो के बारे में जो ऊँचे चढ़े हुए मसीह हमें देते है।

‘‘जो उतर गया यह वही है जो सारे आकाष से ऊपर चढ़ भी गया कि सब कुछ परिपूर्ण करे। उसने कुछ को प्रेरित नियुक्त करके, और कुछ को भविश्यवक्ता नियुक्त करके, और कुछ को रखवाले और उपदेषक नियुक्त करके दे दिया'' (इफिसियों 4:10-11)।

उन्होंने हमें प्रेरितो दिये, जिन्होंने हमें पढ़ने के लिये ज्यादातर नयी नियमावली लिखी। उन्होंने भविश्यवक्ता दिये हमें चेतावनी देने। उन्होंने हमें सुसमाचार सुनानेवाले दिये हमें सुसमाचार का प्रचार करने। उन्होंने हमें याजक दिये मार्गदर्षन के लिये। उन्होंने उपदेषक दिए हमें बाइबल की स्पश्टता देने और उसे लागू करने। उन्होंने आदमीयों को ये भेंटे दी,

‘‘जिस से पवित्र लोग सिद्ध हो जाएँ और सेवा का काम किया जाए और मसीह की देह उन्नति पाए, जब तक कि हम सब के सब विष्वास और परमेष्वर के पुत्र की पहिचान में एक न हो जाएँ और एक सिद्ध मनुश्य न बन जाएँ और मसीह के पूरे डील-डौल तक न बढ़ जाएँ। ताकि हम आगे को बालक न रहें जो मनुश्यों की ठग-विद्या और चतुराई से, उनके भ्रम की युक्तियों के और उपदेष के हरएक झोंके से उछाले और इधर-उधर घुमाए जाते हो। वरन् प्रेम में सच्चाई से चलते हुए सब बातों में उसमें जो सिर है, अर्थात् मसीह में बढ़ते जाएँ, जिससे सारी देह, हरएक जोड़ की सहायता से एक साथ मिलकर और एक साथ गठकर, उस प्रभाव के अनुसार जो हरएक अंग के ठीक-ठीक कार्य करने के द्वारा उस में होता है, कि वह प्रेम में उन्नति करती जाए'' (इफिसियों 4:12-16)।

आमीन! प्रेरितों की लिखाई पढ़ो। वे ऊँचे चढ़े हुए मसीह की ओर से भेंट है! भविश्यवक्ताओं के षब्दों को सुनो और उस में से फायदा लो। उनके षब्द ऊँचे चढ़े हुए मसीह की तरफ से भेंट है! आपके याजक को सुनो और उनके लिये परमेष्वर का धन्यवाद करो। वे ऊँचे चढ़े हुए मसीह से भेंट है। वैसा ही भेंट किए हुए उपदेषको के साथ करो वे उन्हें हमारे मार्ग दर्षन के किये भेजते है! हाँ, उन्होंने ‘‘मनुश्यों को दान दिए।'' उनके नाम को सराहो!

दूसरी महान् भेंट जो यीषु ने हमें दी उनके चढ़ाव में वो थी उनके दोबारा आने का वचन। उनका नीचे धरती पर उतरना उनके स्वर्ग में लौटना निष्चित किया और उनका ऊपर जाना निष्चित करता है उनके फिर से नीचे आने को। यीषु ने कहा,

‘‘यदि मैं जाकर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूँ, तो फिर आकर तुम्हें अपने यहाँ ले जाऊँगा...'' (यूहन्ना 14:3)।

उनका फिर से आने का वचन हर एक सच्चे मसीही के लिये महान् भेंट है, ‘‘ऐसा न हो कि तुम दूसरों के समान षोक करो जिन्हें आषा नहीं'' (1 थिस्सलुनीकियों 4:13)। इस संसार के लोगों को कोई भी आषा है ही नहीं! परंतु मसीही को बड़ी आषा है,

‘‘क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार, और प्रधान दूत का षब्द सुनाई देगा, और परमेष्वर की तुरही फूँकी जाएगी; और जो मसीह में मरे हैं; वे पहले जी उठेंगे। तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे उनके साथ बादलों पर उठा लिये जाएँगे कि हवा में प्रभु से मिले; और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे। इस प्रकार इन बातों से एक दूसरे को षान्ति दिया करो'' (1 थिस्सलुनीकियों 4:16-18)।

वह है हमारी आषा, ‘‘उस धन्य आषा की अर्थात् अपने महान् परमेष्वर और उद्धारकर्ता यीषु मसीह की महिमा प्रगट होने की'' (तीतुस 2:13)। मसीह के इस संसार में लौटकर आने की धन्य आषा है एक महान् भेंट हमारे लिये सुरक्षित की हुई उनके स्वर्ग में ऊँचे चढ़ने के द्वारा। उनका ऊपर चढ़ना उनके फिर से नीचे आने को निष्चित करता है। जब वे ऊँचे चढ़े, स्वर्गदूतों ने कहा, ‘‘यही यीषु, जो तुम्हारे पास से स्वर्ग पर उठा लिया गया है, जिस रीति से तुम ने उसे स्वर्ग को जाते देखा है उसी रीति से वह फिर आएगा'' (प्रेरितो 1:11)। आमीन!

वे फिर से आते है,
   वे फिर से आते है,
सामर्थ्य और महान् महिमा के साथ,
   वे फिर से आते है!
(‘‘वे फिर से आते है'' मेबल जोनस्टोन केम्प द्वारा, 1871-1937)।

मसीह का ऊपर स्वर्ग में चढ़ना हमें निष्चिंत करता है कि वे हमारे लिये फिर से नीचे आएँगे। वह धन्य आषा है जो ऊँचे चढ़े मसीह उनके लोगों को देते है, ‘‘ऐसा न हो कि तुम दूसरों के समान षोक करो जिन्हें आषा नहीं''। कैसी महान् भेंट! आमीन और आमीन! परंतु वहाँ पर और है।

बिना बचाएँ हुओं के लिये, ऊँचे चढ़े मसीह नीचे भेजते है पवित्र आत्मा। यीषु ने कहा,

‘‘मैं तुम से सच कहता हूँ कि मेरा जाना तुम्हारे लिये अच्छा है, क्योंकि यदि मैं न जाऊँ तो वह सहायक तुम्हारे पास न आएगा; परन्तु यदि मैं जाऊँगा, तो उसे तुम्हारे पास भेजूँगा। वह आकर संसार को पाप और धार्मिकता और न्याय के विशय में निरूत्तर करेगा'' (यूहन्ना 16:7-8)।

ऊँचे चढ़े मसीह ने कहा, ‘‘मैं उसे तुम्हारे पास भेजूँगा''। वे नीचे पवित्र आत्मा भेजते है ‘‘पाप के संसार को निरूत्तर'' करने। वह छोट़ा काम नहीं है। वह है पवित्र आत्मा का ‘‘प्रधान काम'', उनका मुख्य काम। मसीह पवित्र आत्मा को भेजते है आपके जेसे आपके पाप में खोए, पापीयों को अपराधी ठहराने। जब आप पापभरा और खोया हुआ महसूस करते हो, वो इसलिये नहीं की आप मजबूत या ‘‘विलक्षण'' हो। यह ऐसा है क्योंकि पवित्र आत्मा आपको आपके पाप दिखाती है और आनेवाले न्याय के लिये आपको चेतावनी देती है। पवित्र आत्मा आपके अंतःकरण को अपराधी ठहराती है, और आपको आपके पाप षुद्ध करने, मसीह के लहू की आवष्यकता महसूस करने का कारण बनते है। आपको पवित्र आत्मा की भेंट को सामान्यरूप से नहीं लेना चाहिए। उनके अपराधी ठहराने वाले कार्य को मानो और विष्वास से यीषु के पास आओ। मसीह आपके पापो को माफ करेंगे और आपको परमेष्वर के साथ षान्ति देंगे।

‘‘वह ऊँचे पर चढ़ा और बन्दियों को बाँध ले गया और मनुश्यों को दान दिए'' (इफिसियों 4:8)।

एक बहुत महत्वपूर्ण भेंट ऊँचे चढ़े हुए मसीह हमें देते है वो है उनके बहुमूल्य लहू की भेंट! मसीह का लहू आपके लिये मौजूद है अभी। ये वहाँ है, ऊपर स्वर्ग में, मसीह के साथ। और बाइबल कहता है, ‘‘उसके पुत्र यीषु का लहू हमें सब पापों से षुद्ध करता है'' (1 यूहन्ना 1:7)। जिस पल आप यीषु पर भरोसा करेंगे, उनका लहू आपको सारे पापो से षुद्ध करेगा - और आप परमेष्वर से मिलने तैयार हो जाओगे और सदा के लिये उनका आनंद पाओगे! हम कैसे प्रार्थना करे कि आप उद्धारक का भरोसा करोगे, और उनके पवित्र लहू द्वारा आप के सारे पाप षुद्ध किए जाएगे! आमीन!

अगर आपको हमारे साथ बात करनी हो बचाए जाने और सच्चे मसीही बनने के बारे में, मेहरबानी करके सभागृह के पीछे जाइये जब हम गीत के पर्चे का भक्तिगीत क्रमांक सात गाते है। डो. केगन आपको षान्त जगह ले जायेंगे जहाँ हम बात और प्रार्थना कर सकते है। अभी जाओ जब हम गाते है।

यीषु सबसे मधुर नाम है
   जिसे मैं जानता हूँ उसमें,
और वे उनके सुन्दर नाम
   के समान ही है,
और वही कारण है क्यों
   मैं उनसे इतना प्रेम करता हूँ
ओह, यीषु सबसे मधुर नाम है
   मैं जानता हूँ उसमें।
(‘‘यीषु सबसे मधुर नाम है'' लेला लोन्ग द्वारा, 1924)।

डो. चान मेहरबानी करके जिन्होंने प्रतिभाव दिए है उनके लिये हमें प्रार्थना में ले जाओ।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान एबेल प्रुद्योम्म द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रषास्त्र : इफिसियों 4:4-13।
धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
‘‘स्वर्ण वीणा बज रही है'' (फ्रान्सीस आर. हेवरजेल द्वारा, 1836-1879)।


रूपरेखा

मसीह का ऊँचे चढ़ना

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

‘‘वह ऊँचे पर चढ़ा और बन्दियों को बाँध ले गया और मनुश्यों को दान दिए'' (इफिसियों 4:8)।

(भजनसंहिता 68:18; यषायाह 53:3; लूका 22:44; फिलिप्पियों 2:8; इफिसियों 4:9; मती 27:46; प्रेरितो 1:3; लूका 24:42, 43, 39; प्रेरितो 1:9)

1. पहला, मसीह की प्रसन्नता दिखती है उनके ऊपर चढ़ने में, इफिसियों 6:12; यषायाह 53:12।

2. दूसरा, मसीह के ऊँचे चढ़ने ने हमारे सारे दुष्मनों को पराजित किया, इफिसियों 2:2; 2 तीमुथियुस 2:26।

3. तीसरा, मसीह का चढ़ना हमारे लिये भेंट नियुक्त करता है, इफिसियों 4:10-11, 12-16; यूहन्ना 14:3; 1 थिस्सलुनीकियों 4:13, 16-18; तीतुस 2:13; प्रेरितो 1:11; यूहन्ना 16:7-8; 1 यूहन्ना 1:7।