Print Sermon

इन संदेशों की पांडुलिपियां प्रति माह २१५ देशों के १,५००,००० कंम्प्यूटर्स पर इस वेबसाइट पते पर www.sermonsfortheworld.com जाती हैं। सैकड़ों लोग इन्हें यू टयूब विडियो पर देखते हैं। किंतु वे जल्द ही यू टयूब छोड़ देते हैं क्योंकि विडियों संदेश हमारी वेबसाईट पर पर पहुंचाता है। यू टयूब लोगों को हमारी वेबसाईट पर पहुंचाता है। प्रति माह ये संदेश ३५ भाषाओं में अनुवादित होकर १२०,००० प्रति माह हजारों लोगों के कंप्यूटर्स पर पहुंचते हैं। लिये उपलब्ध रहते हैं। पांडुलिपि संदेशों का कॉपीराईट नहीं है। आप उन्हें बिना अनुमति के भी उपयोग में ला सकते हैं। आप यहां क्लिक करके अपना मासिक दान हमें दे सकते हैं ताकि संपूर्ण संसार जिसमें मुस्लिम व हिंदु भी सम्मिलित है उनके मध्य सुसमाचार फैलाने के महान कार्य में सहायता मिल सके।

जब कभी आप डॉ हिमर्स को लिखें तो अवश्य बतायें कि आप किस देश में रहते हैं। अन्यथा वह आप को उत्तर नहीं दे पायेंगे। डॉ हिमर्स का ईमेल है rlhymersjr@sbcglobal.net.




क्रीसमस पर मसीह को ढूँढना

SEEKING CHRIST AT CHRISTMAS
(Hindi)

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा
by Dr. R. L. Hymers, Jr.

लोस एंजलिस के बप्तीस टबरनेकल में प्रभु के दिन की सुबह, 23 दिसंबर, 2012 को दिया हुआ धार्मिक प्रवचन
A sermon preached at the Baptist Tabernacle of Los Angeles
Lord’s Day Morning, December 23, 2012


मुझे क्रीसमस से प्रेम है! और मैं इस सुबह आप सबको यहाँ देखकर बहुत खुष हूँ! आने के लिये धन्यवाद! मैं आषा रखता हूँ आप सब रात 5.30 बजे हमारे क्रीसमस के विषिश्ट भोज (Banquet) के लिये फिर से आयेंगे। कितना अच्छा समय हम बितायेंगे। आनंदित (मेरी) क्रीसमस आप सबको! और हमारे सारे मित्र जो इसे इन्टरनेट पर देख रहे है उनको आषिश करें। आप सबको भी मेरी क्रीसमस (आनंदित क्रीसमस)!

अब इस सुबह मैं चाहता हूँ आप मेरे साथ आपकी बाइबल में फिरो यिर्मयाह 29:13 पर। ये स्कोफिल्ड बाइबल के पृृश्ठ 803 पर है।

‘‘तुम मुझे ढूँढोगे और पाओगे भी; क्योंकि तुम अपने सम्पूर्ण मन से मेरे पास आओगे'' (यिर्मयाह 29:13)।

आप बैठ सकते हो।

यह वचन है जो बाइबल में बहुत बार प्रकाषित होता है। व्यवस्थाविवरण 4:29 में मूसा कहता है, ‘‘वह तुमको मिल जाएगा, षर्त वह है कि तुम अपने पूरे मन से ढूँढोगे ...''। अब वो निष्चित वचन है, ‘‘तुम मुझे ढूँढोगे, और पाओगे भी''। वह एकदम निष्चित हैं आप उनको पाओगे अगर आप उनको ढूँढते हो। यीषु ने निष्चित वचन भी दिया, ‘‘जो ढूँढता है, वह पाता है'' (मती 7:8)।

कैसे भी, इन सारे वचनो के साथ षर्ते जुड़ी हुई है। मती 7:8 में षर्त मिलती है ग्रीक क्रियापद में जो अनुवाद किया है ‘‘ढूँढते'' (seeketh)। ये जो ढूँढते रहता है उसका विचार दिखाता है, उसका नहीं जो सिर्फ आधे मन से ढूँढता है। यिर्मयाह 29:13 में षर्त है कि, ‘‘क्योंकि तुम अपने सम्पूर्ण मन से मुझे ढूँढोगे''। व्यवस्थाविवरण 4:29 में षर्त है, ‘‘तुम अपने पूरे मन से ढूँढोगे''। इसलिये यह वचन मसीह को पाने का जब आप सब उनको ढूँढते हो हमेषा षर्त है। आपको पूरे मन से ही मसीह को ढूँढना है, बड़े संकल्प के साथ, अगर आप उनको पाने की इच्छा रखते हो। और फिर वहाँ एक और षर्त है, यिर्मयाह 29:13 और व्यवस्थाविवरण 4:29 में दी गई है। वो है, आपको उन्हें ढूँढना है ‘‘आपकेे पूरे मन से'', ‘‘सम्पूर्ण मन के साथ''। दोनो पद कहते है कि आपको उन्हें आपके मन से ढूँढना है सिर्फ दिमाग अकेले से नहीं। नयी नियमावली में प्रेरितो पौलुस ने हमें कारण कहा - ‘‘क्योंकि धार्मिकता के लिये मन से विष्वास किया जाता है'' (रोमियों 10:10)। अगर आप सब कुछ अपने दिमाग से कल्पना करते हो, आप यीषु को कभी भी नहीं पा सकते, या उनके बारे में पढ़ने से या, उनके बारे में अभ्यास करने से। जब डो. केगन ने अपनी दूसरी पीएच.डी. प्राप्त की क्लेरमोन्ट स्नातक षाला (अब विष्वविद्यालय) में (Claremont Graduate School), उन्होंने मुझे डो. जोन हीक से मिलवाया। डो. हीक सिध्धांतवाद (Theology) के मषहूर प्राध्यापक थे। उन्होंने षुरूआत की थी कलीसिया से जहाँ बाइबल में विष्वास करते थे; परंतु उन्होंने पूरा किया ऐसे सिध्धांत के साथ कि ईष्वर के विशय में न कुछ जाना गया है न जाना जा सकता है (agnostic), नास्तिकता के पूरे समीप। ये कैसे हुआ? उन्होने यीषु को समझने और जानने का प्रयत्न किया सिर्फ अपनी बुद्धि से। वो काम नहीं आता। जोन हीक का दिमाग बहुत तेजस्वी था, और उसने दषको तक मसीहीता की पढ़ाई की। परंतु वह सारे अभ्यास के साथ, उन्हे कभी भी मसीह नहीं मिले। आप विनय के साथ, नम्र दिमाग के साथ, और उनको ढूँढो ‘‘सम्पूर्ण मन के'' साथ। फिर, और सिर्फ फिर, आप उनको पाओगे और फिर से जन्म लेंगे!

जब मैं अपने मास्टर की स्नातकता के लिये अभ्यास कर रहा था गोल्डन गेट बेपटीस्ट धार्मिक पाठषाला में, मैं दो खोए आदमी को जानता था जो बहुत अभिमानी थे। उनमें से एक का नाम गील था, �वेत आदमी। दूसरे का नाम चान्ग था, कोरिया का आदमी। वे दोनो बहुत अभिमानी और बहुत निपुण, सरल अ कक्षा के विद्यार्थी थे। परंतु उनमें से कोई भी बचाया नहीं गया। मेरे स्नातक बनने के बाद मैंने जाना, मेरी बड़ी प्रसन्नता के सामने वे दोनो परिवर्तित हुए थे। उन्होंने पहले मेरे साथ विवाद (दलीलें) किया था, मुझ पर हँसते थे और मुझे बुलाते थे ‘‘संकीर्ण बुद्धिवाला सिद्धांतवादी'' क्योंकि मैं बाइबल में मानता हूँ। परंतु उनके परिवर्तित होने के बाद वे दोनो उनकी आँखों में आँसू के साथ मेरे पास आये और क्षमा माँगी। वे दोनो प्रभु के अनुग्रह से नम्र बने। उन दोनो ने यीषु को पाया उनके मन से, ‘‘क्योंकि धार्मिकता के लिये मन से विष्वास किया जाता है''। उन दोनो ने मुझसे कहा कि मैंने उनको सहाय की थी उनको ये कहने के द्वारा कि वे दोनो खोए हुए थे। मैं कभी भी नहीं भूलूंगा आनन्द जो मैंने महसूस किया था जब उन्होंने मुझे कहा कि वे बचाये गये थे।

वहाँ पर सिर्फ दो प्रकार के लोग है परमेष्वर की नज़र में वे जिन्होंने यीषु को पाया जब उन्होंने उनको ढूँढा सम्पूर्ण मन से और दूसरा, वे जो उनको नहीं पाते क्योंकि उन्होंने उनको अपने सम्पूर्ण मन से नहीं ढूँढा। हाँ, वहाँ सिर्फ दो प्रकार के लोग है परमेष्वर की नजर में - वे जैसे जोन हीक, जिसने यीषु को नहीं ढूँढा जब तक उसने उनको पाया, और वे जैसे गील और चान्ग, जिन्होंने यीषु को ढूँढा उनके सम्पूर्ण मन से जब तक उन्होंने उनको पाया।

‘‘तुम मुझे ढूँढोगे और पाओगे भी; क्योंकि तुम अपने सम्पूर्ण मन से मेरे पास आओगे'' (यिर्मयाह 29:13)।

कितनी सुंदरता और अद्भूतता से यह महान् सच्चाई क्रीसमस की कहानी में स्थिर की गया है। जैसे मैंने क्रीसमस की कहानी पर विचार किया ये सच्चाईयाँ पवित्रषास्त्र के पन्नों से उछलती लगी। वहाँ पर दो प्रकार के लोग है प्रभु की नजर में वह हकीकत क्रीसमस की कहानी में इतनी स्पश्ट और सरल है कि एक छोटा बालक भी भिन्नता देख सकता है और समझ सकता है वे क्यों अलग है।

1. पहला, वे जो यीषु को अपने सम्पूर्ण मन से नहीं ढूँढते।

पहले वहाँ पर आदमी था जिसका नाम बाइबल में भी नहीं दिया है। सिर्फ एक रास्ता हम जानते है इस आदमी के बारे में, जो उसने यीषु को साथ किया उस कारण।

पहली क्रीसमस पर युसुफ (Joseph) और मरियम (Mary) ऊपर गलील से बैतलहम के षहर गए उनका रोम का कर (tax) चुकाने। बैतलहम का षहर लोगो की भीड़ से भरा था जो कर भरने आये थे। बैतलहम बहुत छोटा षहर था, और वो आज भी है। जब मरियम और युसुफ वहाँ पहुँचे वो बच्चे को जन्म देने ही वाली थी। यूसुफ ने जगह ढूँढने का प्रयत्न किया उसके बच्चे के जन्म के लिये। परंतु बाइबल कहता है, ‘‘उनके लिये सराय में जगह न थी'' (लूका 2:7)। ‘‘सराय'' - यह दिखाता है बैतलहम कितना छोट़ा था। वहाँ पर सिर्फ एक ही सराय थी, और पूरी भरी हुई थी। वे सराय के मालिक द्वारा वापस भेजे गए। वहाँ पर इस प्रकार का आदमी था, फिर भी उसका नाम नहीं दिया गया। कैसा नीर्दय आदमी होगा जिसने ऐसी औरत को वापस भेजा जो बच्चे को जन्म देनेवाली थी। उसने अपने आप को चरनी (stable) तक घसीटा और नये जन्मे बालक यीषु को कठौते में रखा जहाँ गाय और गधे घास खाने आए थे।

मैंने छोटे बालक के बारे में दूसरी पदवी में पढ़ा था जिसका नाम था वाल्ली (Wally) जिसने क्रीसमस के नाटक में सराय मालिक का पात्र किया था। बालक ने अपने वाक्य कहे। उसने युसूफ को कहा, ‘‘चले जाओ। सराय भरी हुई है''। लड़का जो युसूफ बना था उसने कहा, ‘‘मेरी पत्नी बच्चे को जन्म देनेवाली है। आपके पास कोई छोट़ा सा कोना होगा उसके लिये!'' वाल्ली ने लड़की जो मरियम का पात्र अदा कर रही थी उसको देखा और उसकी आँख में आँसू आया और वो भूल गया उसे क्या बोलना था। पड़दे के पीछे से अनुबोधक (prompter) ने कहा, ‘‘अपने वाक्यों के साथ आगे बढ़ो।'' वाल्लीने कहा, ‘‘यहाँ जगह नहीं है। आप अपने रास्ते जाओ।'' मरियम और युसूफ लौट गये और छोटे़ वाल्ली के चेहरे पर से आँसू दौड ने लगे। फिर और वहाँ उसने पूरी क्रीसमस की कहानी बदल दी। वह चिल्लाया, ‘‘रूको! मत जाओ! वो मेरा कमरा ले सकती है!'' प्रेक्षक प्रषंसा करने लगे। कोई भी वाल्ली पर गुस्सा नहीं था। वे खुष थे कि छोट़े बालकने क्रीसमस की कहानी को बदला!

कैसा भयंकर, स्वार्थी आदमी होगा वो सराय का मालिक! और फिर भी आप जानते हो और मैं भी कि वहाँ स्वार्थी, निर्लज्ज लोग होते है जिसे यीषु के साथ कुछ लेना देना नहीं हैं। तुच्छ, निर्दय ऐसे लोगों ने क्रीसमस के दृष्य निकाल दिये है पेसिफिक कोस्ट हायवे (Pacific Coast Highway) सान्टा मोनीका में इस वर्श। दूसरे निर्दयी आदमी ने उद्दण्डता से प्रयत्न किए गरीब, अकेले वृद्ध लोगों से क्रीसमस का वृक्ष छीन लेने का, न्युहोल केलिफोर्नीया के बाकी के घरों में। दूसरे ने टेक्सास के प्लानो में छोटे़ बच्चों पर दबाव डाला क्रीसमस कार्ड अफघानिस्तान के सैनिको को भेजना बंद करने के लिये। हाँ वहाँ, हकीकत में ऐसे लोग है जो इतने थंड़े और स्वार्थी मन के होते है कि उनके मन में यीषु के लिये जगह नहीं है। वे उनकी मेजबानी और उनके मित्रो के साथ इतने व्यस्त होते है कि उनके पास क्रीसमस की षाम कलीसिया में जाने का समय नहीं होता। इस में से कुछ टीकाकारों ने मुझे इन्टरनेट पर ऐसा गुस्सा किया यह कहने के लिये की आप क्रीसमस की षाम और नये वर्श की षाम कलीसिया में रहना। क्रीसमस की संध्या पर कल आपको कलीसयिा में रहने को कहने के लिये वे मुझे निश्ठुर कहते है। परंतु वे षिकायत का एक षब्द भी नहीं कहेंगे अगर आप डिस्को नृत्य या षराब की मेजबानी में गये हो। चलिये इसका सामना करते है। ऐसे लोग मसीहरहित और ईष्वररहित होते है उस निर्दय सराय - मालिक की तरह। उसने गरीब गर्भवती को वापस भेज दिया और उसे गाय के तबेले (चरनी) में बच्चे को जन्म देने मजबूर किया! प्रभु उनकी दुश्ट - पाप प्रदूशित आत्माओं पर दया करें! ऐसे लोगों का मत सुनिये। कल क्रीसमस की संध्या पर - यहाँ कलीसिया में रहो! और नये वर्श की संध्या पर भी यहाँ रहो!

फिर वहाँ राजा हेरोदेस था। बुद्धिषाली लोगों ने उसे कहा कि यीषु जन्म से ही यहूदियों का राजा था। हेरोदेस ने यीषु को ढूँढने के लिये कहा और उसे कहा वे कहाँ है ताकि वे आए और उनकी पूजा करे। परंतु उसे हकीकत में यीषु नहीं चाहिए था। उसे अपना पद (होद्दा) जाने का भय था प्रतिस्पर्धी राजा को। उसे हकीकत में यीषु की हत्या करके, उनसे छुटकारा पाना था।

वहाँ आज हेरोदेस के समान बहुत से लोग है। वे कहते है उन्हें यीषु की पूजा करनी है। वे कलीसिया में भी आते है भक्तिगीत भी गाते है और दिखावा करते है कि वे यीषु से प्रेम करते है। परंतु उन्हें कुछ खोने का ड़र है अगर वे अपने जीवन में यीषु को आगे रखेंगे। उन्हें पैसा खोने का ड़र है, या कि वे मित्रों को खो देंगे, या वे कुछ प्रकार का अवसर खो देंगे। इसलिये वे यीषु से प्रेम करने का दिखावा करते है, परंतु हकीकत में उन्हें वे कभी नहीं चाहिए। वे यीषु को ढूँढते नहीं। वे उनको अपने सम्पूर्ण मन से नहीं ढूँढते।

हम धार्मिक प्रवचन छ़पवाते है वचनके षब्द के लिये और हर सभा के बाद उसे बाँटते है। जब श्रीमान मेन्सीया पूछताछ कक्ष में लोगों से बातें करते है वे उनसे पूछते है कि उन्होंने हरएक दिन धार्मिक प्रवचन पढ़ा या नहीं। आम तौर पर वे कहते है ‘‘नहीं''। धार्मिक प्रवचन पढ़ने सिर्फ 15 मिनट लगेंगे, परंतु वे नहीं पढ़ते। देखिये वे कितने हेरोदेस के समान हैं वे कहते है उनको यीषु चाहिए, परंतु वे दिन में 15 मीनट भी नहीं निकाल सकते उनको (यीषु) को ढूँढने! ऐसे लोग यीषु को नहीं पाते। क्यों?

‘‘तुम मुझे ढूँढोगे और पाओगे भी; क्योंकि तुम अपने सम्पूर्ण मन से मेरे पास आओगे'' (यिर्मयाह 29:13)।

हेरोदेस की तरह, वे यीषु को उनके सम्पूर्ण मन से नहीं ढूँढते। इसीलिये वे उनको नहीं ढूँढ सकते! यह बहुत सरल है!

फिर वहाँ पर षास्त्री (Scribes) थे। हेरोदेस ने उनसे पूछा मसीह कहाँ जन्में होंगे? वे बाइबल के विद्यार्थी थे। उन्होंने पवित्रषास्त्र हररोज पढ़ा था। उन्हें सही रास्ता पता था कहाँ मसीह जन्में होंगे। उन्होंने तुरंत मीका 5:2 का पुरानी नियमावली से कथन दिया,

‘‘है बैतलहम एप्राता, यदि तू ऐसा छोटा है कि यहूदा के हजारों में गिना नहीं जाता, तौ भी तुझमें से मेरे लिये एक पुरूश निकलेगा, जो इस्त्राएलियों में प्रभुता करनेवाला होगा'' (मीका 5:2)।

षास्त्रीने कहा, ‘‘वो बैतलहम में जन्म लेगा''। अब करीबन 30 मिनट लगे पैदल चलने को वे जहाँ थे वहाँ से बैतलहम तक। क्या वे बैतलहम मसीह को ढूँढने गये थे? नहीं, वे ढूँढने नहीं आए थे। वे बाइबल के अभ्यास से संतुश्ठ थे। उन्होंने मसीह स्वयं को नहीं ढूँढा। इसलिये, अवष्य, उन्होंने कभी मसीह को नहीं पाया। वे अधोलोक में गये क्योंकि उन्होंने 30 मिनट नहीं लिये जाकर मसीह को स्वयं ढूँढने में! क्या आज ऐसे लोग है? अवष्य। वे उस प्रकार के लोग है जो हर रविवार को कलीसिया में बैठने प्रसन्न है बिना और ज्यादा ढूँढे। उन में से कुछ तो पूछताछ कक्ष में जायेंगे भी नहीं, उसके बावजूद भी की वे जानते है वे हकीकत में फिर से जन्में नहीं है। वे जानते है उनके पास वो नहीं है जो डो. चान के पास है, या जो श्रीमती सालझार के पास है। वे जानते है उनके पास वह नहीं है जो एन्थोनी या जेक या जोन सेम्युल के पास हैं। उनको मालूम है जो सोरीया और लारा के पास है वो उनको पास नहीं। वे जानते है उनके पास हकीकत में मसीह नहीं है। परंतु, षास्त्रीयों की तरह, वे बहुत आलसी है इसके बारे में कुछ करने! वे बाइबल पढ़ते हैं। वे धार्मिक प्रवचन सुनते है। परंतु बस इतना ही वे करते है।

‘‘तुम मुझे ढूँढोगे और पाओगे भी; क्योंकि तुम अपने सम्पूर्ण मन से मेरे पास आओगे'' (यिर्मयाह 29:13)।

क्या आप यीषु को आपकी सम्पूर्ण मन से खोजते हो? अगर आप नहीं खोजते, इसीलिये आपने उनको नहीं पाया? वो एकदम सरल है। जब श्रीमान मेन्सीया पूछते है क्या आप धार्मिक प्रवचन रोज पढ़ते हो, आप कहते हो ‘‘ठीक है, नहीं, हररोज नहीं'' आप ऐसा करने को बहुत लापरवाह हो! आपको इस प्रकार मसीह प्राप्त नहीं होंगे। यीषु ने कहा ‘‘प्रवेष करने के लिये यत्न करो'' (लूका 13:24)। परंतु आप प्रयत्न नहीं करतें आप सिर्फ कलीसिया में आते हो, पाप में बहुत सोते हुए आपके सम्पूर्ण मन से यीषु को खोजने। वो षास्त्री कभी नहीं जगे। आखिरकार वे मर गये और अधोलोक में गये। वही आपका भी होगा अगर आप कलीसिया में गंभीरता से मसीह को ढूँढे बिना आयेंगे। प्रभु आपको जागृत करे!

‘‘तुम मुझे ढूँढोगे और पाओगे भी; क्योंकि तुम अपने सम्पूर्ण मन से मेरे पास आओगे'' (यिर्मयाह 29:13)।

2. दूसरा, वे जो मसीह को सम्पूर्ण मन से ढूँढते है।

मेरे पास समय की कमी है, परंतु मैं उन्हें संक्षिप्त में बयान करूँगा। पहला, वहाँ पर चरवाहे थे। वे उस रात उनके पषु के झुन्ड की रक्षा कर रहे थे। स्वर्गदूत आये और उनको कहा कि मसीह प्रभु बैतलहम में जन्मे थे। स्वर्गदूतों ने कहा कि उनको बालक नवजात षिषु को लपेटने के वस्त्र में मिलेगा, चरनी में सोया हुआ।

मैं चरवाहे के खेत में जाकर आया। यह करीबन 5 मिनट के चलने की दूरी पर है जहाँ यीषु जन्में थे। चरवाहे रूके नहीं। उन्होंने चिन्ता नहीं की कि उनके मेम्नो का क्या होगा। षायद एक दो मेम्नो को कुत्ता मार डाले। चोर षायद मेम्ना चुराकर ले जाए। परंतु उन्होंने उन सारी चीजों की चिन्ता नहीं की। उन्हें जानकारी थी कि यीषु को ढूँढना अधिक महत्वपूर्ण था एक या दो मेम्ने से! इसलिये बाइबल कहता है, ‘‘उन्होंने तुरंत जाकर ... चरनी में बालक को पड़ा देखा'' (लूका 2:16)। उन्होंने जल्बदाजी की। उन्होंने किसी भी चीज को उनको यीषु के पास आने से रोकने नहीं दिया। वे षीघ्रता से आए। हा! हम कितने प्रसन्न है युवा लोग को मसीह के पास आते देखकर ‘‘तुरंत'', जल्दी, चरवाहे की तरह! लारा ऐसे तुरंत आयी। कारेन वैसे जल्दी आए। वे यहाँ थे थोड़े ही दिन पहले जब उन्होंने यीषु को ढूँढा पूरे मन के साथ, और उन्हें पाया जैसे यिर्मयाह 29:13 ने कहा वे होंगे।

और भी वहाँ पर बुद्धिमान आदमी थे। उन्होंने उनके घर छोड़े, अपने बच्चों और पत्नी को बिदाई के समय का प्रणाम (goodbye) कहा, वे उनके ऊँटो पर चढ़े और बेबीलोन से पष्चिम की ओर बढ़े। उन्होंने रेगिस्तान से पष्चिम भूमि से सफर किया करीबन 600 माइल। उन्होंने गर्मी और सर्दी का सामना किया। अपने आपको लूटेरो के खतरे में डाला। उन लोगों ने हफ्तो तक सफर किया रेगिस्तान के उत्तर भाग में, जोरडन नदी से आगे, जब तकवे यरूषलेम पहुँचे, प्रभु ने उनके मार्गदर्षन के लिये भेजे हुए तारे का अनुकरण करते हुए। वे सीधे बालक यीषु तक पहुँचे और उन्हें उनकी लायी हुई भेट दी। क्या आप कल्पना कर सकते हो कठिनाई और खर्च ऐसे सफर का बिना मोटर, गाडी, ना रेलगाडी, ना बनाया हुआ रास्ता, ना रहने के लिये मोटेल (होटल), ना विश्राम करने के लिये जगह, और सवारी के लिये सिर्फ ऊँट? और उन्होंने इतना लंबा अंतर सफर किया। उनको महिनों लगे होंगे। फिर भी वे आये। निष्चितरूप से वो बुद्धिमान आदमी पूरी तरह से हमारा पाठ का वर्णन करता है,

‘‘तुम मुझे ढूँढोगे और पाओगे भी; क्योंकि तुम अपने सम्पूर्ण मन से मेरे पास आओगे'' (यिर्मयाह 29:13)।

उन्होंने सम्पूर्ण मन से यीषु को ढूँढा - और उन्होंने उनको पाया, वैसे ही जैसे हमारा पाठ वचन देता है कि वे पाएँगे।

हर महिने मुझे ध वोइस अॉफ मार्टीयर से सामयिक मिलता है। मैं चाहता हूँ आप www.persecution.com. पर जाओ, उन्हें थोड़े डोलर भेजो, और उनसे वो सामयिक भेजने को कहो। मैं हमेषा वह पढ़ता हूँ। यह आप जैसे युवा लोगों के बारे में कहता है - जगह जैसे भारत, सुदान, इथियोपिया, पाकिस्तान, इरान, क्युबा, चीन, म्यानमार और संसार के दूसरे जगह में। युवा लोग वहाँ बड़े खतरे में है जब वे मसीही बनते है। वे सच्चे खतरे में है जब वे मसीही बनते है। कुछ जेल में डाले जाते है। कुछ यातना दिये जाते है। किसी की हत्या की जाती है। किसी को ज़हर भी दिया जाता है, या उनके चेहरे पर अेसिड फेंका जाता है। और फिर भी वे आते है - सैकड़ो, हजारों में - यीषु मसीह, प्रभु के पुत्र के पास। वे बुद्धिमान् आदमी जैसे है। ज्यादा युवा हिन्दु, और मुसलमान और साम्यवादी यीषु के पास आते है इतिहास में किसी भी और समय से अधिक। मसीहीता अक्षरषः इस सुबह तीसरे संसार में धड़ाके से फट रही है। करीब 700 युवा चीनी हर घंटे, रात और दिन, मसीह के पास आते है पीपल्स रीपब्लीक चीन में। वहाँ अब 1200 लाख से ज्यादा मसीही है! मैं आषा रखता हूँ आप कल रात उनके बारे में डो. चुन्ग को सुनने आएँगे। और वे बहुत खतरा उठाते है जब वे मसीही बनते है। परंतु उनके पाप उद्धारक द्वारा माफ किए गए है। जब वे उद्धारक पर भरोसा करते है उनके पास जीने के लिये कारण है। वे अनन्त जीवन प्राप्त करते है जब वे यीषु के पास आते है और उनका भरोसा करते है। वहाँ पर आप के लिये कोई सच्चा खतरा नहीं है, यहाँ अमरिका में। आपके पास कोई वास्तविक कारण नहीं है इस दृश्टांत का अनुकरण न करने। और उद्धारक आपको इस सुबह कहते है,

‘‘तुम मुझे ढूँढोगे और पाओगे भी; क्योंकि तुम अपने सम्पूर्ण मन से मेरे पास आओगे'' (यिर्मयाह 29:13)।

यीषु क्रूस मरे आपके पाप को चुकाने। उन्होंने अपना लहू बहाया आपको सारे पाप से षुद्ध करने। वे मृत्यु से उठे आपको अनन्त जीवन देने। वे आपको जो करने को कहते है वो है आपकी पुरानी, पापभरी जिंदगी से फिरो और अपने सम्पूर्ण मन से उनको ढूँढो जब तक आप उनको पाओ। हम कैसे प्रार्थना करे कि आप उनको आज पाओगे, इस क्रीसमस रविवार को!

मेहरबानी करके खड़े रहो और आपके क्रीसमस के गीत के पर्चे का गीत क्रमांक 5 गाओ।

ओ आओ, आप सब विष्वासु,
   आनन्दित और विजयी,
ओ आप आओ, ओ आप
   बैतलहम आओ!
आओ और उन्हें देखो,
   स्वर्गदूतों के राजा जन्मे है,
ओ आओ, चलिये उनको प्रेम करें,
   ओ आओ, चलिये उनको प्रेम करें,
ओ आओ, चलिये उनको प्रेम करें, प्रभु मसीह!

गाओ, स्वर्गदूतों की गानेवाली मण्डली,
   परम् आनन्द में गाओ!
ओ आओ, आप सब ऊपर स्वर्ग
   के प्रसिद्ध यजमान;
परमेष्वर को महिमा,
   (श्रेश्ठता) उच्च कोटि में सारी महिमा
ओ आओ, चलिये उनको प्रेम करें,
   ओ आओ, चलिये उनको प्रेम करें,
ओ आओ, चलिये उनको प्रेम करें, प्रभु मसीह!
   (‘‘ओ आओ, आप सब विष्वासु'' लेटिन में जोन एफ. वेड़ द्वारा लिखा हुआ,
      1710-1786; फ्रेडरीक ओकले द्वारा अनुवाद किया हुआ 1802-1880)।

अगर आपको डो. केगन या मुझसे सच्चे मसीही बनने के बारे में यीषु द्वारा आपके पाप माफ कराने के बारे में बात करनी हो तो, मेहरबानी करके आपकी बैठक अभी छोड़ो और सभागृह के पीछे के कक्ष में जाओ। डो. केगन आपको षान्त जगह पर ले जायेंगे जहाँ हम बात और प्रार्थना कर सकते है। मेहरबानी करके तीसरा अंतरा गाओ जैसे वे जाते है।

हाँ, प्रभु, हम आपका अभिवादन करते है,
   इस आनंदित सुबह में जन्मे हुए,
यीषु, आपको सारी महिमा हो;
   पिता के वचन, अब देह में प्रकट है;
ओ आओ, चलिये उनको प्रेम करें,
   ओ आओ, चलिये उनको प्रेम करें,
ओ आओ, चलिये उनको प्रेम करें, प्रभु मसीह!

डो. चान, मेहरबानी करके हमें प्रार्थना में ले जाओ।

(संदेश का अंत)
आप डॉ0हिमर्स के संदेश प्रत्येक सप्ताह इंटरनेट पर पढ़ सकते हैं क्लिक करें
www.realconversion.com अथवा www.rlhsermons.com
क्लिक करें ‘‘हस्तलिखित संदेश पर।

आप डॉ0हिमर्स को अंग्रेजी में ई-मेल भी भेज सकते हैं - rlhymersjr@sbcglobal.net
अथवा आप उन्हें इस पते पर पत्र डाल सकते हैं पी. ओ.बॉक्स 15308,लॉस ऐंजेल्स,केलीफोर्निया 90015
या उन्हें दूरभाष कर सकते हैं (818)352-0452

ये संदेश कॉपी राईट नहीं है। आप उन्हें िबना डॉ0हिमर्स की अनुमति के भी उपयोग में ला सकते
 हैं। यद्यपि, डॉ0हिमर्स के समस्त वीडियो संदेश कॉपीराइट हैं एवं केवल अनुमति लेकर
ही उपयोग में लाये जा सकते हैं।

धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान क्यु डोन्ग ली द्वारा पढ़ा हुआ पवित्रषास्त्र : मती 2:1-11।
धार्मिक प्रवचन से पहले श्रीमान बेन्जामिन किनकेड ग्रीफिथ द्वारा गाया हुआ गीत :
‘‘ओ लीटल टाउन अॉफ बेथलेहाम'' (ओ बैतलहाम का छोटा सा नगर)
(फिल्लिप ब्रुक्स द्वारा 1835-1893)।


रूपरेखा

क्रीसमस पर मसीह को ढूँढना

डो. आर. एल. हायर्मस, जुनि. द्वारा

‘‘तुम मुझे ढूँढोगे और पाओगे भी; क्योंकि तुम अपने सम्पूर्ण मन से मेरे पास आओगे'' (यिर्मयाह 29:13)।

(व्यवस्थाविवरण 4:29; मती 7:8; रोमियों 10:10)

1. पहला, वे जो यीषु को अपने सम्पूर्ण मन से नहीं ढूँढते, लूका 2:7;
मीका 5:2; लूका 13:24।

2. दूसरा, वे जो मसीह को सम्पूर्ण मन से ढूँढते है, लूका 2:16।